सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 2 नवंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 01 नवम्बर

बाल्मीकी समाज के वरिष्ठ नागरिकों का विहिप बजरंगदल ने किया कॉलोनी में पहुंचकर सम्मान

sehore news

सीहोर। बाल्मीकी समाज के वरिष्ठ नागरिकों का विश्वहिन्दू परिषद बजरंग दल ने कॉलोनी में पहुंचकर पगड़ी बांधकर पुष्पमालाएं पहनाकर स्वागत सम्मान किया। विहिप कार्यकर्ताओं और बाल्मीकी समाज युवाओं के द्वारा संत शिरोमणी भगवान बाल्मीकी व रामायण जी की महाआरती की गई। विहिप ने बाल्मीकी जयंती के उपलक्ष में बकरी पुल कस्बा स्थित दुर्गा मंदिर परिसर और स्टेशन रोड स्थित बाल्मीकी कॉलोनी में निर्माणाधीन बाल्मीकी समाज सामुदायिक मांगलिक भवन में कार्यक्रम आयोजित किया। विहिप  जिलाध्यक्ष सुनील शर्मा के नेतृत्व में विहिप कार्यकर्ताओं और बाल्मीकी समाजजनों के द्वारा समरसता एकता का संकल्प लिया। जिलाध्यक्ष श्री शर्मा ने कहा की सनातन धर्म के शत्रु विभिन्न तरीकों से समाज को तोडऩे का कुचक्र चला रहे है। देश में धर्म परिवर्तन कराने का सडय़ंत्र लगातार रचा जा  रहा है इन सभी शक्तियों का हमसब को मिलकर सामना करना है और एकता अखंडता के साथ विधर्मियों को करारा जबाव देना है।  कार्यक्रम में   जिला  उपाध्यक्ष  जगदीश  कुशवाहा,  जिलामंत्री राकेश  विश्वकर्मा,  जिला कोषाध्यक्ष मोहितराम पाठक,जिला  समरसता  प्रमुख डॉ गगन  नामदेव,  नगर अध्यक्ष  आलेखराज राठौर, नगर मंत्री यज्ञेश शेव नगर संयोजक आशीष कुश्वाहा, भगवान सिंह कुशवाह, रितेश चंदेल, मनीष  बालमीकी आदि  उपस्थित रहे।  

1 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 83 है

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 1 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। जिले में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 83 है। 1 व्यक्ति को रिकवर होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है। जिले में कुल डिस्चार्ज/रिकवर व्यक्तियों की संख्या 1987 है। संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 41 है। आज 202 सैम्पल लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से 17 सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 63, आष्टा से 60, इछावर से 12, श्यामपुर से 30, बुदनी से 20 सैम्पल लिए गए हैं। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2111 है जिसमें से 41 की मृत्यु हो चुकी है 1987 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 83 है। आज 202 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जांच के लिए अब तक भेजे गए कुल सेंपलों की संख्या 34635 है। कुल निगेटिव सेंपलों की संख्या 31385 है। आज 238 सेंपलों की जांच निगेटिव प्राप्त हुई है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय सीहोर में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।

परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण हेतु प्रस्ताव मण्डल को उपलब्ध कराने की समय-सीमा बढ़ाकर 30 नवम्बर 2020 नियत की गई

शैक्षणिक सत्र 2020-21 की परीक्षाओं के संचालन हेतु परीक्षा केन्द्रों के चयन के लिये केन्द्र चार्ट उपलब्ध कराने निर्देशित किया गया है। कोविड-19 के संक्रमण के कारण शैक्षणिक सत्र मे विलम्ब की पृष्ठभूमि में वर्ष 2020-21 की परीक्षाओं के लिये परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण हेतु प्रस्ताव माध्यमिक शिक्षा मण्डल को उपलब्ध कराने की समय-सीमा बढ़ाकर 30 नवम्बर 2020 नियत की गई है। कोविड-19 के संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए मण्डल परीक्षाओं के लिये परीक्षा केन्द्रों के निर्धारण हेतु संशोधित मार्गदर्शी मापदण्ड नियत किये गये हैं, जिनमें परीक्षा केन्द्रो में सम्मिलित शालाओं की दूरी, शहरी क्षेत्र में 05 किलोमीटर एवं ग्रामीण क्षेत्र में 10 किलोमीटर से अधिक नही होगी। परीक्षा केन्द्र का चयन शासकीय अथवा अशासकीय विद्यालय के बजाय संस्था में उपलब्ध अधोसंरचना, संसाधन एवं सुविधाओं के आधार पर किया जायेगा, परीक्षा केन्द्र के लिए ऐसे विद्यालय का चयन किया जाये, जिसमें परीक्षार्थियों की बैठक व्यवस्था, बिठाने के लिय फर्नीचर, पेयजल, प्रसाधन व सुरक्षा की अच्छी व्यवस्था हो, मण्डल द्वारा शैक्षणिक सत्र 2020-21 की आयोजित परीक्षाओं में परीक्षा केन्द्र पर प्रश्न पत्र ऑनलाईन/पेन ड्राईव के माध्यम से उपलब्ध कराया जाना विचाराधीन है। अत: जिन विद्यालयों में स्वयं की कम्पयूटर, इंटरनेट, प्रिन्टर/फोटो कॉपी मशीन अथवा किराये पर लेने की व्यवस्था आसानी से हो सके, उन्हें प्राथमिकता दी जायेगी। ऐसे कोई भी विद्यालय को परीक्षा केन्द्र के लिए प्रस्तावित नहीं किया जाये जहां/शामियाना में, टाटपट्टी अथवा जमीन पर परीक्षार्थियों को बैठाकर परीक्षा देने की स्थिति उत्पन्न हो, एक परीक्षा केन्द्र में 250 से कम परीक्षार्थी होने की स्थिति में ऐसे विद्यालय को परीक्षा केन्द्र हेतु प्रस्तावित नहीं किया जायेगा, एक परीक्षा केन्द्र पर परीक्षा के लिए न्यूनतम तीन विद्यालय के परीक्षार्थियों को संलग्न किया जायेगा, परीक्षा केन्द्र वाली संस्था में अध्ययनरत छात्रों को उसी परीक्षा केन्द्र में रखे जाने पर कोई रोक नहीं होगी। परीक्षाए दो पालियों में आयोजित होंगी। स्वाध्यायी परीक्षार्थी हेतु- किसी भी परीक्षा केन्द्र में स्वाध्यायी परीक्षार्थियों की संख्या कुल परीक्षार्थियों के अधिकतम 10 प्रतिशत तक हो सकेगी। केवल स्वाध्यायी परीक्षार्थियों के परीक्षा केन्द्र जिला मुख्यालय पर ही बनाना प्रस्तावित किया जायेगा। उपरोक्त मार्गदर्शी मापदण्डों के आधार पर परीक्षा केन्द्रों का प्रस्ताव तैयार कराकर 25 नवम्बर 2020 तक जिला योजना समिति से अनुमोदन प्राप्त करते हुये 30 नवम्बर 2020 तक मण्डल को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें।  

वन नेशन वन राशन कार्ड अंतर्गत अन्य राज्यों में भी उचित मूल्य दुकानों से खाद्यान्न प्राप्त करने की होगी सुविधा हितग्राही टोल फ्री नम्बर 1445 पर दर्ज करा सकेंगे शिकायत

खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग और भारत सरकार द्वारा वन नेशन वन राशन कार्ड योजनांतर्गत अंतर्राज्यीय पोर्टेबिलिटी के तहत प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 अंतर्गत सम्मिलित पात्र परिवारों को देश के 23 अन्य राज्यों में किसी भी उचित मूल्य दुकान से उनकी पात्रतानुसार खाद्यान्न प्राप्त करने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। जारी निर्देशानुसार "वन नेशन वन राशन कार्ड" के तहत अन्य राज्यों के पात्र हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण की सुविधा उपलब्ध होने संबंधी सूचना का प्रदर्शन समस्त उचित मूल्य दुकानों एवं स्थानीय निकाय पर कराया जाए। पोर्टेबिलिटी के माध्यम से उन्हीं पात्र हितग्राहियों को खाद्यान्न वितरण किया जा सकेगा जिनका आधार नंबर की सीडिंग की जा चुकी है, अत: सभी पात्र हितग्राहियों की आधार सीडिंग कार्य अनिवार्य रूप से कराया जाना सुनिश्चित किया जाए। प्रदेश में अन्य राज्यों से माईग्रेट होकर आये मजदूरों/हितग्राहियों को भी उनके निवास के नजदीक की दुकान से राशन उपलब्ध कराया जाएगा। प्रदेश के पात्र हितग्राहियों का अन्य राज्यों में माईग्रेट होने पर पंचायतों/नगरीय निकाय में पूर्ण रिकार्ड संधारित किया जाए एवं ऐसे परिवारों के समस्त हितग्राहियों के ई केवायसी संबंधित दुकान पर आवश्यक रूप से उपलब्ध कराया जाए। "वन नेशन वन राशन कार्ड" के तहत हितग्राहियों को खाद्यान्न उपलब्ध न होने संबंधी शिकायत दर्ज करने हेतु टोल फ्री नंबर 1445 की सुविधा उपलब्ध कराई गई है।


सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना – नौकरी के साथ प्रोत्साहन राशि

मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग और संघ लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा के विभिन्न चरणों में सफल अनुसूचित जाति एवं जनजाति वर्ग के अभ्यर्थियों के लिये प्रोत्साहन योजना चलाई जा रही है। संघ लोक सेवा आयोग की अखिल भारतीय सिविल सेवा परीक्षा में अभ्यर्थी को प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 40 हजार रूपये, मुख्य परीक्षा उत्तीर्ण होने पर 60 हजार रूपये एवं साक्षात्कार के बाद सफल होने पर 50 हजार रूपये प्रोत्साहन राशि दिये जाने का प्रावधान है। आय सीमा का किसी भी तरह का बंधन नहीं है। मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग की सिविल सेवा परीक्षा में विभिन्न स्तरों पर सफल जनजातीय अभ्यर्थियों को भी प्रोत्साहन राशि उपलब्ध कराई जा रही है। प्रारंभिक परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 20 हजार रूपये, मुख्य परीक्षा में उत्तीर्ण होने पर 30 हजार रूपये और साक्षात्कार के बाद सफल होने पर 25 हजार रूपये की राशि दी जा रही है।

कोई टिप्पणी नहीं: