सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 जनवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 13 जनवरी 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 13 जनवरी

पहले नेत्रों से फिर मंत्रों से अब सडय़ंत्रों से किया जा रहा पाप , श्रीमदभागवात कथा में हुआ श्रीकृष्ण और रूकमणी का विवाह


sehore news
सीहोर। विभिन्न युगों में पाप करने के तरीके भी भिन्न थे सतयुग में विचार से नेत्रों से पाप हो जाता था युग बदला तो मंत्रों से पाप होने लगा फिर यंत्र चलने लगे अब सडय़ंत्रों से पाप किया जा रहा है लेकिन परमात्मा सब देख रहा है परमात्मा की नजर से कोई नहीं बचेगा उक्त विचार बुधवार को श्रीरामकॉलोनी स्थित आरके पैलेस मैरिज गार्डन में चल रही श्रीमद भागवत कथा के दौरान श्रद्धालुओं को कंस वध की कथा श्रवण कराते हुए पंडित राजेश शुक्ला ने व्यक्त किए। कार्यक्रम में कंस वध के उपरांत श्रीकृष्ण रूकमणी विवाह का आयोजन किया गया। ढोल ढामाके के साथ श्रद्धालुओं के द्वारा भगवान श्रीकृष्ण  की बारात सजाई गई अतिशबाजी की गई। सखियों के द्वारा रूकमणी को दुल्हन बनाया गया। भगवान श्रीकृष्ण ने पंडाल में आते ही रूकमणी का हरण कर लिया। पंडित राजेश शुक्ला के सानिध्य में ब्राहम्मणों के द्वारा श्रीकृष्ण रूकमणी विवाह कराया गया। वरमाला होते हीं भगवान के पेर पूजने की परंपरा निभाई गई।  विवाह के समय संगीतमय भजनों से श्रद्धालुगण थिरकते रहे। पंडित श्री शुक्ला ने कहा की भगवान ने राष्ट्र की रक्षा के लिए महाभारत को रोकने का प्रयास किया। उन्होने कहा की वे माता धान्य है जिन्होने देश की रक्षा  के लिए बेटों सीमा पर भेजा है। कथा सुनने पहुंचे पूर्व विधायक रमेश सक्सेना ने पंडित राजेश शुक्ला का शॉल श्री फल भेंटकर सम्मान किया। मुख्य यजमान चुन्नीलाल परमार अनिल श्रीवास्तव  राजेंद्र वर्मा ने श्रीमद भागवात गीता और देवी देवताओं का पूजन किया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रद्धालु कथा श्रवण करने पहुंच रहे है।  


नपाध्यक्ष ने किया डॉ अम्बेडकर पार्क में सौदर्यकरण कार्य का भूमि पूजन, आरसीसी मंच एवं सभा स्थल का होगा निर्माण

sehore news
सीहेार। अनुसुचित  बहूल वार्ड क्रमांक 11 के डॉ  अम्बेडकर  पार्क में नागरिकों  की सुविधाओ को  ध्यान में रखते  हुए  नगर पालिका  अध्यक्ष अमिता जसपाल अरोरा के द्वारा  क्षेत्रीय  पार्षद की मांग अनुसार पार्क में बुधवार को सौदर्यकारण  कार्य को  देखते हुए  आरसीसी मंच एवं सभा स्थल निर्माण का भुमि पूजन किया। इस अवसर पर जाटव समाज अध्यक्ष  श्यामलाल महोबिया  ने बताया  की डॉ  अम्बेडकर पार्क  में  अनेकों  सामाजिक धार्मिक एवं  राजनैतिक  कार्यक्रम होते है। इस  कारण  बार  बार टेंट हाउस से सामान बुलबाकर  मंच  एवं  सभा  स्थल के लिए  टेंट की व्यवस्था  करनी पड़ती थी इस  कारण  आयोजकों का  काफी रूपये पैसा  खर्च  होता  था  लेकिन नपाध्यक्ष अमिता अरोरा  द्वारा  उक्त निर्माण  कार्य  का भूमि पूजन किए  जाने पर वार्ड के  नागरिकों में  हर्ष उल्लाष  का महौल है।  क्षेत्र की गरीब जनता अब पार्क में  कम खर्च  पर कार्यक्रम आयोजित कर सकेंगे। इस मौके पर अशोक  चौहान राहुल जाटव, चैन सिंह, गुमान सिंह जाटव, श्रवण फारेला, शोभाराम अहिरवार, पन्नालाल खंगराले,घनश्याम जाटव, देवकरण गबाटिया, कमल सिंह सूर्यवंशी, सकुन बाई जाटव, करण सोनी, आशा परमार, बैनी प्रासाद आदि नागरिक उपस्थित  रहे। 

कथा वाचक गुरुदेव अजय पुरोहित एवं विधायक को ब्राह्मण संसार संगठन का वार्षिक कैलेण्डर किया भेट

sehore news
सीहोर। ब्राह्मण संसार संगठन की राष्ट्रीय सचिव  विजयलक्ष्मी गणेश उपाध्याय और राष्ट्रीय प्रवक्ता उमा हरि पालीवाल ने विधायक सुदेश राय के निज निवास स्थान पर सात दिवसीय हो रही भागवत कथा मंच पर पहुंचकर अजय पुरोहित को एवं विधायक सुदेश राय व  अरुणा राय को ब्राह्मण संसार का वार्षिक कैलेंडर भेंट किया। साथ ही पदाधिकारी सरोज पालीवाल, प्रदेश महामंत्री विजेता जोशी, प्रदेश उपाध्यक्ष  विवाह शुक्ला, सांस्कृतिक राष्ट्रीय सचिव अल्पना कौशिक, राष्ट्रीय सचिव युवा प्रकोष्ठ आकांक्षा विदुआ, प्रदेश अध्यक्ष अंजू भार्गव,  अनीता शर्मा, राष्ट्रीय सचिव  विजयलक्ष्मी, गणेश उपाध्याय ने बताया कि ब्राह्मण संसार संगठन मध्य प्रदेश द्वारा अभिनंदन एवं वार्षिक कैलेंडर विमोचन 10 जनवरी 2021 को हुआ। संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित डॉ राम जी शुक्ला, प्रदेश अध्यक्ष पंडित रामचंद्र दुबे, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित धर्मेंद्र मिश्रा, प्रदेश महामंत्री पंडित बृजेश शुक्ला, युवा प्रदेश अध्यक्ष पंडित दीपक शर्मा, इंदौर महानगर अध्यक्ष धीरज शुक्ला, संजय जोशी हरदा, जिला अध्यक्ष दीप उपाध्याय विशेष रुप से उपस्थित रहे।

बेखौफ घूम रहे है जानलेवा हमले के आरोपी, बैजनाथ से एसपी कार्यालय पहुंचे फरियादी

sehore news
सीहोर। प्राणघातक हमलावर बेखौफ घूम रहे है। एसपी कार्यालय पहुंचे फरियादियों ने एसपी को शिकायती पत्र दिया है। फरियादियों ने आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग की है। मामला ग्राम बैजनाथ तहसील आष्टा थाना जावर का है। फरियादी शंकर लाल पुत्र प्रताप सिंह,मनोहर मिला अम्बाराम और दीपक पिता अमरसिंह ने एसपी को दिए शिकायती पत्र में कहा की समीर पिता हकीम खा, नुसेद  पिता शरीफ खां, सौहेल पिता वकील खां ने 31 दिसंबर को धारदार हथियारों से   प्राणघातक हमला कर दिया। परिजनों ने मौके पर सौ नम्बर पुलिस को बुलाया। पुलिस ने आष्टा  अस्पताल में भर्ती किया। आष्टा अस्पताल से गंभीर अवस्था में शंकर लाल और मनोहर को सीहोर जिला अस्पताल रिफर किया। फरियादियों ने जावर थाना में रिपोर्ट दर्ज कराई है। आरोपियों के द्वारा फरियादियों को जान से माने की धमकी दी जा रहीं है। फरियादियों ने पीपालरावा के आरोपियों पर धारा 307 लगाकर गिरफतार करने की मांग की है।  

बच्चों के खिले चेहरे, गर्म कपड़े पहनकर मनाएंगे संक्रांति, गांवों की बालमिकी बस्तियों में पहुंची इंदिरा की टीम    

sehore news

सीहोर। शहरी क्षेत्रों के गरीब बच्चों को अकसर उपहार मिलते हीं रहते है लेकिन गांवों की गरीब बालमिकी बस्तियों तक समाजसेवी कम हीं पहुंचते है यहीं करण है की ग्रामीण बच्चे गर्म कपडों के अभाव में ठंड सहते रहते है। एैसे में समाजसेवी इंदिरा भील के नेतृत्व में स्वयंसेवी कार्यकर्ताओं के द्वारा बुधवार को  ग्राम शाहपुरा कोडिय़ा, संग्रामपुर, महोडिय़ा सहित अन्य गांवों में स्थित बालमिकी बस्तियों में बच्चों को मकर संका्रति पर्व के पूर्व गर्म कपड़ों उनी स्वटर जरकीन, मखलर, शॉल हाथ पेरों के मौजे, गर्म टोपे आदि का वितरण किया गया। पकड़े वितरण के दौरान बच्चों को तिल्ली के लडडृ भी दिए गए। सेवाकार्य में भगवती बाई, कृष्णा  बाई,  बाबूलाल,  रानी बाई,  उषा  बाई,  राधा  बाई, रावती बाई, फूलकुवंर बाई, प्रेमलता बाई आदि शामिल रहे।

मकरसंक्रांति पर पतंग उत्सव को स्वयं पतंग उड़ाकर प्रोत्साहित करेंगे राकेश राय

sehore news
सीहोर। प्रमुख त्योहारों में शुमार मकर संक्रांति का पर्व प्रत्येक वर्ष जनवरी माह में मनाया जाता है। यूं तो अन्य त्योहारों की भांति मकर संक्रांति के अवसर पर भी कुछ परंपराओं का पालन किया जाता है। लेकिन इन परंपराओं और मान्यताओं के बीच एक चीज जो पूरे त्योहार में आकर्षण का केन्द्र बनकर सामने आती है, वह है पतंग उड़ाना। मकर संक्रांति के मौके पर न सिर्फ हर उम्र के लोग पूरे जोश और मस्ती से पतंग उड़ाते हैं, इस साल पूर्व नपाध्यक्ष राकेश राय मकरसंक्रांति के दिन चर्च मैदान पर स्वयं पतंग उड़ा कर लोगो को प्रोत्साहित करेंगे, कई जगहों पर तो पतंगोत्सव का एक भव्य आयोजन भी किया जाता है या फिर कई तरह की प्रतियोगिताएं भी आयोजित की जाती हैं। जिसमें पतंगबाज शामिल होते हैं और अपने दांव−पेचों से अपना ही नहीं दूसरों का भी मनोरंजन करते हैं। मकर संक्रांति के पर्व पर पतंग उड़ाना सेहत के लिए विशेष रूप से लाभदायी माना गया है। हालांकि पतंग उड़ाने के पीछे कई महत्व है लेकिन फिर भी सेहत को देखते हुए इस दिन पतंग उड़ाना अच्छा माना जाता है। अमूमन सर्दी के मौसम में लोग अपने घरों में कम्बल में रहना पसंद करते हैं लेकिन उत्तरायण के दिन अगर कुछ देर धूप के संपर्क में रहा जाए तो इससे शरीर के कई रोग स्वतः ही नष्ट हो जाते हैं। वैज्ञानिक तथ्यों के अनुसार, उत्तरायण में सूर्य की गर्मी शीत के प्रकोप व शीत के कारण होने वाले रोगों को समाप्त करने की क्षमता रखती है। ऐसे में घर की छतों पर जब लोग पतंग उड़ाते हैं तो सूरज की किरणें एक औषधि की तरह काम करती हैं। शायद इसलिए मकर संक्रांति के दिन को पतंग उड़ाने का दिन भी कहा जाता है। मकर सक्रांति के पर्व को बेहद पुण्य पर्व माना जाता है। कहा जाता है कि इस पर्व से ही शुभ कार्यों की शुरूआत होती है क्योंकि मकर संक्रांति के दिन से ही सूर्य उत्तर की ओर गमन करने लगता है। ऐसे में शुभता की शुरूआत का जश्न मनाने के लिए पतंग का सहारा लिया जाता है। वैसे भी पतंग को शुभता, आजादी व खुशी का प्रतीक माना जाता है, इसलिए स्वतंत्रता दिवस पर भी पतंगें उड़ाई जाती हैं। ठीक इसी तरह, घर में शुभता के आगमन की खुशी में मकर संक्रांति पर पतंग उड़ाने की प्रथा है। यूं तो पतंगें अपने साथ खुशी का माहौल लेकर आती हैं, लेकिन अगर कुछ बातों का ध्यान न रखा जाना चाहिए। मकर संक्रांति के दिन पतंग उड़ाते समय इन बातों का विशेष रूप से ख्याल रखें। सबसे पहले तो पतंग उड़ाते समय किसी सुरक्षित स्थान का ही चयन करें। अगर आप छत पर पतंग उड़ा रहे हैं तो मुंडेर का ध्यान रखें। चाइना के मांझे का प्रयोग न करें और न ही मांझा की धार को तेज करने के लिए बल्ब का चूरा व सरस आदि का प्रयोग करें। यह जानलेवा हो सकता है। पतंग उड़ाने से पहले सनस्क्रीन व गॉगल्स का प्रयोग करें। सूरज की सीधी किरणों का आंखों या त्वचा पर पड़ना हानिकारक हो सकता है। बहुत तेज धूप में पतंग उड़ाने से परहेज करें। पतंग की डोर से अंगुली को नुकसान न पहुंचे, इसके लिए पतंग उड़ाते समय हाथों में दस्ताने पहनें। पतंग उड़ाते समय अगर वह फट जाए तो उसे तुरंत कूड़े में फेंके।

रेलवे स्टेशन सीहेार पर हो सभी ट्रेनों का स्टापेज, यात्रियों की दी जाए एक्लास स्टेशन जैसे सुविधा, मानव अधिकार मंच ने डीआरएम को दिया ज्ञापन

sehore news
सीहोर। रेलवे स्टेशन सीहेार से गुजरने वाली सभी ट्रेनों का स्टापेज किए जाने और स्टेशन से यात्रा शुरू करने वाले जिले के सभी यात्रियों को एक्लास स्टेशन जैसे सुविधा उपलब्ध कराने को लेकर मानव अधिकार मंच ने डीआरएम रतलाम को ज्ञापन दिया है। राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच प्रदेश अध्यक्ष नौशाद खान राजीव गांधी युवा मंच के अध्यक्ष कुतुबुद्दीन शेख ने ज्ञापन में कहा की स्टेशन पर  सभी गाडय़िों को रोकने जाए सीहेार स्टेशन से रतलाम मंडल सौतेला व्यवहार नहीं करें,यहां से गुजरने वाली गाडिय़ों का स्टॉपेज जनहित में दिया जाए। यात्रियों  का भोपाल इंदौर जैसी विधाएं  दी जाए और मालगाय़िों में माल लोड़ करने वाले व्यापारियों को भी शुल्क मेें राहत दी जाए। मंडल अपना रवैया नही ंसुधारता है तो जनता के  साथ  उग्र आंदोलन करने के लिए भी राष्ट्रीय मानव अधिकार मंच, राजीव गांधी युवा मंच के कार्यकर्ता तैयार है। ज्ञापन की प्रति क्षेत्र के विधायक सुदेश राय को भी दी गई है मां्रग करने वालों में शरद मोदी, किशनलाल मनवा, सैयद आफताब अली, मौलाना खान, धन्ना राय, महमूद अली सहित नागरिकगण  श्साामिल है। 

दहेज में तीन लाख रूपये नहीे देने पर पति ने पत्नि को तीन बार तलाक बोलकर बच्चे के साथ घर से निकाला
मुस्लिम समाजसेवी बोले तोड़ दिए जाए तीन तलाक देने वालों के मकान कोतवाली पुलिस ने मुस्लिम महिला विवाह अधिकार संरक्षण के अधिनियम के तहत दर्ज किया मामला
sehore news
सीहोर। दहेज में टेक्सी ले चुके पति ने पत्नि से तीन लाख रूपये पिता से लाने के लिए कहा। पत्नि ने पिता की गरीबी का हवाला देकर इतनी बड़ी राशि लाने से इंकार कर दिया। पति को पत्नि का इंकार सहन नहीं हुआ और पत्नि के साथ जमकर मारपीट कर दी। पति ने तीन बार तलाक बोलकर पत्नि को घर से निकाल दिया। परिजनों ने सुलाह करने की कोशिश की लेकिन नतीजा सिफर हीं रहा। हद तो तब हो गई जब पति ने एक शादीशुदा महिला से निकाह कर लिया। कोतवाली थाना पुलिस ने रानी मोहल्ला गंज सीहेार निवासी इशरत जहां पिता इस्माईल अली की शिकायत पर रानी मोहल्ला गंज निवासी वसीम अली पिता मकसूद के खिलाफ दहेज एक्ट 498 एवं मुस्लिम महिला विवाह अधिकार अधिनियम 2019 के तहत मामला दर्ज किया है। मामले में वसीम के पिता मकसूद, माता रूकसाना, और बडे भाई मसरूर अली को भी सह आरोपी बनाया गया  है।   अपने पिता के साथ कोतवाली पहुंची इशरत ने पुलिस को बताया की तीन वर्ष पूर्व निकाह हुआ था तभी से ससूराल वाले दहेज कम देने और नहीं देने को लेकर परेशान कर रहे थे। पति वसीम के द्वारा कई बार मारपीट की गई। जबकी अब्बू ने वसीम को रोजगार के लिए टैक्सी खरीद कर दी थी इस  के बाद भी तीन लाख रूपये की मांग की जा रही थी इतनी राशि देने में अब्बू असमर्थ थे। परिजनों ने कई बार समझाया लेकिन वसीम ने भोपाल निवासी किसी इरफान की शादीशुदा महिला से चोरी छुपे निकाह कर लिया और तीन बार तलाकर बोलकर घर से तीन वर्ष के बेटे के साथ निकाल दिया। पीडि़ता इशरत ने जिला प्रशासन ने धोकेबाज वसीम पर सख्त कार्रवाहीं करने की मांग की है। इधर इस मामले में वरिष्ठ समाजसेवी महफूज बंटी और शमीम अहमद ने कहा की तीन देकर मुस्लिम युवतियों को जिंदगीभर परेशान रहने के लिए छोड़ दिया जाता है समाज में दहेज प्रथा ने भी बेटियों की जिदंगी खराब कर दी है। तीन तलाक देने वाले गुनाहगारों पर सख्त कार्रवाही की जरूरत है। मुस्लिम महिला विवाह अधिकार अधिनियम 2019 लगने के बाद भी आरोपियों को अदालत से सरलता से जमानत मिल रहीं है। समाजसेवी बंटी ने कहा  की भु माफियों की तरह तीन तलाक देने वालों के भी मकान प्रशासन को तोड़ देना चाहिए। फिलहाल पुलिस के द्वारा मामले में जांंच की जा रहीं है। आरोपियों को शीघ्र गिरफ्तार कर न्यायालय में पुलिस के द्वारा हाजिर किया जाएगा। 

अपहरणकर्ता के चुंगल में फंसी नाबालिक बेटी, मदद के लिए जहां तहां भटक रहे माता पिता, कलेक्टर एसपी से लगाई है मदद की गुहार

sehore news
सीहोर। जिले के दोराहा थाना क्षेत्र के ग्राम अमरोद से नाबालिक बालिका का अपहरण कर लिया गया है। अपहरण की घटना को तीस दिन हो चुके है। परिजना रिश्तेदारों सहित सभी संभावित स्थानों पर खोज चुके है। थाना दोराहा  में रिपोर्ट भी दर्ज कराई है। अबतक नाबालिक बालिका का  कोई सुराग नहीं लगा है। जबकी पीडि़त पिता ने एक व्यक्ति पर शंका जाहिर करते हुए नामजद रिपोर्छ की है लेकिन पुलिस अपहरकर्ता को तलाशने में रूची नहीं दिखा रहीं है। पडि़त परिजन मंगलवार को कलेक्ट्रेट जनसुनवाई में भी पहुंचे एसपी कार्यालय में भी दस्तक दी। पीडि़त पिता  लखन मेेवाड़ा ने बताया की  बेटी 15 वर्ष 2 माह की है वह कक्षा 10 की छात्रा है। बीेते माह ।। दिसंबर को करीब 9 बजे रात को ड्यूटी से घर पहुंचा तो बडी बेटी ने बताया कि रचना (बदला हुआ नाम) आधे घण्टे से घर पर नहीं है। कई स्थानों पर तलाशा वहनहीं मिली पडोसी अशोक मवाड़ा का हाली दिवेक धाकड भी लापता पाया गया। विवेक धाकड मेरी बेटी को बहला फुसलाकर अपहरण कर ले गया है। पीडि़त माता पिता ने बेटी को तलाश ने और अपहरणकर्ता विवेक पर सख्त कार्रवाहीं करने की मांग करते हुए मदद की गुहार लगाई है।  

सीहोर पहुंची कोविड-19 वैक्सीन, कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक ने किया जिला वैक्सीन स्टोर का सघन निरीक्षण,

sehore news
जिले में कोविड-19 वैक्सीन पहुंची, दोपहर करीब 1.40 मिनट पर कोविड वैकसीन लेकर वाहन कडी सुरक्षा के बीच सीहोर पहुंची। वैक्सीन को कडी सुरक्षा के बीच जिला वैक्सीन स्टोर में रखा गया है। कोविड-19 वैक्सीन के पहुंचते ही कलेक्टर श्री अजय गुप्ता, पुलिस अधीक्षक श्री एस.एस.चैहान, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री समीर यादव जिला वैक्सीन स्टोर पहुंचे जहां उन्हें मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ,सिविल सर्जन डॉ.आनंद शर्मा तथा जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ.एम.चंदेल एवं जिला कोविड प्रभारी डॉ.जेडी कोरी द्वारा वैक्सीन स्टोर का सघन निरीक्षण कराया गया कलेक्टर ने वैक्सीन स्टोर का सघन निरीक्षण कर सुरक्षा से संबंधित जरूरी निर्दश दिए। सीहोर के लिए भोपाल से कोविड वैक्सीन के 2 बक्सों में 8300 डोज प्राप्त हुए है। जिले मे 16 जनवरी 2021 से स्वास्थ्य विभाग के 6980 अधिकारी कर्मचारियों को कोविड वैक्सीन लगाई जानी है।

जिला स्तरीय रोजगार मेला का आयोजन अब 20 जनवरी 2021 को शासकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज भोपाल नाका सीहोर में

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह द्वारा कलेकटर/कमिश्नर वीडियो कॉन्फ्रेस में जिला स्तरीय रोजगार मेला आयोजित करने के निर्देशानुसार 20 जनवरी 2021 बुधवार को शासकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज भोपाल नाका सीहोर में प्रात: 10 बजे से 5 बजे जिला स्तरीय रोजगार मेला का आयोजन किया जायेगा। जिसमें वर्धमान फेब्रिक्स बुदनी, ट्राइडेण्ट कम्पनी बुदनी, सेल मेन्यूफेक्चिरिंग लिमिटेड जावर, नवकिसान बायो प्लांटेक भोपाल, एच.डी.एफ.सी. लाईफ सीहोर, चेकमेट सिक्योरिटी सर्विसेज भोपाल, आदित्य इवेंट भोपाल, शिवशक्ति बायो प्लांटेक भोपाल, सेनापति सिक्योरिटी सर्विसेस सीहोर, भारतीय जीवन बीमा निगम सीहोर, एस.बी.आई. लाईफ सीहोर, अंश सेवा समिति बैतूल, आईएमसी हर्बल लुधियाना, एक्वाधन इन्दौर, एजूकेटेड टेक्नॉलोजी साफटवेयर इंस्टिटयूट सीहोर, नवभारत फर्टीलाइजर भोपाल के प्रतिनिधि द्वारा साक्षात्कार लिया जाकर मशीन ऑपरेटर, सेल्स एक्जिक्यूटिव, सिक्योजिटी गार्ड, मनमेन, सिक्योरिटी सुपरवाइजर, ट्रेनी, कम्प्यूटर ऑपरेटर, मार्केटिंग, फाइनेंस एडवाइज, लोखापाल, काउंसलर, टेक्निशियन, इलेक्ट्रिकल्स, टेली, सेल्स मेनेजर, एडवाइज, डेवलेपमेंट मेनेजर, इन्टीपेंडेंट बिजनेस कसंलटेंअ, हयूमन रिसोर्स, कुशल/अर्द्धकुशल  श्रमिक पदों पर भर्ती की जायेगी/ आवेदक www.mprojgar.gov.in पर अपना पंजीयन कर समस्त प्रमाण-पत्रों सहित प्रात: 10 बजे शासकीय महिला पॉलिटेक्निक कॉलेज सीहोर में आयें ।

टीबी हारेगा,देश जीतेगा अभियान के अंतर्गत निकली जनजागरूकता रैली
जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी तथा प्राचार्य उत्कृष्ट विद्या.ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया
sehore news
सीहोर। टी.बी.हारेगा, देश जीतेगा अभियान के अंतर्गत शास.उत्कृष्ट उच्च माध्य. विद्यालय की एनएसएस विंग द्वारा जनजागरूकता रैली निकाली गई। रैली को जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ.जे.डी.कोरी तथा उत्कृष्ट उच्च.माध्य.विद्यालय के प्राचार्य श्री रवीन्द कुमार बांगरे ने हरी झंडी दिखाकर रवाना किया। इस अवसर पर जिला क्षय नियंत्रण अधिकारी डॉ.कोरी ने कहा- 2025 तक देश को टीबी मुक्त किया जाना है इसके लिए विशेष अभियान संचालित किया जा रहा है। दो सप्ताह से अंधिक समय तक की खांसी टीबी हो सकती है। अधिकतर शाम के समय बुखार आना, रात में पसीना आना, भूख न लगना, बलगम में खून आना टीबी के प्रमुख लक्षण है। टीबी के नियमित हितग्राहियों को 500 रूपए प्रतिमाह दिए जाते हैं। रैली द्वारा प्रमुख मार्गों का भ्रमण कर टीबी जागरूकता संबंधी नारे लगाए गए। इस अवसर पर एनएसएस प्रभारी श्री देवेन्द्र कुमार राय, मीडिया प्रभारी श्री शैलेस कुमार, टीबी कार्यालय से श्री असद कुमार, एसटीएस श्री प्रदीप भावसार, श्री महेन्द्र सिंह, ठाकुर, विद्यालय के शिक्षक श्री अशेक राठौर, श्री एससी जैन,श्री दुष्यंत कुमार छोकर सहित बडी संख्या में एनएसएस के छात्र उपस्थित थे। 

अवैध मदिरा के विरूद्ध चलाया जा रहा है विशेष अभियान

म.प्र. आबकारी आयुक्‍त के अवैध मदिरा के विरूद्ध विशेष अभियान चलाए जाने के निर्देश के अनुक्रम में तथा अन्‍य स्‍थानों में अवैध मदिरा से हुई जनहानियों को देखते हुए कलेक्‍टर श्री अजय गुप्‍ता निर्देशानुसार जिला आबकारी अधिकारी श्रीमती किर्ति दुबे के निर्देशन में जिला सीहोर के विभिन्न स्थानों में 13 जनवरी को अवैध मदिरा के विरूद्ध म.प्र. आबकारी अधिनियम 1915 की विभन्‍न धाराओं के  अंतर्गत 06 प्रकरण कायम कर 06 व्‍यक्तियों को गिरफतार किया गया/ इस प्रकरणें में 40 लीटर हाथ भट्टी कच्‍ची मदिरा, 75 किग्रा महुआ लाहन, 1.5 ब.ली. विदेशी मदिरा तथा 0.36 बल्क लीटर देशी मदिरा को जप्‍त किया गया। इस कार्यवाही में सहायक जिला आबकारी अधिकारी श्री अमिताभ जैन, आबकारी उपनिरीक्षक श्री प्रहलाद सिंह मीना व सुश्री शारदा करोलिया, मुख्‍य आबकारी आरक्षक तथा आबकारी आरक्षक का सराहनीय योगदान रहा।

06 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 75 है

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 06 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के जिला चिकित्सालय चौराहा, किशकारपुर, पीली मस्जिद क्षेत्र, पुलिस लाईन सीहोर के 04 व्यक्ति, श्यामपुर के बिछिया (दौराहा) निवासी 01, एवं इछावर के सेमली जदीदर निवासी 01  व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त हुई हे । जिले में एक्टिव/संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 75 है। कुल 07 व्यक्तियों को डिस्चार्ज किया गया है कुल रिकवर की संख्या 2634 है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 411 सैम्पल लिए गए है । सीहोर शहरी क्षेत्र से 20 सैम्पल लिए गए, नसरूल्लागंज 117, आष्टा से 39, इछावर से 85, श्यामपुर से 107,  बुदनी से 43 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2757 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2834 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 75 है। आज 411 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 61702 हैं जिनमें से 57883  सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 325 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 991 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-7247704181 है कोविड-19 से संबंधित जानकारी इस संपर्क नंबर पर ली व दी जा सकती है। वहीं जिला चिकित्सालय सीहोर में टेलीमेडिसीन के लिए संपर्क नंबर 07562-401259 जारी किया गया है तथा राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। ई-संजीवनी ओपीडी सेवा हेतु  www.esanjeevaniopd.in  पंजीयन कराया जा सकता है। कलेक्टेट कार्यालय में भी जिला स्तरीय काल सेंटर बनाया गया है जिसका संपर्क नंबर 07562-226470 है तथा होम क्वारंटाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है जिस पर संस्थागत क्वारंटाइन अथवा होम क्वारंटाइन व्यक्ति या उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकोलाजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से निःशुल्क प्राप्त कर सकते है ।

उद्योगों से जो "कमिटमेंट" किये है उन्हें पूरा किया जाएगा
उद्योगों का संवर्धन एवं अधिक से अधिक रोजगार सृजन हमारी नीति मुख्यमंत्री श्री चौहान ने उद्योग प्रोत्साहन समिति की बैठक ली
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह कहा है कि प्रदेश में उद्योगों का संवर्धन तथा उनके माध्यम से अधिक से अधिक रोजगार सृजन हमारी नीति है। प्रदेश में उद्योगों को सभी आवश्यक सुविधाएं एवं रियायतें दी जा रही हैं। प्रदेश में उद्योग स्थापना के समय उद्योगों से जो "कमिटमेंट" किए गए थे उन्हें पूरा किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में उद्योग प्रोत्साहन समिति की बैठक ले रहे थे। बैठक में औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन मंत्री श्री राजवर्धन सिंह दत्तीगांव, सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम मंत्री श्री ओमप्रकाश सकलेचा, वाणिज्यकर मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री प्रभुराम चौधरी, ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर,  मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस सहित अन्य संबंधित अधिकारी उपस्थित थे।

उद्योगों को विभिन्न प्रोत्साहन
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में उद्योगों को सरकार द्वारा निवेश प्रोत्साहन सहायता, रियायती दर पर भूमि, विद्युत दर में छूट, अधोसंरचना सुविधा आदि उपलब्ध कराये जाते हैं।

खाद्य प्रसंस्करण उद्योगों को प्राथमिकता
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में खाद्य प्रसंस्करण तथा प्रदेश में मिलने वाले कच्चे माल की प्रोसेसिंग करने वाले उद्योगों को प्राथमिकता दी जा रही है।

रेडीमेड गारमेंट से अधिक रोजगार
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में रेडीमेड गारमेंट उद्योग से अधिक रोजगार के अवसर सृजित होने की संभावना है। अतरू इन उद्योगों को भी बढ़ावा दिया जा रहा है।  

अशासकीय विद्यालयों की मान्यता नवीनीकरण आवेदन की अंतिम तिथि अब 31 मार्च 2021

स्कूल शिक्षा विभाग ने अशासकीय विद्यालयों की मान्यता नवीनीकरण का आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 मार्च 2021 कर दी है। माध्यमिक शिक्षा मंडल से संबद्ध समस्त अशासकीय विद्यालय आगामी 31 मार्च तक मान्यता नवीनीकरण का ऑनलाइन आवेदन कर सकेंगे। मान्यता नवीनीकरण शुल्क एक मुश्त या तीन किश्तों में जमा किया जा सकेगा। राज्य शासन ने कोविड-19 संक्रमण और छात्रहित को दृष्टिगत रखते हुए यह निर्णय लिया है। इसके तहत मध्यप्रदेश माध्यमिक एवं उच्चतर माध्यमिक शालाओं की मान्यता नियम, 2017 के अनुसार प्रचलित प्रक्रिया से छूट प्रदान करते हुए मान्यता नवीनीकरण को 31 मार्च 2022 तक की समयावधि के लिए मान्य किया गया है। इसके पूर्व ऑनलाइन आवेदन अपलोड करने की अंतिम तिथि 31 दिसंबर 2020 निर्धारित की गई थी जिसे बढ़ाकर 31 मार्च 2021 किया गया है।  जिन अशासकीय विद्यालयों ने पूर्व के निर्देशों के अनुसार सशुल्क आवेदन किए थे और उनकी मान्यता नवीनीकृत की जा चुकी है, उसे यथावत मान्य किया गया है। जो अशासकीय विद्यालयों निर्धारित आवेदन एवं शुल्क जमा कर चुके हैं किंतु उनकी मान्यता का नवीनीकरण नहीं हुआ है, उन्हें पुनः शुल्क जमा करने की आवश्यकता नहीं होगी।

भामाशाह योजना पुन: प्रारंभ कर ईमानदार करदाताओं को किया जाएगा पुरस्कृत

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में ईमानदार करदाताओं को प्रोत्साहित करने के लिए भामाशाह योजना के अंतर्गत नये वित्त वर्ष में पुरस्कार प्रदान किये जाएगें। कर अपवंचन पर अंकुश लगाने की प्रभावी कार्यवाही की जाये। इसके लिए केन्द्र और राज्य के जीएसटी अधिकारी संयुक्त प्रयास करें। राजस्व बढ़ाने की कार्यवाही इस तरह की जाए कि जनता को इससे कोई परेशानी न हो। मुख्यमंत्री श्री चौहान मंत्रालय में  वन नेशन वन टैक्स "एक भारत सशक्त भारत" बैठक को संबोधित कर रहे थे। बैठक में बताया गया कि इस वित्त वर्ष डेटा एनालिसिस के माध्यम से 492 करोड़ के कर अपवंचन का पता लगाया गया जिससे प्रवर्तन की कार्यवाही कर 203 करोड़ शासकीय कोष में जमा कराये जा चुके हैं। कुल 1332 वाहनों पर भी कर अपवंचन की दण्डात्मक कार्यवाही हुई है। इस वित्त वर्ष में 300 करोड़ से अधिक की राशि प्रवर्तन के माध्यम से प्राप्त होंगी। एनआईसीके ई-वे बिल पोर्टल डेटा और अन्य सूचना प्रौद्योगिकी माध्यमों से एनालिसिस कर अपवंचन का पता लगया जा रहा हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राजस्व संग्रहण के प्रयासों में केंद्र और राज्य सरकार के संबंधित विभाग समन्वय पूर्वक  कार्य करेंगे तो संग्रहण भी बढ़ेगा और लोक कल्याण के कार्यों को भी बेहतर ढंग से  अंजाम दिया जा सकेगा। यह राष्ट्रीय कार्य है। इसमें पूरे तालमेल और परिश्रम से अच्छा परिणाम लाने के प्रयास करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने  केंद्र और राज्य सरकार के विभागों द्वारा कर संग्रहण के लिए किये गये कार्य की समीक्षा  भी की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि इस तरह की बैठक पहली बार आयोजित की गई है। अब यह बैठक नियमित रूप से हुआ करेगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जीएसटी संग्रहण में राज्य की उपलब्धियों की प्रधानमंत्री श्री मोदी ने भी प्रशंसा की। प्रदेश की जीएसटी संग्रहण में अनेक राज्यों से अच्छी स्थिति है। कोरोना संकंट के बावजूद राजस्व संग्रहण में 4 हजार करोड़ की वृद्धि हुई। विभिन्न विभागों ने इसके लिये काफी प्रयास भी किये। यह उदाहरण है कि आपदा में भी अवसर का उपयोग कर उपलब्धि हासिल की जा सकती हैं। इस उपलब्धि को कायम रखने के लिए निरंतर प्रयास हों। लोक कल्याण के कार्यों को गति मिलती रहे। उन्होंने कहा कि वाणिज्यिक कर अधिकारी आपसी तालमेल से बेहतर कार्य करें। छोटे करदाता को परेशान न होना पड़े। अन्य राज्यों की बेस्ट प्रेक्टिसेस भी अपनायी जाएं। भामाशाह योजना पुनः प्रारंभ कर नए वित्त वर्ष में ईमानदार करदाताओं को प्रोत्साहित करेंगे यह वित्त वर्ष समाप्त होने के बाद ऐसे करदाताओं का चयन किया जाए ताकि उन्हें पुरस्कृत किया जा सके। राजस्व बढ़ाने के लिए प्रभावी कार्यवाही की जाए लेकिन यह भी देखा जाए कि इसके लिए करदाताओं को अनावश्यक तकलीफ न हो। कर अपवंचन करने वालों के विरुद्ध प्रचलित प्रवर्तन की कार्रवाई भी जल्दी पूरी की जाए ताकि सरकार को अधिक राजस्व मिल सके और करदाता के प्रकरण का भी शीघ्र निवर्तन हो सके। पंजीकृत व्यवसायियों द्वारा की गई सप्लाई की जानकारी विभिन्न स्रोतों से प्राप्त कर वैधानिक कार्रवाई की जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि  डीम्ड रजिस्ट्रेशन की संख्या न्यूनतम करने के प्रयास  हों। ऐसे व्यवसायियों पर विशेष ध्यान दिया जाए। जीएसटी विधान के संशोधनों के विषय में संगोष्ठी व कार्यशाला के माध्यम से जागरूकता बढ़ाई जाए। मुख्यमंत्री ने कहा कि वाणिज्यिक कर विभाग के डेटाबेस में उपलब्ध विभिन्न आंकड़ों और जानकारियों का अधिक से अधिक प्रयोग कर राजस्व वृद्धि के ठोस प्रयास हों। बैठक में वित्त मंत्री श्री जगदीश देवड़ा, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव श्री मनोज गोयल प्रमुख सचिव श्रीमती दीपाली रस्तोगी ,वाणिज्य कर आयुक्त श्री राघवेंद्र सिंह उपस्थित थे।

प्रदेश में 4 लाख 35 हजार पंजीयन हुए जीएसटी में
बैठक में बताया गया कि देश में जीएसटी पंजीयन संख्या 1.26 करोड़ है। मध्यप्रदेश में 4 लाख 35 हजार व्यवसायी पंजीकृत हैं। सामान्य कर दाताओं की संख्या 2 लाख 25 हजार हैं। प्रदेश में कम्पोजीशन टैक्स पेयर 39 हजार 926 हैं। मध्यप्रदेश में  जीएसटी कलेक्शन गत वर्ष से 4 .09 प्रतिशत अधिक हुआ हैं। जीएसटी 3 बी रिटर्न फाइलिंग में वृत्त कार्यालयों में इन्दौर और उज्जैन वृत्त ने अच्छा कार्य किया हैं। विभाग के 15 संभागों के 82 वृत्त कार्यालयों द्वारा रिटर्न फाइलिंग की हर महीने समीक्षा की जा रही है।

प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना के लिए 500 करोड़ रूपये की मंजूरी, मुख्यमंत्री श्री चौहान की अध्यक्षता में  मंत्रि-परिषद की बैठक

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान की अध्यक्षता में आज हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में केन्द्र प्रवर्तित योजना प्रधानमंत्री सूक्ष्म खाद्य उन्नयन योजना(पीएमएफएमई) को वर्ष 2020-21 से 2024-25 तक के लिए राशि 500 करोड़ रूपये के प्रावधान के साथ क्रियान्वित करने की स्वीकृति दी। इसमें परियोजना स्वीकृति के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में प्रस्तावों की अनुशंसा के लिए जिला स्तरीय समिति बनाई गई है। 10 लाख रूपये तक की अनुदान सहायता वाले प्रोजेक्ट के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय अनुमोदन समिति रहेगी। अर्न्तविभागीय मंत्री सक्षम समूह 10 लाख रूपये से अधिक की स्वीकृति दे सकेगा। यह योजना कलस्टर एप्रोच के साथ "एक जिला एक उत्पाद" पर आधारित है। निजी इकाइयों को 35 प्रतिशत अधिकतम 10 लाख क्रेडिट लिंक अनुदान मिलेगा। एफ.पी.ओ./एस.एच.जी./कॉपरेटिव को पूंजी निवेश, प्रशिक्षण एवं विपणन पर 35 प्रतिशत क्रेडिट लिंक अनुदान (न्यूनतम टर्नओवर 1 करोड़ ) रहेगा। एस.एच.जी. को सीड केपिटल 40 हजार प्रति सदस्य दी जायगी। ब्रांडिंग एवं मार्केटिंग में सहायता दी जायेगी।

ग्रामीण (सीमान्त, छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक
मंत्रि-परिषद ने  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 के संबंध में संविधान के अनुच्छेद 304(बी) के परन्तुक के अनुसरण में विधेयक को विधान सभा में पुर: स्थापित करने के पहले राष्ट्रपति की अनुमति प्राप्त एवं विधान सभा से पारित कराने की सभी कार्यवाही के लिए राजस्व विभाग को अधिकृत किया । पूर्व में मध्यप्रदेश अनुसूचित जनजाति ऋण विमुक्ति अधिनियम 2020 के अंतर्गत राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को ऋण ग्रस्तता से राहत के लिए उपबंध किये गये हैं।  मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक ) ऋण विमुक्ति विधेयक 2020 में भी समान प्रकार के उपबंध है जो विधेयक में प्रस्तावित किये गए है। ग्रामीण क्षेत्रों के भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों (राज्य के अनुसूचित क्षेत्रों में निवासरत मध्यप्रदेश की अनुसूचित जनजातियों के सदस्यों को छोड़कर) को, नियमों व प्रक्रिया के विरूद्व तथा अत्यन्त ऊँची ब्याज दरों पर दिये गये ऋण की समस्या का निरंतर सामना करना पड़ रहा है। इसका परिणाम ऐसे व्यक्तियों की वित्तीय हानि, मानसिक प्रताड़ना तथा शोषण के रूप में निकलता है। ऐसे भूमिहीन कृषि श्रमिकों, सीमान्त किसानों तथा छोटे किसानों को 15 अगस्त 2020 तक उन्हें दिए गए कतिपय ऋणों, जिनमें ब्याज की राशि शामिल है, के उन्मोचन द्वारा राहत देने के लिए मध्यप्रदेश ग्रामीण (सीमान्त व छोटे किसान तथा भूमिहीन कृषि श्रमिक) ऋण विमुक्ति विधेयक,2020 प्रस्तावित किया गया है।

शराब के अवैध निर्माण – परिवहन और विक्रय को सख्ती से रोकें, कमिश्नर श्री कियावत और आई जी श्री जैन ने ली बैठक

कमिश्नर श्री कवीन्द्र कियावत ने संभाग के सभी जिला कलेक्टर और एसपी को निर्देश दिए हैं कि अवैध शराब के निर्माण, परिवहन और विक्रय रोकने के लिए तत्काल मजबूत सूचना तंत्र कायम करें और इस तरह की गतिविधियों पर तत्काल रोक लगाएं। वीडिया कांफ्रेंसिंग में आईजी श्री उपेन्द्र जैन के अलावा होशंगाबाद के डीआईजी भी उपस्थित थे। 

"फैक्ट्री के वाहनों पर पहचान प्रदर्शित हो"
श्री कियावत ने कहा कि शराब निर्माता कंपनियों में जिन ट्रकों से ओ पी और स्प्रिट आदि आती है उनकी पहचान के लिए उनका अलग रंग तय कर उन पर लिखा भी जाए कि वे क्या परिवहन कर रहे हैं। इसी तरह फैक्टरी से शराब परिवहन के ट्रक भी पृथक से पहचाने जाएं। उन्होंने कहा कि ओपी परिवहन करने वाले ट्रकों पर विशेष निगरानी रखें कि वे फिक्स प्वाइंट पर ही रूकें तथा ढाबों आदि पर न रूकें। उन्होंने कहा कि निगरानी रखें कि ओपी के ट्रकों से ढाबों और किन्हीं विशेष स्थलों पर ओपी तो नहीं दी जा रही है। 

"निगरानी और सूचना तंत्र मजबूत बनाएं"
कमिश्नर ने निर्देश दिए कि गांव और शहरों में सूचना तंत्र की मजबूती आवश्यक है। स्थानीय स्तर पर बनने वाली शराब को रोका जाना होगा। उन्होंने कहा कि कईं ट्रक वाले ओपी के अलावा डिनेचर्ड स्प्रिट और औद्योगिक अल्कोहल भी रास्तों में बेच सकते हैं, इसलिए वरिष्ठ अधिकारी स्वयं निगरानी रखें और ऐसा तंत्र विकसित करें जिससे अवैध शराब का निर्माण, परिहवन और बिक्री पर सख्ती से रोक लगाई जा सके। 

"रासुका की कार्यवाही करें – आई जी"
बैठक में आई जी श्री उपेंद्र जैन ने पुलिस अधीक्षकों को निर्देश दिए कि वे फुलप्रूफ व्यवस्था बनाएं, कलेक्टर और एसपी संयुक्त भ्रमण करें तथा आबकारी- पुलिस और राजस्व की टीम संयुक्त रूप से संभावित स्थलों को नेस्ताबून कर इन गतिविधियों में शामिल व्यक्तियों के विरूद्ध आपराधिक मामले दर्ज कराएं जिसमें अधिकतम सजा का प्रावधान हो। उन्होंने कहा कि ऐसे हर मामले में रासुका की कार्यवाही भी की जाए।  उन्होंने कहा कि ढाबा स्टाइल कार्यवाही नहीं चलेगी – ठोस कार्यवाही करके दिखाएं। 

"एक्साइज के अमले को सक्रिय करें"
श्री कियावत ने कहा कि शराब फैक्ट्री और डिपो दोनों में 24 घंटे आबकारी अमला रहता है और उसकी जिम्मेदारी है कि वह अवैध ओपी और शराब का परिवहन नहीं होने दें। उन्होंने कहा कि दोनों जगहों पर पदस्थ अमले को और भी सक्रिय किया जाए। फील्ड में भी आबकारी अमले को उतारें और किसी भी जिले में कच्ची शराब, अवैध शराब आदि की हर गतिविधि को तत्काल रोकें।  वी.सी. में होशंगाबाद के आई जी श्री जितेंद्र राजे और सभी जिलों के कलेक्टर- एस.पी. ने भी अपने विचार और जिलों में किए जा रहे प्रयासों की जानकारी दी। आबकारी आयुक्त श्री विनोद रघुवंशी ने इस तरह की गतिविधियों के बारे में जिलों को गंभीर जानकारी दी।

कोई टिप्पणी नहीं: