गया : जिला निर्वाचन पदाधिकारी अभिषेक सिंह द्वारा निरीक्षण - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 6 नवंबर 2020

गया : जिला निर्वाचन पदाधिकारी अभिषेक सिंह द्वारा निरीक्षण

gaya-dm-inspaction-election
गया। मतगणना के पूर्व मतगणना कर्मियों, मतगणना माइक्रो ऑब्जर्वर, मतगणना पर्यवेक्षक, मतगणना सहायकों का प्रशिक्षण केंद्रीय विद्यालय बैरागी में प्रशिक्षण कोषांग के नोडल पदाधिकारी सह जिला शिक्षा पदाधिकारी गया श्री मुस्तफा हुसैन मंसूरी की देखरेख में ट्रेनिंग कराया जा रहा है, जिसका निरीक्षण आज जिला निर्वाचन पदाधिकारी सह जिला पदाधिकारी गया श्री अभिषेक सिंह द्वारा किया गया।  जिला पदाधिकारी ने उपस्थित माइक्रो ऑब्जर्वर, मतगणना पर्यवेक्षक एवं अन्य मतगणना कर्मियों को कहा कि प्रत्येक मतगणना हॉल में ए०आर०ओ टेबल के अतिरिक्त 14 मतगणना टेबल होगी। टेबल पर राउंड बार मतगणना के लिए निर्धारित मतदान केंद्र संबंधी विवरण पूर्व से उपलब्ध रहेगा। प्रत्येक राउंड में टेबल पर प्राप्त सी०यू०के ऐड्रेस टैग से मतदान केंद्र संख्या का मिलान करना सुनिश्चित करेंगे। उन्होंने बताया कि मतगणना पर्यवेक्षक  के लिए प्रत्येक टेबल पर एक फोल्डर उपलब्ध कराया जाएगा जिसमें मतदान केंद्र वार मतगणना विवरण अंकित करने  के लिए प्रपत्र 17  में रहेगा जिस पर अभ्यर्थियों का नाम पूर्व से मुद्रित रहेगा मतगणना विवरण अंकित करने के बाद अपना हस्ताक्षर मूल में अंकित करना सुनिश्चित करेंगे।


उन्होंने कहा कि मतगणना हॉल में प्रवेश कुछ ही लोगों को रहेगा जिनमें मतगणना पर्यवेक्षक एवं सहायक, भारत निर्वाचन आयोग द्वारा प्राधिकृत व्यक्ति, निर्वाचन कर्तव्य पर तैनात लोक सेवक, उम्मीदवार निर्वाचन अभिकर्ता तथा गणन अभिकर्ता रहेंगे।उन्होंने निर्देश दिया कि मतगणना की प्रक्रिया को सतर्कता पूर्वक करना है। प्रत्येक राउंड में मतगणना  के लिए संबंधित टेबल पर निर्धारित मतदान केंद्र की मतगणना करने  के लिए कंट्रोल यूनिट प्राप्त होते हैं निर्धारित प्रक्रिया के अनुरूप मतगणना कार्य संपन्न कराया जाएगा।  सभी काउंटिंग एजेंट को सील्ड बॉक्स एवं एड्रेस टैग दिखाकर संतुष्ट करेंगे इसके बाद एड्रेस टैग के धागे को काटकर सी०यू० के सेंट्रल लॉक को खोलेंगे तथा बॉक्स के दोनों किनारे के फ्लैक्सिबल लॉक को बाहर की तरफ उंगली के सहारे खीचेंगे। बॉक्स के कवर को अंगूठे से ऊपर उठाएंगे तो बॉक्स खुल जाएगा। इसके उपरांत बी०यू० के नंबर, स्ट्रिप सील, ग्रीन पेपर सील तथा एड्रेस टैग को काउंटिंग एजेंट को दिखा कर संतुष्ट कर देंगे कि वह सही मशीन है, जो एड्रेस टैग में लगे बूथ पर मतदान के लिए प्रयोग की गई है। इसके उपरांत उसका भी सील तोड़ कर सील्ड कवर को उंगली एवं अंगूठे की मदद से खोलेंगे। पेपर सील पर किए गए हस्ताक्षर को काउंटिंग एजेंट को दिखाना होगा।  इसके उपरांत मशीन को ऑन करेंगे तो मशीन के डिस्प्ले सेक्शन पर ईवीएम पर नंबर प्रदर्शित होगा। फिर डेट, टाइम, बैटरी की स्थिति तथा कुल कैंडिडेट प्रदर्शित होंगे। उन्होंने बताया कि मशीन में जहां रिजल्ट बटन है उसे पेपर सील के ऊपर से ही उंगली से दबाना है, तो मशीन रिजल्ट प्रदर्शित करेगा। इसके बाद प्रत्येक कैंडिडेट के सीरियल नंबर के सामने जो मत सी०यू० में प्रदर्शित होगा उसे प्रपत्र 17 सी के पार्ट- 2 में कैंडिडेट के नंबर एवं नाम के आगे मत का आंकड़ा दर्ज करना सुनिश्चित करेंगे। मतों का आंकड़ा मतगणना पर्यवेक्षक के द्वारा 17सी के पार्ट 2 में दर्ज किया जाएगा। काउंटिंग एजेंट, काउंटिंग असिस्टेंट एवं काउंटिंग सुपरवाइजर हस्ताक्षर करेंगे तथा ए०आर०ओ० टेबल पर भेज देंगे। इसके उपरांत वीवीपैट के पेपर स्लिप की गणना के संबंध में भी कई आवश्यक निर्देश दिए गए। उन्होंने सभी कर्मियों को निर्देश दिया कि काउंटिंग प्रोसेस की पूरी जानकारी ट्रेनिंग में प्राप्त कर लेंगे। जानकारी के अभाव में काउंटिंग के दौरान एक भी गलती बर्दाश्त नहीं की जाएगी।

कोई टिप्पणी नहीं: