परस्पर विश्वास और एकजुटता से आगे बढ़ता है संगठन : शांत - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 1 नवंबर 2020

परस्पर विश्वास और एकजुटता से आगे बढ़ता है संगठन : शांत

उप्र श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत के चुनाव पर मंथन निर्मलकांत शुक्ल बनाए गए चुनाव अधिकारी

up-working-journalist
लखनऊ। उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत की प्रांतीय कार्यकारिणी की बैठक शनिवार को हजरतगंज स्थित कॉफी हाउस के हाल में संपन्न हुई। इसमें प्रदेश कार्यकारिणी के द्विवार्षिक चुनाव को लेकर जहां रणनीति बनी, वहीं दिसंबर तक चुनाव कराने का निर्णय लिया गया। इस अवसर पर निर्मलकांत शुक्ल को प्रांतीय कार्यकारिणी का चुनाव अधिकारी नियुक्त किया गया। प्रदेश अध्यक्ष की अनुमति से वे जल्द ही चुनाव अधिसूचना जारी करेंगे। इस अवसर पर संगठन की पूर्व गतिविधियों की जहां चर्चा की गई, वहीं संगठन की सक्रियता बढ़ाने पर भी विचार विमर्श किया गया। उत्तर प्रदेश श्रमजीवी पत्रकार यूनियन पंजीकृत के प्रदेश अध्यक्ष सियाराम पांडेय 'शांत 'ने कहा कि किसी  भी संगठन को आगे बढ़ाने का आधार पदाधिकारियों और सदस्यों के बीच परस्पर विश्वास और एकजुटता की भावना होती है। संगठन को आगे ले जाने का मतलब है कि हर साथी उसे अपना समझे। संगठन के हितों को व्यक्तिगत हित से ऊपर रखना होगा तभी बात बनेगी। संगठन को मजबूती देकर ही हम पत्रकारों के व्यापक हितों की रक्षा कर सकते हैं। उन्होंने सुझाव दिया कि संगठन में एक व्यक्ति—एक पद का सिद्धांत लागू किया जाना चाहिए और एक जिले से दो लोग ही प्रांतीय कार्यकारिणी में रखे जाने चाहिए। पदाधिकारियों के चयन और जिला व तहसील इकाइयों के गठन में व्यक्ति की चरित्र निष्ठा और कार्यव्यवहार को महत्व दिया जाना चाहिए। उन् उन्होंने कहा कि पत्रकारों को सरकारी प्रेस विज्ञप्ति पर आश्रित होने की बजाय अपनी मेहनत से खोजी गई खबरों को छापना चाहिए तभी उसका सम्मान सुरक्षित रहेगा।  वरिष्ठ उपाध्यक्ष गंगा प्रसाद पांडेय ने कहा कि महामंत्री संगठन का कार्यपालक अधिकारी होता है जो  अध्यक्ष और बोर्ड के निर्देशन में काम करता है। संगठन के हर कार्यव्यवहार में पारदर्शिता बरती जानी चाहिए । उन्होंने सुझाव दिया कि चुनाव के लिए पांच सदस्यीय पैनल बनाया जाना चाहिए। उस पैनल की राय के अनुरूप ही जिला और मंडल की कार्यकारिणी गठित की जानी चाहिए जिससे कि संगठन में सुयोग्य पदाधिकारियों का चयन किया जा सके। प्रांतीय महासचिव  रमेश शंकर पांडेय ने कार्यकारिणी की अगली बैठक 22 नवंबर को शाहजहांपुर में कराने की जहां घोषणा की, वहीं तीन से अधिक बैठकों में अनुपस्थित रहने वाले सदस्यों को संगठन से बाहर किए जाने की बात भी कही लेकिन इस पर निर्णय यह हुआ कि इसके लिए फिलहाल नोटिस देकर उनका स्पष्टीकरण लिया जाए। इस बैठक में मथुरा, पीलीभीत और बरेली में उच्चाधिकारियों द्वारा यूनियन की उपेक्षा पर चिंता भी जाहिर की गई। इस अवसर पर नरेंद्र भारद्वाज, चमन वर्मा,रवीद्र सिंह, जेपी मिश्र, अशोक सिंह, रोहिताश्व मिश्र, सलीम भाई, रविकांत दीक्षित,पीयूष वाजपेयी, अखिलेश गुप्त, चंद्रदेव अवस्थी और आलोक सिंह संघर्षी आदि प्रांतीय कार्यकारिणी के सदस्य मौजूद रहे। बरेली जिला अध्यक्ष गीता शर्मा और पीलीभीत के मंडल महामंत्री सुधीर दीक्षित आदि ने भी इस कार्यक्रम में शिरकत की।


कोई टिप्पणी नहीं: