बिहार : संजय कुमार को शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 2 सितंबर 2020

बिहार : संजय कुमार को शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया

  • 1985 बैच के आईएएस अधिकारी संजय कुमार पिछले साल झारखंड से बिहार आए थे। बिहार आने के बाद उन्हें स्वास्थ्य विभाग की जिम्मेदारी दी गई थी... 
sanjay-kumar-chief-secretery-bihar
पटना,2 सितम्बर। इस वक्त की बड़ी खबर है।कोरोना संक्रमण की शुरुआत में संजय कुमार को स्वास्थ्य विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया था. लेकिन उनकी बढ़ती लोकप्रियता की वजह से उन्हें पर्यटन विभाग की जिम्मेदारी दी गई थी।बिहार सरकार ने अचानक ही संजय कुमार को स्वास्थ्य विभाग के प्रधान सचिव से हटा दिया था।बिहार सरकार ने भूल सुधारकर IAS संजय कुमार को शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है। राज्य सरकार की ओर से अधिसूचना जारी कर दी गई है। 

बिहार सामान्य प्रशासन विभाग की ओर से जारी नोटिफिकेशन के मुताबिक भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी का तबादला हुआ है। इसके अलावा अफसरों को अतिरिक्त जिम्मेमदारी भी दी गई है। सरकार की ओर से जारी अधिसूचना के मुताबिक 1985 बैच के सीनियर आईएएस अफसर संजय कुमार को शिक्षा विभाग का प्रधान सचिव बनाया गया है।इससे पहले संजय कुमार पर्यटन विभाग में चीफ सेकेटरी का कार्यभार देखा रहे थे। इनके तबादले के बाद अब ये जिम्मेमदारी कला, संस्कृति एवं युवा विभाग के प्रधान सचिव और 1992 बैच के आईएएस ऑफर रवि मनुभाई परमार को दी गई है। उधर दूसरी ओर, 1985 बैच के आईएएस अफसर अरुण कुमार सिंह को भी सरकार ने एक बड़ी जिम्मेदारी सौंपी है।बिहार सरकार ने उन्हें निगरानी विभाग में अतिरिक्त प्रभार सौंपा है।



बिहार राज्य उच्चतर माध्यमिक अतिथि शिक्षक संघ के प्रदेश अध्यक्ष  नरेंद्र कुमार  ने नब्बे बैच के वरिष्ठ आईएएस संजय कुमार  को शिक्षा विभाग के प्रधान सचिव बनने पर पूरे बिहार के अतिथि शिक्षकों की ओर से बधाई दी है।  उन्होंने कहा कि शिक्षा विभाग में जो सालों से  असमंजस की स्थिति बनी हुई थी  कुशल अधिकारी के  आने से आशा जगी है। शिक्षकों में एक अलग तरह की उमंग है,  भारतीय प्रशासनिक सेवा के अधिकारी  संजय कुमार  का कार्य स्वास्थ्य विभाग में भी सराहनीय रहा है एवं राज्य के जनता के हित में रहा है। इन्होने कार्यकुशलता और सामाजिक हित का सदैव ख्याल रखा है बिहार के उन ग्रामीण बच्चों के लिए खासकर जो शिक्षकों की कमी झेलते आ रहे थे उनके लिए  संजय कुमार  शिक्षा विभाग की ओर से एक प्रेरणा बनेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: