विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 ऑक्टूबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 29 अक्तूबर 2020

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 29 ऑक्टूबर

सरदार पटेल जयंती - 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस, कम्पोजिट भवन प्रागंण में सांय चार बजे शपथ कार्यक्रम 

31 अक्टूबर 2020 को स्व. सरदार वल्लभ भाई पटेल की जन्म तिथि को राष्ट्रीय एकता दिवस के रूप में मनाया जाएगा। राष्ट्रीय एकता दिवस के अवसर पर 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता की शपथ दिलाई जाएंगी। एकता, अखंडता और सुरक्षा की भावना को मजबूती प्रदान करने के लिए राज्य पुलिस और अन्य वर्दीधारी बलों तथा अन्य एजेंसियों द्वारा 31 अक्टूबर 2020 की शाम को मार्च पास्ट का आयोजन किया जाएगा।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि 31 अक्टूबर को राष्ट्रीय एकता दिवस पर आधारित सायं चार बजे नवीन कलेक्ट्रेट कम्पोजिट भवन प्रागंण में शपथ ग्रहण कार्यक्रम आयोजित किया जाएगा। उपरोक्त कार्यक्रम में समस्त विभागो के जिलाधिकारियों को उपस्थित होने के निर्देश अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह के द्वारा प्रसारित किए गए है। जिला मुख्यालय पर आयोजित उपरोक्त कार्यक्रम में कोरोना योद्धा जैसे डॉक्टर, स्वास्थ्य कर्मी, सफाई कर्मी इत्यादि को आमंत्रित कर सम्मानित किया जाएगा। कार्यक्रम में कोविड-19 के दिशा-निर्देशों का पालन सुनिश्चित करने के भी निर्देश प्रसारित किए गए है।


सीएम हेल्पलाइन के आवेदनों का शीघ्र निराकरण करें

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने जिले के समस्त विभागो के जिलाधिकारियों को निर्देश प्रसारित किए है कि विभाग के अंतर्गत सीएम हेल्पलाइन की लंबित शिकायतो का निराकरण अभियान के रूप में क्रियान्वित कर शीघ्रतिशीघ्र हल कराना सुनिश्चित करें।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि आगामी टीएल बैठक में सीएम हेल्पलाइन में लंबित शिकायतों की समीक्षा सर्वोच्च प्राथमिकता से की जाएगी। उन्होंने जिलाधिकारियों को निर्देश दिए है कि शिकायते शासन नियमों के अनुरूप निराकृत की जाए एवं अन्य निराकरण संभव ना हो तो उनके स्पष्ट प्रस्ताव अनुमोदन हेतु प्रस्तुत करने के निर्देश दिए है साथ ही एल-थ्री लेवल पर स्पेशल क्लोज कराए जाने के संबंध में भी आवश्यक दिशा निर्देश कलेक्टर के द्वारा प्रसारित किए गए है।

कुंए की सफाई

कलेक्टर एवं विदिशा नगरपालिका के प्रशासक डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में निकाय के अमले द्वारा बुधवार को विदिशा शहर के वार्ड 24 में अग्रवाल धर्मशाला के पास स्थित कुंए की साफ सफाई कर ब्लीचिंग पावडर डालकर सफाई को अंजाम दिया गया है। निकाय के उपयंत्री श्री वायएस भदौरिया ने बताया कि निकाय क्षेत्र के सभी पेयजल स्त्रोतो खासकर पुराने कुंए, बावडी की साफ सफाई का कार्य रणनीति के तहत किया जाएगा। 

टीएचआर भण्डारित 

महिला एवं बाल विकास विभाग की ग्यारसपुर एवं नटेरन परियोजना अंतर्गत आने वाले आंगनबाडी केन्द्रो में वितरण हेतु टीएचआर का भण्डारण किया गया है। नटेरन के परियोजना अधिकारी श्री राजेश जैन ने बताया कि नटेरन परियोजना के लिए टीएचआर के कुल 1474 बैग प्राप्त हुए है। इसी प्रकार ग्यारसपुर परियोजना में 960 बैग टीएचआर का भण्डारण किया गया है।  

किसानो तक संदेश पहुंचाने का सशक्त माध्यम किसान खेत पाठशाला, प्रशिक्षणार्थियों की जिज्ञासाओं का समाधान 

vidisha news
किसानो तक खेतीबाडी का संदेश पहुंचाने के लिए किसान खेत पाठशाला सशक्त माध्यम है। किसानो की आमदनी में वृद्वि हो के लिए जिले में हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं उक्त आश्य के विचार अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने गुरूवार को आयोजित प्रशिक्षण में शामिल प्रशिक्षणार्थियों से व्यक्त किए। 
अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने कहा कि किसानबंधुओं को शासन की किसान हितैषी योजनाओं की जानकारी सुगमता से मिले और वे सभी योजनाओं से लाभांवित हो। जिले में खेती के क्षेत्र में नवाचार से अवगत कराने साथ ही किसानो को हर रोज आमदनी हो इसके लिए उद्यानिकी फसलों, दुग्ध उत्पादन, मत्स्य पालन की ओर भी विशेष ध्यान देना चाहिए। इस कार्य में विभागो के ग्राम स्तरीय अमले के द्वारा किसानो से सीधा संवाद कर इस ओर प्रेरित किया जा रहा है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने किसानो से आव्हान किया है कि किसानो की फसल तेवडा रहित रहे इसके लिए अभी से विशेष ध्यान देना होगा। उन्होंने आगामी रबी सीजन में नरवाई को नही जलाने पर बल देते हुए कहा कि किसानो को आरबीसी के प्रावधानो के तहत बीमा की राशि बैंक खाता में जमा कराने का कार्य क्रियान्वित है।  अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह ने कृषि, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा, कॉ-आपरेटिव के प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि किसान खेत पाठशाला के संबंध में जो-जो नवाचार जिले में किया जाना संभव है कि जानकारी किसानो को दे और नवाचार का उपयोग किसान करें के लिए किसानो को अभिप्रेरित करें। उन्होंने प्रशिक्षणार्थियों से कहा कि खेती किसानी के संबंध में जो भी शंका हो उसका समाधान प्राप्ति के उपरांत ही प्रशिक्षण हाल को छोडे।  मास्टर ट्रेनर्सो को किसान खेत पाठशाला के संबंध में किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग के उप संचालक श्री पीके चौकसे के द्वारा गहन प्रकाश डालकर जानकारी दी गई जिसमें उद्धेश्य, तकनीकी जानकारी के अलावा संसाधनो के अनुरूप फसलों एवं बीजो का चयन, अनुशंसा अनुसार बीजोपचार, पोषक तत्वो का संतुलित उपयोग, सिंचाई की उन्नत तकनीकी एवं फसल सिंचाई का समय, खरपतवार का प्रबंधन के अलावा फसलों में रोग व कीट व्याधि से बचाव के उपाय, पाले से बचाव, पराली व नरवाई का प्रबंधन, मृदा स्वास्थ्य प्रबंधन एवं कम्पोस्टिंग, पोषण एवं स्वास्थ्य हेतु पोषण वाटिका, उन्नत उपयोगी कृषि यंत्रो तथा मूंग, उड़द, मक्का की उत्पादकता को बढाने के संबंध में विस्तारपूर्वक जानकारी दी गई है। प्रशिक्षण के चतुर्थ चरण में तकनीकी सत्र का आयोजन किया गया जिसमें पशु चिकित्सा विभाग के उप संचालक डॉ एससीएल वर्मा ने प्रशिक्षणार्थियो को अवगत कराया कि कृषक बंधु, पशुपालन क्यों करें, गाय, भैंस की उन्नत नस्ल एवं नस्ल सुधार से होने वाले फायदे, पशु आवास प्रबंधन हेतु विभागीय योजनाओें से मिलने वाली मदद, पशु आहार प्रबंधन, पशुओं का स्वास्थ्य प्रबंधन, दुग्ध उत्पादन में कमी के कारण तथा निवारण के उपाय, पशु उपचार हेतु देशी नुस्खो की जानकारी दी गई है। प्रशिक्षणार्थियों को जिन महत्वपूर्ण बिन्दुओं से अवगत कराया गया उनमें क्रमशः गेहू, चना, मसूर, सरसो, अलसी, लहसुन तथा प्याज फसल उत्पादन शामिल है। कृषि वैज्ञनिकों के द्वारा खेत तैयार करने के पूर्व मिट्टी का परीक्षण कराने तथा बीज उपचारित करने की विधि,खरपतवार से बचाव के उपाय तथा कृषि यंत्रो का उपयोग, उन्नत बीज व तकनीक का प्रयोग करने के सरल उपायों से अवगत कराया।  नवीन कलेक्ट्रेट के बेतवा सभागार कक्ष एवं नीचे के मीटिंग हाल में एक साथ दो-दो चरणो में प्रशिक्षण आयोजित किया गया था। प्रथम पाली में सिरोंज, कुरवाई, लटेरी, बासौदा के तथा द्वितीय चरण में विदिशा, ग्यारसपुर नटेरन के प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षित किया गया है उक्त प्रशिक्षण में कृषि, उद्यानिकी, पशु चिकित्सा, कॉआपरेटिव,जल संसाधन विभाग के विकासखण्ड एवं ग्राम स्तरीय अधिकारी, कर्मचारी मौजूद थे। 

फुटकर आतिशबाजी लायसेंस हेतु आवेदन चार नवम्बर तक आमंत्रित

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने बताया है कि दीपावली पर फुटकर आतिशबाजी विक्रय के अस्थायी लायसेंस जारी करने हेतु संबंधित व्यवसायी अपने आवेदन पत्र चार नवम्बर की सांय चार बजे तक संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट कार्यालय में जमा कर सकते है। अस्थायी अनुज्ञप्तियां अधिकतम 15 दिन के लिए जारी होगी अर्थात 11 नवम्बर से 25 नवम्बर तक के लिए। अस्थायी अनुज्ञप्तियां एलई-5 में जारी करने के अधिकार उपखण्ड मजिस्ट्रेट को दिए गए है। ततसंबंध में अन्य विस्तृत जानकारी व आवेदन प्रारूप एवं शर्तो के लिए संबंधित स्थानीय उपखण्ड मजिस्ट्रेट (एसडीएम) कार्यालय में कार्यालयीन दिवसों अवधि में संपर्क कर प्राप्त की जा सकती है।  कलेक्टर डॉ जैन ने बताया कि विदिशा जिले की तहसील क्रमशः विदिशा, बासौदा, सिरोंज, कुरवाई, लटेरी, ग्यारसपुर, नटेरन, शमशाबाद, त्योंदा, गुलाबगंज, पठारी में संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट द्वारा चयनित स्थानो के लिए हाट बाजारो को छोड़कर निर्धारित प्रारूप पर आवेदन पत्र, आवेदक के दो छाया चित्रों व चालान की मूल प्रति, आयु, निवास संबंधी दस्तावेंजो की छाया प्रति सहित संबंधित उपखण्ड मजिस्ट्रेट कार्यालय में इच्छुक आवेदक नियत तिथि तक आवेदन कर सकते है। ताकि उन्हें दीपावली पर्व 2020 पर आतिशबाजी विक्रय अस्थायी अनुज्ञप्ति जारी की जा सकें। 

विदेशी पटाखो के विक्रय पर प्रतिबंध

कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने जिले में विदेशी पटाखो के विक्रय पर पूर्णतः प्रतिबंध लगाने का आदेश जारी कर दिया है।  मिनिस्ट्री आफ कामर्स एण्ड इंडस्ट्री पेट्रोलियम एण्ड एक्सक्यूसिव सेफ्टी आर्गेनाइजेशन के द्वारा जारी पत्र का हवाला देते हुए कलेक्टर डॉ जैन ने पुलिस अधीक्षक, समस्त उपखण्ड मजिस्ट्रेट को पत्र प्रेषित कर जिले में विदेशी पटाखो के विक्रय संग्रह, भण्डारण पर प्रतिबंध लगाते हुए संबंधितों को पटाखा दुकानो का निरीक्षण करते हुए विदेशी फायर वर्क्स का विक्रय अथवा भण्डारण पाए जाने पर विस्फोटक अधिनियम अनुसार कार्यवाही कर अवगत कराने के निर्देश प्रसारित किए है।

विस्फोटक सामग्री संबंधी सेवाएँ ऑनलाइन प्रदान करने नवीन व्यवस्था प्रारंभ

विस्फोटक सामग्री निर्माण, संधारण, परिवहन, विक्रय एवं चौरसा पटाखे विक्रय के लिये एनओसी, अनुज्ञप्ति से संबंधित चिन्हित 19 सेवाओं को एम.पी.ई. सर्विस पोर्टल http://services.mp.gov.in के माध्यम से पूर्णतः ऑनलाइन प्रदाय किये जाने के लिये मध्यप्रदेश शासन ने नवीन व्यवस्था प्रारंभ की है। मध्यप्रदेश में व्यवसाय को सुलभ कराने के उद्देश्य से बिजनेस रिफॉर्म और ईज ऑफ डूइंग बिजनेस अंतर्गत विस्फोटक अधिनियम में उपबंधित नियमों एवं शर्तों के अंतर्गत आदेश जारी करते हुए सेवाएँ ऑनलाइन प्रदाय करने के लिये नवीन व्यवस्था शुरू की गई है। इसके अंतर्गत सेवाओं को प्राप्त करने के इच्छुक आवेदनकर्ता पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। निर्धारित शुल्क का भुगतान भी ऑनलाइन हो सकेगा। आवेदनकर्ता को पोर्टल पर जानकारियाँ स्केन कर अपलोड करना होंगी। पोर्टल के माध्यम से ही निर्धारित शुल्क जमा कर एनओसी भी प्राप्त की जा सकेगी। जारी आदेश में सेवाओं की प्राप्ति के लिये पात्रताएँ भी स्पष्ट की गई हैं। चिन्हित 19 सेवाओं को प्राप्त करने के लिये आवेदनकर्ता की आयु न्यूनतम 18 वर्ष होनी जरूरी है। उसे न्यायालय द्वारा आपराधिक मामलों में दोष सिद्ध नहीं होना चाहिये। आवेदनकर्ता भारतीय दण्ड विधान-1973 के अध्याय-8 के अंतर्गत परिशांति कायम रखने और सदाचार के लिये बंध-पत्र निष्पादित करने के लिये आदेशित न किया गया हो। नियमानुसार आवेदन करने पर जिला दण्डाधिकारी द्वारा परीक्षण एवं अनुशंसा के बाद ऑनलाइन डिजिटल हस्ताक्षरयुक्त एनओसी, अनुज्ञप्ति जारी की जायेगी।        


उप चुनाव क्षेत्र अंतर्गत आने वाली मदिरा दुकाने  नियत तिथियों को बंद रहेगी  

कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने विधानसभा उप चुनाव 2020 के मतदान दिवस तीन नवम्बर ओर मतगणना दिवस दस नवम्बर को निर्वाचन क्षेत्र वाली विधानसभा से लगी तथा उनके सीमावर्ती क्षेत्र के तीन किलोमीटर तक के क्षेत्र में उक्त आदेश प्रभावशील रहेगा।  कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि विदिशा जिले के अंतर्गत अन्य जिलो की विधानसभा क्षेत्रों के तीन किलोमीटर क्षेत्रांतर्गत निम्नानुसार देशी, विदेशी मदिरा दुकाने संचालित है जिसमें सांची विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत देशी मदिरा दुकान क्रमशः अहमदपुर गांव एवं सलूज में जबकि मुंगावली विधानसभा क्षेत्र के अंतर्गत विदेशी मदिरा दुकान हाट बामोरीशाला में संचालित हो रही है। उक्त तीनो दुकाने पूर्व उल्लेखित तिथियों में शराब बिक्री पर प्रतिबंध एवं शुष्क दिवस घोषित करने के संबंध में दिशा निर्देश प्रसारित किए गए है।  कलेक्टर डॉ जैन के द्वारा जारी आदेश का हवाला देते हुए जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि जिले की सीमा के अंतर्गत जिले की तीन मदिरा दुकानो पर नियत तिथियों तीन नवम्बर एवं 11 नवम्बर को शराब बिक्री पर प्रतिबंध एवं शुष्क दिवस घोषित किया गया है अतः मतदान दिवस तीन नवम्बर के लिए एक नवम्बर की सांय छह बजे से मतदान समाप्ति तक के लिए तथा मतगणना दिनांक दस नवम्बर को सम्पूर्ण दिवस हेतु उल्लेखित ग्रामों की देशी व विदेशी मदिरा दुकानो के लिए शुष्क दिवस घोषित किया गया है।  जिला आबकारी अधिकारी श्री जैन ने बताया कि नियत अवधि में विदिशा जिले की उपरोक्त देशी विदेशी मदिरा दुकानो को मद्य भण्डारगारो से मदिरा प्रदाय, मदिरा परिवहन निषिद्व किया गया है। इस अवधि मेंं उक्त क्षेत्र में मदिरा का व्यक्तिगत धारा, भण्डारण व परिवहन तथा विक्रय पूर्णतः प्रतिबंधित रहेगा।

43 हजार रूपए की अवैध मदिरा जप्त  

vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा दिए गए निर्देशो के अनुपालन में आबकारी विभाग द्वारा जिले की राजस्व सीमाओं में अवैध मदिरा के क्रय, विक्रय तथा परिवहन पर सतत नजर रखी जा रही है। जिला आबकारी अधिकारी श्री शैलेष जैन ने बताया कि जिले में अवैध मदिरा की धरपकड़ के लिए विशेष रणनीति तय की गई है। जिसके अनुसार सूचनाएं प्राप्त होने पर विभागीय अधिकारी व कर्मचारियों के द्वारा अविलम्ब कार्यवाही की जा रही है।  सहायक आबकारी अधिकारी एवं कंट्रोल रूम प्रभारी श्री राहुल ढोंके के नेतृत्व में अवैध मदिरा की धरपकड़ मुहिम को अंजाम दिया जा रहा है। विशेष अभियान के तहत बुधवार 28 अक्टूबर को बाजार मूल्य लगभग 43 हजार रूपए की अवैध मदिरा जप्त कर संबंधितों के खिलाफ आबकारी अधिनियमों के तहत प्रकरण पंजीबद्व किए गए है।  सहायक आबकारी अधिकारी श्री ढोंके ने बताया कि मुखबिरो की सूचनाओं के आधार पर विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों द्वारा दी गई दबिश अनुसार सागर विदिशा मार्ग पर कुंआखेडी ग्राम के पास मोड़ पर दो प्लास्टिक की बोरियों में दस पेटियों में रखे पांच सौ देशी प्लेन मदिरा के पाव जप्त कर अज्ञात आरोपी के विरूद्व आबकारी अधिनियमों के तहत प्रकरण पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया है।  इसी प्रकार ग्राम भैरोखेडी तिराहा ठर्र मार्ग पर मोहानीखेजडा के दो निवासी आरोपी नीरज लोधी और राजाराम लोधी के कब्जे से देशी मसाला मदिरा के क्रमशः 25-25 पाव जप्त किए गए है। दोनो आरोपियों को मौके पर गिरफ्तार कर उनके विरूद्व भी आबकारी अधिनियम संशोधित 2000 की धाराओ के तहत प्रकरण पंजीबद्व कर विवेचना में लिया गया है। 

अतिरिक्त आय के लिये पशुपालन अपनाएं किसान पशुधन बीमा योजना लागू

किसान पशुपालन अपना कर अतिरिक्त आय प्राप्त कर सकते हैं। पशुधन बीमा योजना लागू होने से पशुपालन व्यवसाय में पशुधन हानि की भरपाई संभव हो गई है। यह योजना विदिशा जिले में भी लागू है। पशु चिकित्सा सेवा विभाग के उपसंचालक श्री एससीएल वर्मा ने बताया कि पशुधन बीमा योजना में दुधारू पशु के साथ सभी श्रेणी के पशुधन का भी बीमा कराया जा सकता है। एक हितग्राही अधिकतम 5 पशुओं का बीमा करा सकता है। भेड़, बकरी, शूकर आदि में 10 पशुओं की संख्या को एक पशु इकाई माना जाएगा। इससे यह आशय है कि भेड़, बकरी पालक एक बार में 50 पशुओं का बीमा करा सकेंगे। बीमा प्रीमियम पर एपीएल श्रेणी को 50 प्रतिशत तथा बीपीएल, अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति श्रेणी के पशु पालकों को 70 प्रतिशत तक अनुदान मिलेगा। शेष राशि हितग्राही द्वारा  दी जायेगी।  बीमा प्रीमियम की अधिकतम दर एक वर्ष के लिये 3 प्रतिशत तथा तीन वर्ष के लिए 7.50 प्रतिशत देय होगी। प्रदेश में वर्तमान में 2.45 प्रतिशत तथा 5.95 प्रतिशत दर लागू है। पशुपालक अपने पशुओं का बीमा एक वर्ष से लेकर तीन वर्ष तक के लिये करा सकेंगे। बीमित पशुओं के पालकों को पशु की मृत्यु की सूचना 24 घंटे के भीतर बीमा कंपनी को देना होगी। पशुपालन विभाग के चिकित्सक शव का परीक्षण करेंगे और रिपोर्ट में मृत्यु के कारणों का उल्लेख करेंगे। बीमा कंपनी को अधिकारी एक माह के अंदर दावे संबंधी प्रपत्र प्रस्तुत करेंगे। उसके बाद कंपनी 15 दिन में दावे का निराकरण करेगी।


किसानों के लिये मोबाइल एप लॉच

किसान खेत पाठशाला के प्रशिक्षणार्थियों को प्रशिक्षण के दौरान किसानो के लिए ईजाद मोबाइल एप की जानकारी दी गई। इस दौरान बताया गया कि कृषि एवं किसान कल्याण मंत्रालय भारत सरकार द्वारा किसानों के लिये एप तैयार किया गया है। इस FARMS (Farm Machinery Solutions) एप को डाउनलोड करके किसान अपने कृषि कार्य हेतु 200 किमी के क्षेत्र में स्थित फार्म मशीनरी बैंक संचालकों से कृषि मशीनरी तत्काल किराये पर प्राप्त कर आधुनिक उन्नत मशीनों से खेती कर सकते है।  


अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा के लिए आवेदन 19 नवम्बर तक

अखिल भारतीय सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 2021 के लिए इच्छुक अभ्यर्थी 20 अक्टूबर से आगामी 19 नवंबर के मध्य aissee.nta.nic.in  पर केवल ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। परीक्षा शुल्क का भुगतान डेबिट, क्रेडिट कार्ड, इंटरनेट बैंकिंग या पेटीएम वॉलेट का उपयोग करते हुए पेमेंट गेटवे के माध्यम से किया जाएगा। देश भर के 33 सैनिक स्कूलों में कक्षा छंठवी एवं कक्षा नवी में शैक्षणिक वर्ष 2021-22 में प्रवेश के लिए एआईएसएसईईई 2021 का संचालन करेगा। सैनिक स्कूल केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड से संबद्ध का अंग्रेजी माध्यम आवासीय एवं सीबीएसई से संबद्ध और सैनिक स्कूल सोसायटी द्वारा संचालित विद्यालय हैं। यह विद्यालय राष्ट्रीय रक्षा अकैडमी, भारतीय नौसेना अकैडमी तथा अन्य प्रशिक्षण अकैडमी में प्रवेश के लिए कैडेटों को तैयार करते हैं। परीक्षा की तिथि आगामी 10 जनवरी 2021 रहेगी। परीक्षा का मोड पेन एवं पेपर ओएमआर आधारित रहेगा। पेपर पेटर्न बहुविकल्पीय प्रश्नों का होगा। कक्षा छठी में प्रवेश के लिए उम्मीदवार की आयु 31 मार्च 2021 को 10 वर्ष से 12 वर्ष के बीच होना चाहिए। सभी सैनिक स्कूलों में छात्राओं के लिए प्रवेश परीक्षा केवल कक्षा छठी में उपलब्ध है। कक्षा 9वीं में प्रवेश के लिए उम्मीदवार की आयु 31 मार्च 2021 तक 13 वर्ष से 15 वर्ष के बीच होनी चाहिए और प्रवेश के समय मान्यता प्राप्त स्कूल से कक्षा आठवीं में उत्तीर्ण होना चाहिए। परीक्षा शुल्क अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति के लिए 400 रूपए एवं अन्य के लिए 550 रूपए रहेगा।


ऑनलाइन अल्पविराम कार्यक्रम 31 अक्टूबर तक

मध्यप्रदेश शासन अध्यात्म विभाग अंतर्गत संचालित राज्य आनंद संस्थान द्वारा छह दिवसीय ऑनलाइन अल्पविराम कार्यक्रम हेतु 31 अक्टूबर 2020 हेतु पंजीयन किए जा सकते है। संस्थान की वेबसाइटू www.anandsansthan.mp.in पर जाकर पंजीयन किया जा सकता है। अधिक जानकारी के लिए राज्य आनंदम संस्थान के स्टेट मास्टर ट्रेनर डॉ केपी तिवारी से मो. 9407816488 पर संपर्क किया जा सकता है।  


केन्द्रीय छात्रवृत्ति के लिये दिव्यांग छात्र-छात्राओं से आवेदन आमंत्रित

दिव्यांग छात्र-छात्राओं से विभिन्न श्रेणियों में प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर 2020 तक आवेदन मांगे गए हैं। सामाजिक न्याय एवं निःशक्तजन कल्याण विभाग के उप संचालक डॉ पीके मिश्रा ने जानकारी दी कि ऐसे दिव्यांग छात्र-छात्राएं जिनकी दिव्यांगता 40 प्रतिशत से अधिक है तथा जिनके अभिभावकों की वार्षिक आय 2.50 लाख रूपए हैं वे प्री-मैट्रिक कक्षा 11 से स्नातकोत्तर स्तर तक के लिये केन्द्रीय छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। जिन दिव्यांग छात्र-छात्राओं के अभिभावकों की वार्षिक आय 6 लाख रूपए है वे टॉप क्लास उत्कृष्टता के 241 अधिसूचित संस्थानों में स्नातक एवं स्नातकोत्तर डिग्री अथवा डिप्लोमाधारी दिव्यांग छात्रों के लिये उच्च श्रेणी शिक्षा वर्ष 2020-21 के लिये 31 अक्टूबर 2020 तक आवेदन कर सकते है। विद्यार्थी विभाग की वेबसाइट www.scholarships.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। विद्यालय, महाविद्यालय, शासकीय, अशासकीय संस्थाओं में अध्ययनरत दिव्यांग छात्र-छात्राओं के आवेदन पत्रों का सत्यापन 15 नवम्बर 2020 के पूर्व किया जाएगा।

बंदियों के परिजन एक नवंबर से जेलों में मुलाकात कर सकेंगे

राज्य शासन ने जेलों में परिरुद्ध बंदियों की उनके परिजनों से मुलाकात को एक नवंबर से प्रारंभ करने की स्वीकृति प्रदान की है। अब जेलों में परिरूद्ध बंदियों के परिजन जेलों में जाकर उनसे मुलाकात कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कि राज्य शासन ने 21 अगस्त 2020 को जेलों में कोरोना वायरस बीमारी से बचाव हेतु बंदियों की परिजनों से मुलाकात को 31 अक्टूबर तक प्रतिबंधित किया था। शासन द्वारा जारी परिपत्र अनुसार बंदियों की परिजनों से मुलाकात के दौरान कोरोना वायरस से बचाव संबंधी राज्य सरकार के निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा।

रूक जाना नही - आवेदन  की अंतिम तिथि 30 अक्टूबर

हाईस्कूल व हायर सेकेण्डरी स्कूलो में असफल विद्यार्थियो के लिये शिक्षा विभाग ने रूक जाना नही योजना शुरू की है। इस योजना के दूसरे चरण के तहत आवेदन लिये जा रह है। पहले 25 अक्टूबर तक आवेदन जमा करने की तारीख रखी गई थी। अब इसे बढ़ाकर 30 अक्टूबर कर दिया गया है। जिला शिक्षा अधिकारी ने बताया कि पूरक परीक्षा का परिणाम आने के बाद यह तारीख बढ़ाई गई है ताकि रूक जाना नही के तहत विद्यार्थियो को आवेदन करने के लिये समय मिल सके। इसके साथ ही राष्ट्रीय प्रतिभा खोज परीक्षा के लिये भी आवेदन किये जा सकते है। उन्होने बताया कि यह परीक्षा 13 दिसम्बर को आयोजित की जायेगी।

राष्ट्रीय पंचायत पुरस्कार हेतु नामांकन प्रारंभ

प्रतिवर्ष 24 अप्रैल को आयोजित होने वाले राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस समारोह में भारत सरकार पंचायती राज मंत्रालय द्वारा उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों को पुरस्कृत किया जाता है। इस संबंध में पंचायत राज मंत्रालय भारत सरकार द्वारा ऑनलाईन पोर्टल के माध्यम से उत्कृष्ट कार्य करने वाली पंचायतों से ऑनलाईन आवेदन मांगे गए है। जिसमें  दीनदयाल उपाध्याय पंचायत सशक्तिकरण पुरस्कार, नानाजी देशमुख गौरव ग्राम सभा पुरस्कार, ग्राम पंचायत विकास योजना पुरस्कार, बाल हितेशी ग्राम पंचायत पुरस्कार शामिल हैं।  उपरोक्त में से प्रथम श्रेणी के लिए जिला पंचायत, जनपद पंचायत एवं ग्राम पंचायत आवेदन कर सकती है, जबकि द्वितीय, तृतीय एवं चतुर्थ श्रेणी हेतु केवल ग्राम पंचायत ही आवेदन ही कर सकेगी। पुरस्कार के रूप में जिला पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ राशि रू. 50 लाख, जनपद पंचायत को प्रमाण पत्र के साथ राशि रू. 25 लाख एवं ग्राम पंचायत को उनकी जनसंख्या के अनुपात में प्रमाण पत्र के साथ राशि रू. 5-15 लाख तक प्रदान की जावेगी। पंचायतों के चयन का कार्य राज्य एवं खण्ड स्तर पर गठित समितियों के माध्यम से किया जावेगा। प्रथम स्तर-खण्ड स्तर पर चयन प्रत्यक्ष विचार-विमर्श, साक्षात्कार के आधार पर होगा। इस संबंध आवेदक ग्राम पंचायत अपना प्रस्तुतिकरण देगी और मूल्यांकन वर्ष में पंचायत द्वारा अर्जित उपलब्धियों को वीडियों के माध्यम से खण्ड स्तरीय समिति के समक्ष प्रस्तुत करेंगी। इसी अनुक्रम में चयनित ग्राम पंचायत जिला स्तरीय समिति के समक्ष भी प्रस्तुत करेंगी।      


सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना-नौकरी के साथ प्रोत्साहन राशि

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग और संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के विभिन्न चरणों में सफल अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के अभ्यर्थियों के लिये प्रोत्साहन योजना चलाई जा रही है। संघ लोक सेवा आयोग की अखिल भारतीय सिविल सेवा परीक्षा में अभ्यर्थी को प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 40 हजार रूपये, मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण होने पर 60 हजार रूपये एवं साक्षात्कार के बाद सफल होने पर 50 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि दिये जाने का प्रावधान है। आय सीमा का किसी भी तरह का बंधन नहीं है। मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में विभिन्न स्तरों पर सफल जनजातीय अभ्यर्थियों को भी प्रोत्साहन राशि उपलब्ध कराई जा रही है। प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 20 हजार रूपये, मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 30 हजार रूपये और साक्षात्कार के बाद सफल होने पर 25 हजार रूपये की राशि दी जा रही है।

समग्र आईडी से अपनी पात्रता जान सकते हैं खाद्यान्न उपभोक्ता

पूरे प्रदेश में खाद्य सुरक्षा योजना से लाभान्वित परिवारों का सत्यापन किया जा रहा है।  प्रत्येक उपभोक्ता सबसे पहले गुगल प्ले स्टोर से एम राशन मित्र ऐप डाउनलोड करना है जैसे ही आप ऐप ओपन करेंगे उक्त डैशबोर्ड ओपन होगा। इसमें आप सबसे पहले ऑप्शन परिवार की नवीन खाद्यान्न सुरक्षा पर्ची जानकारी पर क्लिक कर अपनी समग्र आईडी डालने पर हितग्राही की पात्रता दिख जाएगी एवं पात्रता पर्ची भी डाउनलोड कर सकते है।  जिला आपूर्ति अधिकारी श्रीमती रश्मि साहू ने बताया कि एप में परिवार की समग्र आईडी से लागिन करने पर खाद्यान्न की पात्रता, पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार के सदस्यों की जानकारी तथा परिवार प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। इसके माध्यम से आसपास की उचित मूल्य दुकान पीओएस मशीन की स्थिति, दुकान को खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण की भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण के संबंध में दी जाने वाली सूचनाओं और सुविधाओं के लिए भी एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी है।

किसान प्रधानमंत्री मानधन योजना के लिए करे आवेदन

आत्मा किसान कल्याण तथा कृषि विकास के परियोजना अधिकारी श्री एएस चौहान ने बताया कि भारत सरकार की प्रधानमंत्री किसान मान धन योजना 2 हैक्टेयर भूमि तक के कृषकों, जिनकी उम्र 18 से 40 वर्ष तक है, के लिये लागू की गई है। योजना के अन्तर्गत आयु अनुसार प्रीमियम की राशि निर्धारित है जो कि 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने तक मासिक योगदान राशि 55 से 200 रूपये तक है।  आवेदक 60 वर्ष की आयु प्राप्त करने के पश्चात प्रतिमाह 3 हजार रूपये पेंशन का हकदार होगा। पेंशन योजना का लाभ लेने हेतु किसान को कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) जो कि लगभग समस्त विकासखंडों में है, पर जाकर रजिस्ट्रेशन करवाना होगा। रजिस्ट्रेशन हेतु खसरा, खतौनी की नकल, आधार कार्ड, 2 फोटो और बैंक पासबुक की जरूरत होगी। इस हेतु कृषक को कोई फीस नही देनी है। कृषक, पोर्टल पर स्वयं भी आवेदन कर सकता है। योजना के विस्तृत प्रावधान की जानकारी प्राप्त करने हेतु कृषक कृषि विभाग के अधिकारियों, कर्मचारियों से संपर्क कर सकते है।

प्रधानमंत्री राष्ट्रीय बाल पुरस्कारों के आवेदन 30 अक्टूबर तक

महिला एवं बाल विकास विभाग के जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री बृजेश शिवहरे ने बताया कि भारत सरकार महिला बाल विकास विभाग द्वारा असाधारण क्षमता और उत्कृष्ट उपलब्धि के लिये बाल शक्ति पुरस्कार प्रदाय किया जाता है तथा बच्चों के विकास, सुरक्षा एवं कल्याण के क्षेत्र में कार्य करने वाले व्यक्तियों तथा संरथाओं को बाल कल्याण पुरस्कार प्रदान किये जाते है। इस हेतु विस्तृत  दिशा-निर्देश भारत सरकार की वेबसाईट http://www.aca.wed.nic.in  पर उपलब्ध है। उपरोक्त पुरस्कारों हेतु ऑन लाइन आवेदन जमा करने की अंतिम तिथि तीस अक्टूबर नियत की गई है। 

उद्यानिकी फसलों के संबंध में उपयोगी सलाह

आंचलिक कृषि अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिकों ने किसानों को उद्यानिकी फसल के संबंध में सलाह दी है कि शीतकालीन गोभीवर्गीय सब्जियों जैसे फूलगोभी, पत्तागोभी व गांठगोभी की अगेती किस्मों का चयन कर नर्सरी डालें और टमाटर, बैंगन, मिर्च, शिमला मिर्च आदि लगाने की तैयारी करें। बुआई के पूर्व बीजों को थायरम एक ग्राम प्रति किलो बीज की दर से उपचारित करें।  

दस सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुए

मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार ने बताया कि गुरूवार 29 अक्टूबर को जिले में कोरोना वायरस कोविड 19 के कुल दस सेम्पल पाजिटिव प्राप्त हुए है। विदिशा विकासखण्ड में छह, नटेरन में दो तथा सिरोंज एवं कुरवाई में क्रमशः एक-एक सेम्पल पॉजिटिव प्राप्त हुआ है।

कोई टिप्पणी नहीं: