बिहार : मृतक के 70 वर्षीय दादा लल्लू मिस्त्री को भी नामजद कर दी पुलिस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 17 दिसंबर 2020

बिहार : मृतक के 70 वर्षीय दादा लल्लू मिस्त्री को भी नामजद कर दी पुलिस

इनकी मांग है कि मृतक 5 वर्षीय मासूम दिलखुश कुमार के गरीब लोहार जाति परिजनों को दस लाख रूपया मुआवजा दो.5 वर्षीय मासूम दिलखुश कुमार का अपहरण व हत्या का  उच्चस्तीय जांचकर दोषियों को गिरफ्तार कर कड़ी सजा दो,दोषी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त करो और पुलिस द्वारा जनता पर किया गया मनगढ़ंत व फर्जी मुकदमा केस नम्बर 138/2020 को अभिलम्ब वापस लो.(कराई परसुरई थाना) में दर्ज है....


bihar-police-work
नालंदा. नालंदा जिला के कराई परसुरई थानान्तर्गत जलालपुर गांव में मुट्ठीभर जमीन का मसला को लेकर पहले मासूम को अपहरण कर लिया और बाद में हत्या करके अंजाम दिया.मामला बिहार के सीएम व गृह मंत्री नीतीश कुमार के गृह जिला नालंदा का ही है.सीएम 16 नवम्बर को पटना में शपथ ले रहे थे तो उधर गृह क्षेत्र में मासूम का अपहरण करके बदमाश चुनौती दे डाले.बदमाशों की चुनौती से माहभर में उभर नहीं पाये हैं सीएम नीतीश. इस संदर्भ माले नेता शिवशंकर प्रसाद ने कहा कि जलालपुर गांव के रहने वाले शिशुपाल मिस्त्री के 5 वर्षीय पुत्र दिलखुश कुमार 16 नवम्बर सोमवार की शाम से लापता हो गया था. दिलखुश के परिजनों ने अपने लाडला को काफी तलाश किया, लेकिन उसका कहीं अता-पता नहीं चला.तब हारकर परिजनों ने कराई परसुरई थाना में जाकर कुछ लोगों को नामजद अारोपी बनाते हुए अपहरण का मामला दर्ज कराया था.  माले नेता शिवशंकर प्रसाद ने आगे कहा कि मामले की गंभीरता को देखकर कराई परसुरई थाना के पुलिसकर्मी जलालपुर गांव आए.अपह्त बच्चा को खोजने के क्रम में माता- पिता एवं ग्रामीणों ने पुलिस कर्मियों को सारी बात बताई.उनलोगों ने पुलिसकर्मियों से बच्चे के खोजने में सहयोग करने का आग्रह किया.मगर गांवघर में पड़ताल करने पहुंची पुलिस ने परिजनों के खोजने का आग्रह पर ध्यान ही नहीं दिया. पुलिसकर्मियों ने अपह्त बच्चे के खोजने में सहयोग नहीं करने के बजाय अपह्त बच्चे के पिता शिशुपाल मिस्त्री को ही पीटा और 4-5 घण्टे तक अपने कब्जे में लेकर गाड़ी पर बैठाएं रखा.  उन्होंने कहा कि जलालपुर गांव में कराई परसुरई थाना पुलिस गांव में ही रातभर कैम्प करते रहे.16 नवम्बर सोमवार को पांच साल के एक बच्चे का अपहरण कर बदमाशों ने चाकू से गोदकर उसकी निर्मम हत्या कर दी.तब 17 नवम्बर मंगलवार को तड़के जलालपुर गांव के खंधा से दिलखुश कुमार का शव बरामद हुआ. हल्ला सुनकर बच्चे की माता एवं गांव के लोग लाश के समक्ष पहुंचे और मृत बच्चे की माँ बच्चे को गोद मे लेकर दहाड़ मारकर रोने लगी.इस तरह का माहौल व  अपह्रत बालक की लाश को देखकर ग्रामीण आक्रोशित हो उठे.  उन्होंने कहा कि पुलिसकर्मी भी उस स्थान पर पहुँची ,तो ग्रामीणों ने पुलिसकर्मियों को कहा कि यदि आपलोग बच्चे को खोजते तो बच्चा को बचाया जा सकता था. तो पुनः पुलिसकर्मियों आग बबूला होकर उल्टे मृतक की माँ एवं उपस्थित ग्रामीण महिलाओं को ही मारने लगा.ग्रामीणों ने मामले की जांच करने पहुंची पुलिस के साथ ना केवल मारपीट की बल्कि दो इंसास, मैगजीन व दर्जनों कारतूस भी छीन लिए.उनका कहना है पुलिस ने तत्क्षण दो इंसास, मैगजीन व दर्जनों कारतूस बरामद कर लिये. तब घटना की सूचना मिलते ही डीएसपी कृष्ण मुरारी घटनास्थल पर पहुंचे. वहीं कराई परशुराम चिकसौरा और हिलसा थाना की पुलिस भी मौके पर पहुंची, जहां पुलिस पदाधिकारियों ने गुस्साए ग्रामीणों को समझा-बुझाकर मामले को शांत कराया, जिसके बाद पुलिस ने सब को अपने कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए बिहारशरीफ सदर अस्पताल भेज दिया. 


माले नेता शिवशंकर प्रसाद ने कहा कि कराई परसुरई थाना पुलिस ने पूर्व में दर्ज अपहरण का मामला में ही हत्या को संलग्न कर नामदज आरोपियों पर दबिश बनाना शुरू कर दिया.पुलिसिया दबाव के कारण दो बदमाशों ने थाना में ही जाकर आत्मसमर्पण कर दिये.वहीं दोनों बदमाशों के सहयोग से पुलिस के द्वारा पीड़ित परिजन सहित आम नागरिकों पर मनगढ़ंत व फर्जी मुकदमा कर दिया गया है.भाकपा माले के नेता के अनुसार 24 लोगों को नामजद और 150 अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज किया गया है. भाकपा माले के द्वारा 15 दिसम्बर को हिलसा अनुमंडल पदाधिकारी एवं हिलसा पुलिस उपायुक्त के समक्ष धरना दिया गया. पीड़ित परिवार सहित 24 लोगों को नामजद और 150 अज्ञात लोगों पर एफआईआर दर्ज किया गया है.मृतक दिलखुश कुमार के 70 वर्षीय दादा लल्लू मिस्त्री को भी नामजद कर दिया है. इनकी मांग है कि मृतक 5 वर्षीय मासूम दिलखुश कुमार के गरीब लोहार जाति परिजनों को दस लाख रूपया मुआवजा दो.5 वर्षीय मासूम दिलखुश कुमार का अपहरण व हत्या का  उच्चस्तीय जांचकर दोषियों को गिरफ्तार कर कड़ी सजा दो,दोषी पुलिस कर्मियों को बर्खास्त करो और पुलिस द्वारा जनता पर किया गया मनगढ़ंत व फर्जी मुकदमा केस नम्बर 138/2020 को अभिलम्ब वापस लो.(कराई परसुरई थाना) में दर्ज है. हिलसा एसडीओ एवं हिलसा  डीएसपी के समक्ष  धरना को संबोधित करते हुए कॉमरेड शशि यादव, भाकपा माले केंद्रीय कमिटी सदस्य ,एवं ऐपवा राज्य सचिव बिहार ने कहा कि सोमवार 16 नवम्बर, 2020 को जलालपुर गांव निवासी शिशुपाल मिस्त्री का 5 वर्षीय पुत्र दिलखुश कुमार अपने गांव में ही खेल रहा था ,की शाम 5 :50 बजे  उस बच्चे का अपहरण कर लिया गया,अपहरण के समय सम्बंधित कराई परसुरई थाना के पुलिस उस जलालपुर गांव में ही मौजूद थी. बच्चा को खोजने के क्रम में अपह्त बच्चे के माता- पिता एवं ग्रामीणों ने मौजूद पुलिस कर्मियों को सारी बात बताई और पुलिसकर्मियों से भी बच्चे के खोजने में सहयोग करने की माँग की ,परन्तु पुलिसकर्मियों ने बच्चे के खोजने में सहयोग करने के बजाय अपह्त बच्चे के पिता शिशुपाल मिस्त्री को ही पीटा और 4-5 घण्टे तक अपने कब्जे में ही गाड़ी में रखा.  उन्होंने कहा कि पीड़ित परिवार सहित ग्रामीण जनता पर फर्जी मुकदमा कर तंग तबाह कर रही है, इसी न्याय को लेकर स्थानीय जनता एवं ग्रामीणों ने हिलसा में धरना दे रहे हैं.धरना  को शशि यादव ,सुरेन्द्र राम जिला सचिव,अरुण यादव,कम्मु राम,शिवशंकर प्रसाद, जयप्रकाश पासवान,कृष्णा प्रसादअधिवकता सहित सैकड़ों लोग उपस्थित थे.

कोई टिप्पणी नहीं: