गया : कोविड-19 एवं स्वास्थ्य सेवा की समीक्षा बैठक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 29 दिसंबर 2020

गया : कोविड-19 एवं स्वास्थ्य सेवा की समीक्षा बैठक

ovid-meeting-gaya
गया। गया जिला के पदाधिकारी श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में डिस्टिक हेल्थ सोसायटी के तत्वावधान में कोविड-19 एवं स्वास्थ्य सेवा की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में जिला पदाधिकारी श्री अभिषेक सिंह ने सिविल सर्जन सहित सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि सरकार द्वारा बड़े पैमाने पर स्वास्थ्य सेवाओं के कार्य किए जा रहे हैं। उन सभी कार्यों की रिपोर्टिंग होना अनिवार्य है। उन्होंने अंदर रिपोर्टिंग पर गंभीर रुख अख्तियार करते हुए संबंधित प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी को निर्देश दिया कि अंडररिर्पोटिंग करने वाले प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी पर कार्रवाई की जाएगी। बैठक में मुख्य रूप से कोविड-19 के संभावित वैक्सीनेशन की तैयारी के लिए विचार विमर्श, टीकाकरण, आयुष्मान भारत की समीक्षा, नन कम्युनिकेबल डिजीज की रोकथाम के लिए टेबलेट का वितरण, एनीमिया के रोकथाम के लिए दवा का वितरण, 5 साल के बच्चों में पौष्टिक आहार की समीक्षा, संस्थागत प्रसव, परिवार नियोजन कार्यक्रम सहित स्वास्थ्य सेवा से संबंधित अन्य महत्वपूर्ण कार्यक्रमों के संबंध में चर्चा की गई। बैठक में जिला पदाधिकारी द्वारा संभावित कोविड-19 वैक्सीनेशन की तैयारी के संबंध में विचार विमर्श किया गया। बैठक में बताया गया कि इसकी तैयारी की जा रही है। बैठक में बताया गया कि कोविड-19 वैक्सीनेशन के टास्क फोर्स बैठक में निर्णय लिया गया है कि जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन, नगर निगम, नगर निकाय, रेलवे स्टेशन, शिक्षा विभाग तथा अन्य महत्वपूर्ण सभी लाइन डिपार्टमेंट के फ्रंटलाइन वर्कर्स को चिन्हित कर उनका नाम लिस्टिंग किया जा रहा है ताकि कोविड-19 के वैक्सीनेशन के लिए उन्हें प्राथमिकता दिया जा सके। बैठक में आयुष्मान भारत के तहत किए जा रहे कार्यों की समीक्षा की गई। समीक्षा में जिला पदाधिकारी द्वारा निर्देश दिया गया कि आयुष्मान भारत योजना के लाभुकों की संख्या बढ़ाया जाए। उन्होंने प्रखंड विकास पदाधिकारी, प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी तथा आयुष्मान भारत के प्रोग्राम पदाधिकारी को निर्देश दिया गया कि वे टीम का गठन कर ग्रामीण क्षेत्र के लोगों को इस योजना का लाभ लेने के लिए प्रेरित एवं जागरूक करें। आयुष्मान भारत योजना के तहत 149282 कार्ड बनाया गया है, जिसमें 70504 परिवार को सत्यापित किया गया है। जिले में कुल 45 अस्पतालों को चिन्हित किया गया है, जिसमें 27 सरकारी तथा 18 निजी अस्पताल शामिल है। इस योजना के तहत अब तक 42384540 रुपये का भुगतान लाभुकों को किया गया है। नन कम्युनिकेबल डिजीज  की समीक्षा में बताया गया कि 680 टैबलेट में से  528 टेबलेट का ही वितरण किया गया है। जिला पदाधिकारी ने इस पर नाराजगी व्यक्त करते हुए शेष टैबलेट का वितरण तेजी से कराने का निर्देश दिया। नॉन कम्युनिकेबल डिजीज प्रोग्राम की समीक्षा में टिकारी एवं वजीरगंज के प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारी से स्पष्टीकरण पूछते हुए वेतन बंद करने का निर्देश दिया। बैठक में परिवार नियोजन कार्यक्रम, संस्थागत प्रसव, 5 साल तक के बच्चों के लिए पौष्टिक आहार सहित अन्य महत्वपूर्ण स्वास्थ्य सेवा की भी समीक्षा की गई। बैठक में सिविल सर्जन गया, डीआईओ गया, डीपीएम गया, डब्ल्यूएचओ के पदाधिकारी, डीपीओ आईसीडीएस, जिला जनसंपर्क पदाधिकारी, सभी प्रखंड चिकित्सा पदाधिकारी, सभी बाल विकास परियोजना पदाधिकारी, हेल्थ मैनेजर सहित अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे। बता दें कि बिहार में कोरोना का कहर लगातार जारी है।स्वास्थ्य विभाग की ओर से आज जारी किये गए अपडेट के अनुसार राज्य में 622 कोरोना के नए मरीज मिले हैं।इन मरीजों में सबसे अधिक संख्या पटना जिले में हैं।जहाँ कोरोना के 241 नए मरीज मिले हैं। वहीं अन्य जिलों की बात करें तो अरवल में 10, औरंगाबाद में 47, बेगूसराय में 27, भागलपुर में 14, दरभंगा में 10, गया में 12, गोपालगंज में 11, जहानाबाद में 13, मुजफ्फरपुर में 46, नालंदा में 17, सारण में 21, सिवान में 13 और वैशाली में 9 मरीज मिले हैं।वहीं सुपौल में 5, समस्तीपुर में 5, नवादा में 4, मुंगेर में 3 और बक्सर में 6 मरीज मिले है. बिहार में कोरोना के एक्टिव मरीजों की संख्या अब 5234 हो गयी है।


कोई टिप्पणी नहीं: