बिहार : दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में माले-ऐपवा की टीम दिल्ली रवाना. - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 16 जनवरी 2021

बिहार : दिल्ली किसान आंदोलन के समर्थन में माले-ऐपवा की टीम दिल्ली रवाना.

  • 18 जनवरी को महिला किसान दिवस कार्यक्रम में करेंगे भागीदारी

bihar-aipwa-depart-to-delhi-support-farmer-protest
पटना 16 जनवरी, दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के समर्थन में भाकपा-माले व ऐपवा की एक संयुक्त टीम आज शाम दिल्ली रवाना हुई. इस  टीम में माले के युवा विधायक संदीप सौरभ व अजीत कुशवाहा, ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी, संगीता सिन्हा, सोहिला गुप्ता, इंदू देवी, आफसां जबीं, रीता बरनवाल आदि नेतागण शामिल हैं. दिल्ली रवानगी से पूर्व पालीगंज विधायक संदीप सौरभ ने कहा कि यह बहुत दुखद है कि 15 जनवरी की भी वार्ता विफल रही. केंद्र सरकार दरअसल पूरे मामले को उलझाकर रखना चाहती है और यदि वह यह सोंच रही है कि किसानों को थका-थका कर वापस लौटने को मजबूर कर देगी, तो गलतफहमी में है. सुप्रीम कोर्ट द्वारा बनाई गई कमिटी का कोई मतलब नहीं है, क्योंकि उसमें सभी कृषि कानूनों के समर्थक लोग भरे पड़े हैं. मोदी सरकार को तीनों कृषि कानून वापस लेने होंगे. इससे कम हमें कुछ भी स्वीकार नहीं है. यह भी कहा कि हमारी टीम बाॅर्डर पर चल रहे सभी किसान धरनों का दौरा करेगी और उनका हौसला अफजाई करेगी. वहीं, ऐपवा की महासचिव मीना तिवारी ने कहा कि हम दिल्ली इस बार एक विशेष मकसद से जा रहे हैं. महिलाओं व बच्चों के प्रति सुप्रीम कोर्ट का वक्तव्य बहुत निंदनीय है, जिसमें उसने कहा कि धरना में महिलायें, बच्चे व बुजुर्ग क्या कर रहे हैं. यह बेहद आश्चर्य का विषय है कि सुप्रीम कोर्ट को यह पता ही नहीं है कि किसानों की बड़ी आबादी महिलाओं की है और वे ही कृषक व्यवस्था की असली आधार हैं. यह लड़ाई महज अब कृषि कानूनों की वापसी की लड़ाई तक नहीं रह गई है, बल्कि देश को बचाने की लड़ाई में तब्दील हो चुकी है. आगामी 18 दिसंबर को महिला किसान दिवस का आयोजन किया गया है. हम सभी दिल्ली में उस कार्यक्रम में शामिल होंगे. बिहार में भी ऐपवा के बैनर से सभी केंद्रों पर महिला किसान दिवस का आयोजन किया जाएगा.

कोई टिप्पणी नहीं: