सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 14 मार्च 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 14 मार्च

अखाड़ों के कलाकारों ने शोभायात्रा मेंं दिखाए करतब, यज्ञ के पश्चात भजन प्रवचन सत्संग कार्यक्रम आयोजित  

आर्यं समाज एवं सार्वदेशिक आर्य युवक परिषद के संयुक्त तत्वाधान में आयोजन, महर्षिं दयानंद बोधउत्सव एवं महाशिवरात्रि के पावन पर्व के उपलक्ष्य में निकाली गंज में शोभायात्रा

sehore news
सीहोर। आर्यं समाज एवं सार्वदेशिक आर्य युवक परिषद के संयुक्त तत्वाधान में महर्षिं दयानंद बोधउत्सव एवं महाशिवरात्रि के पावन पर्व के उपलक्ष्य में रविवार को गंज में विशाल शोभायात्रा एवं भव्य व्यायाम प्रदर्शंन का आयोजन किया गया। शोभायात्रा में कलाकारों के द्वारा तलवार नानचाकू लाठी छाती पर पत्थर लाठी लड़ाना जाल पर छलांग लगाना रस्सी सौ किलो के पत्थर उठाना जैसे करतब दिखाए गए। आर्य समाज लोधी मोहल्ला गंज में सुबह यज्ञ के पश्चात भजन एवं पश्चात प्रवचन सत्संग का आयोजन किया गया। विशाल शोभायात्रा का शुभारंभ आगरा से पहुंचे पूज्य गुरु काशीरामअनिल नाथजी, गोरधन आर्य पवन शास्त्री,सुत्वबंधु आर्यं, विवेक आर्य ने किया। चल समारोह कसर्यक्रम की अध्यक्षता गौरव सन्नी महाजन और युवा नेता जितेंद्र आर्य के द्वारा की गई।अखाड़ा प्रमुख अध्यक्ष राजू राठौर, ग्राम बिजोरी से शिव शंकर अखाड़ा उस्ताद मनोज नागर, हितेश नागर, श्रीगणेश व्यास शाला मंडी अखाड़ा चल समारोह मेंं शामिल हुआ। शोभायात्रा गंज के प्रमुख मांगों से होकर आर्य समाज मंदिर पहुंची। शोभायात्रा में अखाडों के कलाकारों के द्वारा हैरत अंगेज करतब दिखाए गए। शोभायात्रा के के उपरांत मुकेश गौर उस्ताद राजू राठौर जितेंद्र मेवाड़ा राज नारायण आर्य वीर दल अखाड़ा आगरा से काशीराम आर्य अनिल आर्य गोवर्धन आर्य आर्य समाज प्रधानाचार्य विजय राठौर उधन पंकज राठौर मंत्री अरुण राठौर उप मंत्री नीरज राठौर कोषाधक्ष जितेंद्र सोनी प्रचार मंत्री सूरज चौधरी पुस्तकालय अध्यक्ष धीरज चौधरी तरुण राठौर पुरोहित संदीप राठौर हेमंत आर्य अमित राठौर राजेंद्र आर्य वीर दल सेनापति रमेश आर्य संरक्षक विजय कुलश्रेष्ठ महेश वीरभान सिंह आर्य आर्य समाज निपानिया कला का पुष्प मालाओं से सम्मान किया गया। शोभायात्राा में प्रमुख रूप से  कमलेश याज्ञिक आर्य, गोविंद पहलवान भगवान आर्य योगाचार्य संतोष सिंह, सुरेश नारोलिया, जितेंद्र नारोलिया ,नितिन नारोलिया, बृजेश, अंकित,  कमलेश आर्य लखन राठौर अभिलाष राठौर, मिथिलेश सुदर्शन सिंह आर्य आदि शामिल रहे। 


हनुमान फाटक कस्बा में आयोजित सात दिवसीय संगीतमय श्रीमद, भागवत कथा का भव्य शोभायात्रा भंडारा के साथ भक्तिमय समापन

  • दरिद्र नहीं परमात्मा रूपी संपत्ति के मालिक थे भगवान सुदामा, राधा,मीरा ब्रजवासी सब प्रभू के लिए रोए,श्रीकृष्ण सुदामा के लिए रोए- पं रविशंकर तिवारी

sehore news
सीहोर। सुदामा दरिद्र नहीं थे परमात्मा रूपी संपत्ति के मालिक थे। राधा मीरा गोपी गोपाल ब्रजवासी सब श्री कृष्ण की भक्ति के लिए रोए थे भगवान को पाने के लिए भजन करते रहे आंखों से परमतत्व पाने के लिए आंसू बहाते थे लेकिन सुदामा के लिए स्वयं श्रीकृष्ण रोए। सुदामा संकल्पवादी व्यक्ति थे पांच घर हीं दान मांगते थे जो मिलजाता था परिजनों का गुजारा करते थे। कठोर लोग सुदामा को भी दान नहीं देते थे। दान से धन कम नहीं होता है दान से धन में बढ़ोतरी होती है उक्त विचार रविवार को हनुमान फाटक कस्बा प्रागंण में बीते सप्ताह से आयोजित श्रीमद भागवत कथा के दौरान सुदामा श्रीकृष्ण प्रसंग सुनाते हुए भागवत भूषण कथा व्यास पंडित रवि शंकर तिवारी ने व्यक्त किए। पंडित तिवारी ने कहा की श्रेष्ठता में भगवान ब्राम्ह विष्णू महेश समान है श्रेष्ठता को लेकर त्रिलोकियों पर संशय नहीं करना चाहिए बा्रम्ह पुत्र भृगू रिषी ने तीनों की श्रेष्ठता के लिए परीक्षा ली और उन्होने भगवान विष्णू को श्रेष्ठ माना लेकिन भावत के अनुसार तीनों हीं देव श्रेष्ठ है। पंडित तिवारी ने कहा की दान देने वाला आम के पेड़ की तरह होता है आम के पेड़ की लकडिय़ों के साथ फल और पत्ते भी काम आते है गुृठली और आम के छिलके भी काम आते है जब की दान नहीं करना वाला गाजर मूली के समान होता है जैसे गाजर मूली जड़ से उखाड़ी जाती है और खत्म हो जाती है लेकिन आम हमेशा फल देता रहता है। भगवान दीनबंधू दीनानाथ है दान करने वालों को भगवान देते हीं रहते है। पंडाल में श्रीकृष्ण सुदामा मिल प्रसंग को कलाकारों के द्वारा अति सुदंरता के साथ मंचित किया गया। प्रसंग देख श्रद्धालुगण भाव विभोर हो गए। प्रमुख यजमानों और वरिष्ठ समाजसेवी अखिलेश राय, भाजपा सीहेार मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर और गुर्जर बा्रहम्ण समाज अध्यक्ष प्रवीण तिवारी के द्वारा पंडित रवि शंकर तिवारी का मंच पर स्मृति चिंह भेंटकर सम्मान किया गया। हनुमान फाटक कथा स्थल से पंडित हरीश तिवारी के सानिध्य में डीजे ढोल ढमाकों के साथ भव्य शोभायात्रा का श्रीमद भागवत और समस्त देवी देवताओं की पूजा अर्चना कर शुभारंभ किया गया। शोभायात्रा में भवगा ध्वजों के साथ नृत्य करते श्रद्धालुओं आकर्षण का केंद्र बने रहे। शोभायात्रा हनुमान मंदिर से नृसिंह मंदिर ब्राम्हणपुरा प्राचीन श्रीराम मंदिर यादव मोहल्ला छीपापुरा से होते हुए माता हिंंगलाज मंदिर पहुंची यह पर राधे परिवार सेवा समिति के द्वारा पंडित रविशंकर तिवारी के मंत्रोचार के साथ विधिवत माता रानी की पूजा अर्चना की गई। कस्बा बजरिया होते हुए शोभायात्रा वापस हनुमान फाटक मंदिर पहुंची भंडारा प्रसादी के बाद कथा का समापन किया गया। बड़ी संख्या में श्रद्धालुगण शामिल हुए। 


कवियों के साथ विशिष्ठ अतिथियों का स्मृति चिंह प्रदान कर किया गया सम्मान, गल्ला मंडी में विधायक सुदेश राय के मुख्य अतिथिय में कार्यक्रम आयोजित


sehore news
सीहोर। कवियों के साथ विशिष्ठ अतिथियों का स्मृति चिंह श्रीफल शॉल प्रदान कर गल्ला मंडी में रविवार को सम्मान किया गया।  वरिष्ठ भाजपा नेता मान सिंह पंवार के नेतृत्व में आयोजक मंडल ने शुजालपुर से पधारे वरिष्ठ कवि हुकुमसिंह देशप्रेमी सहित कवि हरिओम शर्मा, दिनेश भोपाली और अतिथियों का स्मृति चिंह शॉल श्रीफल भेंटकर पुष्पमालाएं पहनाकर सम्मान किया। कार्यक्रम वरिष्ठ भाजपा नेता मान सिंह पंवार की विशेष उपस्थित और विधायक सुदेश राय के मुख्य अतिथिय भाजपा सीहेार मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर की अध्यक्षता और पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष सीताराम यादव वरिष्ठ भाजपा नेता प्रदीप बिजोरिया के विशेष अतिथिय में आयोजित किया गया। अतिथियों ने माता सरस्वती के चित्र पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारंभ किया। कवि हुकुमसिंह देशप्रेमी सहित कवि हरिओम शर्मा, दिनेश भोपाली ने कविता पाठ किया। आयोजनक मंडल के वरूण गौर,राजा मेवाड़ा, निर्मल पंवार, नरेंद्र राजपूत, सुरेश योगी ने अतिथियों का पुप्प मालाओं स्वागत किया। कार्यक्रम को मुूख्य अतिथि विधायक सुदेश राय भाजपा सीहेार मंडल अध्यक्ष पिं्रस राठौर और पूर्व भाजपा जिलाध्यक्ष सीताराम ने संबोधित किेया। अतिथियों के द्वारा आयोजक मंडल को सुंदर कार्यक्रम  आयोजन के लिए बधाई देकर प्रशंसा व्यक्त की गई। कार्यक्रम का संचालन डॉ पूरन सिंह राठौर और आभार हरीश राठौर के द्वारा व्यक्त किया गया। कार्यक्रम में बड़ी संख्या में श्रोतागण और भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे। 


आंकलन के पश्चात किसानों को देंगे आवश्यक राहत, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने प्राप्त की फसलों की जानकारी


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि प्रदेश में कुछ स्थानों पर हुई बेमौसम बारिश को देखते हुए राज्य सरकार ने अधिकारियों को क्षति के आकलन के निर्देश दिए हैं। किसानों को आवश्यकतानुसार फसलों की क्षति के आधार पर जरूरी राहत प्रदान की जाएगी।


अधिकारियों से प्राप्त की जानकारी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि उन्होंने प्रदेश के कुछ स्थानों पर बेमौसम बारिश और कहीं-कहीं हुई ओलवृष्टि से फसलों को पहुँची क्षति की जानकारी प्राप्त की है और संबंधित जिलों के कलेक्टर्स के साथ ही राजस्व और कृषि विभाग के अधिकारियों से भी चर्चा हुई है।


क्षति के आकलन का कार्य जारी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिलों में कहीं-कहीं फसलें आड़ी हो गई हैं। क्षति का आकलन किया जा रहा है। संबंधित अधिकारी फील्ड में हैं और सर्वे कार्य कर रहे हैं। किसानों को जैसा नुकसान हुआ है, उन्हें आवश्यक राहत प्रदान की जाएगी।


प्रतिदिन समीक्षा होगी

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि किसानों को हुए नुकसान की जानकारी लेकर प्रतिदिन समीक्षा की जाएगी। संकट के समय राज्य सरकार किसान भाईयों के साथ है। किसानों को राहत देने में विलंब भी नहीं होगा।


चना, सरसों और मसूर की खरीदी अब 22 मार्च से - मंत्री श्री पटेल


किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री कमल पटेल ने कहा है कि  समर्थन मूल्य पर  चना, मसूर और सरसों की  फसलों का उपार्जन  अब 22 मार्च से होगा।  उन्होंने बताया कि  पहले इसका उपार्जन 15 मार्च से  गेहूँ के साथ करने का निर्णय लिया गया था। वर्तमान मौसम की स्थिति को देखते हुए 15 मार्च के स्थान पर 22 मार्च से खरीदी का निर्णय लिया गया है।  मंत्री श्री पटेल ने बताया कि हाल ही में हुई बे-मौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण सभी जिला अधिकारियों को फसलों के नुकसान का आंकलन करने और राहत का मसौदा तैयार करने के भी निर्देश दिए गए हैं।


सावधानी बरतें तो नहीं होगी गर्मी में वनो में आग दुर्घटना


वातावरण का तापमान धीरे-धीरे बढ़ रहा है, तापमान में वृद्धि के साथ वनों में आग दुर्घटनाओं की आशंका रहती है। महुआ तथा अन्य वनों उपज संग्रहण के लिए भी पेड़ों के नीचे गिरे पत्तों को नष्ट करने के लिए लापरवाही से आग का उपयोग किया जाता है। इससे कई बार बड़े वन क्षेत्र में आग का प्रकोप हो जाता है। आग लगने से हरे-भरे वृक्ष झाडि़यां तथा घास नष्ट हो जाती हैं। जंगली जानवरों को भी इससे हानि पहुंचती है। आग से अनमोल वनसंपदा नष्ट हो जाती है। आग लगने से मिट्टी की ऊपरी सतह कठोर हो जाती है तथा कई पोषक सूक्ष्म, जीव नष्ट हो जाते हैं। आग को वनों में फैलने से रोकने के लिए सावधानी रखना आवश्यक है। वनों उपज संग्रहण के लिए वनों में आग न जलायें, वनों में आग की सूचना मिलने पर तत्काल क्षेत्र के वन विभाग के अधिकारियों को इसकी सूचना दें। सबके सहयोग से ही वनों को आग से बचाया जा सकता है।


मुख्यमंत्री श्री चौहान की केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री तोमर से मुलाकात कृषि और किसान-कल्याण से जुड़े मुद्दों पर चर्चा


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चैहान ने केन्द्रीय कृषि एवं किसान-कल्याण मंत्री श्री नरेन्द्र सिंह तोमर से मुलाकात कर कृषि एवं किसान-कल्याण से जुड़े मुद्दों पर विस्तार से चर्चा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने रबी 2020-21 के लिए चना, मसूर और सरसों के उपार्जन की सीमा को बढ़ाने का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि अन्य वर्षों की तरह इस वर्ष भी अच्छी फसल होने से चना, सरसों और मसूर के उत्पादन में काफी बढ़ोत्तरी होने की संभावना है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि इस वर्ष चने का संभावित उत्पादन 58.06 लाख मीट्रिक टन है और प्राइस सपोर्ट स्कीम के अंतर्गत प्रदेश को रबी 2020-21 में चना उपार्जन के लिए अधिकतम सीमा 14.51 लाख मीट्रिक टन की पात्रता है। इसी प्रकार सरसों का संभावित उत्पादन 15.60 लाख मीट्रिक टन है और प्राइस सपोर्ट स्कीम में अधिकतम सीमा नौ लाख मीट्रिक टन की पात्रता है। इसी प्रकार मसूर का उत्पादन इस वर्ष 5 लाख 48 हजार मीट्रिक टन होने की संभावना है।  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने केन्द्रीय मंत्री को बताया कि खरीफ 2020-21 के लिए 15 लाख मीट्रिक टन यूरिया की अधिक माँग की गई थी किन्तु केन्द्र सरकार ने अभी तक केवल 12.50 लाख मीट्रिक टन यूरिया उपलब्ध कराने की सहमति प्रदान की है। श्री चौहान ने शेष ढाई लाख मीट्रिक टन यूरिया शीघ्र जारी करवाने का अनुरोध किया। इसी प्रकार खरीफ 2020-21 के लिए डी.ए.पी. की अतिरिक्त माँग का अनुरोध किया। उन्होंने बताया कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में डी.ए.पी. उत्पादन की कीमतों में लगातार वृद्धि हो रही है। खरीफ 2020-21 के लिए अभी के आकलन के हिसाब 11 लाख मीट्रिक टन डी.ए.पी. की आवश्यकता है। उन्होंने केन्द्रीय मंत्री से इस आपूर्ति के लिए आवश्यक समन्वय स्थापित कर संबंधितों को निर्देश देने का अनुरोध किया।  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने फसल अवशेषों के इन-सीटू प्रबंधन के लिए कृषि यांत्रिकीकरण को बढ़ावा देने की योजना में मध्यप्रदेश को शामिल किये जाने की माँग की। वर्तमान में चार राज्यों पंजाब, हरियाणा, उत्तर प्रदेश तथा दिल्ली में फसल अवशेष प्रबंधन की विशेष योजना का संचालन भारत सरकार द्वारा किया जा रहा है। इसके अंतर्गत किसानों को नई तकनीक की कृषि मशीनरी 80 प्रतिशत अनुदान पर उपलब्ध करवायी जा रही है। उन्होंने आग्रह किया कि इस योजना को मध्यप्रदेश में भी शुरू किया जाय। ज्ञात हो कि मध्यप्रदेश में वर्ष 2020 में नरवाई जलाने की घटनाओं में काफी वृद्धि हुई है।


अपूर्ण गोदामों को नहीं बनायें उपार्जन केन्द्र- कलेक्टर

  • खरीदी केंद्रों पर सभी इंतजाम सुनिश्चित करने के कलेक्टर ने दिये निर्देश, कोई भी पात्र हितग्राही राशन से न रहे वंचित - कलेक्टर

sehore news
समर्थन मूल्य पर  गेहूं ,चना, मसूर एवं सरसों की खरीदी कार्य के लिए सभी पूर्व तैयारियां समय सीमा में सुनिश्चित करें। किसानों की सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए केंद्रों पर सभी आवश्यक इंतजाम करने के निर्देश कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने आज टीएल मीटिंग में सभी एसडीएम तथा उपर्जान से संबंधित अधिकारियों को दिए । उन्होने महिला स्वसहायता समूह को उपार्जन केन्द्र देने की कार्यवाही शीघ्र करने के निर्देश दिये। कलेक्टर श्री गुप्ता ने ऐसे गोदामों में उपार्जन केन्द्र नहीं बनाने के निर्देश दिए, जो गोदाम अपूर्ण, निर्मार्णाधीन या उपार्जन नीति के में उल्लेखित नियमों के अनुरूप नहीं है । उन्होनें केवल उन्ही गोदामों में उपार्जन केन्द्र स्थापित करने के निर्देश दिए जो नियमानुसार पूर्ण हो और उपार्जन पोर्टल पर प्रदर्शित हो रहे हैं।   कलेक्टर श्री गुप्ता ने कहा कि उपार्जन केन्द्रों  में आने वाले किसानों को किसी प्रकार की असुविधा न हो। साथ ही उन्होंने किसानों की शिकायतों का तत्काल निराकरण  करने के भी निर्देश दिए । उन्होने सभी अनुविभागीय अधिकारीयों को निर्देश दिये हैं कि वे अपने-अपने क्षेत्रों में उपार्जन, परिवहन एवं भंडारण  की तैयारियों की नियमित समीक्षा करें। चना, मसूर एवं सरसो की खरीदी के लिए निर्धारित केंद्रों का निरीक्षण कर केंद्रों पर बिजली, पेयजल, तुलाई एवं परिवहन आदि आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं। टीएल बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री हर्ष सिंह तथा अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर ने अनेक विभागों के कामकाज की समीक्षा की ।


राशन का समय पर वितरण

कलेक्टर श्री गुप्ता ने टीएल बैठक में खाद्य विभाग की बैठक के दौरान खाद्य अधिकारी को शासकीय उचित मूल्य की दुकानों के नियमित खुलवाने के निर्देश दिये । साथ ही उन्होने कहा कि कोई भी हितग्राही राशन से वंचित ना रहे यह भी सुनिश्चित किया जाये। उन्होने कहा कि सभी पात्र हितग्राहियों को ना केवल पात्रता पर्ची जारी की जाये बल्कि यह भी सुनिश्चत किया जाये कि जिन हितग्राहियों को पर्ची जारी की गई है उन्हें राशन भी मिले । उन्होने पात्र महिला स्वसहायता समूह को शासकीय उचित मूल्य की दुकान आवंटित करने संबंधी कार्यवाही भी शीघ्र करने के निर्देश दिये ।


खाद्य पदार्थो की नियमित जांच के निर्देश

कलेक्टर श्री गुप्ता ने जिले में खाद्य पदार्थो में मिलावट को रोकने के लिए खाद्य एवं औषधि निरीक्षकों द्वारा नियमित नमूने लेकर जांच के उपरांत कार्यवाही करने के निर्देश सीएमएचओ को दिये । उन्होने सभी एसडीएम को यह निर्देश दिये हैं कि खाद्य पदार्थो की जांच के लिए राजस्व, पुलिस तथा खाद्य एवं औषधि निरीक्षकों द्वारा संयुक्त रूप से कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होने कहा कि खाद्य पदार्थो के नमूने  नियमानुसार लिये जायें।


अवैध कॉलोनाइजर एवं अतिक्रमणकारियों के विरूद्ध कार्यवाही के निर्देश

कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने टीएल बैठक में सभी संबंधित अधिकारियों को अवैध कॉलोनियों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही करने के निर्देश एसडीएम को दिये। इसके साथ ही उन्होने शासकीय भूमि से अतिक्रमण हटाने की कार्यवाही सतत जारी रखने के निर्देश दिये। उन्होने रेत अवैध परिवहन को रोकने के लिए जांच नाकों में जांच दल की 24 घंटे उपलब्घता सुनिश्चत करने के निर्देश दिये ताकि बिना रायल्टी के कोई डंपर ना निकले ।


एक जिला एक उत्पाद

आत्म निर्भर भारत अभियान के तहत आत्मनिर्भर मध्यप्रदेश अभियान चलाया जा रहा है ।"एक जिला एक उत्पाद" के  तहत जिले की काष्ठ कला को जिले की पहचान के रूप में स्थापित किया जाना है। उन्होने काष्ठ कला के हस्तशिल्प कलाकारों के प्रशिक्षण के लिए प्रशिक्षण केन्द्र स्थापित करने के निर्देश दिये। प्रशिक्षण केन्द्र के लिए उपयुक्त भूमि का चयन करने के निर्देश बुधनी एसडीएम को दिये। श्री गुप्ता ने जिला उद्योग अधिकारी को काष्ठ कलाकारों के विशेष प्रशिक्षण की व्यवस्था कराने के निर्देश दिये।


आज 06 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई, वर्तमान में कोरोना एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 43


पिछले 24 घंटे के दौरान 06 व्यक्तियों की कोरोना जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई है। सीहोर के बड़ा बाजार छावनी से 02 तथा भोपाल नाका से 01, इछावर के वार्ड क्रमांक 2 से 02 तथा डाक पुलिया से 01 व्यक्ति की जांच रिपोर्ट पॉजीटिव प्राप्त हुई। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने बताया कि वर्तमान में जिले में एक्टिव/पॉजिटिव की संख्या 43 है। आज 02 व्यक्ति रिकवर हुए। अब तक कुल रिकवर की संख्या 2796  है। 48 संक्रमितों की उपचार के दौरान मृत्यु हुई है। आज 239 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 24,  नसरूल्लागंज 30, आष्टा से 75, इछावर से 18, श्यामपुर से 50,  बुदनी से 42 सैम्पल लिए गए है । आज पॉजीटिव मिले नए कंटेनमेंट जोन सहित समस्त कंटेनमेंट एवं बफर जोन में स्वास्थ्य दलों द्वारा सघन स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है। वहीं पॉजीटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्येक कंटेनमेंट जोन में सर्वे के लिए एक से दो दल लगाए गए है । सर्वे दल के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों को बनाया गया है तथा स्वास्थ्य सर्वे दल में ए.एन.एम. आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ताओं की ड्यूटी लगाई गई है। जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 2881 है जिसमें से 48 की मृत्यु हो चुकी है 2796 स्वस्थ होकर डिस्चार्ज हो गए है तथा वर्तमान में एक्टिव/पॉजीटिव की संख्या 43 है। आज 239 सैंपल जांच हेतु लिए गए। कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 78264 हैं जिनमें से 74369 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 339 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 938 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। आज पॉजिटिव मिले नये कन्टेनमेंट झोन सहित समस्त कन्टेनमेंट एवं बफर जोन मे स्वास्थ्य दलों द्वारा स्वास्थ्य सर्वे किया जा रहा है वहीं पॉजिटिव मिले व्यक्तियों के करीबी संपर्क वाले व्यक्तियों की पहचान कर उनकी सूची तैयार की जा रही है। प्रत्ये कन्टेनमेंट जोन मे सर्वे के लिए जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में है उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 काल सेंटर स्थापित किया गया है जिसका संपर्क नंबर-07562 226470 है एवं 1075 नंबर पर कॉल कर जानकारी ली जा सकती हैं। जिला स्तर पर मोबाइल नंबर 9425400273, 9425400453, 9479595519 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर काल करके भी टेलीमेडिसीन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होन कारोन्टाइन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हल्पलाईन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम कारान्टाइन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साईकॉलोजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते है।


गौशाला की आर्थिक मदद करने पर मिलेगी, इनकम टैक्स में छूट


मुख्यमंत्री गौसेवा योजना के अन्तर्गत मध्य प्रदेश सरकार द्वारा समस्त गोवंश प्रेमी जनमानस को गोवंश संरक्षण और गौसेवा में जोड़ने के लिये एक अभियान चलाया गया है। सभी नागरिकों को शासन के गोवंश संरक्षण और गौसेवा अभियान में जोड़ने के लिये गौपालन बोर्ड का पोर्टल www.gopalanboard.mp.gov.in बनाया गया है। कोई भी व्यक्ति जो गौसेवा या संरक्षण के इच्छुक हैं वे मध्य प्रदेश गौपालन बोर्ड के उक्त पोर्टल पर जाकर सीधे किसी भी गौशाला को आर्थिक सहयोग प्रदान कर सकते हैं। लोगों द्वारा किये गये आर्थिक सहयोग पर इनकम टैक्स की धारा-80 जी की छूट का प्रावधान होगा। इसके अलावा गौशाला में स्थाई संरचना बनाने जैसे बोरवेल, शेड, बायोगैस निर्माण तथा पशु आहार के लिये भी दान दिया जा सकता है। यह दान अपने किसी निकटस्थ रिश्तेदार या परिवारजन की याद में उसकी पुण्यतिथि के अवसर पर या घर में बच्चों के जन्मदिवस, या परिवार में शादी की सालगिरह जैसे खुशी के अवसरों पर भी दिया जा सकता है।


नागरिक मानवाधिकार उल्लंघन की ऑनलाइन शिकायत भी कर सकेंगे, अपनी सुविधानुसार किसी भी माध्यम से कर सकते है मानवाधिकार उल्लंघन की शिकायत


राष्ट्रीय मानव अधकार आयोग, नई दिल्ली द्वारा प्राप्त जानकारी अनुसार मानव अधिकारों के उल्लंघन से संबंधित शिकायतों के निराकरण हेतु आयोग में वर्तमान में 06 तरीकों से शिकायतें अग्रेषित की जा सकती हैं। नागरिक ऑनलाइन फ्री पोर्टल www. hrcnet.nic in पत्राचार, मदद टोल फ्री नम्बर 144334, राष्ट्रीय मानव अधिकार आयोग के मदद सेंटर में उपस्थित होकर लिखित शिकायत, मोबाइल नम्बर 9810298900 द्वारा एवं नागरिक सेवा केंद्र (सीएससी) में 30 रुपए का शुल्क जमाकर अपनी शिकायतें दर्ज करा सकते हैं।


हर पेट्रोल पंप स्टेशन पर होगी वाहनों में प्रदूषण की जांच


शासन के परिवहन विभाग द्वारा जिले के सभी डीजल तथा पेट्रोल की बिक्री करने वाले पेट्रोल पंपों पर प्रदूषण नियंत्रण केन्द्र बनाने के निर्देश दिये गये हैं। इस संबंध में जिला खाद्य आपूर्ति नियंत्रक ने निर्देश दिये हैं कि जिले के सभी पेट्रोल तथा डीजल विक्रेता अपने पेट्रोल पंप पर प्रदूषण नियंत्रण केन्द्र की स्थापना करें। जिन पेट्रोल पम्प पर प्रदूषण जाँच केन्द्र स्थापित नहीं हुए हैं उनके विरूद्ध चालानी कार्यवाही की जाएगी। केन्द्र स्थापना के लिये क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी को आवेदन पत्र तत्काल प्रस्तुत करने के निर्देश दिए गए हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: