सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 21 सितंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 सितम्बर

कोरोना संकट में जान हथेली पर रखकर काम कर रहीं आशा उषा और सहयोगिनी
प्रदेश सरकार फिर नहीं कर रहीं है मांग पूरी कलेक्ट्रेट में नारेबाजी कर दिया मुख्यमंत्री के नाम ज्ञापन
sehore news
सीहोर। प्रदेश व्यापी आह्वान के तहत सीहोर जिले की आशाओं ने सोमवार को जिलाधीश कार्यालय में मुख्यमंत्री के नाम संबोधित ज्ञापन अपर कलेक्टर गुंचा सनोबर को दिया। आक्रोशित आशाओं ने जिलाधीश कार्यालय में जोरदार नारेबाजी कर सरकार के द्वारा आशाओं की बेहद लंबित मांगों को लगातार नजर अंदाज करने पर आक्रोश दर्ज कराया। अबतक सैकड़ों आंदोलन हो चुके हैं परंतु सरकार आशा  एवं आशा सहयोगिनियों को सरकारी कर्मचारी घोषित करने न्यूनतम वेतन 21 हजार देने कोरोना से मृत आशाओं को राशि का भुगतान करने उनके आश्रितों को नौकरी देने मांगों पर कोई ध्यान नहीं दे रही है।  कोरोना संकट के दौरान  अपनी जान की परवाह किए बगैर गांव गांव शहर शहर मोहल्लों में घर-घर जाकर संक्रमित मरीजों की पहचान करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा कर रही हैं इतनी महत्वपूर्ण भूमिका अदा करते हुए कई आशाओं को अपनी जान गंवानी पड़ी है फिर भी आशाएं डटी हुई हैं इतनी महत्वपूर्ण कड़ी को सरकार नजरअंदाज कर रही है जबकी असली कोरोना योद्धा आशा उषा एवं आशा सहयोगिनी हैं। प्रदर्शन कर रही आशाओं को संबोधित करते हुए जिला महासचिव ममता राठौर ने कहा कि देश में कई राज्य सरकारें आशाओं को जैसे आंध्र प्रदेश केरल तमिलनाडु एवं और भी कुछ राज्य सरकारें आशाओं को अपनी ओर से राशि प्रदान कर रही हैं आंध्र प्रदेश में 10 हजार भुगतान किया जा रहा है आंगनवाड़ी कर्मचारियों को भी मध्य प्रदेश सरकार अपनी ओर से वेतन दे रही है लेकिन आशाएं लंबे समय से मांगों को लेकर आंदोलित हैं परंतु राज्य सरकार सुन नहीं रही है। हमारी सभी लंबित मांगों को सरकार तत्काल निराकरण करें अन्यथा हम आगे भी भीषण आंदोलन के लिए बाध्य होंगे। हमारी मांगों का शीघ्र निराकरण किया जाए ज्ञापन देने वालों में प्रमुख रूप से राजमणि, रीना,  शकुन पाटिल, चिंता बुंदेल,े रेखा, ज्योति, विमला, तबस्सुम, बेबी, सुनीता, चिंता चौहान, ममता राठौर, सुनिता, तीजा,  उइके, बशु,  किरण,  सुभद्रा, रेखा मेहरा प्रमुख रूप से शामिल रही।  



कर्ज माफी राशि वितरण सूची ने खोली सेवा सहकारी समिति दुपाडिय़ा की पोल सैकड़ों किसानों को दी आधी अधूरी राशि  
कर्ज माफी राशि वितरण में भ्रष्टाचार का आरोप  प्रबंधक को बर्खास्त कर किसानों ने की सख्त कार्रवाहीं की मांग  किसानों ने अपर कलेक्टर को दिया शिकायती पत्र
sehore news
सीहोर। पूर्व कांग्रेस सरकार ने कर्ज माफ किया लेकिन दुपाडिय़ा सेवा सहकारी समिति ने किसानों को कर्ज माफी का पूरा लाभ नहीं दिया। शाखा से जुड़े ग्राम दुपाडिय़ा चाचाखेड़ी, चुपाडिय़ा, छापरी, मालीखेड़ी, केयूखेड़ी के सैकड़ों किसानों के खातों में आधी अधूरी राशि का भुगतान किया। प्रबंधक और कर्मचािरयों के कारनामें का पता किसानों को कर्ज माफी राशि वितरण सूची के सामने आने के बाद लगा। कलेक्ट्रेट पहुंचकर छ: गांवों के सैकड़ों आक्रोशित किसानों ने सोमवार को अपर कलेक्टर गुंचा सनोबर को कलेक्टर के नाम शिकायती पत्र दिया। किसानों ने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कर्ज माफ किया था जिस  की राशि सेवा सहकारी समिति दुपाडिय़ा में पहुंची लेकिन खातेदार बकायादार  किसानों को काफी कम राशि दी गई। दुपाडिय़ा शाख जिला सहकारी कैन्दीय बैंक हकिमाबाद आष्टा के तहत आती है।   सेवा सहकारी समिति प्रबंधन ने जिन किसानों के सूची में कर्ज माफी के लिए नाम  आए थे उनको भी काली सूची में डाल दिया। किसी परिवार में दो खाते थे तो एक का कर्ज माफ  किया दूसरे का नहीं किया गया। दुपाडिया सेवा सहकारी समिति में पदस्थ कर्मचारी अपनी मन मानी करते है और शासन कि किसान हितैशी योजनाओं से किसानों को जानबूझकर वंचित रखते है। किसानों का कहना था कि जिला सहकारी कैन्दीय बैंक शाखा हकिमाबाद के कर्मचारी भी इस लाखों रूपये के गबन में शामिल है। सेवा सहकारी समिति के खातेदार किसान तेज सिंह मेवाड़ा, कमल सिंह, मनोहर, मांगीलाल,ज्ञान सिंह,पंचाल सिंह, रघुनाथ सिंह, हरि सिंह,  दिनेश मेवाड़ा,बलवान सिंह, कैलाश सिंह, मनोज, देवनारायण,राम प्रसाद, हरनाथ  सिंह, रमेश सिंह,  शिव  चरण, राहुल मेवाड़ा, संतोष  सिंह, विजय  सिंह, इंदर सिंह, पवन  राजपूत,बंशीलाल,ठाकुर सिंह आदि ने मामले की निष्पक्ष जांच कराने किसानों  के खातों में कर्ज माफी की बकाया राशि भेजने और सेवा  सहकारी प्रबंधक   सहित अन्य लापरवाह कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाहीं करने की मांग की है।

कांग्रेस ने चौराहे पर दी स्ट्रीट लाइट को श्रद्धांजलि   अंधेरे के कारण शहर में हो रही है अपराधिक घटनाएं    

sehore news
सीहोर। तहसील चौराहे पर बीते कई महीनों से बंद पड़ी स्ट्रीट लाइट को लेकर कांग्रेस कायज़्कताओज़्ं ने सोमवार की रात  अनोखा विरोध प्रदशज़्न किया। कांग्रेसी नेता विवेक राठौर के नेतृत्व में कांग्रेस कायज़्कताओज़्ं के द्वारा स्ट्रीट लाइट पर फूलमाला चढ़ाकर श्रद्धांजलि देकर नगर पालिका परिषद को जगाया गया। कांग्रेस नेता विवेक राठौर ने कहा कि शहर के कई चौक चौराहे और प्रमुख सड़क शाम होते ही अंधेरे में डूब जाती हैं नगर पालिका इस ओर ध्यान नहीं दे रही है खामियाजा वाहन चालकों और नागरिकों को रोज भुगतना पड़ रहा है अंधेरे के कारण सड़कों पर हादसे हो रहे हैं। कांग्रेस नेता श्री राठौर ने कहा कि अधेरे के कारण  शहर में चोरी चैन स्केनिचिंग जैसी वारदात भी सामने आ चुकी है। सड़कों  पर अंधेरा  होने का आसामाजिक  तत्व  लाभ  उठाते   है।   शहर में बंद पड़ी स्ट्रीट लाईटों के संबंध में कई बार अनेक नागरिकों ने नगर पालिका परिषद को समस्या से अवगत कराया है लेकिन नगरपालिका में कोई भी सुनने को तैयार नहीं है जिसको लेकर तहसील चौराहे पर स्ट्रीट स्ट्रीट लाइट को श्रद्धांजलि दी गई है श्रद्धांजलि कार्यक्रम में असंगठित कामगार जिला अध्यक्ष राजेंद्र नगर सहित शानू लाला, मुनव्वर माम,ू लोकेंद्र वर्मा, राजेंद्र नागर, साबिर अली, जितेंद्र यादव, रईस उस्ताद ,  चेतन वास्तबार,  सगीर उजैर, बहादुर,  सनी जाटव, वैभव राठौड़, सुधीर चौधरी, वरुण राठौर, उदय ताम्रकार, संकेत राठौर, राहुल गोस्वामी, रोहित, मोहित, अन्य नागरिक शामिल रहे। 

कोरोना संक्रमण के मद्देनजर त्यौहारों के लिये कलेक्टर ने निर्देश जारी किये
  • न गरबा आयोजित होगा, न चल-समारोह की अनुमति होगी
  • रात्रि 10:30 से सुबह 6 बजे तक केवल अत्यावश्यक सेवा के लिए ही बाहर निकलने की अनुमति रहेगी
कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा कोरोना वायरस के संक्रमण के रोकथाम एवं बचाव के लिए धार्मिक कार्यक्रम/त्यौहार के संबंध में जिले की समस्त राजस्व सीमा अन्तर्गत दण्ड प्रक्रिया संहिता की धारा 144 के अन्तर्गत निर्देश जारी किए गए हैं। जारी निर्देश अनुसार आगामी माहों में दुर्गा पूजा आदि पर्व मनाए जाएंगे तथा इसके लिए सार्वजनिक स्थानों पर प्रतिमा एवं झांकियों की विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर स्थापना की जाएगी। इसके साथ ही कोरोना वायरस संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जारी किए गए दिशा-निर्देशों के साथ अतिरिक्त दिशा-निर्देशों का पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाए। जारी आदेश में स्पष्ट किया गया है कि विभिन्न सार्वजनिक स्थानों पर स्थापित की जाने वाली प्रतिमा की ऊंचाई अधिकतम 6 फीट होगी तथा पंडाल का साईज 10X10 फीट अधिकतम रखा जा सकेगा। सभी मूर्तिकारों को तत्काल आवश्यक रूप से अनिवार्यता अवगत कराने के लिए अनुविभागीय दण्डाधिकारी को जिम्मेदारी सौंपी गई है। सामाजिक, सांस्कृतिक एवं अन्य कार्यक्रम के आयोजन के संबंध में गृह मंत्रालय भारत सरकार के आदेश अनुसार 100 से कम व्यक्तियों के आयोजन किए जा सकेंगे तथा इसके लिए आयोजक को संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से पूर्व अनुमति प्राप्त करना आवश्यक होगी। कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए किसी भी धार्मिक, सामाजिक आयोजन के लिए चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी। साथ ही गरबा के आयोजन नहीं हो सकेंगे। लाउड़स्पीकर बजाने के संबंध सर्वोच्च न्यायालय द्वारा जारी की गई गाईड लाईन का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। मूर्ति विसर्जन के लिए 10 से अधिक व्यक्तियों के समूह को अनुमति प्रदान नहीं की जाएगी। इसके लिए संबंधित आयोजकों को पृथक से लिखित अनुमति पूर्व से प्राप्त किया जाना आवश्यक होगा। अनुमति संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी से प्राप्त की जा सकेगी। संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी मूर्ति विसर्जन के लिए अधिक से अधिक उपयुक्त स्थानों का चयन कर यह सुनिश्चित करेंगे की विसर्जन स्थल पर भीड़ कम से कम हो। विसर्जन की विकेन्द्रीकृत व्यवस्था की जाए। सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के तारतम्य में झांकियों, पंडालों, विसर्जन के आयोजनों में श्रद्धालु फेस कवर, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सेनेटाईजर का प्रयोग के साथ ही राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी किए गए निर्देशों का कड़ाई से पालन करना होगा। समस्त दुकानें रात्रि 8 बजे तक खुलने की अनुमति होगी। केमिस्ट, रेस्तंरा, भोजनालय, राशन एवं खानपान से संबंधित दुकानें 8 बजे के बाद अपने निर्धारित समय तक खुली रह सकती हैं। रात्रि 10:30 बजे से सुबह 6 बजे तक अकारण आवागमन न हो इसके लिए नियमित रूप से पेटोलिंग व्यवस्था सुनिश्चित की जाए। दुकान संचालकों से अपेक्षा है कि वह स्व्यं मास्क पहने तथा ग्राहकों के उपयोग के लिए सेनेटाइजर तथा सोशल डिस्टेंसिंग के लिए 1-1 गज की दूरी पर घेरे बनाए। ऐसा नहीं करने वाले संचालकों के विरुद्ध नियमानुसार जुर्माना एवं अन्य दाण्डिक कार्यवाही की जाएगी। यह आदेश तत्काल प्रभावशील होकर आगामी आदेश पर्यन्त प्रभावशील रहेगा। आदेश का उल्लंघन करने पर भारतीय दण्ड विधान की धारा-188 एवं राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 51-60 के अन्तर्गत कार्यवाही की जाएगी।   

तहसील कार्यालय सीहोर एवं श्यामपुर 4 दिनों के लिए पूर्णत: बंद

अनुविभागीय दण्डाधिकारी सीहोर श्री आदित्य जैन ने जानकारी देते हुए बताया कि तसहीलदार सीहोर एवं तहसीलदार श्यामपुर को कोरोना वायरस से पॉजीटिव पाए जाने के कारण नोबल कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम नियंत्रण के लिए आमजन हेतु 4 दिवस के लिए तहसील कार्यालय सीहोर एवं श्यामपुर बंद कर दिया गया है। तहसील कार्यालय सीहोर एवं श्यामपुर में 4 दिवस तक आमजन का आना-जाना प्रतिबंधित रहेगा। सिर्फ अतिआवश्यक शासकीय कार्य के संचालन के लिए ही तहसील कार्यालय सीहोर एवं श्यामपुर खुला रहेगा। आमजन के लिए तहसील कार्यालय सीहोर एवं श्यामपुर पूर्णत: बंद रहेगा। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू है।    

नगर परिषद शाहगंज के वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया 28 सितंबर को कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में संपन्न होगी

सहायक परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण ने जानकारी देते हुए बताया कि नगर पालिका/नगर परिषद आगामी आम निर्वाचन जनगणना 2011 के अनुसार नगर परिषद शाहगंज के वार्ड आरक्षण किए जाने की कार्यवाही शासन के निर्देशानुसार 28 सितंबर को कलक्ट्रेट सभाकक्ष में दोपहर 12 बजे स्वीकृत की गई है। आरक्षण की कार्यवाही संपन्न कराए जाने के लिए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता द्वारा प्राधिकृत अधिकारी, अपर कलेक्टर सुश्री गुंचा सनोबर (आई.ए.एस.) एवं डिप्टी कलेक्टर श्री विजय मंडलोई, जिला परियोजना अधिकारी जिला शहरी विकास अभिकरण एवं मुख्य नगरपालिक अधिकारी श्री संदीप श्रीवास्तव के द्वारा आरक्षण की कार्यवाही पूर्ण की जाएगी। आरक्षण कार्यवाही में संबंधित नगरीय निकाय के मुख्य नगरपालिका अधिकारी शाहगंज उपस्थित रहकर कार्यवाही संपन्न कराएंगे। उन्होंने बताया कि इस प्रकार जिले की नगरीय निकाय नगर परिषद शाहगंज के वार्ड आरक्ष प्रक्रिया 28 सितंबर को पूर्ण किए जाने के पश्चात जिले की आठ नगरीय निकायों में वार्ड आरक्षण की प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाएगी। शेष एक नगरीय निकाय नगर पालिका सीहोर के आम निर्वाचन के आरक्षण की प्रिक्रिया के संबंध में शासन से मार्गदर्शन चाहा गया है। मार्गदर्शन प्राप्त होने के उपरांत आरक्षण की प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी।

36 व्‍यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 510 है
सीहोर निवासी 2 संक्रमित व्यक्तियों की उपचार के दौरान मृत्यु, कुल मृत 28
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि 36 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर से 14 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। संक्रमित व्यक्ति नारायण कंपाउंड, गोकुलधा, दश्सहरा मैदान, एलआईसी कॉलोनी, चाण्क्यपुरी, गंज, तहसील चौराहा, कस्बा क्षेत्र के रहने वाले है। श्यामपुर विकासखंड अन्तर्गत पाटन एवं नौनीखेड़ी से 1-1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। आष्टा विकासखंड से 8 की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है जो बोरा बाखुल, बरखेड़ा, वार्ड नंबर 2 एवं अलीपुर के निवासी हैं। बुदनी विकासखंड अन्तर्गत 8 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है जिसमें वार्ड नंबर 6, वार्ड नंबर 9 शाहगंज, वार्ड नंबर 10, डोबी एवं वार्ड नंबर 5 के निवासी हैं। नसरुल्लागंज अन्तर्गत 3 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं जो कोलार कॉलोनी तथा शास्त्री नगर कॉलोनी के निवासी हैं। इछावर अन्तर्गत झालकी से 1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिले में एक्टिव/ पॉजीटिव व्यक्तियों की कुल संख्या 510 हो गई है। आज कोविड केयर सेंटर सीहोर से 25 व्यक्तियों को रिकवर होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है। जिनमें सीहोर के 7, आष्टा के 3 एवं बुदनी से 10 व्यक्ति शामिल है तथा 5 होम आईसोलेशन की निर्धारित अवधि पूर्ण होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए हैं। जिले में रिकवर होने के उपरांत डिस्चार्ज किए गए व्यक्तियों की संख्या बढ़कर 794 हो गई है। सीहोर के कोविड संक्रमित बढ़ियाखेड़ी निवासी 2 व्यक्तियो की मृत्यु हो गई है। मृतकों में एक पुरुष तथा एक महिला शाहतल है। बड़ियाखेड़ी निवासी पुरुष को संक्रमण के उपरांत भोपाल में परिजनों द्वारा भर्ती किया गया था भोपाल से सीहोर लाकर जिला चिकित्सालय में स्थित आईसोलेशन वार्ड में उपचार के लिए भर्ती किया गया था जहां उपचार के दौरान उसकी मृत्यु हो गई। वहीं महिला वृद्धा थी तथा संक्रमण के उपरांत होम आईसोलेशन में उसे रखा गया था जहां उसकी मृत्यु हो गई। जिले में कोरोना संक्रमण से मृत्यु की संख्या 28 हो गई है। आज 472 व्यक्तियों के सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से आज 63 सैम्पल जांच हेतु लिए गए है। श्यामपुर से 157 सैमल लिए गए है, आष्टा से 82, नसरूल्लागंज के 75,  बुदनी के 55 तथा इछावर के 40 सैम्पल कोरोना जांच हेतु लिए गए है। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक  कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 1332 है जिसमें से 28 की मृत्यु हो चुकी है 794 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में 510 पॉजीटिव व्यक्तियों का उपचार चल रहा है।  आज कुल 472 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जिले से अब तक कुल 20765 सेम्पल जांच के लिए भेजे गए थे जिनमें से 18230 सेंपलों की रिपोर्ट अब तक निगेटिव प्राप्त हुई है। आज 442 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव प्राप्त हुई है। कुल 1134 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 69 है। जिले में कुल कंटेंमेंट एरिया 362 है जिनमें से 102 एक्टिव एवं 260 इनेक्टिव एरिया हैं। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

किसान की सहमति के बिना बीमा राशि ऋण खाते में समायोजित नहीं हो संभागायुक्त श्री कियावत के निर्देश

संभागायुक्त भोपाल श्री कवीन्द्र कियावत ने सभी कलेक्टर्स को निर्देश दिए हैं कि प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना की किसानों के खाते में जमा हुई क्षतिपूर्ति राशि का ऋण की अदायगी में समायोजन तब तक नहीं किया जाए जब तक लाभार्थी किसान सहमति नहीं दे दे। श्री कियावत ने सभी कलेक्टर्स को उक्त आशय के निर्देश जारी किए हैं। आदेश में स्पष्ट रूप से उल्लेख है कि किसान को मिलने वाली क्षतिपूर्ति राशि का बिना किसान की सहमति के ऋण खाते में समायोजन नहीं किया जाए। उन्होंने कलेक्टर्स से कहा है कि प्रत्येक मामले में किसानो से लिखित सहमति मिलने के बाद ही इस राशि से संबंधित कृषक के ऋण का समायोजन किया जाए। उन्होंने निर्देश का कड़ाई से पालन  सुनिश्चित करवाने के लिए कहा है।

राष्ट्रीय शिक्षा नीति थीम्स पर शिक्षकों के लिए ऑनलाईन प्रतियोगिता

शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा एमवायसीओवी के सहयोग से शिक्षकों के लिए राष्ट्रीय शिक्षा नीति-2020 से संबंधित ऑनलाईन प्रतियोगिता आयोजित की जा रही है। प्रतियोगिता का शीर्षक ‘’सम्प्रेषण सामग्री का विकास’’ प्रतियोगिता मे राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 से संबंधित विभिन्न थीम्स  पर शिक्षा से संबंधित सम्प्रेषण सामग्री का विकास किया जाना है। प्रतियोगता से संबंधित थीम्स जिसमें शिशु देखभाल एंव सीखने का आधार, आधारभूत साक्षरता, शाला त्यागी की दर कम करना, शाला मे पाठयक्रम एंव शिक्षा शास्त्र, समावेशित शिक्षा, संकुल के माध्यम से प्रशासन एंव संसाधान, प्रौढ शिक्षा आदि। प्रतियोगिताएं शाला स्तर से संकुल स्तर, विकासखण्ड स्तर एवं जिला स्तर पर आयोजित होगी। जिसमें जिला स्तर पर 23 से 30 सितम्बर 2020 तक आयोजित की जाएगी। जिला स्तर पर प्राप्त प्रस्तुंतियों में से श्रेष्ठ  5 प्रस्तुतियां राज्य शिक्षा केन्द्र भोपाल को भेजी जाएगी। अत: सभी शिक्षकों से अपील है कि वे ऑनलाईन प्रतियोगिता अधिकाधिक सहभागिता करें।

जन सामान्य को कोरोना संक्रमण की घातकता से अवगत कराएं
बचाव की सावधानियां मजबूरी नहीं, जान बचाने के लिए जरूरी : मुख्यमंत्री श्री चौहान, मुख्यमंत्री ने की कोरोना प्रबंधन की समीक्षा
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि वैश्विक स्तर से प्रदेश तक कोरोना महामारी की गंभीर होती  स्थिति के कारण सजगता और सतर्कता जरूरी है। कोरोना संक्रमण की घातकता को समझना और उससे डरना आवश्यक है। तभी हर व्यक्ति कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक सावधानी का गंभीरता से पालन करेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार कोरोना नियंत्रण और प्रबंधन के लिए हरसंभव प्रयास कर रही है। चिकित्सक और पैरामेडिकल स्टॉफ भी प्राण-प्रण से लगे हैं। अभी कोरोना की दवा उपलब्ध नहीं है, इसमें समय लगना संभावित है। अत: समाज को इस दिशा में और अधिक गंभीर होना होगा। सामाजिक, धार्मिक, व्यापारिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं को सक्रिय होकर जन-जन को कोरोना से बचाव की सावधानियां अपनाने के लिए प्रेरित करना होगा। यह वातावरण बनाना होगा कि यह मजबूरी नहीं अपने बचाव और सुरक्षा के लिए जरूरी है। सबकी सहमति से बनेगी दीर्घकालिक रणनीति- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना की गंभीर होती स्थिति और सामाजिक व आर्थिक गतिविधियां लंबे समय तक बंद नहीं कर पाने की बाध्यता को देखते हुए दीर्घकालीक रणनीति बनाना आवश्यक है। उन्होंने मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस को उप समूह बनाकर इस पर कार्य करने के निर्देश दिए। श्री चौहान ने कहा कि सर्वसम्मति से रोडमैप विकसित किया जाए। इसके लिए धर्म गुरूओं, सामाजिक, राजनैतिक, व्यापारिक संगठनों, स्वयंसेवी संस्थाओं से विचार-विमर्श कर कार्ययोजना बनाई जाए। कोरोना प्रबंधन के लिए शासकीय सहित निजी अस्पतालों के प्रबंधन, चिकित्सा महाविद्यालयों, विषय-विशेषज्ञों से संवाद कर रणनीति विकसित करने के निर्देश भी दिए गए। उन्होंने कहा कि आवश्यकता होने पर जिलों की विशेष परिस्थितियों को देखते हुए डिस्ट्रिक्ट स्पैसिफिक रणनीति विकसित की जाए। बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में कोरोना रिकवरी रेट 75 प्रतिशत है, पर एक्टिव केसेस की संख्या बढ़ रही है। मुख्यमंत्री ने इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर, उज्जैन आदि जिलों की जानकारी लेते हुए सजगता एवं सावधानियां बरतने के निर्देश दिये। अस्पतालों में बिस्तरों की संख्या व प्रबंधन, संचालित फीवर क्लीनिक, जिला स्तरीय कमाण्ड एण्ड कंट्रोल सेंटर के कार्यों की समीक्षा भी की गई।

कोई टिप्पणी नहीं: