सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 नवम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 5 नवंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 05 नवम्बर

बडिय़ा खेड़ी में होगा सीसी सड़क का निर्माण नपाध्यक्ष और पार्षद ने किया संयुक्त भूमि पूजन

sehore news
सीहोर। खस्ताहाल सड़क के कारण परेशानियों से जूझ रहे बडिय़ा खेड़ी के नागरिकों को जल्द हीं राहत मिलने वाली है। नगर पालिका अध्यक्ष अमिता जसपाल अरोरा ने वार्ड पार्षद मनोज राय की अनुशंसा और नागरिकोंं की मांग पर सीवन पुल से लेकर बडिय़ा खेड़ी सरकारी स्कुल तक सीसी सड़क निर्माण की स्वीकृति प्रदान की है। गुरूवार दोपहर में नगर पालिका अध्यक्ष अमिता अरोरा और वरिष्ठ भाजपा नेता जसपाल सिंह अरोरा ने पार्षद मनोज  राय की विशेष उपस्थिति में सीसी सड़क निर्माण कार्य का भूमि पूजन किया। जनहित  में पार्षद श्री राय के द्वारा बीते सालों से उक्त बडिय़ाखेड़ी की प्रमुख सड़क  के निर्माण कराने के लिए प्रयास किए जा रहे थे। नागरिकों के सहयोग और नपाध्यक्ष की विशेष रूची के चलते उक्त सीसी सड़क का निर्माण 22 लाख रूपये लागत से होने जा रहा है। कार्यक्रम में प्रमुख रूप से केशव राय रामस्वरूप राय,शेलेंद्र पथिक, विजेंद्र राय,अंकित पाठक,विनित राय,अतुल त्रिवेदी,सोमा राय,द्वारका श्रीवास्तव,सुभाष शर्मा,उमेश राय आदि नागरिक  उपस्थित रहे।


ट्रेचिंग ग्राउण्ड के कचरे में लग जाती है आग बदबूदार जहरीले धुएं से इंदिरा नगर के रहवासी हो रहे है बीमार  

नागरिकों ने कलेक्ट्रेट पहुंचकर की समस्या के निराकरण की मांग  

sehore news
सीहोर। गंदी बस्ती श्रेणी अंतर्गत आने वाले इंदिरा नगर ट्रेचिंग ग्राउण्ड पर नगर पालिका सफाई कर्मचारियों के द्वारा यह कचरा डम्प न करके ढेरों के रूप में फैला दिया जाता है जिसमें अज्ञात लोगो द्वारा प्रतिदिन आग लगा दी जाती है जिससे भयंकर बदबूदार जहरीला धुआं चारो तरफ फेल जाता है।  स्थिति इतनी खराब हो जाती है नागरिकों का सांस लेने पर गले में जलन होती है, सिर में दर्द होने लगता है।  कुछ  लोगों  को गंदगी के कारण उल्टीयाँ भी होने लगती है। अन्य प्रकार की शारीरिक समस्याएँ नागरिकों को हो रहीं है। गुरूवार को वार्ड क्रमांक 2 के पार्षद धमेंद्र भिलाला के नेतृत्व में नागरिकों के द्वारा कलेक्ट्रेट पहुंचकर डिप्टी कलेक्टर विष्णु प्रसाद यादव को समस्या  के  निराकरण के लिए ज्ञापन दिया गया है। इस पहले भी समस्या के निराकरण के लिए नागरिकों ने कई बार नगर पालिका के अधिकारियों को अवगत कराया है नगर पालिका के ऑनलाईन पॉर्टल और सीएम हेल्प लाईन और कलेक्टर की जनसुनवाई में भी शिकायत की गई है। यहीं नहीं केन्द्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को भी पत्र के माध्यम से बताया गया है लेकिन अबतक समस्या का निकारण नहीं किया गया है।   नागरिकों ने बताया की कचरो के दर्जनों ढेरो को प्रतिदिन जलाया जाता है । जिसमें 90 प्रतिशत प्लास्टिक होती है । ऐसी स्थिति से पर्यावरण तो प्रदूषित हो ही रहा है वरन सभी वार्ड वासी भी अत्याधिक पीडि़त हो रहे है।  इंदिरा नगर में अधिकतर रहवासी मजदूर वर्ग के गरीब लोग है। बीमारियारें के शिकार हो रहे है। नागरिकों  ने समस्या के निराकरण कराने की मांग जिला प्रगशासन से की है।


10 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 72 है


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 10 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर पुलिस लाईन से 2 तथा कोतवाली चौराहा, सुभाष नगर कॉलोनी, रेस्ट हाउस चौराहा से 1-1 व्यकित, इछावर के मोहनपुर नबावाद से 3 व्यक्ति, आष्टा के बुधवारा तथा सामरदा से 1-1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजीटिव आई है। जिले में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 72 है। जिले में कुल डिस्चार्ज/रिकवर व्यक्तियों की संख्या 2028 है। संक्रमित व्यक्तियों की मृत्यु संख्या 41 है। आज 407 सैम्पल लिए गए है। सीहोर शहरी क्षेत्र से 30 सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 72, आष्टा से 92, इछावर से 60, श्यामपुर से 106, बुदनी से 47 सैम्पल लिए गए हैं। आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2141 है जिसमें से 41 की मृत्यु हो चुकी है 2028 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/ पॉजीटिव की संख्या 72 है। आज 407 सैंपल जांच हेतु लिए गए। जांच के लिए अब तक भेजे गए कुल सेंपलों की संख्या 36097 है। कुल निगेटिव सेंपलों की संख्या 33472 है। आज 400 सेंपलों की जांच निगेटिव प्राप्त हुई है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु www.esanjeevaniopd.in पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है।


सड़क निर्माण कार्य की गुणवत्ता में अनियमितता पाए जाने की शिकायत पर जांच टीम द्वारा की गई मौके पर जांच, दिए आवश्यक निर्देश


प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना-तृतीय पैकेज क्रमाक एम.पी. 35705 के टी-06 एन.एच- 12 बराड़ी से सेमरादांगी मार्ग के निर्माण कार्य का 02 नवंबर को प्रभारी उपयंत्री श्री पी.एल. सक्सेना, टीम लीडर कंसलटेन्सी स्टाफ एवं बराडी के सरपंच ग्रामीण जन सहित मार्ग का निरीक्षण किया गया। निरीक्षण के दौरान पाया गया कि मार्ग पर चैनेज 1500 मी., 1900, 5215 मी. एवं 7670 मी. पर चार पुलियाओं का नया निर्माण किया जाना प्रस्तावित है। चैनेज 5215 मी. को छोड़ शेष तीन पुलियाओं का निर्माण हो चुका है। चैनेज 2115 मी. एवं 2220 मी. पर 600 एमएम डाया के पाईप डालकर सीमेन्ट कांक्रीट मार्ग के साथ इनकेसिंग किया जाना है। यह कार्य अभी प्रारंभ नहीं किया गया है, शेष तीन पुरानी पुलियाओं चैनेज 2690 मी, 3095 मी. एवं 3940 मी. पर क्षतिग्रस्त होने के कारण इनकी मरम्मत किया जाना है जिसमें चैनेज 3095 मी. एवं 3940 मी. का मरम्मत कार्य पूर्ण कर दिया गया है परंतु इनकी फेसवाल गोले गुनिया में नहीं है, इन्हें सुधार कराने के लिए निर्देशित किया गया। चैनेज 2690 मी. पर पुरानी पुलिया जिसकी मरम्मत की जानी है वहां पर एक रेत का ढेर मिला जिसे फावडे़ से हटाकर नीचे तक देखा जिसमें किसी भी प्रकार की क्रेशर डस्ट नहीं पाई गयी। अन्य कहीं मार्ग पर भी क्रेशर डस्ट नहीं पाई गई। चैनेज 0 मी. से चैनेज 4000 मी. के मध्य शाेल्डर्स पर जो मटेरियल डाला जा रहा था उसमें बडे़-बडे़ पत्थर पाये गये है जो स्पेसिफिकेशन अनुसार नहीं थे जिसे तत्काल हटाने के लिए इस संबंध में निर्देशित किया गया। टीम लीडर एवं पैकेज प्रभारी को निदर्शित किया गया कि बड़े-बडे़ पत्थर को मार्ग से हटवाये एवं सुधार कराकर सूचित करें। इस मार्ग पर नियुक्त एफ.ई. भूपेन्द्र वर्मा को उक्त अमानक स्तर के शोल्डर मटेरियल की गुणवत्ता के संबंध में सूचित न करने के कारण इसे इस कार्य से पृथक किया जाकर सूचित किया जावे। कार्य के कंसलटेन्ट को भी निर्देशित किया गया कि अमानक मटेरियल का उपयोग न किया जावे अन्यथा कंसलटेन्ट के विरूद्ध अनुबंधानुसार कार्यवाही की जाएगी। उल्लेखनीय है कि इस संबंध मे पत्रिका समाचार पत्र मे 01 नवंबर को प्रकाशित बराडी कला से सेमरादांगी निर्माण सड़क पुलिया निर्माण मे एजेन्सी रेत की जगह मिला रहे धूल के संबंध में पत्रिका समाचार पत्र में खबर का प्रकाशन किया गया था जिसे गंभीरता से लेते हुए जांच टीम द्वारा मौके की जांच कर उचित कार्यवाही के निर्देश दिए गए।


नेहरु युवा केन्द्र की जिला सलाहकार समिति की बैठक संपन्न


sehore news
मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह की अध्यक्षता में नहेरू युवा केन्द्र द्वारा आयोजित जिला सलाहकार समिति की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक के दौरान सुश्री निक्की राठौर जिला युवा समन्वयक नेहरू युवा केन्द्र द्वारा जिले की प्रस्तावित कार्ययोजना 2020-21 की संक्षिप्त जानकारी दी गई। जिला स्तर पर सरकार और प्रशासन के बीच समन्वय और तालमेल से वांछित उद्देश्यों और सकारात्मक छवि की प्राप्ति के लिए इस प्रकार की बैठक का आयोजन प्रतिवर्ष किया जाता है। बैठक में कोराना-19 की उद्वेशिका का भी विमोचन किया गया। नेहरू युवा केन्द्रों के साथ जुड़े युवा न केवल जागरूक प्रेरित हैं बल्कि स्वैच्छिक प्रयासों के माध्यम से सामाजिक विकास कार्य की दिशा, राष्ट्र निर्माण की गतिविधियों में प्रवृत्त हैं। नेहरू युवा केन्द्र द्वारा आर्थिक एवं गैर-आर्थिक विकास और कल्याणकारी गतिविधियों के प्रोत्साहन हेतु कार्य किया गया-इनमें मुख्यतः फिट इण्डिया मूवमेंन्ट, कोविड-19 महामारी से निपटने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों में जागृति, महात्मा गांधी की 150 वीं जयंती पर स्वच्छता भारत मिशन के अवसर पर गंदगी मुक्त भारत स्वच्छता, जलशक्ति अभियान, पोषण माह, पर्यटन पर्व का आयाजन, शिक्षा में युवा भागीदारी, गरीबी उन्मूलन, पर्यावरण संवर्घन और संरक्षण, योग, शौचलयों के निर्माण की सुविधा, वित्तीय और सामाजिक समावेशन के लिए प्रधानमंत्री राष्ट्रीय फ्लेगशिप योजनाओं को लोकप्रिय बनाना, महिला सषक्तीकरण, प्लास्टिक मुक्त गांव, रक्तदान, कौशल विकास प्रशिक्षण, श्र्रमदान, बेटी बचाओ-बेटी पढाओ, राष्ट्रीय महत्व के दिवसों का आयाजन तथा स्थानीय प्रशासन के सहयोग से स्वैच्छिक आधार पर कार्यक्रमों का आयोजन किया गया। आगे भी इस प्रकार के कार्यक्रमों का सहयोग स्थानीय के माध्यम से किया जाता है। बैठक में डॉ मनीष सक्सेना, श्री ओमप्रकाश मेवाडा, श्री संतोष सोनी, श्री अर्जुन सिंह, श्री सचिन ठाकुर, डॉ उदय डोलस, श्री जीत परमार, श्री अमित एन्डुय, जय सिहं, डॉ पंकज जैन, श्री पीएस उईके दीपिका सिंह, श्री दिनेश वरखा, श्री सुनील भारती, श्री पवन कुमार, रानी वर्मा, पूजा सेन, श्री पंकज वारीया, शुभम मेवाडा, श्री मधु मालवीय, सद्वाम खान, सपना, श्री राजेन्द्र शर्मा आदि उपस्थित थे।


शासकीय एवं निजी आईटीआई में 20 नवम्बर तक पुन: प्रवेश की प्रक्रिया


शासकीय एवं निजी आईटीआई में रिक्त सीटों को भरने के लिये प्रवेश प्रक्रिया पुन: शुरू की गई है। अब तक कुल 44 हजार 372 सीटों में से लगभग 34 हजार 403 सीटों में प्रवेश पूर्ण हो चुका है। रिक्त 9969 सीटों के लिये तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा पुन: प्रवेश प्रक्रिया 3 नवम्बर से शुरू की गई है और यह प्रक्रिया 20 नवम्बर तक जारी रहेगी। शासकीय आईटीआई के रजिस्ट्रेशन की प्रक्रिया 3 नवम्बर से शुरू है। आवेदक 8 नवम्बर तक रजिस्ट्रेशन, रजिस्ट्रेशन में त्रुटि सुधार, नवीन च्वाइस फिलिंग एवं इच्छित संस्थाओं तथा व्यवसायों की प्राथमिकता क्रम का चयन करना, इच्छित संस्थाओं में प्राथमिकता के क्रम में त्रुटि सुधार कर सकते हैं। जिन आवेदकों ने पूर्व में रजिस्ट्रेशन करा लिया है, उन्हें दोबारा से रजिस्ट्रेशन कराने की आवश्यकता नहीं है, उन्हें च्वाइस फिलिंग कराना अनिवार्य होगा। एम.पी. ऑनलाइन द्वारा 9 नवम्बर को एसएमएस के माध्यम से मैरिट सूची जारी की जायेगी। मैरिट सूची के आवेदकों का प्रवेश 10 एवं 11 नवम्बर को होगा। मैरिट सूची के आवेदक 12 से 16 नवम्बर के मध्य रजिस्ट्रेशन, रजिस्ट्रेशन में त्रुटि सुधार, नवीन च्वाइस फिलिंग तथा इच्छित संस्थाओं में प्राथमिकता क्रम में त्रुटि सुधार कर सकते हैं। इस समयावधि में नये आवेदक भी रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। द्वितीय मैरिट सूची 17 नवम्बर को जारी होगी तथा 18 एवं 19 नवम्बर को प्रवेश प्रक्रिया शुरू होगी। मैरिट सूची के आधार पर प्रतीक्षा सूची के आवेदकों की प्रवेश प्रक्रिया 20 नवम्बर, 2020 तक पूर्ण कर ली जायेगी। निजी आईटीआई में प्रवेश प्रक्रिया 19 नवम्बर तक सम्पन्न होगी। इच्छुक आवेदकों का शासकीय आईटीआई द्वारा डाक्यूमेंट वेरिफिकेशन 20 नवम्बर तक होगा।


केन्द्रीय छात्रवृत्ति के लिये दिव्यांग छात्र-छात्राओं से आवेदन आमंत्रित


दिव्यांग छात्र-छात्राओं से विभिन्न श्रेणियों में प्री-मैट्रिक एवं पोस्ट मैट्रिक छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर से बढ़ाकर अब 30 नवम्बर 2020 तक आवेदन मंगाये गए हैं। संयुक्त संचालक सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण श्री आर.के.सिंह ने जानकारी दी कि ऐसे दिव्यांग छात्र-छात्राएं जिनकी दिव्यांगता 40 प्रतिशत से अधिक है तथा जिनके अभिभावकों की वार्षिक आय 2.50 लाख रूपए हैं वे प्री-मैट्रिक कक्षा 11 से स्नातकोत्तर स्तर तक के लिये केन्द्रीय छात्रवृत्ति के लिये 31 अक्टूबर तक आवेदन कर सकते हैं। जिन दिव्यांग छात्र-छात्राओं के अभिभावकों की वार्षिक आय 6 लाख रूपए है वे टॉप क्लास उत्कृष्टता के 241 अधिसूचित संस्थानों में स्नातक एवं स्नातकोत्तर डिग्री अथवा डिप्लोमाधारी दिव्यांग छात्रों के लिये उच्च श्रेणी शिक्षा वर्ष 2020-21 के लिये 31 अक्टूबर 2020 से बढ़ाकर 30 नवम्बर 2020 तक आवेदन कर सकते है।विद्यार्थी विभाग की वेबसाइट www.scholarships.gov.in पर जाकर ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे।


बी.ई./बी.टेक. और इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रम में काउंसलिंग 9 नवम्बर तक होगी


तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा बी.ई./बी.टेक. तथा इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रमों में एआईसीटीई नई दिल्ली द्वारा प्रवेश की अंतिम तिथि बढ़ाये जाने के फलस्वरूप काउंसलिंग कार्यक्रम में संशोधन किया गया है। मध्यप्रदेश विधानसभा उप चुनाव वाले जिलो में स्थित शासकीय एवं अनुदान प्राप्त संस्थाओं में द्वितीय चरण की काउंसलिंग के बाद उपस्थिति एवं प्रवेश संबंधी कार्यों के लिये पूर्व में निर्धारित तिथियां 2, 3 एवं 4 नवम्बर 2020 स्थगित कर दी गई हैं। बी.ई., बी.टेक. एवं इंजीनियरिंग डिप्लोमा पाठ्यक्रम में आवेदन पत्रों को ऑनलाइन उपलब्धता/आवंटित संस्था में उपस्थिति, मूल दस्तावेजों का सत्यापन एवं प्रवेश अब 2 से 9 नवम्बर के मध्य निर्धारित किया गया है। पूर्व में 6 नवम्बर तक प्रवेश प्रक्रिया होनी थी। प्रवेशित संस्था के लिए च्वाइस फिलिंग 9 एवं 10 नवम्बर तथा ब्रांच परिवर्तन की सूची एवं पत्रों की ऑनलाइन उपलब्धता 13 नवम्बर को निर्धारित की गई है। संस्था स्तर पर काउंसलिंग 10 से 16 नवम्बर तथा 19 एवं 20 नवम्बर को इच्छुक संस्था में प्रवेश प्राप्त करने के लिए विद्यार्थियों को उपस्थित होना होगा। काउंसलिंग के बाद रिक्त रह गई सीटों के लिए ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 21 से 24 नवम्बर 2020 तथा प्रवेश प्रक्रिया के लिये 27 एवं 28 नवम्बर 2020 तिथि निर्धारित की गई है। लेट्रल एण्ट्री बी.ई./डिप्लोमा नॉन पीपीटी डिप्लोमा अम्बेडकर-एकलव्य योजनान्तर्गत ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन 10 से 16 नवम्बर तक प्रवेश 19 एवं 20 नवम्बर निर्धारित की गई है। रिक्त सीटों के लिए 21 से 24 नवम्बर तक ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन होंगे तथा 27 एवं 28 नवम्बर को इच्छुक संस्था में प्रवेश लिया जा सकेगा।


बीज निगम में उच्च गुणवत्ता का गेहूं बीज उपलब्ध


म.प्र. राज्य बीज एवं फर्म विकास निगम के स्थित बीज विक्रय केन्द्र में किसानों के लिये रोग प्रतिरोधी क्षमता और उच्च गुणवत्ता युक्त गेंहू बीज की नई किस्में उपलब्ध है। उच्च गुणवत्ता युक्त बीज का प्रयोग कर किसान भाई अधिक फसलोत्पादन ले सकेंगे। चूंकि गेंहू की पुरानी किस्मों में वंशानुगत, भूमिजनित बीमारियों का प्रकोप ज्यादा होता है, जिस कारण इन किस्मों का उत्पादन भी कम प्राप्त होता है एवं अधिक रोग लगने के कारण कृषकों का उत्पादन व्यय बढ़ता है। शासन की मंशानुसार बीज निगम द्वारा नई किस्मों का उच्च गुणवत्ता एवं अधिक उत्पादन का प्रमाणित बीजों की किस्में एचआई 8759 (तेजस), एचआई 8713 (मंगला), जेडब्ल्यू 3382, जेडब्ल्यू 3288, एमपी 3211, एमपी 1201, एमपी 1202, एचआई 8737, एमपीओ 1215, एचआई 1544 आदि किस्मों का बीज विक्रय केन्द्र जबलपुर पर उपलब्ध है। किसान भाई निगम के प्रक्रिया केन्द्र, सेवा सहकारी समितियों से बीज निगम का उच्च गुणवत्ता का बीज प्राप्त कर सकते है।

कोई टिप्पणी नहीं: