बेतिया : डायलसिस मरीजों को बेहतर सुविधाएं करें प्रदान : जिलाधिकारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 10 मार्च 2021

बेतिया : डायलसिस मरीजों को बेहतर सुविधाएं करें प्रदान : जिलाधिकारी

  • * जिले के जी.एम.सी.एच. के सी-ब्लाॅक में शुरू हुई डायलसिस की सुविधा
  • * जिलाधिकारी द्वारा किया गया विधिवत उद्घाटन
  • * डायलसिस के लिए पटना अथवा अन्यंत्र जाने वाले मरीजों को होगा फायदा
  • *डायलसिस सेन्टर संचालित करने वाली कंपनी नेफ्रो प्लस ने कहा-मरीजों को अतिथि मानकर दी जायेगी डायलसिस की सुविधाएं

dm-order-proper-treatment-for-dialesis-pataint
बेतिया। स्थानीय जी.एम.सी.एच. के सी-ब्लाॅक के सेकेन्ड फ्लोर पर अवस्थित डायलसिस सेन्टर का विधिवत उद्घाटन आज जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार द्वारा किया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन, अस्पताल अधीक्षक, प्राचार्य सहित अन्य अधिकारी उपस्थित रहे। जिलाधिकारी द्वारा उद्घाटन के पश्चात, डायलसिस सेन्टर में अधिष्ठापित विभिन्न आधुनिक मशीनों, उपकरणों तथा अन्य संसाधनों की बारीकी से जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर डायलसिस सेन्टर को संचालित करने वाली कंपनी नेफ्रो प्लस के प्रतिनिधि ने विस्तारपूर्वक बताया तथा डायलसिस की प्रक्रिया का डेमो भी प्रदर्शित किया। जिलाधिकारी द्वारा जी.एम.सी.एच. में अतिशीघ्र पूर्णरूपेण फंक्शनल होने वाले डायलसिस की सुविधा पर अत्यंत प्रसन्नता व्यक्त की गयी तथा सभी संबंधित अधिकारियों एवं कर्मियों की सराहना की गयी। उन्होंने कहा कि यह जिले के लिए स्वास्थ्य क्षेत्र में एक बड़ी उपलब्धि है। डायलसिस के लिए मरीजों को पटना अथवा अन्य शहरों में जाना पड़ता है, जी.एम.सी.एच. में यह सुविधा शुरू होने से मरीजों को फायदा मिलेगा तथा यही पर उन्हें डायलसिस की उच्च गुणवतापूर्ण सुविधा मुहैया होगी। उन्होंने अस्पताल प्रबंधन तथा डायलसिस सेन्टर को संचालित करने वाली कंपनी के प्रतिनिधि को निर्देश दिया कि मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं प्रदान कराने के लिए सरकार एवं जिला प्रशासन कृत संकल्पित है। डायलसिस सेंटर को अच्छे तरीके से संचालित करें ताकि इसका फायदा मरीजों को सुगमतापूर्वक मिल सके। उन्होंने निर्देश दिया कि विभागीय दिशा-निर्देश के अनुरूप डायलसिस सेन्टर का संचालन पूरी संजीदगी एवं मानवीय संवेदना के साथ कराना सुनिश्चित करें। डायलसिस सेन्टर को संचालित करने वाली कंपनी नेफ्रो प्लस के प्रतिनिधि द्वारा जिलाधिकारी को आश्वत किया गया कि डायलसिस के लिए आने वाले मरीजों को पूरा ख्याल रखा जायेगा। उन्हें अतिथि मानकर बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करायी जायेगी। उन्होंने बताया कि बीपीएल धारी/आयुष्मान भारत योजना के मरीजों को निःशुल्क डायलसिस की सुविधा दिया जायेगा। साथ ही मरीजों को डायलसिस में उपयोग होने वाली दवा (ई.पी.ओ., ऑयरन) भी निःशुल्क दिया जायेगा। जिन व्यक्तियों के पास बीपीएल राशन कार्ड नहीं है उनके लिए 1634.00 रू0 (ई.पी.ओ., ऑयरन) के साथ दिया जायेगा। जो मरीज एचसीएन से ग्रसित हैं उनको भी अलग से एक वार्ड में यह सुविधा प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि डाॅक्टर की सलाह के अनुसार पीएचएच लाभार्थियों को अधिकतम 13 डायलसिस प्रति माह प्रति मरीज निःशुल्क दिया जायेगा।

कोई टिप्पणी नहीं: