राजद के विधानसभा मार्च के दौरान हुई झड़प में 70 कार्यकर्ता घायल - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 24 मार्च 2021

राजद के विधानसभा मार्च के दौरान हुई झड़प में 70 कार्यकर्ता घायल

rjd-protest-70-injured-bihar-assembly
पटना 23 मार्च बिहार के मुख्य विपक्षी राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधानसभा मार्च के दौरान आज हुई झड़प की घटना में पुलिसकर्मी समेत 70 कार्यकर्ता घायल हो गए। युवा राजद की ओर से बेरोजगारी, अपराध, महंगाई और पुलिस कानून समेत अन्य जन सरोकार से जुड़े मुद्दे को लेकर राजधानी के ऐतिहासिक गांधी मैदान से राजभवन मार्च विधानसभा में प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव और उनके बड़े भाई एवं विधायक तेज प्रताप यादव के नेतृत्व में निकाला गया।   पटना जिला प्रशासन ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए अनुरोध किया था कि मार्च निकालकर निर्धारित धरना स्थल गर्दनीबाग में ही धरना दें। इसके बावजूद मार्च निकाला गया। गांधी मैदान से मार्च के निकलते ही जेपी गोलंबर पर पहले से बैरिकेडिंग लगाकर दंडाधिकारी की मौजूदगी में बड़ी संख्या में तैनात पुलिस के जवानों ने कार्यकर्ताओं को रोकना चाहा, तभी विपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप के वहां पहुंचते ही उत्साहित कार्यकर्ताओं ने पुलिस बैरिकेडिंग को हटाकर आगे बढ़ गए। पुलिस के समझाने के बाद भी उन पर कोई असर नहीं हुआ। राजद कार्यकर्ता सरकार के विरोध में नारेबाजी करते हुए जैसे ही डाकबंगला चौराहा पर पहुंचे तभी पुलिस ने उन्हें रोका। इसके बाद भी कार्यकर्ता आगे बढ़ने के लिए बैरिकेडिंग को हटा दिया। पुलिस के समझाने पर भी कार्यकर्ता नहीं माने तब पहले वाटर कैनन का इस्तेमाल किया गया। इस पर भी कार्यकर्ता आगे बढ़ते रहें, तब जाकर पुलिस को लाठी चार्ज करनी पड़ी। इस दौरान पुलिस ने प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी प्रसाद यादव और उनके बड़े भाई तेजप्रताप को सुरक्षा घेरे में लेकर वाहन से जाने लगे। इसे देखकर कार्यकर्ता और उग्र हो गए और अपने नेता को छोड़ने की मांग करने लगे। इस पर प्रतिपक्ष के नेता ने कार्यकर्ताओं को समझाया तब कुछ देर के लिए मामला शांत हुआ। इसके बाद राजद कार्यकर्ता फिर से एकजुट होकर सरकार के खिलाफ नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान पथराव भी किया गया, जिसको देखते हुए पुलिस को लाठीचार्ज करनी पड़ी। पुलिस की लाठी से बचने के लिए कई लोग इधर-उधर भागते भी नजर आए। पथराव और झड़प की घटना में जहां पांच पुलिसकर्मियों को चोटें आई हैं वहीं लगभग 65 कार्यकर्ता घायल हुए हैं। घायलों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया है। 

कोई टिप्पणी नहीं: