झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 6 सितंबर 2020

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 06 सितम्बर

चाबी बनाकर अलमारी से ले उड़े नकदी व जेवरात - घर वालों को नही लगी खबर
कही आपके आसपास तो नही ये शातिर चोर - देखे फोटो व दे खबर
jhabua news
थांदला। नगर में दिन दहाड़े चोरी की अजीब घटना सामने आई है। दो संदिग्ध सरदार व्यक्ति चाबी बनाने का काम  लेकर नगर में घूम रहे थे कि वार्ड नंबर 11 में खाली पार गली में पत्रकार जमील मुश्ताक खान के घर पर बन्द अलमारी की चाबी बनाने के लिये मुशताक चाचा न उन्हें बुलवा लिया। दोनो सरदार गोदरेज की चाबी बना कर उसी अलमारी के अंदर खुले पड़े सेफ पर हाथ साफ करते हुए सोने के हार, पायल, बिछिया समेत नकदी पड़े 15 हजार रुपये लेकर चम्पत हो गए। आभूषणों की कीमत करीब 3 लाख से अधिक बताई का रही है। घटना के समय घर पर पत्रकार के पिता अकेले ही थे व उनके सामने ही सरदारों ने बड़ी सफाई से अलमारी साफ कर दी। उक्त घटना के नगर में लगे सीसीटीवी फुटेज के अनुसार सुभाष मार्ग बोहरा गली में दोनों की पहचान हो गई है। परिवार सदस्यों को जब पता चला उन्होंने पुलिस थाना थांदला में उक्त घटना की जानकारी दी पुलिस ने भी सीसीटीवी फुटेज की मदद से उक्त सरदारों की तलाश शुरू कर दी है। वही जनता को भी उक्त बदमाशों के सीसीटीवी फोटो जारी कर संदिग्ध व्यक्तियों की जनकारी के लिये तत्काल पुलिस के हेल्प लाइन नम्बर 834933831, व जमील के 9669601695 नम्बर पर तुरंत सूचना देकर उचित ईनाम की घोषणा की है।



झाबुआ के राजा की चरण पादुका की पूजन कर जेकेआर ग्रुप ने सोनी परिवार को भेंट की, सोनी परिवार द्वारा वर्षभर पादुका की नित्य पूजन की जाएगी 

jhabua news
झाबुआ। झाबुआ का राजा ग्रुप द्वारा पिछले वर्ष गणेषोत्सव पर्व से एक अनुुपम निर्णय एवं लाभ लेते हुए शहर के समाजसेवियों ंएवं दानदाताओं के सहयोग से झाबुआ के राजा की प्रतिमा (शहर की सबसे बड़ी गणेेषजी की प्रतिमा) की चरण पादुका निर्मित की गई। यह चारण पादुका 3 किलो वजनी चांदी के आभूषणांे से तैयार की गई, जो प्रतिवर्ष गणेषोत्सव पर्व के दौरान झाबुआ के राजा के चरणांे में पहनाई जाती है।ं जिसकी गणेषोत्सव पर्व के बाद गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी सवाधिक बोली लगाकर अपने घर ले जाने का लाभ भोजमार्ग निवासी लालाभाई सोनी परिवार ने लिया। जेकेआर के सदस्य जितेन्द्र पांचाल ने बताया कि पिछले वर्ष जेकेआर ग्र्रुप द्वारा गणेषोत्सव पर्व सेे पूर्व श््राहर के सामाजिक-धार्मिक संगठनों समाजसेवियों तथा गणमान्य नागरिकों की बैैठक कर यह तय किया गया कि ग्रुप द्वारा शहर की संस्थाओं एवं समाजसेवियों के सहयोग सेे ही झाबुुआ के राजा की चांदी की चरण पादुका तैयार की जाएगी। बाद में गणमान्यजनों द्वारा इस हेतु चांदी देने की धोषणा कर करीब 3 किलो वजनी पादुका ग्र्रुप ने तैयार करवाई। जिसका उपयोग गणेषोत्सव पर्व के दौरान जेकेआर ग्रुप द्वारा कस्तूरबा मार्ग मंे गणेषजी की विषालतम प्रतिमा विराजमान कर यह चरण पादुका उनके चरणांे में पहनानेे के बाद जिस भक्त द्वारा बोली लगाकर यह पादुका वर्षभर उनकेे घर में विराजमान करने की परंपरा विद्यमान की गई।ं

कोविड-19 केे कारण नहीं किया भव्य स्तर पर आयोजन
श्री पांचाल ने ेआगे बताया कि इस वर्ष कोरोना वायरस (कोविड-19) के प्रकोप के कारण जेकेेआर ने यह निर्णय लिया कि बड़ी प्रतिमा नहीं विराजित करने के साथ ही भव्य स्तर पर कोई आयोजन नहीं किया जाएगा। जिसके चलते ग्रुप के सदस्यों नें केवल 2 फिट के गणेेषजी की प्रतिमा बाजार से क्रय कर उसे विराजमान कर पूरे पर्व के दौरान साधारण तरीके से प्रतिदिन सुुबह एवं शाम आरती-प्रसादी का आयोजन किया गया। इस वर्ष जेकआर ग्रुप को गुप्तदान के रूप ्रमें 1 किलो चांदी भी प्राप्त हुुई, जिसका उपयोग ग्रुप के सभी सदस्य बैठक में निर्णय लेकर कोई अन्य धार्मिक आभूषण बनाने में करेंगे।

दूसरी बार लालाभाई सोनी परिवार ने लिया लाभ
गणेषोत्सव पर्व संपन्न होने के बाद गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी शहर के युवा आभूषण व्यवसायी लालाभाई सोेनी परिवार ने सर्वाधिक बोली लगातेे हुए अनुपम लाभ लेते हुए 6 सितंबर, शनिवार शाम को परिवार के सदस्योंे लालाभाई सोनी, उनकी काकी सा. कलावती, माधवी, अषोक, ममता, राधिका, अंजलि, रवि, मुक्ति भाविक ने कस्तूरबा मार्ग में उपस्थित होकर जेकेआर ग्रुप के सदस्यांे से चरण पादुका की पूजन के बाद यह पादुका प्राप्त कर वे उत्साह और उल्लास के साथ इसे घर ले गए और अपने निवास पर विधि-विधान से पूजन-पाठ कर विराजमान किया।

पुत्री प्राप्ति के साथ धन की भी हुई प्र्राप्ति
लालाभाई सोनी से चर्चा करने पर उन्हांेने बताया कि पिछले वर्ष जब उन्होंने झाबुआ के राजा (विघ्नहर्ता एवं मंगलकारी गणेषजी) की यह चरण पादुका अपने घर पर विराजमान कर परिवारजनों द्वारा नित्य पूजन आदि करने पर उनके परिवार में दो बालिकाओं ने जन्म लिया। साथ ही परिवार में सुख-समृद्धि और धन की भी प्राप्ति हुई। नए आवास और नया प्रतिष्ठान (व्यवसाय) उन्होंने खोला। श्री सोनी ने कहा कि वह एवं उनका परिवार बड़ा सौभाग्यषाली है कि गत वर्ष की तरह इस वर्ष भी उन्हें यह अनुपम लाभ प्राप्त हुुआ है। जेकेआर ग्रुप द्वारा पूजन-पाठ कर स-सम्मान कर यह चरण पादुका लालाभाई सोनी एवं परिवारजनों ंको प्र्रदान की गई। पिछलेे वर्ष सोेनी परिवार द्वारा गाजो-बाजों के साथ जुलूस निकालकर यह चरण पादुका अपने निवास पर विराजमान की थी, लेकिन इस बार कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण परिवार के सदस्यों ने साधारण तरीके से चरण पादुका सिर पर विराजमान घर ले जाकर स्थापना की।



समाजसेवा के कार्यों के लिये आईजा हुआ सम्मानित

jhabua news
थांदला। वैश्विक महामारी कोरोना के कठिन समय मे ऑल इंडिया जैन जनर्लिस्ट एसोसिएशन (आईजा) के पदाधिकारियों एवं सदस्यों द्वारा सम्पूर्ण मध्यप्रदेश में अपने अपने क्षेत्रों में सेवा भाव से सर्व समाज हितार्थ अनेक कार्य किये गए जिनसे प्रदेश के ही नही अपितु विभिन्न राज्यों से पलायन कर प्रदेश में आने वाली जनता भी लाभान्वित हुई। आईजा के अभिनव सेवा कार्यों के लिए प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान के द्वारा प्रदत्त नागरिक अभिनंदन सम्मान को नागरिक अभिनन्दन समिति इंदौर महानगर के द्वारा आयोजित कार्यक्रम में इंदौर के लोकप्रिय सांसद शंकर लालवानी के द्वारा प्रदान किया गया। आयोजन में आईजा के प्रतिनिधि आईजा प्रदेश मंत्री प्रदीप जैन (सम्पादक महावीर सन्देश व न्यूज 24 धमाल) एवं प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य निलेश बरमेचा जैन ने उक्त सम्मान को ग्रहण करते हुए चयन समिति व आयोजन समिति का धन्यवाद ज्ञापित करते हुए कहा कि यह सम्मान आईजा के हर सिपाही का सम्मान है, जिन्होंने आईजा के बैनर तले समाजसेवा के अनेक आयोजन कर जनता की सेवा की। उन्होंने कहा कि आईजा मध्यप्रदेश में दिन प्रतिदिन संस्थापक अध्यक्ष हार्दिक हुंडिया, राष्ट्रीय महामंत्री महावीर श्रीश्रीमाल के मार्गदर्शन व प्रदेश अध्यक्ष पवन नाहर, प्रदेश महासचिव राजकुमार हरण, कोषाध्यक्ष अखिलेश कांठेड़ के कुशल नेतृत्व मे नये आयाम स्थापित कर रहा है, जिसमें आईजा जीवदया चेयरमेन रिंकेश जैन, मानवसेवा चेयरमेन मनीष कुमठ, प्रचार सचिव दीपांशु जैन, सुनील बाफना, अजय पाटनी, राकेश डूंगरवाल सहित सभी सदस्यों का अभूतपूर्व योगदान अविस्मरणीय है।

किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना 2020 के ऑनलाइन फॉर्म उपलब्ध

थांदला । स्थानीय जवाहर नवोदय विद्यालय थांदला झाबुआ के प्राचार्य नन्हेलाल झारिया ने बताया कि किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना 2020 के ऑनलाइन फॉर्म उपलब्ध हो चुके हैं।  इस संबंध में विस्तृत जानकारी विद्यालय के रसायन विज्ञान शिक्षक संतोष कुमार चैरसिया ने बताया कि किशोर वैज्ञानिक प्रोत्साहन योजना भारतीय विज्ञान संस्थान बेंगलुरु द्वारा आयोजित होने वाली प्रत्येक वर्ष आयोजित होने वाली परीक्षा है  जिसमें जो बच्चा चयनित होता है तो उसको एक निश्चित स्कॉलरशिप विज्ञान शोध उच्च अध्ययन के लिए मिलता है अतः सभी अभिभावकों से निवेदन है कि अधिक से अधिक संख्या में अपने कक्षा 11 व 12 में अध्ययनरत बच्चों को इस फॉर्म को भरने के लिए प्रेरित करें।जो बच्चे बी. एससी प्रथम वर्ष में अध्ययनरत है वो भी भर सकता है।अधिक जानकारी के लिए केवीपीवाई की साइट देखे।ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 5 अक्टूबर है।

जीवन में गुरु का बड़ा महत्व होेता है -ः प्रतिनिधि प्र्रदेष अध्यक्ष मनीष कुमट’, शिक्षक दिवस पर गुरु का किया सम्मान, लिया आशीर्वाद

jhabua news
झाबुआ। 5 सितंबर शिक्षक दिवस के पावन अवसर पर राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग एवं न्यू आदर्श श्रमजीवी पत्रकार संघ (राष्ट्रीय) द्वारा गुरुजी का सम्मान का आयोजन रखा गया। वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) केे प्रकोप को देखतेे हुए कोई बड़ा आयोजन नहीं किया। जिलेे की पेटलावद तहसील के ग्राम झकनावदा में लंबे समय से एक शिक्षक के रूप में सेवा प्रदान कर रहे संकुल प्रभारी रमेशकुमार चैरसिया का राष्ट्रीय मानवाधिकार एवं महिला बाल विकास आयोग के प्रतिनिधि प्रदेश अध्यक्ष एवं न्यू आदर्श श्रमजीवी पत्रकार संघ के प्रदेश सह-सचिव मनीष कुमट (जैन) तथा संभागीय सचिव गोपाल विश्वकर्मा, शुभम कोटड़िया (जैन) आदि ने षिक्षाविद् श्री चैरसिया के निवास पर पहुंचकर उनका शाल एवं उपहार भेंट कर सम्मान किया तथा उनसे आशीर्वाद प्राप्त किया।

षिक्षक कॅरियर और भविष्य का करते है निर्माण
इस अवसर पर श्री कुमट ने कहा कि हमारे जीवन में शिक्षक द्वारा दी गई सीख, उपदेष एवं शिक्षा का बड़ा ही महत्व होता है। बाल्यकाल में विद्यार्थी गुरूजनांे द्वारा दिए गए मार्गदर्षन अनुसार ही अपना कॅरियर तय करते और इससेे अच्छे भविष्य का निर्माण होता है। उन्होंने कह कि मैं स्वयं भी श्री चैरसिया सेे शिक्षा प्राप्त कर आज जिस मुकाम पर हूं वह आपके आशीर्वाद एवं मार्गदर्षन का प्रतिफल है। हमारे प्रथम गुरु माता- पिता एवं द्वितीय गुरु शिक्षक हैै। गुरू गुणों की खान होते हैै, इसलिए सभी को गुरुजनों का आदर एवं सम्मान करना चाहिए।।

विश्व जन चेतना ट्रस्ट भारत ने षिक्षक दिवस पर नितेन्द्र्रसिंह परमार ‘भारत’ का ‘‘गुरू गौरव‘’ से किया सम्मान

jhabua news
झाबुआ। विश्व जन चेतना ट्रस्ट भारत ने डाॅ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन जन्मदिवस के उपलक्ष में मनाए जाने वाले 5 सिंतबर, षिक्षक दिवस के अवसर पर सम्मान समारोह  एवं लोकापर्पण कार्यक्रम का आयोजन किया।। जिसमें देषभर के षिक्षकों एवं षिक्षा स क्षेत्र से जुड़़ी हस्तीयों का सम्मान किया गया। इसी क्रम में ‘‘गुुरू गौरव’’ सम्मान से नितेन्द्रसिंह परमार ‘भारत’ का सम्मान देष की ख्यतनाम हस्तीयों ने किया। श्री परमार ने षिक्षा के क्षेत्र में उत्कृष्ट एवं सराहनीय कार्य किया। इस हेतु उनका आयोजक  संस्था के संस्थापक दिलीपकुमार पाठक ‘सरस’, राष्ट्रीय अध्यक्ष सुषीला धस्माना ‘मुस्कान’, राष्ट्रीय सचिव राजष मिश्र ‘प्रयास’, राष्ट्रीय संतोषकुमार ‘प्रीत’, संरक्षक कौषलकुमार पांडेय ‘आस’, व्यवस्थापक ओमप्रकाष फुलास ‘प्रफूल्ल’ एवं राष्ट्रीय उपाध्यक्ष राहुुल शुक्ल ‘साहिल’ की उपस्थिति में गरिमामय सम्मान हुआ। नितेन्द्रसिंह स्वयं भी विश्व जन चेतना ट्रस्ट से जुड़ेे इसके राष्ट्रीय पदाधिकारी है।

शिक्षा क्षेत्र में लाएंगे महत्वपूर्ण परिवर्तन
शिक्षण शुल्क के संबंध में होंगे कानूनी प्रावधान, मुख्यमंत्री श्री चैहान ने दी शिक्षक दिवस पर गुरुजनों को बधाई
झाबुआ। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने कहा है कि मध्यप्रदेश के शैक्षणिक परिदृश्य को बेहतर बनाने के लिए शीघ्र ही ठोस कदम उठाए जाएंगे। शिक्षा के वास्तविक उद्देश्य पूर्ण हों और विद्यार्थी शिक्षा हासिल करने के बाद रोजगार के लिए तैयार हो जाएं, इस दृष्टि से नई शिक्षा नीति के मध्यप्रदेश में बेहतर क्रियान्वयन के प्रयास होंगे। शिक्षा जगत का परिदृश्य सकारात्मक रूप से परिवर्तित करने के प्रयास होंगे। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि कोरोना काल में मध्यप्रदेश में हमारा घर हमारा विद्यालय के अंतर्गत सराहनीय कार्य हुआ है। इसके लिए शिक्षक अभिनंदन के पात्र हैं। मुख्यमंत्री श्री चैहान शनिवार को मंत्रालय भोपाल से वीडियो कांफ्रेंस द्वारा शिक्षक समुदाय से संवाद कर रहे थे।

नई शिक्षा नीति के मध्यप्रदेश में बेहतर क्रियान्वयन के प्रयास
प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी द्वारा घोषित नई शिक्षा नीति के मध्यप्रदेश में बेहतर क्रियान्वयन के प्रयास किए जाएंगे। आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश के लिए बनाए गए रोड मेप के अंतर्गत भी शिक्षा के संबंध में व्यापक विचार-विमर्श कर क्रियान्वयन की तैयारी की गई है। व्यवसायिक शिक्षा कक्षा छठवीं से प्रारंभ होगी जो विद्यार्थियों के लिए जीवन भर उपयोगी सिद्ध होगी। नए विद्यालयों के प्रारंभ करने के बारे में भी विचार-विमर्श कर ऐसा प्रयास किया जाएगा कि दस बारह ग्रामों के बीच एक विद्यालय हो, जहां आने-जाने के लिए बस सुविधा उपलब्ध होगी। लाइब्रेरी के साथ ही दक्ष शिक्षक, संगीत, नृत्य, योग और भारतीय संस्कार की शिक्षा देंगे। विद्यार्थियों का शत-प्रतिशत प्लेसमेंट हो, बेरोजगारी दूर हो यह प्रयास रहेगा। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि शिक्षा के क्षेत्र में सुधार की असीम संभावनाएं हैं जिन्हें साकार किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि शिक्षकों का मान सम्मान बढ़ाने के प्रयास होंगे। शिक्षकों का शोषण न हो, इसके साथ ही निजी विद्यालय द्वारा शिक्षण शुल्क के संबंध में सुधार के लिए कानूनी प्रावधान किए जाएंगे। शिक्षा के क्षेत्र में सुधार के लिए पूर्व वर्षों में काफी कार्य हुआ है। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने शिक्षक दिवस के अवसर पर सभी शिक्षकों को भी बधाई देते हुए कहा कि शिक्षक दिवस महान शिक्षक, विद्वान भारतीय संस्कृति के पोषक, राष्ट्रपति पद को सुशोभित करने वाले सर्वपल्ली राधाकृष्णन का जन्मदिवस है। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने डॉक्टर राधाकृष्णन के चरणों में कोटि-कोटि प्रणाम करते हुए राष्ट्रीय एवं राज्य-स्तरीय पुरस्कार पाने वाले सभी शिक्षकों को बधाई और शुभकामनाएं दी।

शासकीय विद्यालय नहीं है किसी मामले में पीछे
मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि वे स्वयं एक सरकारी विद्यालय में पढ़ चुके हैं। प्राथमिक स्तर पर प्राप्त शिक्षा पूरे जीवन में उपयोगी होती है। मुख्यमंत्री चैहान ने अपने शिक्षक श्री रतनचंद जैन का भी स्मरण किया। मुख्यमंत्री श्री चैहान ने कहा कि शिक्षा के तीन प्रमुख उद्देश्य ज्ञान, कौशल और नागरिकता के संस्कार हैं जिन्हें दिलवाने में शासकीय विद्यालय भी काफी सफल रहे हैं। अनेक शासकीय विद्यालयों में प्राइवेट स्कूलों से बेहतर परिणाम प्राप्त हुए हैं। इसके लिए यह संस्थाएं बधाई की पात्र हैं। शिक्षा मंत्री श्री इंदर सिंह परमार ने भी वर्चुअल कार्यक्रम को संबोधित किया। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्रीमती रश्मि अरूण शमी, आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत भी उपस्थित थीं। इस अवसर पर कलेक्टर कार्यालय झाबुआ में स्थित वीसी कक्ष में कलेक्टर श्री रोहित सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, जिला शिक्षा अधिकारी श्री मेहरबान सिंह सोलंकी, जिला परियोजन समन्वयक श्री एल.एन. प्रजापत सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

इन्दौर संभाग के सभी जिलों में फीवर क्लीनिक को सुदृढ़ बनाया जाए- संभागायुक्त डॉ. शर्मा

झाबुआ। इन्दौर संभाग के सभी जिलों में फीवर क्लीनिक को सुदृढ़ बनाया जाए। इनको सुचारु रूप से संचालित किया जाए। होम क्वारंटाइन अथवा संस्थागत क्वारंटाइन में रखे जाने वाले कोविड मरीजों की सतत् निगरानी हो। अस्पतालों में भर्ती अलाक्षणिक मरीजों को गाइडलाइन के अनुसार डिस्चार्ज किया जाए ताकि गंभीर एवं लाक्षणिक मरीजों का अस्पताल में उपचार हो सके। ऐसे डिस्चार्ज किए जाने वाले मरीजों के घर पर उपचार की सतत् निगरानी रखी जाए। यह निर्देश शनिवार को संभागायुक्त इंदौर डॉ. पवन कुमार शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा आयोजित कलेक्टर कान्फ्रेंस में दिए। संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने बैठक में कहा कि अब लॉकडाउन का समय समाप्त हो गया है। सामाजिक मेलजोल एवं आवागमन बढ़ गया है। ऐसी परिस्थिति में वायरस के प्रसार की संभावना भी अधिक हो गई है। हम इसे सोशल डिस्टेंसिंग के अनुशासन और मास्क के प्रभावी उपयोग से ही रोक सकेंगे। ऐसी परिस्थिति में मास्क का उपयोग किया जाना कानूनी दृष्टि से भी सक्षम बनाएँ। इस संबंध में संभागायुक्त ने खंडवा कलेक्टर श्री अनय द्विवेदी द्वारा मास्क ना पहनने पर खंडवा में बड़े पैमाने पर लगाए गए फाइन का जिक्र किया और कहा कि मास्क के संबंध में जागरूकता के लिए यह जरूरी है। वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में कलेक्टर इंदौर श्री मनीष सिंह ने सार्थक एप के नए फीचर की जानकारी दी और कहा कि इंदौर में इस एप का अच्छा उपयोग हो रहा है। होम आइसोलेशन में भी मरीजों को रखकर उनकी बेहतर निगरानी संभव हो रही है। कलेक्टर बुरहानपुर श्री प्रवीण सिंह ने बैठक में बताया कि बुरहानपुर में मुख्य रूप से कोरोना संक्रमण पड़ोसी जलगांव और रावेर क्षेत्र से हो रहा है। ऐसी परिस्थिति में अंतर्राज्यीय सीमा पर प्रभावी रोक से हम कोरोना संक्रमण का प्रसार बाधित कर रहे हैं। अलीराजपुर जिले में प्रतिदिन 300 सैंपलिंग होने की जानकारी बैठक में दी गई। कलेक्टर बड़वानी श्री शिवराज सिंह वर्मा ने बैठक में बताया कि जिन कोविड मरीजों को घर में रहकर उपचार दिया जा रहा है, उनका घर से बाहर नहीं निकलना सुनिश्चित किया जा रहा है। कलेक्टर धार श्री आलोक सिंह ने बैठक में बताया कि धार जिले में ब्लॉक मुख्यालय के अस्पतालों को भी सुदृढ़ बनाया जा रहा है। जिला अस्पताल में भी पृथक से आईसीयू बनाए जा रहे हैं। कुक्षी के अस्पताल में भी आईसीयू बनाने की तैयारी की जा रही है है। कलेक्टर खरगोन सुश्री अनुग्रह पी ने बताया कि खरगोन जिले में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोरोना का प्रसार प्रशासन के लिए चुनौती है। अब लगभग 50 प्रतिशत कोविड मरीज ग्रामीण क्षेत्रों से आ रहे हैं।   संभागायुक्त डॉ. शर्मा ने निर्देश दिए के ग्रामीण अंचल में मास्क की जागरुकता और उपलब्धता बढ़ाया जाना सुनिश्चित करें। संभागायुक्त ने बैठक में कानून व्यवस्था, मिलावटखोरी और कालाबाजारी की भी समीक्षा की। उन्होंने निर्देश दिए की मिलावट करने वाले और कालाबाजारी करने वाले आदतन लोगों की सूची बनाएँ और इनके खिलाफ पुख्ता कार्यवाही सुनिश्चित करें। इस अवसर पर कलेक्टर कार्यालय झाबुआ के एनआईसी कक्ष में कलेक्टर श्री रोहित सिंह, पुलिस अधीक्षक श्री आशुतोष गुप्ता, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाॅ. बी.एस. बघेल सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

कोई टिप्पणी नहीं: