बेतिया : जिलाधिकारी द्वारा वैक्सीनेशन कार्य का लिया गया जायजा - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 16 जनवरी 2021

बेतिया : जिलाधिकारी द्वारा वैक्सीनेशन कार्य का लिया गया जायजा

  • *पूरी संजीदगी के साथ कार्य कर पश्चिम चम्पारण जिला को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेस्ट बनायें: जिलाधिकारी
  • *कोविड-19 प्रोटोकाॅल एवं विभागीय निदेश के अनुरूप जिले के सभी 09 केन्द्रों पर वैक्सीनेशन कार्य सफलतापूर्वक सम्पन्न: सिविल सर्जन

betiya-dm-inspact-covid-vaccine
बेतिया। जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा आज जीएमसीएच, पीएचसी मझौलिया सहित अन्य वैक्सीनेशन केन्द्रों पर पहुंचकर वैक्सीनेशन कार्य का जायजा लिया गया। निरीक्षण के दौरान अस्पताल प्रबंधन द्वारा विभागीय निर्देशों तथा कोविड-19 प्रोटोकाॅल का शत-प्रतिशत अनुपालन देख जिलाधिकारी द्वारा संतोष व्यक्त किया गया तथा संबंधित अधिकारियों एवं डाॅक्टर्स की हौसला आफजाई की गयी। जीएमसीएच में वैक्सीनेशन कार्य का विधिवत उद्घाटन फीता काटकर जिलाधिकारी द्वारा किया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन, जीएमसीएच के अधीक्षक, प्राचार्य, सहायक समाहर्ता सहित अन्य अधिकारी, डाॅक्टर्स उपस्थित रहे। जीएमसीएच के वैक्सीनेशन केन्द्र का निरीक्षण के क्रम में जिलाधिकारी ने कहा कि पश्चिम चम्पारण की जिला प्रशासन एवं स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा बेहतर कार्य किया जा रहा है। आने वाले समय में पूरी संजीदगी के साथ कार्य करना है ताकि वेस्ट चम्पारण जिले को स्वास्थ्य के क्षेत्र में बेस्ट बनाया जा सके। जीएमसीएच में कोविड-19 वैक्सीन लेने वाले प्रथम व्यक्ति आॅफिस अटेंडेंट श्री जयनाथ कुमार से पूछताछ भी की गयी। श्री जयनाथ कुमार द्वारा बताया गया कि वैक्सीन लेने के उपरांत उन्हें स्वास्थ्य से संबंधित किसी भी प्रकार की कोई तकलीफ नहीं है, वे बेहतर महसूस कर रहे हैं। जीएमसीएच प्रबंधन द्वारा वैक्सीन लेने वाले व्यक्तियों से कोविड-19 संक्रमण एवं बचाव से संबंधित जानकारी से जुडे़ 24 प्रश्नोतरी के आधार पर सर्वे किया जा रहा था। जिसमें कोरोना कैसे फैलते है, कोरोना के लक्षण आने में कितना समय लगता है, कोराना के लक्षण क्या है, कोरोना संक्रमण का सबसे ज्यादा खतरा किसे है, कोरोना संक्रमण से बचाव का उपाय, कोरोना संक्रमण से परिवार के अन्य सदस्यों को बचाने के क्या उपाय है आदि से संबंधित जानकारी प्राप्त की जा रही थी। जीएमसीएच अस्पताल प्रबंधन द्वारा वैक्सीन लेने वाले व्यक्तियों की कोरोना से संबंधित भ्रांतियों को दूर भी किया जा रहा था। जिलाधिकारी द्वारा इस कार्य की सराहना की गयी।  सिविल सर्जन, डाॅ0 अरूण कुमार सिन्हा द्वारा बताया गया कि वैक्सीनेशन का कार्य जिले के सभी 09 केन्द्रों जी.एम.सी.एच., पी.एच.सी. गौनाहा, पी.एच.सी. लौरिया, पी.एच.सी. नरकटियागंज, पी.एच.सी. मधुबनी, पी.एच.सी. नौतन, पी.एच.सी. चनपटिया एवं मझौलिया सहित जन्मस्थान-डाॅ0 बी.एन. झा मल्टीस्पेशलिएटी अस्पताल में ससमय प्रारंभ कराया गया। सभी केन्द्रों पर वैक्सीनेशन के दौरान सर्वप्रथम व्यक्ति की पहचान की गयी तथा विभागीय पोर्टल से डाटा मिलान कर टीकाकरण के लिए टीकाकरण कक्ष में भेजा गया जहां प्रशिक्षित टीकाकर्मी द्वारा टीका दिया गया। इसके बाद व्यक्ति को आधे तक चिकित्सकों की देखरेख में आॅबजरवेशन रूम में रखा गया। आॅबजरवेशन रूम में दो बेड, बीपी मापने की मशीन, आ. भी. एनाफाइलीसिस कीट तथा अन्य आवश्यक दवाओं के साथ चिकित्सक एवं पारामेडिक एवं अन्य सुविधाएं अपडेट रखी गयी है। आपात स्थिति के लिए एंबुलेंस की व्यवस्था भी अपडेट रखी गयी है। साथ ही वैक्सीनेशन केन्द्रों पर लाइव बेवकास्टिंग की व्यवस्था की गयी है। सभी वैक्सीनेशन केन्द्रों पर कोविड-19 प्रोटोकाॅल तथा विभागीय निदेशों का अक्षरशः अनुपालन किया जा रहा है, जो अत्यंत ही सराहनीय है।

कोई टिप्पणी नहीं: