सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 21 जनवरी 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 21 जनवरी

सचिव पंचायती राज मंत्रालय भारत सरकार आज आयेंगे सीहोर के बिल्किसगंज


सचिव पंचायती राज भारत सरकार पंचायती राज मंत्रालय श्री सुनील कुमार आज  सीहोर के बिल्किसगंज आयेंगे। जारी दौरा कार्यक्रमानुसार श्री सुनील कुमार 22 जनवरी को प्रात: 11:15 बजे भोपाल से बिल्किसगंज के लिए प्रस्थान कर 11:45 बजे बिल्किसगंज (सीहोर) पहुंचेगे, यहां श्री राजेश जांगडे, प्रधान ग्राम पंचायत बिल्किसगंज द्वारा श्री सुनील कुमार का स्वागत किया जायेगा। दोपहर 12 बजे से 12:15 तक ग्राम पंचायत बिल्किसगंज के जीपीएसडीपी का एसपीए द्वारा प्रस्तुतिकरण किया जायेगा। दोपहर 12:15 से 12:35 तक स्वामित्व योजना ग्राम सभा में आबादी सर्वे के ग्राउंड ट्रूथिंग एवं डोर टू डोर सर्वे का प्रस्तुतिकरण किया जायेगा। 12:35 ग्राम पंचायत एटलस एवं प्रतिवेदन जारी किया जायेगा। ग्राम होलीपुरा, तहसील बुदनी के संपत्ति धारक को टोकन रूप में श्री सुनील कुमार सचिव भारत सरकार द्वारा अधिकार अभिलेख का वितरण किया जायेगा। 12:45 से 12:50 तक ग्राम पंचायत बिल्किसगंज द्वारा जीपीएसडीपी पर संकल्प की उदघोषणा एवं 12:50 से 12:55 तक श्री सुनील कुमार, सचिव, भारत सरकार, पंचायती राज मंत्रालय का उदबोधन होगा। 12:55 से 1:30 तक ग्राम पंचातय बिल्किसगंज का भ्रमण करेंगे। 


"सफलता की कहानियाँ" : नितिन महोबिया को मिला "प्रधानमंत्री स्वनिधि" पथ विक्रेता योजना का सहारा रोजगार करना हुआ आसान मिला 10 हजार का ऋण 


sehore news
परंतु कुछ समय पहले यही नितिन बहुत ही परेशान एवं आर्थिक रूप से पूरी तरह से टूट चुके थे  क्योंकि लॉकडाउन के समय में सभी प्रकार के व्यवसाय बंद हो गये थे। नितिन महोबिया का व्यवसाय भी पूरी तरह बंद हो गया था। 4 सदस्यीय परिवार का भरण पोषण करना भी मुश्किल हो गया था। जैसे तैसे लॉकडाउन समय के दौरान शासन से  तभी अखबार के माध्यम से उन्हें पता चला कि शासन द्वारा " प्रधान मंत्री स्व निधि" योजनान्तर्गत समस्त पथ विक्रेताओं को अपनी रोजी रोटी पुन: प्रारंभ करने के लिए ऋण प्रदान किया जा रहा है । नितिन महोबिया जानकारी लगने पर नगर पालिका परिसद सीहोर पहुँचे वहां योजना विस्तार अधिकारी से योजना के संबंध में जानकारी प्राप्त की  बैंक मेनेजर एवं समस्त स्टॉफ के सहयोग से नितिन को 10 हजार रूपये का ऋण स्वीकृत हुआ। आज उन्हीं 10 हजार की राशि से नितिन फल फ्रूट का ठेला लगा रहे हैं। वे खुश हैं कि "प्रधान मंत्री स्व निधि" योजना के कारण वे परिवार का भरण पोषण  एवं अपनी बूढ़ी मां की देखभाल भी अच्छी तरह कर पा रहे हैं । वे प्रधान मंत्री, मुख्य मंत्री एंव सभी अधिकारी कर्मचारी जिनकी मदद से उन्हें यह ऋण प्राप्त हुआ है का कोटि कोटि धन्यवाद करते हैं। 


21 जनवरी 21 को ग्राम बिजोरी एवं कोडियाछितू में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।


जिला विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर द्वारा जिला न्यायाधीश/अध्यक्ष  श्री राजवर्धन गुप्ता के मार्गदर्शन में गुरुवार 21 जनवरी को ग्राम कोडियाछितू और बिजोरी में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।  शिविर में श्री आबिद खान पैरालीगल वालेन्टियर, श्री सोहेल खान पैरालीगल वालेन्टियर व ग्राम बिजोरी और कोडियाछितू के सरपंच, ग्राम सचिव, रोजगार सहायक की सहभागिता रही। कोडियाछितू के ग्राम पंचायत भवन में विधिक जागरूकता शिविर का आयोजन किया गया।  श्री आबिद खान पैरालीगल वालेन्टियर द्वारा विधिक सहायता एवं सलाह योजना के अंतर्गत व्यक्त किया कि म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर, जिला विधिक सेवा प्राधिकरणों एवं तहसील विधिक सेवा समितियों द्वारा समाज के गरीब, असहाय, पीडित एवं विधिक सेवा प्राधिकरण अधिनियम के अंतर्गत पात्र व्यक्तियों को उनके विरूद्ध चल रहे प्रकरण या उनके द्वारा न्यायालय में प्रस्तुत किये जाने वाले प्रकरणों मे निःशुल्क एवं सक्षम विधिक सहायता दी जा सकती है। उक्त योजना के अंतर्गत अनुसूचित जाति एवं जनजाति के सदस्य, ऐसे व्यक्ति जो लोगो के दुर्वव्यवहार से पीडित है, मानसिक रूप से अस्वस्थ्य है, बहुविनाश, जातिया हिंसा या जातीय अत्याचार से पीडित व्यक्ति, औद्योगिक कर्मकार, महिला, जेल बंदी एवं ऐसे व्यक्ति जिनकी वार्षिक आय 01 लाख रूपये से कम है, पात्र व्यक्ति कहलाते है। ऐसे पात्र व्यक्तियों को मामले में लगने वाली कोर्ट फीस, तलवाना, टाईपिंग/फोटोकॉपी खर्च, गवाह खर्च, निर्णय/आदेश की प्रमाणित प्रतिलिपि प्राप्त करने का पूरा खर्च एवं वकील फीस का भुगतान जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा किया जाता है। साथ ही शिविर में उपस्थित व्यक्तियों को म.प्र. अपराध पीडित प्रतिकर योजना 2015, घरेलू हिंसाओं से संरक्षण अधिनियम 2005, माता-पिता और वरिष्ठ नागरिकों का भरण-पोषण तथा कल्याण अधिनियम की भी जानकारी दी गई। श्री सोहेल खान पैरालीगल वालेन्टियर द्वारा शिविर में उपस्थित आमजन को लोक अदालत योजना, भारतीय संविधान द्वारा प्रदत्त मूल अधिकार एवं कर्तव्य एवं मध्यस्थता योजना की जानकारी दी गई। शिविर में उपस्थित श्री केदारसिंह मेवाडा सरपंच ग्राम कोडियाछितू, श्री रामबाबू पाटीदार ग्राम सचिव, श्री अनिल मालवीय रोजगार सहायक द्वारा भी अपने विभाग की जानकारी भी आमजन को दी गई। इसी प्रकार बिजोरी में श्री आबिद खान पैरालीगल वालेन्टियर द्वारा शिविर में उपस्थित व्यक्तियों को लोकोपयोगी लोक अदालत, निःशुल्क विधिक सहायता योजना, मध्यस्थता योजना एवं बाल विवाह प्रतिशेध अधिनियम 2006 के बारे मे विस्तार से जानकारी दी गई। श्री सोहेल खान द्वारा शिविर में उपस्थित आमजन को संविधान द्वारा प्रदत्त और मूल कर्तव्यों की जानकारी दी गई। साथ ही बताया गया कि म.प्र. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण जबलपुर का उद्देश्य समाज के अंतिम पंक्ति पर खडे़ व्यक्ति तक सुलभ एवं निःशुल्क न्याय पहुंचाना है। उक्त शिविर में श्री दीपेश राठौर सरपंच ग्राम बिजोरी, श्री लखनलाल ठाकुर ग्राम सचिव एवं श्री नंदकिशोर नागर रोजगार सहायक द्वारा भी अपने-अपने विभाग की योजनाओं के बारे में आमजन को जागरूक किया गया।      


हत्या के प्रयास के आरोपी को सात वर्ष का कठोर कारावास एवं तीर हजार रूपये का अर्थ दंण्ड


द्वतीय अपर सत्र न्यायाधीश श्री अशोक भारद्वाज द्वारा हत्या के प्रयास आरोपी शुभम उर्फ सुभाष सोनी को सत्र प्रकरण क्रमांक 150/2019 का निराकरण दिनाँक 20 जनवरी 2021 को करते हुए सात वर्ष के कठोर कारावास एवं तीन हाजार रूपये अर्थ दण्ड से 307 आई.पी.सी. एवं 25(1बी) (बी) आयुध अधिनियम के तहत एक वर्ष के कठोर कारावास एवं एक हजार रूपये के अर्थ दण्ड से दण्डित किया गया। अभियोजन की कहानी के अनुसार दिनाँक 15/07/2019 को पीटर कम्पाउंड एवं दीवान बाग के बीच की गली कस्बा सीहोर में लाल मियाँ ड्रायवर के घर के पीछे की तरफ फरियादी शाहरूख खां रात करीब 11.30-12 बजे के अपने साथी मोहम्मद अनस को पीटर कम्पाउंड छोड़कर वापस आ रहा था कि गली में लाल मिँया के घर के पीछे गंज सीहोर का रहने वाला शुभम उर्फ सुभाष सोनी वहां रखे हुई एक मोटर साईकल का ताला खोलकर ले जाने जैसा दिखा तब फरियादी शाहरूख खां ने यह समझ कर की वह मोटर साईकल की चोरी कर रहा उससे पूछा कि वह मोटर साईकल कहां ले जा रहा है और किसकी है तो अभियुक्त शुभम गाली बकते हुए उसकी गिरेबान पकड़कर गली में थोड़ा आगे ले गया और अपने पास रखी छुरी से जान से मारने की नियत से हमला कर दिया और एक छुरी मारी जो छाती पर दाहिने तरफ लगी जिससे खून निकलने लगा दूसरी छुरी मारी जो बांए हाथ पर लगी आवाज सुनकर मोहम्मद आसिफ आये तभी अभियुक्त शुभम सोनी वहां से भाग गया अभियोगी शाहरूख को सीहोर अस्पताल लेकर आये व उसकी रिपोर्ट पर पुलिस थाना कोतवाली सीहोर द्वारा अपराध क्रमांक 646/2019 अंतर्गत धारा 307 आई.पी.सी.  का पंजीबद्ध किया गया और अनुसंधान में छुरी जब्त कर 25(1बी) (बी) आयुध अधिनियम का इजाफा कर चालान न्यायालय सीजेएम सीहोर के यहां प्रस्तुत किया गया और उपार्पण पश्चात प्राप्त होने पर विचारण कर प्रकरण का निराकरण करते हुए द्वितीय अपर सत्र न्यायाधीश श्री अशोक भारद्वाज द्वारा आरोपी शुभम उर्फ सुभाष सोनी को सात वर्ष के कठोर कारावास एवं तीन हजार रूपये के अर्थ दंण्ड से 307 आई.पी.सी. एवं 25(1बी) (बी) आयुध अधिनियम के तहत एक वर्ष के कठोर कारावास एवं एक हजार रूपये के अर्थ दंण्ड से दण्डित किया गया साथ ही मध्य प्रदेश उपराध पीड़ित प्रतिकर योजना 2015 के तहत जिला स्तरीय समिति के अध्यक्ष जिला एवं सत्र न्यायाधीश तथा अध्यक्ष विधिक सेवा प्राधिकरण सीहोर को पीड़ित शाहरूख को पर्याप्त प्रतिकर राशि दिलाये जाने की अनुशंसा भी की गई।  प्रकरण में राज्य की ओर से शारद जोशी लोक अभियोजक एवं श्री आसिफ खांन अपर लोक अभियोजक द्वारा पैरवी की गई।  


लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा सत्र 2020-21 की बोर्ड परीक्षा परीणामों में वृद्धि हेतु लक्ष्‍य निर्धारित कर परीक्षा परीणाम लक्ष्‍यानुसार प्राप्त किये जाने के निर्देश दिए


आयुक्‍त, लोक शिक्षण संचालनालय द्वारा सत्र 2020-21 की बोर्ड परीक्षा परीणामों में वृद्धि हेतु लक्ष्‍य निर्धारित कर परीक्षा परीणाम लक्ष्‍यानुसार प्राप्त किये जाने के निर्देश दिए गए है । जिसके लिए शाला के शिक्षको/प्राचार्यो/विकासखण्ड  शिक्षा अधिकारीयों की जिम्‍मेदारी निर्धारित की गई है । जिसकी मानीटरिग जिला शिक्षा अधिकारी, संभागीय संयुक्‍त संचालक द्वारा की जाना है । इसी तारतम्‍य में 21 जनवरी को शासकीय उ.मा.वि. कोठरी, एवं शा.उ.मा.वि. मेहतवाडा  का निरीक्षण श्री एस.पी.सिंह बिसेन जिला शिक्षा अधिकारी द्वारा किया गया । शासकीय उ.मा.वि. कोठरी-के  निरीक्षण में कक्षा 10 अ एवं कक्षा 10 ब में उपस्थिती पंजी में हाजरी दर्ज करने में लापरवाही पाई गई एवं छात्र-छात्राओ की उपस्थिती भी कम पाई गई , जिस पर जिला शिक्षा अधिकारी ने संकुल प्राचार्य को कडी फटकार लगाई एवं श्री चेन सिंह मेचन , शिक्षक तथा श्रीमति कल्‍पना शर्मा मा.शि. को कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया जा जाकर एक सप्‍ताह में जबाब देने को कहा गया है । जबाब प्राप्‍त न होने की दशा में एक वेतन वृद्धि रोकी जाने की कार्यवाही की जावेगी । संकुल प्राचार्य को निर्देशित किया गया कि जो छात्राऐ होस्‍टल में रहती थी एवं वर्तमान में होस्‍टल प्रारंभ न होने से शाला में नही आ पा रही है ,उन्‍हे पत्र द्वारा सूचित करे की वह अपने निवास के निकटतम शाला में अभिभावक की सह‍मति से कक्षा में सम्मिलित हो सकती है। इस संबंध में जानकारी एकत्र कर जिला कार्यालय को उपलब्‍ध करावे। शा.उ.मा.वि. मेहतवाडा - शाम 4:15 पर शासकीय उ.‍मा.वि मेहतावाडा का निरीक्षण किया गया शाला में श्री सोभाल ठाकुर, राजेश वर्मा प्रधान अधयापक मा.शा. एव श्री भंवर ठाकुर को छोडकर शेष समस्‍त स्‍टाफ अनुपस्थित पाया गया जिस पर जिला शिक्षा अधिकारी ने नाराजगी जाहिर करते हुए एक दिन का वेतन काटने के संबंध में शाला में पदस्‍थ समस्‍त सटाफ को एक कारण बताओ सूचना पत्र जारी किया । किसी भी स्थिति मे जिले का परीक्षा परीणाम प्रभावित नही होना चाहिए। किसी भी स्‍तर पर लापरवाही पर बर्दाशत नही की जावेगी ।


285 स्वास्थ्य कर्मचारियों ने लगवाया कोविड का टीका, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल को लगा कोविड का टीका


sehore news
कोविड-19 वैक्सीनेशन का कार्य गुरूवार को भी जारी रहा। जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल ने भी जिला चिकित्सालय सीहोर के डीईआईसी  स्थित टीकाकरण केन्द्र पहुंचकर कोविड का टीका लगवाया। गुरूवार को शाम 5.30 बजे तक  निर्धारित लक्ष्य 400 के विरूद्ध 284 स्वास्थ्य अधिकारियों-कर्मचारियों ने कोविड-19 का टीका लगवाया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि शाम 5.30 बजे तक जिला चिकित्सालय सीहोर में 60 स्वास्थ्य कर्मियों को टीकाकृत किया गया सिविल अस्पताल आष्टा में 86 कर्मचारियों को टीकाकृत किया गया । श्यामपुर में 66 तथा बुदनी में 73 स्वास्थ्य कर्मियों को कोविड का टीका लगाया गया । शुक्रवार को गर्भवती माताओं तथा बच्चों का नियमित टीकाकरण होने के कारण कोविड-19 का टीका उक्त चारों टीकाकरण केन्द्रों पर नहीं लगाया जाएगा।


01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 36 है


मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। बुदनी के शाहगंज निवासी 01 व्यक्ति की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई हे । जिले में एक्टिव/संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 36 है। कुल 02 व्यक्तियों को रिकवर होने के उपरांत डिस्चार्ज किया गया है कुल रिकवर की संख्या 2775 है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 422 सैम्पल लिए गए है । सीहोर शहरी क्षेत्र से 19 सैम्पल लिए गए,  नसरूल्लागंज 53, आष्टा से 146, इछावर से 44, श्यामपुर से 101,  बुदनी से 59 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2775 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2691 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 36 है। आज 422 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 65012 हैं जिनमें से 61181  सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 451 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 985 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज पॉजिटिव मिले नये कन्टेनमेंट झोन सहित समस्त कन्टेनमेंट एवं बफर जोन मे स्वास्थ्य दलों द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है वहीं पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्ये कन्टेनमेंट जोन मे सर्वे के लिए जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-07562 226470 है एवं 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती हैं। जिला स्तर पर मोबाइल नंबर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होन कारोन्टाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हल्पलाईन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम कारान्टाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकॉलोजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है।  


सफलता के पॉंच वर्ष :  ई-अटेंडेन्स प्रणाली ‘‘प्रयास‘‘ से हो रहे कार्मिक के सेवा संबंधी काम


मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कम्पनी के ई-अटेन्डेंस प्रणाली ‘‘प्रयास‘‘ को सफलता के पॉंच वर्ष पूर्ण हो गये हैं। इस ई-अटेन्डेंस प्रणाली से मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के नियमित, संविदा एवं आउटसोर्स कार्मिकों की अटेण्डेन्स ली जा रही है साथ ही अवकाश आवेदन, अवकाश स्वीकृति, वेतन एवं ऑनलाईन गोपनीय चरित्रावली आदि सभी कार्य निष्पादित किये जा रहे हैं।


‘‘प्रयास‘‘ से आया अभूतपूर्व बदलाव

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने आधार नंबर की मदद से कंपनी कार्य क्षेत्र के सभी 16 जिलों में कार्यरत् अधिकारियों और कर्मचारियों की हाजिरी लगाना कोई पॉंच वर्ष पहले शुरू की थी। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी राज्य की पहली वितरण कंपनी है जिसने आधार नंबर का उपयोग हाजिरी लगाने के लिए किया है। आधार नंबर का उपयोग कर हाजिरी लगाने से उपभोक्ताओं को बेहतर सुविधाएं और सुधार की दिशा में यह कंपनी का गंभीर प्रयास माना गया है। मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी के कार्य क्षेत्र के छोटे-बड़े 218 शहरों के 426 से भी अधिक कार्यालयों में आधार आधारित हाजिरी लगाई जा रही है। इस बदलाव से विद्युत वितरण कंपनी के दफ्तरों में अधिकारी से लेकर कर्मचारी समय पर आफिस पहुंच रहे हैं, जिससे कार्य में बदलाव देखा जा रहा है। हाजिरी का सारा ब्यौरा ऑनलाइन दर्ज किया जा रहा है। हाजिरी के लिए बनाई गई वेबसाइट एवं मोबाइल एप पर हाजिरी का सारा ब्यौरा कभी-भी देखा जा सकता है। कंपनी ने आधार बेस्ड अटेंडेंस सिस्टम के तहत थम्ब इंप्रेशन डिवाइस और आईरिश मशीन लगाई है। कैसे काम करती है मशीन : कम्प्यूटर सिस्टम पर प्रत्येक कर्मचारी पहले अपना आधार नंबर टाइप करता है फिर उंगली या अंगूठा रखकर मशीन पर लगाता है, दो सेकंड के अंदर हाजिरी लगने का मेसेज़ कम्प्यूटर स्क्रीन पर दिखने लगता है। ऑंखो के रेटिना से हाजिरी : अटेंडेंस प्रणाली में सभी अधिकारियों और कर्मचारियों के आधार नंबर को सिस्टम में दर्ज किया गया है थम्ब मशीन से हथेली की दस उंगलियों में से किसी एक से भी हाजिरी लगाई जा सकती है। इसके अलावा ऑंखों के रेटिना से भी हाजिरी लगाने हेतु अलग से मशीन लगाई गई है।


कोरोना काल में सेल्फी से दर्ज हो रही है उपस्थिति

मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी द्वारा कोविड-19 के कारण उत्पन्न परिस्थितियों के दृष्टिगत कंपनी के अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा अपनी उपस्थिति दर्ज करने हेतु कंपनी में प्रचलित आधार आधारित बायोमेट्रिक उपस्थिति प्रणाली की वैकल्पिक व्यवस्था के रूप में सेल्फी आधारित उपस्थिति प्रणाली लागू की है। इस प्रणाली में उपस्थिति दर्ज करने हेतु कार्मिक को अपने कार्यालय में प्रवेश कर निर्धारित शिफ्ट/समय पर उपस्थित होकर अपने स्वयं के मोबाईल से कंपनी के ‘‘प्रयास एप’’ को खोलकर सेल्फी के माध्यम से उपस्थिति दर्ज करने की सुविधा दी गई है। इसके माध्यम से कार्मिकों की उपस्थिति अक्षांश एवं देशांतर (Longitude/Latitude) के आधार पर दर्ज हो रही है तथा कार्यालय छोडते समय भी समान प्रक्रिया का पालन कार्मिकों द्वारा किया जा रहा है।


जीवन प्रमाण - पत्र 28 फरवरी तक जमा होंगे


कर्मचारी भविष्य निधि से पेंशन प्राप्त करने वालों के लिए जीवन प्रमाण पत्र जमा करने की अवधि 28 फरवरी तक दी गई है। सहायक भविष्य  निधि आयुक्त भोपाल ने कर्मचारी भविष्य निधि संगठन, श्रम एवं रोजगार मंत्रालय, भारत सरकार, से पेंशन प्राप्त कर रहे सभी ईपीएस पेंशन धारकों कहा है कि कोविड-19 महामारी को ध्यान में रखते हुए जीवन प्रमाण-पत्र जमा करने की अंतिम तिथि 28 फरवरी 2021 तक कर दी गई है एवं इसकी वैधता जारी होने की तिथि से एक वर्ष कर दी गई है। जिन पेंशनरों को जनवरी, 2020 के पश्चात पीपीओ जारी किया गया है अथवा जिन्होंने दिसम्बर 2019 या उसके बाद जीवन प्रमाण पत्र बनवाया है, उन्हें संबंधित माह में अगले वर्ष डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र देना अनिवार्य होगा। जिन पेंशन धारकों को जीवन प्रमाण करवाने की आवश्याकता है, वे अपने बैंक शाखा या निकटतम जन सेवा केन्द्र या निकटतम डाकघर पर अपना डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र बनवा सकते है। डिजिटल जीवन प्रमाण-पत्र हेतु अपना मोबाईल, आधार कार्ड, पीपीओ संख्या एवं बैंक पासबुक अवश्य लेकर जाएं। डिजिटल जीवन प्रमाण सफल होने की स्थिति में किसी प्रकार का दस्तावेज कार्यालय में जमा कराना या प्रेषित करना अनिवार्य नहीं है।


समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी - 25 से पंजीयन होगा


समर्थन मूल्य पर गेहूं खरीदी के लिए 25 जनवर से 20 फरवरी तक किसान अपने पंजीयन करवा सकते है, जिला आपूर्ति नियंत्रक, भोपाल ने बताया कि जिले में रबी विपणन वर्ष 2021-22 में समर्थन मूल्य पर गेहूं क्रय किए जाने के लिए पंजीयन केन्द्रों पर 25 जनवरी से 20 फरवरी 2021 तक किसान पंजीयन एवं संशोधन का कार्य किया जाएगा। जिन किसानों द्वारा पूर्व वर्षों में गेहूं का पंजीयन कराया गया है उन्हें नवीन पंजीयन करवाने की आवश्यकता नहीं है। यदि विगत वर्ष के पंजीयन में आधार नम्बर, बैंक खाता नंबर, मोबाईल नम्बर में परिवर्तन कराना हो तो उस समय प्रमाणित दस्तावेज पंजीयन केन्द्र पर किसान द्वारा लाकर संशोधन करा सकते हैं।  खाद्य नियंत्रक ने बताया कि वनाधिकार पट्टाधारी एवं सिकमी किसानों को वनपट्टा तथा सिकमी अनुबंध की प्रति उपलब्ध कराना होगी। जिन किसानों द्वारा विगत रबी विपणन एवं खरीफ विपणन में पंजीयन नहीं कराया गया था एवं ई-उपार्जन पोर्टल पर उनका डाटाबेस उपलब्ध नहीं है, ऐसे किसानों को समिति स्तर पर पंजीयन के लिए आधार नम्बर, बैंक खाता नम्बर, मोबाईल नम्बर एवं निर्धारित प्रारूप में आवेदन पंजीयन केन्द्र पर उपलब्ध कराना होगा। गेहूं के पंजीयन का कार्य प्राथमिक कृषि सहकारी साख संस्थाओं के पंजीयन केन्द्र, गिरदावरी किसान एप, कियोस्क कॉमन सर्विस सेनटर/लोक सेवा केन्द्र पर गिरदावरी किसान एप से किया जाएगा। सिकमीदार एवं वनाधिकार पट्टेधारी किसानों का पंजीयन समिति स्तर पर स्थापित पंजीयन केन्द्र पर ही किया जाएगा। किसान पंजीयन भू-अभिलेख डाटाबेस आधारित किया जाएगा। भोपाल जिले में 31 पंजीयन केन्द्र बनाएं गए हैं। किसानों से अपील की गई है वे 20 फरवरी तक अपना पंजीयन /संशोधन अवश्य करें।


जिलों में स्थानीय स्तर पर रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण देगा राज्य ओपन बोर्ड: राज्य मंत्री श्री परमार


स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री इन्दर सिंह परमार ने कहा है कि राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड द्वारा पूरे प्रदेश के जिलों में व्यावसायिक आधारित शिक्षा और प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके लिए भारत सरकार के हैंडीक्राफ्ट एंड कार्पेट सेक्टर स्किल काउंसिल और मध्यप्रदेश राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड के बीच एमओयू साइन किया गया है। इसके तहत स्थानीय स्तर पर हस्तशिल्प, हैंडीक्राफ्ट, हैंडलूम, मेटैलवेयर, बुनकर, नक्काशी आदि का प्रशिक्षण दिया जाएगा। श्री परमार ने कहा कि इसमें विद्यालयीन छात्रों के साथ-साथ स्थानीय स्तर पर युवाओं को भी लाभ होगा। 'आत्मनिर्भर भारत' की दिशा में स्थानीय स्तर पर रोजगार और प्रशिक्षण उपलब्ध कराने का यह एक महत्वपूर्ण साधन होगा। नई शिक्षा नीति में कक्षा 6वीं से पाठ्यक्रम में व्यावसायिक शिक्षा को शामिल किया गया है। इस नीति के पालन में मध्यप्रदेश अग्रणी राज्य बनेगा।  इसके लिए प्रत्येक जिले से स्थानीय स्तर पर ही ट्रेनर का चयन कर उसे प्रशिक्षित किया जाएगा। यह ट्रेनर छात्रों और युवाओं को प्रशिक्षित करेंगे। उक्त प्रशिक्षण का प्रमाण-पत्र हैंडीक्राफ्ट एंड कार्पेट सेक्टर स्किल काउंसिल द्वारा दिया जाएगा जिसकी वैश्विक स्तर पर मान्यता रहेगी।  एमओयू साइन करने के दौरान निदेशक राज्य मुक्त स्कूल शिक्षा बोर्ड श्री प्रभात राज तिवारी और काउंसिल के सीईओ श्री कृष्ण कुमार उपस्थित थे।


पुलिस  जांच धीमी, मौत पर कब होगा खुलासा

  • - आबकारी की कार्रवाई के बाद नदी में मिला युवक का शव का मामला
  • - पुलिस जांच पर उठने लगे कई सवाल

सीहोर। जिले के शाहगंज में हुई आबकारी विभाग की कार्रवाई के दौरान कथित रूप से गई एक जान अब रहस्यमयी हो गई है। मामले मेे साक्ष्य जुटाने में जुटी पुलिस की धीमी गति जांच और आगकारी विभाग पर उठते सवाल मामले को ओर पेचीदा बना रहे है। जानकारी के अनुसार शाहगंज क्षेत्र में आबकारी विभाग द्वारा की गई कार्रवाई के दौरान एक व्यक्ति की नदी में डूबने से हुई मौत अब क्षेत्र में जारी चर्चाओं के आधार पर संदिग्ध नजर आने लगी है.... मामले में सबकुछ वैसा नही है जैसा की दिखाई पड़ रहा है चर्चाओं में बता या जा रहा है की जब आबकारी का अमला कार्रवाई करने गया तो वो अन्य लोगों को भी साथ ले गए जिन्हे अवैध शराब की बिक्री से नुकसान हो रहा था मगर वहां कुछ ऐसा हुआ की कुछ लोग अवैध शराब के साथ पकडे गए और कुछ के साथ मारपीट भी की गई वही ऐसे में एक युवक धक्का मुक्की के दौरान नदी में गिर गया और उसकी मौत हो गई युवक की अचानक मौत के बाद उसके परिजनों ने शाहगंज थाने आकर आरोप लगाया की यह हादसा नही बल्कि हत्या है तब भी पुलिस ने जानबूझकर मामले में कोई कदम नही उठाया बल्कि मामले में धीमी जांच के नाम पर रफा-दफा करने का प्रयास किया जाने लगा, न तो आबकारी के लोगों पर मामला दर्ज हुआ, न ही प्रत्यक्षदर्शी राजू को गवाह बनाया गया न ही उस व्यक्ति की खोजबीन की गई जो बिना अधिकृत आबकारी विभाग के साथ अवैध शराब पकडने गया था, मामले में मजेदार बात यह है की जो व्यक्ति गया था और इस समय सर्वाधिक चर्चा में है वो भी बड़ा शराब तस्कर है और उस पर कई थानों में अनेक मामले दर्ज है ऐसे अपराधी को क्यों ले जाया गया यह भी बड़ा सवाल है। इस मामले का रोचक पहलू देखिए महेश की मौत हो गई जबकि गोलू तैरकर नदी पर कर गया और प्रत्यक्ष दर्शी राजू के बयान ही न लेकर आबकारी टीम और उनके कथित साथी को क्लीनचिट दी जा रही है। सीएम ने आदेश दिए है कि माफिया का सफाया करो लेकिन हिम्मत देखिये अफसरों की सीएम के विधानसभा क्षेत्र में ही एक मौत को सिर्फ माफिया और लापरवाह अफसरों की बचाने के लिए हाईटेक युग में भी घटना स्थल पर कितने मोबाइल फोन एक्टिव थे जानबूझकर  पता नही लगाया जा रहा है। गौरतलब है कि मामले में चर्चा तो यहाँ तक है कि युवक की मौत के बाद आबकारी विभाग में हड़कम्प मचा हुआ है, और वो कथित तस्कर और खुद पर 302 का मामला दर्ज होने से बचने के लिए तरह-तरह के जतन कर रहा है ? अब देखना यह है कि मामले का खुलासा कब तक पुलिस करेगी,तब पता चलेगा कि मृतक के परिवार के आरोप सही है या ....।


इनका कहना है-

मामले में बारीकी से जांच जारी है, जांच हर बिंदु पर की जा रही है। : - समीर यादव, एएसपी सीहोर


मामले में मर्ग कायम कर जांच की जा रही है जो भी साक्ष्य सामने आएंगे कार्रवाई की जाएगी, जांच में तकनीकी विशेषज्ञों की मदद भी ली जा रही है, जो भी दोषी पाया जाएगा कार्रवाई करेंगे। - नरेन्द्र कुलस्ते, टीआई शाहगंज

कोई टिप्पणी नहीं: