नीतीश की भूल का परिणाम है तेजस्वी की अमर्यादित टिप्पणी : गिरिराज - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 28 नवंबर 2020

नीतीश की भूल का परिणाम है तेजस्वी की अमर्यादित टिप्पणी : गिरिराज

nitish-create-tejaswi-problame-giriraj
लखीसराय: केंद्रीय मंत्री व भाजपा नेता गिरिराज सिंह ने तेजस्वी यादव यादव द्वारा विधानसभा परिसर में सीएम नीतीश कुमार पर लगाए गए आरोपों पर कहा कि परिसर में तेजस्वी यादव ने जिस घटिया शब्द का प्रयोग किया है वो वैसा कह भी नहीं सकते। गिरिराज ने कहा कि मुझे लगता है कि सबसे बड़ी भूल तो नीतीश जी ने की है। जिसके बारे में वे कल कह भी रह थे। गिरिराज ने कहा कि नीतीश जी कह रहे थे कि तेजस्वी यादव को डिप्टी सीएम वही बनाए थे। ये भूल जो उन्होंने की है उसी का ये दुष्परिणाम है कि आज तेजस्वी यादव इतने घटिया शब्द का प्रयोग नीतीश जी के व्यक्तिगत जीवन पर लगाया है। जबकि इसका कोई दूर-दूर तक नाता नहीं है। इसके साथ ही गिरिराज सिंह ने तेजस्वी यादव द्वारा मुख्यमंत्री के पुत्र के बारे में बोलने पर कहा कि उन्होंने ऐसा कहा, जो कि मैं बोल भी नहीं सकता। कोई सभ्य आदमी वैसा आरोप सदन के पटल पर नहीं लगा सकता है, जैसा घटिया शब्द का प्रयोग कल हुआ उससे राजनीति मूल्यों का क्षरण हुआ है और ये कहीं न कहीं समाज के लिए घातक है। गिरिराज के अलावा बिहार भाजपा के प्रवक्ता प्रेमरंजन पटेल ने तेजस्वी पर निशाना साधते हुए कहा कि उन्होंने बच्चों वाली हरकत की है, उनकी हरकत से राजनीतिक मर्यादा को धक्का लगा है। पटेल ने कहा कि नीतीश कुमार का पंद्रह सालों का इतिहास निर्विवाद रहा है। भाजपा प्रवक्ता ने कहा कि तेजस्वी यादव बेबुनियाद आरोप लगाकर सुर्खियों में बने रहना चाहते हैं। वे एग्जिट पोल के परिणाम के आधार मुख्यमंत्री भी बनना चाह रहे थे।

कोई टिप्पणी नहीं: