विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 फ़रवरी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 16 फ़रवरी 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 16 फ़रवरी

अभिनव आकार सोसायटी ने बच्चो के साथ कार्यालय पर मनाया बसंतोत्सब मनाया। 


vidisha news
विदिशा: - विदिशा अंतर्गत सामाजिक सास्कृतिक राष्ट्रीय कार्यक्रमों के अवसर पर रचनात्मक कार्य करने में अग्राणी संस्था अभिनव आकार सोसायटी जिसके संचालक श्री भावना डीडोत ने नन्हे मुन्ने बच्चो को अपने कार्यालय में एकत्रित कर बसंत पंचमी के शुभ अवसर पर माॅ संरस्वती के पूजा आरती के कार्यक्रम का आयोजन कर बसंत उत्सव एवं माॅ संरस्वती के प्रति उन्होने बच्चो को विस्तृत जानकारी दी भारतीय संस्कृति में सस्कारों के प्रेरणा हमारे छोटे-छोटे किन्तु महत्वपूर्ण त्योहारों से ही मिलती है माॅ संरस्वती विधा दायनी है शिक्षा प्राप्त कर रहे बच्चो के जीवन में उनकी अराधना का एक विशेष महत्व है साथ ही आज से बसंत पंचमी से  सभी के प्रिय मौसम बसंत ऋतु का शुभागमन होता है। उन्होने कहाॅ कि आज दौर में संस्कृति की रक्षा और भारत के भविष्य के नौनिहालों को संस्कार वान बनाना हमारा प्रमुख उदेश्य है इस अवसर पर बच्चो को बसंत ऋतु के अनुरूप केसारिया रंग से युक्त मिठाई का वितरण किया गया। इस अवसर पर सोसायटी सदस्य कु. साक्षी, यस कुमार, जीत राय, अदित्य विश्वकर्मा, द्विव्याशी विश्वकर्मा, अनमोल आदि अनेक बच्चे उपस्थित थे।


ग्राम पीपरहुंठा शासकीय स्कूल में विधायक निधि से स्वीकृत वाटर कूलर शुभारंभ किया - शशांक भार्गव


विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गन बसंत पंचमी के पावन अवसर पर आज ग्राम पीपरहुठा में शासकीय स्कूल में विधायक निधि से स्वीकृत वाटर कूलर का लोकार्पण कर स्कूल के छात्र-छात्राओं को शुद्ध पेयजल की सुविधा का शुभारंभ किया इससे पूर्व संस्था में बसंत पंचमी के उत्सव पर माॅ संरस्वती की पूजा अर्चना कर बच्चो को विद्यादायनी माॅ संरस्वती की बंदना के महत्व पर प्रकाश डाला विदिशा विधायक भार्गव ने संस्था के बच्चे को माॅ सरस्वती के प्रति श्रद्धा से नमन करते हुए उच्च शिक्षा की ओर अग्रासर रहने का आवाह्म किया साथ ही उनके द्वारा ग्रामीणजनों से मूलभूत सुविधाओं एवं ग्राम विकास के संबंध में विस्तृत चर्चा की। तत्पश्चात ग्राम अहमदपुर पहुच कर निरंतर 12 वर्ष से चल रही सीताराम धुन कार्यक्रम की 12 वी वर्षगांठ के कार्यक्रम में शामिल हुए।  इस अवसर पर उपस्थित रहने वालों में प्रमुख नारायण प्रसाद शर्मा, देवेन्द्र सिंह राठौर, नगर कांग्रेस अध्यक्ष दीवान किरार, अध्यक्ष ब्लाॅक कांग्रेस कमेटी विदिशा ग्रामीण डाॅ राजेन्द्र चतुर्वेदी, डाॅ राजेन्द्र सिंह दांगी, राकेश सिंह दांगी सरपंच, चंन्द्रभान सिंह राजपूूत, आदि के साथ अनेक ग्रामीणजन उपस्थित रहे। 


एसडीएम व तहसीलदार ने किया चने की फसलों का निरीक्षण, तेवडा रहित चने की फसल ही उपार्जन केन्द्रो पर खरीदी जाएगी


आज नटेरन एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति एवं तहसीलदार सरोज परिहार द्वारा ग्राम ताजखजूरी एवं भिंयाखेडी ग्राम पहुंचकर चने की फसल का निरीक्षण किया। बडी चने की फसल में मौजूद तेवडा फसल के पेडो को किसान के सामने उखाड़ कर उन्हें चने की फसल में उग रहे तेवडा की फसल को नष्ट कर उन्हें समझाईंश दी गई कि तेवडा रहित चने की फसल ही उपार्जन केन्द्रो पर खरीदी जाएगी। वही ताजखजूरी के कृषक श्री मंगल सिंह के खेत पर पहुंचकर उनके सामने चने की फसल के साथ उग रहे तेवडा की फसल के पौधो को उखाड़कर बताया एवं स्पष्ट निर्देश दिए कि सभी किसान भाई चने की फसल में तेवड़ा की फसल के पौधो को मजदूर लगाकर उखड वाले, नहीं तो चने उपार्जन केन्द्रों पर चने की फसल खरीदी नही की जाएगी। उस समय किसानो को बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है इसलिए इस बार पहले से ही किसानो को समझाईश दी जा रही है एवं एसडीएम, तहसीलदार स्वंय खेतो पर जाकर किसानो को समझा रहे है।


हिट एण्ड रन के एक प्रकरण में आर्थिक मदद जारी 


कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने सड़क दुर्घटना में मृतक के निकटतम परिजन को पन्द्रह हजार रूपए की आर्थिक मदद जारी कर दी है।  जारी आदेश में उल्लेख है कि ग्यारसपुर तहसील के खंदा टपरिया निवासी श्री हीरालाल की मृत्यु सड़क दुर्घटना में हो जाने पर मृतक के पिता श्री थान सिंह पुत्र बाबूलाल गौड़ को 15 हजार रूपए की आर्थिक सहायता जारी कर दी गई है।

 

मिशन इंद्रधनुष 22 फरवरी से


जिले में टीकाकरण के लिये आगामी 22 फरवरी से मिशन इन्द्रधनुष प्रारंभ किया जायेगा। इस अभियान के अन्तर्गत पात्र बच्चों और महिलाओं का टीकाकरण होगा। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ केएस अहिरवार  ने बताया कि मिशन इंद्रधनुष लोक स्वास्थ्य हित में एक महत्वपूर्ण अभियान है और वर्तमान में संचालित किया जा रहा कोविड-19 टीकाकरण अभियान भी उतना ही महत्वपूर्ण है । दोनों गतिविधियों को संतुलित करने की आवश्यकता के दृष्टिगत जिले में मिशन इंद्रधनुष अब 22 फरवरी से प्रारंभ किया जायेगा। मिशन इंद्रधनुष का प्रमुख लक्ष्य पात्र बच्चों और गर्भवती महिलाओं का सम्पूर्ण टीकाकरण कराना है। यह मिशन, टीकाकरण के काम में तेजी लाने और देश के सभी बच्चों का सम्पूर्ण टीकाकरण करने के लिए शुरू किया गया है।


आयुष्मान भारत ‘’निरामयम’’ योजना का उद्देश्य गरीब एवं  असहाय परिवारों को गुणवत्तापूर्ण इलाज समय पर उपलब्ध कराना, योजना अंतर्गत प्रति वर्ष 5 लाख रूपये तक का इलाज मुफ्त मिलेगा


आयुष्मान कार्ड बनाने का अभियान चलाया जा रहा है। सभी पात्र नागरिक आयुष्मान कार्ड बनवाए और योजना का लाभ उठाए। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष पात्र परिवार को 5 लाख रूपये तक का इलाज मुफ्त मिलेगा। आयुष्मान भारत ‘’निरामयम’’ योजना का उद्देश्य गरीब एवं असहाय परिवारों को गुणवत्तापूर्ण इलाज समय पर उपलब्ध कराना है। सभी संबल कार्ड धारी, खाद्यान पर्ची धारी एवं ऐसे सभी लोग जिनका नाम एस.ई.सी. सूची में हैं। वे सभी आयुष्मान कार्ड के लिए पात्र है, लोक सेवा केन्द्र तथा कॉमन सर्विस सेंटर में जाकर बनवा सकतें है। कार्ड बनवाने के लिए अपनी परिवार समग्र आई.डी., आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड इनमे से कोई भी दस्तावेज लेकर पहुंचना है। ऐसे परिवार जिनमें मुखिया का आयुष्मान कार्ड बना है। वे अपने परिवार के अन्य सभी सदस्यों का कार्ड बनवाएं। यदि लाभार्थी कार्ड बनवाने में कोई समस्या आती है तो लोक सेवा केन्द्र के हेल्पडेस्क कर्मचारी से सहायता लें सकते है या वेबसाइट https://pmjay.gov.in पर लॉग इन करने के अलावा लोकसेवा केन्द्र, जनसेवा केन्द्र (सीएससी) संपर्क कर सकते हैं।


’पोल्ट्री फार्म का पंजीयन पशुपालन विभाग में करवाना आवश्यक’


पोल्ट्री फार्मिंग करने वाले किसानों एवं पशुपालकों को पशुपालन विभाग में पंजीयन करवाना आवश्यक है जिससे इसे व्यवस्थित एवं विकसित किया जा सके एवं आवश्यकता होने पर जानकारी के आधार पर तकनिकी सहायता दी जा सके। इस कारण से किसी भी गतिविधि को नियंत्रित करना तथा लाभान्वित करना संभव हो सकेगा। विभाग द्वारा पोल्ट्री उद्योग को सुरक्षा प्रदान करने तथा विभिन्न गतिविधियों के सुचारू संचालन के लिए वर्तमान में स्थापित तथा नवीन कुक्कुट प्रक्षेत्र हेचरी का पंजीयन प्रारंभ किया गया है, जिससे कुक्कुट प्रक्षेत्र हेचरी की संख्या का सही आंकलन हो सके। भविष्य में लाभकारी नीतियों का निर्धारण अधिक सुरक्षित बनाया जा सकेगा।  पंजीयन के लिए निर्धारित प्रारूप में आवेदन करना होगा साथ ही निर्धारित पंजीयन शुल्क भी जमा करना होगा। निर्धारित प्रारूप के आवेदन क्षेत्रीय पशु चिकित्सालयों में उपलब्ध है। 500 से 1000 तक किसी की प्रकार के पक्षियों की क्षमता वाले फार्म को 100 रु., 1000 से 5000 के पक्षियों की क्षमता वाले फार्म को 200 रु., 5000 से 10000 तक के पक्षियों की क्षमता वाले फार्म को 500 रु एवं 10000 से अधिक किसी भी प्रकार के पक्षियों की क्षमता वाले फार्म को 1000 रु पंजीयन शुल्क देना होगा। प्रारंभ में 5 वर्षों के लिए पंजीयन प्रमाण पत्र जारी किया जायेगा बाद में हर तीन वर्ष में नवीनीकरण कराना होगा। जिले के सभी पोल्ट्री उद्योग संचालकों से कहा गया है कि वे अपने फार्म का शीघ्र पंजीयन करायें। पंजीयन ना होने के कारण पोल्ट्री उद्योग संचालकों को असुविधाओं का सामना करना पड़ सकता है।


उचित मूल्य दुकान संचालकों के खाते में कमीशन राशि अंतरित होगी’


प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत वितरित खाद्यान्न पर 37 करोड़ 73 लाख की कमीशन राशि 48 जिलों की उचित मूल्य दुकान संचालकों के खातों में ऑनलाइन अंतरित की जायेगी। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत निर्धारित दर के अनुसार प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में हितग्राहियों को वितरित खाद्यान्न के विरूद्ध तदर्थ रूप से 2 माह की कमीशन राशि का भुगतान किया जाएगा।  उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अंतर्गत कमीशन की राशि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम के अंतर्गत निर्धारित दर से कम की प्राप्त होती है तो आगामी भुगतान में उक्त राशि का समायोजन कर भुगतान किया जाएगा। इसमें केवल उचित मूल्य की दुकान के माध्यम से हितग्राहियों को वितरित मात्रा के विरूद्ध ही कमीशन का भुगतान किया जाना है। साथ ही कमीशन भुगतान की एंट्री पीएफएमएस पोर्टल पर उसी दिन कर दी जायेगी। 


’इच्छुक व्यक्ति बायोगैस संयंत्र पोर्टल पर दर्ज करें आवेदन’


उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने लघु बायो-गैस संयंत्र (उत्पादन क्षमता 1 से 25 घन मीटर बायो गैस प्रति दिन) के लिये निःशुल्क ऑनलाईन (कम्प्यूटरीकृत) बायो गैस वेब पोर्टल की शुरुआत की है। सभी बायो-गैस इच्छुक उपयोगकर्ता, किसान, व्यक्ति बायो गैस संयंत्र के लिए अपना आवेदन पोर्टल पर दर्ज कर सकते हैं। बायो गैस वेब पोर्टल पर लाभार्थी के आधार कार्ड नंबर,  मोबाइल नंबर व अन्य जानकारियां ध्यान से भरने को कहा गया है। वेब पोर्टल के लिंक https://biogas.mnre.gov.in के माध्यम से इच्छुक उपयोगकर्ता, किसान, व्यक्ति अपना आवेदन दर्ज कर सकते हैं।  अधिक जानकारी के लिये संबंधित राज्य स्तर की बायो गैस विभाग (एजेंसी) या नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय को संपर्क किया जा सकता है। क्रमांक 125

कोई टिप्पणी नहीं: