मधुबनी :पदमश्री गोदावरी दत्ता नहीं डाल सकी वोट - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 3 नवंबर 2020

मधुबनी :पदमश्री गोदावरी दत्ता नहीं डाल सकी वोट

करती रही बैलेट का इंतेजार, आखिरकार ट्वीट कर जताया दर्द।

godavari-datta-not-voted
मधुबनी: आज मधुबनी जिले के पद्मश्री अवॉर्डी गोदावरी दत्ता ने ट्वीट कर जानकारी दी कि वे पोस्टल बैलेट द्वारा वोट के लिए इंतजार करती रही लेकिन 4.30 बजे तक कोई नही आया था। अपने ट्वीट में गोदावरी दत्ता ने DM मधुबनी, इलेक्शन कमिशन ऑफ इंडिया और CEO Bihar को भी अपने टैग किया है। उनके पोते संतोष आनंद ने बताया कि कुछ दिन पहले चुनाव आयोग/स्वीप की टीम आयी थी जिसने पोस्टल बैलेट उपलब्ध कराए जाने का आश्वासन दिया था। लेकिन 3 नवंबर, चुनाव के दिन 4.30बजे तक कोई नही आया तो उन्हें ट्वीट कर सभी को जानकारी भी दी। लेकिन देर शाम तक किसी भी जगह से कोई उत्तर नही आया। 


आपको बता दें कि मधुबनी पेंटिंग की मूर्द्धन्य हस्ताक्षर 90 वर्षीय गोदावरी दत्ता को 2019 में पद्मश्री मिला था। गोदावरी दत्त की पेंटिंग समुद्र मंथन, त्रिशूल, कोहबर, वासुकीनाग आदि काफी प्रसिद्ध हैं। 90 वसंत देख चुकी शिल्प गुरु गोदावरी 1964-65 से ही वह इस क्षेत्र में काम कर रहीं हैं और कई बार कला अकादमियों द्वारा बुलाये जाने पर अलग-अलग देशों के दौरे भी कर चुकी हैं। बिहार म्यूजियम में एक विशाल मिथिला पेंटिंग बनाने के साथ ही साथ इनकी पेंटिंग्स ने जापान के मिथिला म्यूजियम में भी अपनी जगह संजोयी हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: