बेगूसराय : शिक्षा की मन्दिर में शिक्षा देनेवाला शिक्षा ने बनाया मदिरा गोदाम - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 24 सितंबर 2020

बेगूसराय : शिक्षा की मन्दिर में शिक्षा देनेवाला शिक्षा ने बनाया मदिरा गोदाम

school-alcohal-godown
अरुण शाण्डिल्य ( बेगूसराय ) सूत्रों की मानें तो मोतिहारी जिले के एक स्कूल जी की श शिक्षा का मंदिर होता है,जहाँ बच्चों के भविष्य का निर्माण होता है वहाँ एक सरकारी प्रिंसिपल ने अपने ही स्कूल को मयखाना बना दिया।वह भी तब जब बिहार में पूर्ण रुप से कानून शराबबंदी है।ऐसे में कानून की धज्जियाँ उड़ाते हुए प्रिंसिपल ने सीधे सरकार को ही चुनौती दे डाली है।यह मामला उत्क्रमित मध्य विद्यालय काशीपकड़ी का है।



प्रिंसिपल को पुलिस ने किया गिरफ्तार।
स्कूल को शराब गोदाम बनाने की जैसे ही जानकारी अधिकारियों को मिली तो शिक्षा विभाग से लेकर उत्पाद और पुलिस के अधिकारियों के होश उड़ गए।मंगलवार की रात पुलिस ने स्कूल में छापेमारी कर 169 कार्टून में रखी 1477 लीटर विदेशी शराब पुलिस ने बरामद की।पुलिस ने स्कूल के प्रिंसिपल और एक सहायक शिक्षिका के पति को भी गिरफ्तार कर लिया है।प्रिंसिपल शिवशंकर प्रसाद और शिक्षिका के पति राजेंद्र रजक के खिलाफ पुलिस ने मद्य निषेध अधिनियम के तहत  केस दर्ज कर दोनों को जेल भेज दिया।पुलिस ने बताया कि प्रिंसिपल ने स्कूल को शराब का गोदाम बना दिया था। लॉकडाउन के कारण स्कूल बंद था जिसका फायदा शातिर प्रिंसिपल बड़े मजे से उठा रहा था।बरामद शराब की कीमत लगभग 08 लाख रुपए आंकी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: