बिहार : जनता करेगी हिसाब अपने हिसाब से : तेजस्वी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 25 फ़रवरी 2021

बिहार : जनता करेगी हिसाब अपने हिसाब से : तेजस्वी

tejaswi-attack-nitish-in-assembly
पटना: बजट सत्र के दौरान नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने सत्तापक्ष पर शायराना अंदाज में निशाना साधते हुए कहा कि मुझमे हजार खामियां हैं माफ़ कीजिये, अपने आईने को भी कभी साफ कीजिये। तेजस्वी ने चुटकी लेते हुए कहा कि भाजपा के मंत्रियों से जद यू के मंत्रियों का बजट दोगुना। दो-दो उपमुख्यमंत्री पहले कभी देखे हैं। इस पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि बहुत कुछ नया होता है। आसान की ओर मुखातिब रहिये, इधर-उधर नहीं देखिये। इसके बाद तेजस्वी लालू को मैनेजमेंट गुरु बताकर अनुभव की सीख दे रहे थे, तो सत्ता पक्ष ने चुटकी लेते हुए कहा कि अनुभव बड़ा पक्का है। बजट पर बोलते हुए तेजस्वी ने कहा कि शराब बंदी, सात निश्चय सब हम लोग के समय में आया। लेकिन, अलग होने के बाद मामला टांय-टांय फ़िस हो गया। आंकड़े छुपाये जा रहे हैं। पटना को तालाबों का शहर कहा जाता था, सिर्फ पटना में 1050 तालाब थे, इसे तालाबों की राजधानी कही जाती थी। लेकिन, आपलोगों ने तालाब की ह्त्या कर दी है। बिजली के मामले में सरकार की खिंचाई करते हुए कहा कि बिहार की मासूम जनता सबसे महंगी बिजली खरीद रही है। सबसे कम बिजली की खपत बिहार में हो रही है। नेता प्रतिपक्ष ने कहा कि भाजपा के मंत्रियों की संख्या जदयू से ज्यादा है। लेकिन, भाजपा के मुकाबले जदयू के मंत्रियों का दोगुना बजट है, लगता है लड़ाई आपलोग ठीक से लड़े नहीं, दोगुना बजट वाला विभाग नीतीश जी अपने पास रख लिए हैं। इस पर मुकेश सहनी ने कुछ कहा, जिसपर तेजस्वी ने कहा कि आप तो रिचार्ज कूपन हैं, काम कीजिये शिकायत नहीं करेंगे। तेजस्वी ने जदयू को सी (C) ग्रेड की पार्टी का दर्जा देते हुए तेजस्वी ने कहा कि मुख्यमंत्री जी कह रहे थे कि हमको कॉन्सिप्रेसी किया गया है। इसके कारण हमको कम सीटें आई है। वही सी (C) यानी सिटीजन की नजर में इनके कमेंट की कोई क्रेडिबिलिटी नहीं रह गई है। पिछले 15 साल में 65 घोटाले हुए हैं, जिसमें बिहार का लगभग 40 हजार करोड़ का घोटाला हुआ है। इसे सरकार कैसे रिकवर करेगी, इसका बजट में कोई जिक्र नहीं है। कोई कार्रवाई नहीं हुई है, न ही रिकवरी के लिए कुछ किया जा रहा है। कुछ कीजियेगा तब न, दण्डित कीजियेगा तब न कुछ होगा, काहे कि पैसा तो गरीब जनता का है। अंत में तेजस्वी ने कहा कि मेरे लिए फकत आसमां है उड़ने के लिए, जमीन है साफ करके चलने के लिए। इस पर अध्यक्ष ने मजाकिया कहा इतना अच्छा शेर है तो ताली तो जोर से बजाइये।

कोई टिप्पणी नहीं: