महंगाई के मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही बाधित - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

सोमवार, 8 मार्च 2021

महंगाई के मुद्दे पर विपक्ष के हंगामे के कारण लोकसभा की कार्यवाही बाधित

opposition-roar-in-parliament
नयी दिल्ली, 08 मार्च, लोकसभा के बजट सत्र के दूसरे चरण के पहले दिन/दिन सदन में विपक्षी सदस्यों ने देश में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम बढ़ने और उससे महंगाई बढ़ने को लेकर हंगामा किया जिससे सदन की कार्यवाही दो घंटे के लिए स्थगित करनी पड़ी। अध्यक्ष ओम बिरला ने पांच बजे सदन के समवेत होने पर अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस पर देश विदेश की महिलाओं के लिए बधाई एवं शुभकामना का संदेश पढ़ा और उसके बाद कहा कि उन्हें पेट्रोलियम पदार्थाें के दामों में महंगाई के मुद्दे पर स्थगन प्रस्ताव मिले हैं। इन मुद्दों पर वित्त विधेयक पर विचार के दौरान चर्चा हो सकती है। इसके बाद उन्होंने सदन के पटल पर आवश्यक दस्तावेज रखवाये। विपक्ष के सदस्य इससे उत्तेजित होकर सदन के बीचोंबीच आ गये और पेट्रोल, डीजल एवं रसोई गैस के दामों में वृद्धि के खिलाफ नारे लगाने लगे। इसबीच श्री बिरला ने कहा कि आठ मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर सदन की महिला सदस्य महिलाओं की उपलब्धियाें एवं सशक्तीकरण पर चर्चा करना चाहतीं हैं। सभी सदस्यों को अपनी सीट पर बैठ कर उनकी बात सुननी चाहिए। लेकिन विपक्षी सदस्यों का शोर शराबा जारी रहा। कांग्रेस के नेता अधीर रंजन चौधरी ने कहा कि सरकार काे आज ही महिला आरक्षण विधेयक पारित करना चाहिए। देश में गैस, डीजल एवं पेट्रोल केे दाम बढ़ने से महिलाओं को भी तकलीफ हो रही है। इसके बाद उनका माइक बंद हो गया। श्री बिरला की अनुमति से संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने कहा कि लोकसभा अध्यक्ष ने आज का सदन महिलाओं को समर्पित किया है और वे ही आसन पर विराजें एवं कार्यवाही का संचालन करें। ऐसी व्यवस्था दी है। सरकार महिला सशक्तीकरण पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव को नियम 193 के तहत चर्चा में बदलने को तैयार है। अध्यक्ष ने सुश्री नवनीत रवि राणा के महिला सशक्तीकरण पर ध्यानाकर्षण प्रस्ताव पर चर्चा आरंभ कराते हुए सबसे पहले शिराेमणि अकाली दल की श्रीमती हरसिमरत कौर बादल का नाम पुकारा। श्रीमती बादल ने कहा कि गैस, डीजल और पेट्रोल के दाम बढ़ने से महंगाई बढ़ रही है और देश भर की महिलाएं इससे परेशान हैं। कच्चा तेल इतना सस्ता होने के बाद देश में पेट्रोलियम पदार्थों के दाम आसमान छू रहे हैं। उन्होंने कांग्रेस को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि पंजाब में कांग्रेस की सरकार ने वैट की दरें बहुत ज्यादा की हुईं हैं। इस लिए कांग्रेस को इस विषय पर बोलने का हक नहीं है। इसबीच शोर शराबा होता रहा। अध्यक्ष ने सदस्यों ने बार बार अपील की कि वे महिलाओं के बारे में चर्चा हाेने दें लेकिन शोर नहीं थमा जिसके बाद श्री बिरला ने कार्यवाही सात बजे तक स्थगित करने की घोषणा कर दी। इससे पहले चार बजे कार्यवाही शुरू होने पर वर्तमान सदन के सदस्य मोहन एस डेलकर एवं नंदकुमार चौहान तथा सात पूर्व सदस्यों के निधन पर मौन रखकर उन्हें श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद अध्यक्ष ने दिवंगत सदस्यों के सम्मान में सदन की कार्यवाही एक घंटे के लिए पांच बजे तक स्थगित कर दी थी।

कोई टिप्पणी नहीं: