इंदौर : किसान संगठनों ने मनाया संकल्प दिवस - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शुक्रवार, 1 जनवरी 2021

इंदौर : किसान संगठनों ने मनाया संकल्प दिवस

  • संविधान की उद्देशिका का वाचन किया,  

किसान आंदोलन को  तीनों किसान विरोधी  कानून रद्द   होने तक जारी रखने का लिया संकल्प 

farmer-protest-indore
इंदौर ।अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति और संयुक्त किसान मोर्चा के आव्हान पर आज इंदौर में भी किसानों और उनसे जुड़े संगठनों ने संकल्प दिवस मनाया लक्ष्मी नगर मंडी में संकल्प दिवस के मौके पर सभा और प्रदर्शन करते हुए उपस्थित सभी कार्यकर्ताओं और किसानों ने संकल्प लिया कि तीनों किसान कानून रद्द किए बगैर आंदोलन वापस नहीं होगा। दिल्ली में चल रहे किसान आंदोलन के साथ ही पूरे मध्यप्रदेश में आंदोलन तेज किए जाने का संकल्प भी लिया गया तथा संविधान की उद्देशिका का भी वाचन हुआ । आज के संकल्प दिवस सभा का आयोजन अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति की इंदौर इकाई,  किसान खेत मजदूर संगठन,किसान संघर्ष समिति  और एटक ने संयुक्त रूप से किया था । सभा में बड़ी संख्या में किसान और मंडी के हम्मालों ने भी भागीदारी की । संकल्प सभा को संबोधित करते हुए विभिन्न वक्ताओं ने कहा कि नरेंद्र मोदी सरकार को आखिरकार किसानों के आंदोलन के आगे झुकना ही पड़ा है किसान आंदोलन की 2 मांगों को मान लिया गया है लेकिन अभी मुख्य मांगे माना जाना बाकी है ,जिसे भी सरकार को मानना ही होगा। यदि सरकार इन मांगों को पूरा नहीं करती है तो आंदोलन और तेज किया जाएगा। सभा को सर्व श्री रामस्वरूप मंत्री, रूद्र पाल यादव एसके दुबे ,प्रमोद नामदेव ,अजीत पंवार ,प्रवीणअजमेरा आदि वक्ताओं ने संबोधित किया ।प्रदर्शन और सभा में सर्वश्री छेदी लाल यादव भारत सिंह यादव,  सुमित सोलंकी, अर्जुन राठौर ,दिक्शा, सौम्या सिंह सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता शरीक थे।

कोई टिप्पणी नहीं: