सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 30 दिसंबर 2020

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 30 दिसंबर

किसानों के समर्थन में युवा कांग्रेस ने निकाला मशाल जुलूस


sehore news
सीहोर/केंद्र सरकार द्वारा लाए गए तीनो कृषि अध्यादेश के विरोध में पूरे देश के किसान आंदोलित हैं एक महीने से ज्यादा समय से देश भर के किसान दिल्ली में डेरा डाले हुए है। आज किसानों की मांगों के समर्थन में देशभर में युवक कांग्रेस ने सड़कों सड़कों पर उतर कर प्रदर्शन किया। युवा कांग्रेस विधानसभा अध्यक्ष मुस्तफा अंजुम ने बताया कि इसी तारतम्य में अखिल भारतीय युवक कांग्रेस के निर्देश पर  जिला युवा कांग्रेस द्वारा लिसा टॉकीज चौराहे से तहसील चौराहे स्थित महात्मा गांधी जी की प्रतिमा तक मशाल जुलूस निकाला गया । इस अवसर पर बड़ी संख्या में कांग्रेस के कार्यकर्ता शामिल हुए। मशाल जुलूस में जिला कांग्रेस कार्यकारी अध्यक्ष राहुल यादव युवा कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती, युवा कांग्रेस जिलाध्यक्ष राजकुमार यादव, सुनील दुबे की विशेष उपस्थिति में निकाला गया   ।इस अवसर पर जिलाउपाध्यक्ष पीयूष मालवीय, चेतन यादव, विधानसभा अध्यक्ष मुस्तफा अंजुम,देवेन्द्र ठाकुर, सर्वेश व्यास,संजय पटेल गोरखपुर संजय पटेल हवेली मनीष मेवाड़ा,सूर्यांश जादौन, यश यादव,वसीम भाई,राजेंद्र सिंह पंवार  नितुल पवार प्रदेश सचिव आईटी सेल रितेश यादव, रियाज ,तनिश त्यागी , शुभम , विकाश विश्वकर्मा, हरिओम सिसोदिया, राहुल कुशवाह , फैशल अली , शादात, रिजवान, सुयश, अनिल शर्मा,ओसाफ, हेदर मीर, भुरू भाई, सिराज , जेद, साहिल, शावेज़, अकरम ,तारिक अंजुम, अमरीश, समीर, आमिर, फजल, खालिद,मारूफ, आदि कार्यकर्ता उपस्थित थे

श्री दुर्गा सप्त शती महायज्ञ के आयोजन को लेकर बैठक का आयोजन


sehore news
सीहोर। शहर के इतिहास में पहली बार चाणक्यपुरी कृष्ण सेलिबे्रशन गार्डन में आगामी 12 फरवरी से होने वाले श्री दुर्गा सप्तशती बीज मंत्रात्मक चंडी महायज्ञ 108 हवन कुंडात्मक के लिए आयोजन समिति की एक विशेष बैठक यज्ञाचार्य पंडित पवन व्यास के मार्ग दर्शन में की गई। इस मौके पर आयोजन समिति के मुख्य यजमान समाजसेवी मनीष राठौर, सानंद कुशवाहा, आनंद त्यागी, पंडित मयंक शर्मा, मनोज दीक्षित मामा, विजय सोनी, अभिषेक परमार, कुणाल व्यास, दुर्गेश खत्री आदि शामिल थे। शिव प्रदोष समिति के तत्वाधान में लगातार होने वाले आयोजन को लेकर चर्चा की गई।  इस मौके पर पंडित श्री व्यास ने बताया कि वेद के अनुसार यज्ञ पांच प्रकार के होते हैं- ब्रह्म यज्ञ, देव यज्ञ, पितृयज्ञ, वैश्वदेव यज्ञ और अतिथि यज्ञ। इसमें से देवयज्ञ ही अग्निहोत्र कर्म है। इसे ही हवन कहते हैं। यह अग्निहोत्र कर्म कई प्रकार से किया जाता है। नवरात्रि में इसे देवी के निमित्त किया जाता है। पुराणों के अनुसार हवन अथवा यज्ञ भारतीय परंपरा अथवा हिन्दू धर्म में शुद्धिकरण का एक कर्मकांड है। कुंड में अग्नि के माध्यम से देवता के निकट हवि पहुंचाने की प्रक्रिया को यज्ञ कहते हैं। हवि, हव्य अथवा हविष्य वे पदार्थ हैं जिनकी अग्नि में आहुति दी जाती है। आगामी 12 फरवरी से होने वाले विशेष श्री दुर्गा सप्तशती बीज मंत्रात्मक चंडी महायज्ञ 108 हवन कुंडात्मक आयोजन का आयोजन कोरोना संक्रमण काल को देखते हुए सादगी पूर्ण तरीके से आयोजित किया जाएगा। आयोजन दो चरणों में किया जाएगा। इसमें आगामी 12 फरवरी से 18 फरवरी तक गाड़ी अड्डा में आयोजन किया जाएगा, इसके पश्चात आगामी 19 फरवरी से तीन दिवसीय महायज्ञ का आयोजन शहर के चाणक्यपुरी स्थित कृष्णा सेलिबे्रशन में किया जाएगा। इसको लेकर बुधवार को रुपरेखा के संबंध में विशेष बैठक का आयोजन किया गया था। 


आज किया जाएगा सादगी के साथ शिवमहापुराण का समापन
सात दिवसीय शिव महापुराण में किया गया भगवान गणेश विवाह का वर्णन
sehore news
सीहोर।
जिला मुख्यालय के समीपस्थ चितावलिया हेमा स्थित निर्माणाधीन मुरली मनोहर एवं कुबेरेश्वर महादेव मंदिर में जारी सात दिवसीय शिव महापुराण कथा के छठवें दिवस भागवत भूषण पंडित प्रदीप मिश्रा द्वारा शिव महापुराण कथा का वाचन किया जा रहा है। जिसमें गणेश के जन्म, देवताओं का गणपति से युद्ध में पराजित होना, विष्णु द्वारा गणपति का वध व गणपति का पुन जीवित होना एवं देवताओं द्वारा गणपति की पूजा करना, गणपति द्वारा पृथ्वी की परिक्रमा व गणपति के विवाह के वर्णन किया गया। इस मौके पर बुधवार को उन्होंने कहा कि सत्संग, ध्यान और ईश्वर की भक्ति से ही हम सही रास्ते पर आ सकते है, हमारे समस्त धार्मिक ग्रंथ एवं महापुरुषों ने कहा कि ईश्वर की भक्ति के बिना कोई भी मनुष्य सुखी नहीं हो सकता है पर विडंबना की आज मनुष्य अपने-अपने तरीके से लगभग सभी भक्ति करते हैं फिर भी वह दु:खी हैं। इसका मूल कारण है कि सभी मन की भक्ति करते हैं। महापुरुषों द्वारा बताये गये शाश्वत भक्ति का वास्तविक विधि को नहीं जानते। ईश्वर को जाने बिना मानते हैं यह मानना पूर्ण नहीं है, उसे उसे मानने से पूर्व जानना होता है। विश्व के सभी संतों, सत्पुरुषों व मुनियों ने केवल बुद्धि के स्तर पर स्वीकार करने के लिए नहीं कहा है, भावावेश में आकर या श्रद्धा के मारे स्वीकार करने की सलाह नहीं दी है, बल्कि अपने अंदर स्थित उस परमात्मा को जानने व देखने का इशारा किया है और इसके लिए पूर्णगुरु द्वारा हमारे दिव्य चक्षु उद्घाटित होता है तभी ईश्वर को अपने भीतर हम देख पाते हैं।उन्होंने कहा कि भक्ति का अर्थ होता है जुडऩा या मिलना और हम परमात्मा से तब मिलेंगे जब परमात्मा को देखेंगे। हमारे अंधकार के कारण ईश्वर के दर्शन नहीं हो पाते है, इसलिए प्रकाशरूपी गुरु के बिना हम ईश्वर को देखने में असमर्थ रहते है।

आज किया जाएगा समापन
विठलेश सेवा समिति के मीडिया प्रभारी प्रियांशु दीक्षित ने बताया कि गुरुवार को सात दिवसीय शिवमहापुराण का समापन किया जाएगा, इसका सीधा प्रसारण किया जा रहा है। समिति ने सभी श्रद्धालुओं से ऑन लाइन श्रवण करने की अपील की है। 

15 जनवरी को रोजगार मेले का आयोजन

मुख्य मंत्री की आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश निर्माण की मंशानुसार महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज सीहोर में 15 जनवरी को प्रात: 9:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक रोजगार मेले का आयोजन किया जा रहा है । शिक्षित बेराजगार युवक-युवतियों को रोजगार कार्यालय की वेबसाईट पर ऑनलाईन  पंजियन www.mprojgar.gov.in पर करवाना अनिवार्य होगा। रोजगार मेले में युवक-युवतियों को अपने समस्त मूल प्रमाण-पत्र, जाति प्रमाण पत्र, फोटो, आधार कार्ड, पैन कार्ड तथा उनकी अभिप्रमाणित छायाप्रतियाँ किसी राजपत्रित अधिकारी से प्रमाणित या स्वयं हस्ताक्षरित दस्तावेजों को लाना अनिवार्य होगा। रोजगार मेले को सफल बनाये जाने के लिए काउंसलर/ विषय विशेषज्ञों को जिम्मेदारी सोंपी जा रही है । सुरश कुमार गुप्ता, सीमा कैलासिया, पंकज जैन, कुलदीप तिग्गा एवं माधवी राठौर को काउंसलर के रूप में एवं श्री शिवम राठौर, दीप्ति निगम, चन्द्रप्रकाश पौडवाल को विषय विशेषज्ञ के रूप में जिम्मेदारी सौंपी गई है। रोजगार मेले में सोशल डिस्टेंसिंग कोविड-19, के पालन किये जाते हुए मास्क, सेनेटाइजर आदि गाइडलाइन अनुसार पूरा पालन किया जाना सुनिश्चित किया जाएगा।  

दिव्यांगों  के नि:शक्तता प्रमाण-पत्र बनाये जायेंगे 6 जनवरी को आष्टा में लगेगा शिविर

सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग की उप संचालक ने जानकारी देते हुए बताया कि 6 जनवरी को जनपद पंचायत आष्टा में दिव्यांगों के नि:शक्तता प्रमाण-पत्र बनाये जाने के लिए शिविर का आयोजन किया जायेगा । दिव्यांगजनों का मौका स्थल पर परीक्षण कर मेडिकल प्रमाण-पत्र जारी किये जायेंगे ।

राज्‍य मंत्री श्री इंदर सिंह परमार गुरूवार को आयेंगे आष्टा 

मध्‍यप्रदेश शासन राज्‍य मंत्री, स्‍कूल शिक्षा स्‍वतंत्र प्रभार एवं सामान्‍य प्रशासन विभाग श्री इंदर सिंह परमार गुरूवार 31 जनवरी को सीहोर के आष्टा आयेंगे। वे प्रात: 10:00 बजे भोपाल से प्रस्थान कर प्रात: 11:00 बजे ग्राम भंवरा तहसील आष्टा पहुँचेगे वहा पर वे नल-जल योजना भूमि पूजन एवं सी.सी. रोड व बाउण्ड्रीवाल लोकार्पण कार्यक्रम में भाग लेगें। दोपहर 02:00 बजे ग्राम भवरा से शुजालपुर के लिए प्रस्थान करेंगे।  

नसरूल्लागंज उप जेल में बंदियों को दी गई एच.आई.व्ही. एड्स की जानकारी

sehore news
राष्ट्रीय एड्स नियंत्रण कार्यक्रम के अंतर्गत सीहोर एड्स कार्यक्रम ईकाई द्वारा  विश्व एड्स माह के अवसर पर नसरूल्लागंज उप जेल में कार्यशाला जिला एड्स नियंत्रण अधिकारी डॉ.जेडी कोरी एवं उप बीएमओ डॉ.मनीश सारस्वत उप जेल अधीक्षक नसरूलागंज श्री संतोष गौर के मार्गदर्शन न में द्विदिवसीय वैश्विक, एकजुटता, साझा जिम्मेदारी वे कोविड-19 ,टीबी, बीमारी विषय पर कार्यशाला आयोजित कर बंदियों को जानकारी दी गई। एचआईव्ही एड्स एवं क्षय नियंत्रण के संबंध पर भी विस्तार से जानकारी बंदियों को दी गई। इस अवसर पर एड्स यूनिट द्वारा बंदियों को सेनेटाइजर, मास्क भी प्रदान किए गए तथा एचआईव्ही एड्स का परीक्षण भी किया गया।  कार्यक्रम में जिला एड्स नियंत्रण अधिकारी डॉ.जेडी कोरी, उप अधीक्षक जेल श्री संतोष गौर, एसटीआई श्री जिला एड्स काउंसलर श्री तकेसिंह सोलंकी, नसरूल्लागंज काउंसलर श्री संतोष अहिरवार, परियोजना प्रबंधक श्री संजय वर्मा, नसरूल्लागंज जेल फार्मासिस्ट श्री दुर्गश इस अवसर पर उपस्थित थे। 

शहरी आजीविका मिशन के अंतर्गत प्रशिक्षण 

sehore news
30 दिसबर को राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन अंतर्गत जिले के सम्मिलित 07 नवीन नगर परिषदों का एक दिवसीय प्रारंभिंक प्रशिक्षण श्री संदीप श्रीवास्तव, परियोजना अधिकारी जिला शहरी अभिकरण सीहोर की अध्यक्षता में एवं श्री कमलेश शर्मा सहायक परियोजना अधिकारी श्रीमती रूपाली सक्सेना, सिटी मिशन मैनेजर नगर पालिका सीहोर, श्रीमती जागृति चौहान, सिटी मिशन मैनेजर नगर पालिका सीहोर एवं श्री मिस्बाहउल जिलामी, सिटी मिशन मैनेजर नगर पालिका आष्टा एवं सीहोर जिले की नगरीय निकायों के योजना प्रभारी एवं कम्प्यूटर ऑपरेटरों की उपस्थिति में प्रशिक्षण पूर्ण हुआ। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन पूर्व में जिले की दो नगरीय निकाय क्रमश: नगर पालिका सीहोर एवं नगर पालिका आष्टा में संचालित था। शासन के निर्देशानुसार प्रदेश की 258 नवीन नगरीय निकायों में भी डे-एनयूएलएम के क्रियान्वयन हेतु एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया जाकर निकायों में उक्त योजना के संचालन संबंधी शासन से प्राप्त निर्देशानुसार विभिन्न घटकों, मिशन सिद्धांत एवं मूल्य रणनिति अंतर्गत ड-एनयूएलएम के प्रमुख उददेश्यों एवं क्रियान्वयन संबबंधी निर्देयशों पर श्री संदीप श्रीवास्तव परियोजना अधिकारी द्वारा योजना प्रभारी/ कम्प्यूटर ऑपरेटरों से विस्तार से चर्चा की जाकर योजनाओं को शत-प्रतिशत क्रियान्वयन, निकाय स्तर पर गठित किये जाने वाले समूह के सदस्यों को लाभ प्रदान किये जाने के संबंध मे जानकारी प्रदान की गई। डे-एनयूएलएम के अन्य घटकों के संबंध में जिले में पदस्थ सिटी मिशन मैनेजरों द्वारा विस्तार से प्रजेन्टेशन/ दिशा निर्देशों के क्रियान्वयन के संबंध में योजनाओं की जानकारी प्रदान की गई। राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन कलेक्टर सभाकक्ष क्रमांक-02 में आयोजित कार्यशाला में उपस्थित नगर परिषद कोठरी के श्री मंयक पाण्डेय सहायक ग्रेड-3, श्री चेतन सिंह पंवार कम्प्यूटर ऑपरेटर नगर परिषद इछावर, श्रीमती अर्चना त्रिवेदी, श्री अजय सिंह चौहान कम्प्यूटर ऑपरेटर, नगर परिषद जावर, श्रीमती प्रियन्का जोशी श्री रजत वैद्य कम्प्यूटर ऑपरेटर नगर परिषद रेहटी श्री रामदास मालवीय योजना प्रभारी श्री रोहन राजपूत कम्प्यूटर ऑपरेटर, नगर परिषद नसरूल्लागंज श्री सईद खान योजना प्रभारी, नगर परिषद बुदनी श्री विजयपाल सेंगर श्री सुमित सैनी कम्प्यूटर ऑपरेटर, योजना प्रभारी सुश्री साधना नगेले जिला शहरी विकास अभिकरण सीहोर एवं सहायक परियोजना अधिकारी री कमलेश र्श्मा एवं श्री नईम उददीन कम्पयूटर ऑपरेटर जिला शहरी विकास अभिकरण एक दिवसीय प्रशिक्षण में उपस्थित रहे । पशिक्षण का समापन/ उदबोधन एवं आभार श्रीमती रूपाली सक्सेना सिटी मिशन मैनेजर नगर पालिका परिषद सीहोर द्वारा किया गया। 

11 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 91 है

sehore news
मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले पिछले 24 घंटे के दौरान  11 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के चाणक्यपुरी से 1 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है/ नसरूल्लागंज के वार्ड नंबर 12 एवं फेक्ट्री चौराहा एरिया से 02 व्यक्ति संक्रमित मिले हैं/ इछावर के सिराडी, वार्ड नंबर 05 से 03 व्यक्ति संक्रमित आए है। बुदनी रेहटी वार्ड नंबर 5 तथा स्थानीय बुदनी से 01 की जांच रिपोट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। आष्टा के ताजपुरा, श्यामपुरा एवं सिद्धीकगंज से 01-01 व्यक्ति की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव की संख्या 91 है।  कुल रिकवर की संख्या 2516 है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 406 सैम्पल लिए गए है । सीहोर शहरी क्षेत्र से 35  सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 750, आष्टा से 39, इछावर से 90, श्यामपुर से 131,  बुदनी से 36 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2655 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2518 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 91 है। आज 406 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 56271 हैं जिनमें से 52772  सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 341 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 406 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु  www.esanjeevaniopd.in  पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है । 

आंगनवाडी केन्द्रों पर होगा रियूसेबल कपड़े के नेपकिन बनाने का प्रशिक्षण

कोविड-19 के दौरान किए गए अध्ययन के अनुसार लॉकडाउन में सैनेटरी नेपकिन की अनुपलब्धता होने से महिलाओं को असुविधा का सामना करना पड़ा। शहरों में सैनेटरी नेपकिन का प्रयोग ज्यादा होता है। ग्रामीण और आदिवासी अंचलों में सैनेटरी नेपकिन के उपयोग का प्रतिशत आर्थिक समस्या और जानकारी के अभाव में काफी कम आंका गया है। महिला बाल विकास विभाग द्वारा इस समस्या को गंभीरता से लेते हुए महिलाओं और किशोरियों को स्थानीय स्तर पर रियूसेबल कपड़े के नैपकिन बनाने का प्रशिक्षण दिए जाने का निर्णय लिया है। संचालक महिला बाल विकास श्रीमती स्वाति मीणा नायक ने जानकारी दी कि 30 दिसंबर से 15 जनवरी 2021 तक प्रदेश के सभी 52 जिलों में कुल 17005 आंगनवाडी केन्द्रों पर पायलट प्रोजेक्ट के रूप में कपड़े के सुविधाजनक रियूसेबल सैनेटरी नैपकिन बनाने का प्रशिक्षण दिया जायेगा। यह प्रशिक्षण वॉटर-एड संस्था के तकनीकी सहयोग से ऑनलाइन आयोजित किया जा रहा है। इस प्रशिक्षण में स्व-सहायता समूह की महिलाएँ, किशोरी बालिकाएँ, आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं सहायिकाएँ शामिल होंगी। श्रीमती नायक ने बताया कि प्रशिक्षण में बनाए गए सेनेटरी नैपकिन्स को महिलाओं एवं किशोरी बालिकाओं को उपयोग के लिए दिया जायेगा एवं उनसे फीड बैक लिया जायेगा। प्रशिक्षण के दौरान बालिकाओं/महिलाओं को माहवारी स्वच्छता पर भी प्रशिक्षण दिया जायेगा।    

उपभोक्ता बिजली कंपनी के एफओसी वाहन के द्वारा भी सर्विस केबल बदलवा सकेंगे

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने उपभोक्ताओं को घर पहुँचकर सर्विस केबल बदलने की सुविधा उपलब्ध करा दी है। उपभोक्ता चाहें तो बिजली कंपनी की मदद से बिजली खंभे से मीटर तक अपनी सर्विस केबल बदलवा सकेंगे। दरअसल मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कॉल सेन्टर में अक्सर ऐसी शिकायतें प्राप्त होती हैं कि विद्युत अवरोध हो गया है घर में लाइट नहीं है। शिकायत करते समय उपभोक्ता को यह नहीं मालूम होता है कि लाइट क्यों गई है। उपभोक्ता कॉल सेन्टर में फोन करते हैं तो कॉल सेन्टर का एफओसी वाहन लाइनकर्मी के साथ विद्युत अवरोध दूर करने के लिए जांच करते हैं। मालूम होता है कि संबंधित उपभोक्ता की सर्विस केबल डेमेज है। ऐसी अवस्था में विद्युत वितरण कंपनी ने उपभोक्ता की सर्विस लाइन एफओसी स्टॉफ द्वारा बदलने की सुविधा प्रदान कर दी है। कंपनी ने अपने निर्देश में कहा है कि सभी एफओसी वाहन में सिंगल फेस की 6 स्क्वायर एमएम की सर्विस लाइन रखी जाए। आकस्मिक परिस्थिति में उपभोक्ता की सप्लाई चालू करने के लिए उपभोक्ता को यह विकल्प दिया गया है कि यदि वे अपनी सर्विस केबल एफओसी दल से बदलवाना चाहते हैं तो निर्धारित मापदंड के अनुसार एस.ओ.आर. रेट तथा सर्विस चार्ज जिसकी भुगतान राशि संबंधित माह के बिल राशि में जोड़कर देय होगी का सहमति पत्र भरने के उपरांत अपने बिजली कनेक्शन के सर्विस केबल बदलवाने की सुविधा का लाभ उठा सकते हैं। इसमें न्यूनतम चार्ज 30 मी. की दूरी मानते हुए उपभोक्ता से लिया जाएगा। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी प्रदेश की पहली वितरण कंपनी है जिसने घर पहुंच सेवा के अंतर्गत नई सर्विस लाईन डालने की सुविधा उपभोक्ता को प्रदान की है। उपभोक्ता सर्विस लाईन बदलवाने के लिए 1912 पर संपर्क कर सकते है।

मध्यप्रदेश को समृद्धि, विकास और जनकल्याण के लिए नयी ऊँचाईयों तक ले जायें-मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश का रोडमैप तैयार है। सभी विभाग अपने लक्ष्य को समय-सीमा में हासिल कर मध्यप्रदेश को समृद्धि, विकास और जनकल्याण के लिये नयी ऊचाइंयों तक ले जाए। हम सभी इसके लिये अधिकतम परिश्रम और प्रयास करें। पूरा विश्वास है कि नया और विकसित मध्यप्रदेश तेजी में उभरेगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रिपरिषद की बैठक के पहले मंत्रीगणों को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि इस वर्ष मंत्रीगणों और अधिकारियों ने जबरदस्त परिश्रम कर राज्य सरकार के प्राथमिकता के कार्यों और लक्ष्य को हासिल करने का प्रयास किया है। कोरोना संक्रमण के चलते आर्थिक गतिविधियाँ ठप्प हो गयी थी। लेकिन सभी के प्रयासों से आर्थिक गतिविधियां शुरू हुयी। राज्य सरकार ने अथक प्रयासों से अपने वित्तीय संसाधनों को सुदृढ़ कर विकास और जनकल्याण के कार्यों को गति प्रदान की है। कोरोना के मरीजों के इलाज के लिये सशक्त कार्ययोजना के अनुसार प्रयास किये गये। निजी चिकित्सालयों में भी राज्य सरकार द्वारा मरीजों का इलाज कराया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण के चलते लॉकडाउन में अन्य प्रान्तों से आ रहे और यहां से बाहर जा रहे श्रमिकों को वाहन उपलब्ध कराये गये। समाज के सहयोग से उनके लिये भोजन का इंतजाम किया गया। श्रमिकों को जूते-चप्पल तक दिये गये। मध्यप्रदेश द्वारा श्रमिकों को प्रदाय की गयी सुविधाओं के लिये पूरे देश से सराहना मिली। श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण काल में संकट के क्षणों में गरीब परिवारों और किसानों के खातों में राज्य सरकार द्वारा योजना की राशि अन्तरित की गयी है। केन्द्र सरकार द्वारा बनाये गये नए कृषि कानूनों का मध्यप्रदेश के किसानों ने हृदय से स्वागत किया है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने अमर शहीद भीमा नायक के बलिदान दिवस पर उन्हें श्रद्धांजलि भी दी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जनहित से जुड़े अधिनियमों में संशोधन कर उन्हें अध्यादेश के रूप में लाया जा रहा है। इन संशोधनों से जनहित में व्यापक स्तर पर फायदा लोगों को मिलेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: