बिहार : पटना एम्स से उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को छुट्टी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 28 अक्तूबर 2020

बिहार : पटना एम्स से उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को छुट्टी

patna-aiims-release-sushil-modi
पटना। कोरोना काल में बिहार विधानसभा का प्रथम चरण का चुनाव चल रहा है।बिहार चुनाव में नेताओं का कोरोना की चपेट में आने का सिलसिला जारी है।आज पटना एम्स से उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी को चिकित्सकों ने स्वस्थ हो जाने के बाद अस्पताल से छुट्टी दे दी।वहीं बुधवार को ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और राहुल गांधी की बिहार में चुनावी सभा हुई। पीएम की सभा से पहले राजग में शामिल विकासशील इंसान पार्टी (वीआइपी) के अध्यक्ष मुकेश सहनी कोरोना पॉजिटिव हो गए हैं। इसकी जानकारी उन्होंने बुधवार को फेसबुक पोस्ट के माध्यम से दी। मुकेश ने लोगों से अपील की है कि कुछ दिनों से जो भी उनके संपर्क में आएं हैं कृपया अपनी जांच करवा लें।  मुकेश साहनी ने फेसबुक पर लिखा, दरभंगा में आज आयोजित प्रधानमंत्री माननीय श्री नरेंद्र जी के कार्यक्रम में शामिल होने से पहले हमने कोरोना की जांच कराई, इसमें मेरी रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। मैंने खुद को आइसोलेट कर लिया है। हालांकि, मुझे अपने आप में किसी प्रकार का कोई कोरोना लक्षण महसूस नहीं हो रहा है। सत्यापन के लिए आज पुनः जांच कराई है। आप में से जो भी लोग मुझसे पिछले कुछ दिनों में संपर्क में आए थे, उनसे अनुरोध है कि अपनी जांच करा लें। अंत में  मुकेश सहनी ने लिखा, मुझे पूर्ण विश्वास है कि आपकी दुआओं से मैं शीघ्र स्वस्थ हो जाऊंगा।  बताते चलें कि बिहार चुनाव की घोषणा के बाद से ही नेता कोरोना पॉजिटिव हो रहे हैं। इस कड़ी में बिहार के उपममुख्यमंत्री सुशील मोदी, बिहार भाजपा के चुनाव प्रभारी और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस, बीजेपी नेता शाहनवाज हुसैन, राजीव प्रताप रूडी, बिहार सरकार में स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय से लेकर कई बड़े नेता कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। गौरतलब हो कि चुनाव से पहले ही कई बड़े नेताओं के संक्रमित होने से सियासी गलियारे में चिंता बढ़ गई है। अभी भी बिहार में दो चरण के चुनाव होने बाकी हैं। ऐसे में नेताओं की कोरोना को लेकर लापरवाही पार्टी को महंगी पड़ रही है। 

कोई टिप्पणी नहीं: