बिहार : फ्रेंड्स ऑफ आनंद का प्रतिवाद मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 17 जनवरी 2021

बिहार : फ्रेंड्स ऑफ आनंद का प्रतिवाद मार्च

जल्द से जल्द शुरु हो तिलरथ जमालपुर रेल सेवा।

protest-for-jamalpur-railway
अरुण कुमार ( बेगूसराय ) महीनों से ही नहीं बल्कि कोरोना काल से ही निरस्त तिलरथ जमालपुर डीएमयू ट्रेन की सुविधा बहाल करने की मांग को लेकर आक्रोशित हुए फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ता।वीर कुंवर सिंह चौक से ट्रैफिक चौक तक प्रतिवाद मार्च निकालकर किया प्रदर्शन।रेल प्रबंधन पर लगाया बेगूसराय के रेल यात्रियों की उपेक्षा का आरोप। तिलरथ जमालपुर ट्रेन सेवा बहाल न होने पर दिया रेल सेवा बाधित करने का अल्टीमेटम। मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए फ्रेंड्स ऑफ आनंद के जिलाध्यक्ष प्रदीप क्षत्रिय ने कहा कि जब पूरे भारत में पैसेंजर ट्रेन की सुविधा बहाल हो चुकी है।तब सिर्फ तिलरथ जमालपुर डीएमयू की सुविधा का बहाल नहीं होना रेल प्रबंधन का बेगूसराय स्टेशन के प्रति पक्षपातपूर्ण रवैया को परिलक्षित करता है।बेगूसराय और मुंगेर के लोगों का बेटी रोटी का संबंध है।प्रतिदिन बेगूसराय के सैकड़ों लोगों का प्रमंडल संबंधी कार्यों से और इलाज संबंधी जरूरतों के लिए मुंगेर से बेगूसराय और बेगूसराय से मुंगेर आना जाना लगा रहता है।एप्रोच पथ के अभाव में श्री कृष्ण सेतु हाथी का दांत बनकर मुंह चिढ़ा रहा है।ट्रेन और बस की सुविधा नहीं होने के कारण नाव से गंगा नदी को पार करना बेहद खतरनाक काम है।15 दिनों के अंदर अगर तिलरथ जमालपुर ट्रेन सेवा बहाल नहीं की गई तो फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ता रेल रोकने का काम करने को मजबूर होंगे जिसका जिम्मेदार रेल विभागाध्यक्ष होगा।कार्यक्रम का नेतृत्व जिला संयोजक रमन शार्दुल ने किया।मौके पर  नीतीश नंदन,सिकंदर पोद्दार,सुजीत कुमार,रविकांत सिंह, मोहम्मद सत्तार,हरि किशोर रजक के साथ दर्जनों फ्रेंड्स ऑफ आनंद के कार्यकर्ता उपस्थित थे।

कोई टिप्पणी नहीं: