बिहार : बालिका गृहकांड पर तेजप्रताप ने कहा राक्षस? - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 18 अक्तूबर 2020

बिहार : बालिका गृहकांड पर तेजप्रताप ने कहा राक्षस?

tejpratap-said-rakshas-on-srijan
पटना : बिहार विधानसभा चुनाव के मद्देनजर सभी राजनीतिक दल के नेता एक दूसरे पर लगातार हमलावर है। इस बीच महागठबंधन के नेता और लालू के बड़े लाल तेजप्रताप यादव ट्वीट कर अपने विपक्षी दल पर हमलावर हो रहे हैं। बिहार विधानसभा चुनाव को लेकर सभी राजनीतिक दल के नेता और कार्यकर्ता ग्राउंड ज़ीरो से लेकर सोशल मीडिया तक एक्टिव हैं। इस बीच राजद नेता और महुआ से इस बार विधानसभा चुनाव लड़ रहे हैं तेजप्रताप यादव चुनावी सभा के साथ ही साथ सोशल मीडिया में भी लगातार एक्टिव रहते हैं। इसी कड़ी में उन्होंने आज नवरात्रि के शुभ अवसर पर बिहार वासियों के नवरात्र की शुभकामना देते हुए अपने विपक्षी दल जदयू पर जमकर हमला बोला है। तेज प्रताप यादव ने ट्विटर पर लिखा है कि आप सभी को नवरात्रि की बहुत-बहुत बधाई। हे जनमानस, बालिका गृह कांड जैसा घिनौना कुकृत्य करने वाले सृजनकारी राक्षसों का इस नवरात्र “उद्धार” जरूर करना! उनके इस ट्वीट के बाद कुछ लोग यह भी बोल रहे हैं कि तेज प्रताप यादव को नवरात्र के मौसम में अभी राजनीति नजर आ रही है ,यह सही नहीं है वहीं कुछ लोग यह भी बोल रहें हैं कि तेज प्रताप ने महिला सुरक्षा के लिए सही समय पर यह मुद्दा उठाया है क्योंकि नवरात्रों में नारी शक्ति की पूजा की जाती है। भारतवर्ष में नारी सर्वदा पूजनीय होती है। बता दें कि इससे पहले महागठबंधन ने नवरात्रि के मौके पर कॉमन मेनिफेस्टो जारी किया है। इस मौके पर तेज प्रताप यादव के छोटे भाई व नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने बिहारवासियों को नवरात्रि की शुभकामनाएं देते हुए बिहार में नीतीश सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि नवरात्रि का पहला दिन है और आज हम लोग कलश का स्थापना कर संकल्प लेते हैं। हमने भी अपने घर में कलश की स्थापना की है और संकल्प लिया है. ‘प्रण हमारा संकल्प बदलाव का’ ये सच होने वाला है।

कोई टिप्पणी नहीं: