सेना के जवानों ने रास्ता भटके चीनी नागरिकों को बचाया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 सितंबर 2020

सेना के जवानों ने रास्ता भटके चीनी नागरिकों को बचाया

indian-army-save-chinese
नयी दिल्ली 05 सितम्बर, लद्दाख और पूर्वोत्तर के क्षेत्रों में चीन के साथ सीमा पर तनावपूर्ण स्थिति के बीच भारतीय सेना का मानवीय चेहरा सामने आया है। सेना के जवानों ने सिक्किम के दुर्गम क्षेत्र में रास्ता भटके एक महिला सहित तीन चीनी नागरिकों की जान बचायी और उन्हें जरूरी साजो सामान भी दिया। ये चीनी नागरिक गुरूवार को उत्तरी सिक्किम के 17 हजार 500 फुट की ऊंचाई पर पठारी क्षेत्र में रास्ता भटक गये थे। भारतीय सेना के जवानों ने जब इनकी जान को खतरे को महसूस किया तो इनकी सहायता के लिए मदद का हाथ बढाया। 



शून्य से भी कम तापमान में फंसे इन लोगों में दो पुरूष और एक महिला शामिल थी। जवान तत्काल वहां पहुंचे और उन्हें अत्यधिक ऊंचाई की परेशानियों तथा कठिन जलवायु स्थितियों से बचाने के लिए आक्सीजन, भोजन और गर्म कपड़ों सहित चिकित्सा सहायता उपलब्ध कराई। जवानों ने उन्हें उनके गंतव्य पर पहुंचने के लिए समुचित दिशानिर्देश दिये जिसके बाद वे वापस चले गए। चीनी नागरिकों ने उनकी त्वरित सहायता के लिए भारत तथा भारतीय सेना के प्रति कृतज्ञता जाहिर की। उल्लेखनीय है कि पूर्वी लद्दाख में दोनों सेनाओं के बीच पिछले करीब चार महीने से गतिरोध चला आ रहा है जिससे सीमा पर तनाव की स्थिति बनी हुई है।

कोई टिप्पणी नहीं: