रहाणे पर कप्तानी का कोई दबाव नहीं होगा : गावस्कर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 14 दिसंबर 2020

रहाणे पर कप्तानी का कोई दबाव नहीं होगा : गावस्कर

no-pressure-on-rahane-captancy-gawaskar
नयी दिल्ली, 14 दिसंबर, महान बल्लेबाज सुनील गावस्कर का मानना है कि विराट कोहली की गैर मौजूदगी में आस्ट्रेलिया के खिलाफ आखिरी तीन टेस्ट में अगर अजिंक्य रहाणे को भारत की कप्तानी दी जाती है तो उस पर कोई दबाव नहीं होगा । कोहली एडीलेड में होने वाले पहले टेस्ट के बाद पितृत्व अवकाश पर स्वदेश लौट आयेंगे । बाकी तीन टेस्ट में रहाणे को कप्तानी दिये जाने की संभावना है । गावस्कर ने स्टार स्पोटर्स के कार्यक्रम ‘गेम प्लान’ में कहा ,‘‘ अजिंक्य रहाणे पर कोई दबाव नहीं है क्योंकि उसने दो बार भारत की कप्तानी की और दोनों बार विजयी रहा । आस्ट्रेलिया के खिलाफ धर्मशाला में उसकी कप्तानी में भारत जीता और फिर अफगानिस्तान के खिलाफ भी जीत दर्ज की ।’ उन्होंने कहा ,‘‘ जहां तक उसकी कप्तानी का सवाल है तो कोई दबाव नहीं होगा क्योंकि उसे पता है कि अगले तीन टेस्ट मैचों के लिये वह कार्यवाहक कप्तान ही होगा ।’’ गावस्कर ने कहा ,‘‘ इसलिये मुझे नहीं लगता कि कप्तानी को लेकर वह ज्यादा सोच रहा होगा ।’’ रहाणे ने दोनों अभ्यास मैचों में भारत की कप्तानी की जो ड्रॉ रहे । गावस्कर ने कहा ,‘‘ वह उतनी ही ईमानदारी से कप्तानी करेगा, जैसे बल्लेबाजी करता है । वह क्रीज पर पुजारा को विरोधी पर दबाव बनाने का मौका देगा और खुद उसका साथ देगा ।’’ पुजारा 2018 . 19 में खेली गई श्रृंखला में 521 रन बनाकर ‘ प्लेयर आफ द सीरिज’ थे । भारत ने वह श्रृंखला 2 . 1 से जीती थी । गावस्कर का मानना है कि भारत को अगर आगामी श्रृंखला में अच्छा प्रदर्शन करना है तो पुजारा को लंबी पारियां खेलनी होगी । उन्होंने कहा ,‘‘ आगे 20 दिन के टेस्ट क्रिकेट में से मैं चाहूंगा कि वह 15 दिन बल्लेबाजी करे । वह मानसिक रूप से इतना मजबूत है कि इससे कोई फर्क नहीं पड़ता कि उसने किसी और प्रारूप में खेला है या नहीं ।’’ आस्ट्रेलिया के पूर्व सलामी बल्लेबाज मैथ्यू हेडन ने भी पुजारा की तारीफ करते हुए कहा ,‘‘ उसने हमें बहुत परेशान किया । हम ऐसी पीढी में हैं जहां खिलाड़ी की उसके स्ट्रोक्स और स्ट्राइक रेट के लिये तारीफ करते हैं । वह उन खिलाड़ियों में से है जिसका टेस्ट क्रिकेट में स्ट्राइक रेट 45 के करीब है ।’’

कोई टिप्पणी नहीं: