विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 मार्च - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 10 मार्च 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 मार्च

श्रद्धा-भक्ति के विषेष केन्द्र बने


vidisha news

विदिषा-10 मार्च 2021/भगवान श्री षिवषंकर के जगतजननी माँ पार्वती के साथ मंगल परिणय के परम दिव्य-भव्य महापर्व महाषिवरात्र की पूर्व बेला में स्थानीय किलेअन्दर स्थित श्री बालाजी मंदिर में प्रतिष्ठापित पंचमुखी भगवान श्री षिवषंकर श्रद्धालुओं की श्रद्धा-भक्ति के विषेष केन्द्र बने हुए हैं।


मुख्यमंत्री जी द्वारा वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से चर्चा 


vidisha news

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने आज वीडियो कांफ्रेसिग के माध्यम से प्रदेश के सभी कलेक्टर, कमिश्नर, आईजी, डीआईजी और पुलिस अधीक्षको के साथ विभिन्न मुद्दो पर समीक्षा कर चर्चा की है।  विदिशा के एनआईसी व्हीसी कक्ष में कलेक्टर डॉ पंकज जैन, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, अपर कलेक्टर श्री वृदांवन सिंह, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक श्री संजय साहू के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी उपस्थित रहें।


फसलीय डंठल जलाने वालो पर कार्यवाही 


कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी डॉ पंकज जैन ने धारा 144 के अंतर्गत जिले में खासकर ग्रामीण क्षेत्रों में खाली खेतो में फसल काटने के बाद खेत में लगे हुए रबी फसल के डंठलो को जलाने के लिए कृषको द्वारा खेत में आग लगाकर खेत साफ किए जाते है जिस पर अविलम्ब प्रतिबंध लगाने का आदेश जिले की राजस्व सीमा में आठ मार्च से प्रभावशील हो गया है।  नरवाई जलाने के कारण आस-पास के ग्रामो में वन संपदा के जलने का भय बना रहता है साथ ही खलिहानो से गुजर रही विद्युत लाइन में स्पार्किंग आदि होने के कारण आग लगने की संभावना बनी रहती है जिसके आकरण ही जनमाल की क्षति होने का खतरा बना रहता है। जिला मजिस्ट्रेट डॉ पंकज जैन ने दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 (1) के अंतर्गत प्रदत्त शक्तियों का उपयोग करते हुए जिले की राजस्व सीमा में फसल काट लेने के उपरांत खेतो की नरबाई को जलाने के लिए आग नही लगाएं और ना ही खलिहानो के आस-पास होकर गुजर रही बिजली की लाइन पर कोई वायर अथवा तार का उपयोग ना करें।  जिले में कृषको द्वारा गेंहू की फसल कटाई हेतु हार्वेस्टर एवं रीपर बाईण्डर का उपयोग करने के पश्चात् थ्रेसिंग करने के कारण जो भूसा निकलता है उसके आसपास पानी की टंकियो में मोटर इत्यादि लगाकर पाइप से सिंचाई करने एवं अग्निशामक यंत्र रखना अनिवार्य किया गया है।  कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट डॉ जैन के द्वारा जारी आदेश की सूचना संबंधित ग्रामीण एवं नगरीय क्षेत्रों में सर्वसाधारण को ध्वनि विस्तारक यंत्रो के माध्यम से दी जाए तथा आदेश की एक-एक प्रति ग्राम पंचायत, नगरपालिका, नगर पंचायतों के नोटिस बोर्ड पर जन सामान्य की जानकारी हेतु चस्पा की जाए। इसी प्रकार उप खण्ड मजिस्ट्रेट, तहसीलदार, नायब तहसीलदार, जनपद सीईओ एवं एसडीओपी तथा थाना कार्यालयों के नोटिस बोर्ड पर भी उपरोक्त आदेश की प्रति चस्पा कराने हेतु संबंधितों को निर्देश प्रसारित किए गए है।


वन्य प्राणियों द्वारा मकानों को पहुँचाई क्षति भी प्राकृतिक आपदा घोषित’


वन्य प्राणियों द्वारा मकान में पहुँचाई गई क्षति को भी प्राकृतिक प्रकोपों से होने वाली हानि की श्रेणी में शामिल किया गया है। विगत दिनों प्राकृतिक प्रकोपों से होने वाली हानि के वर्तमान में प्रावधानित मानदंडों में संशोधन करते हुए अब किसी भी प्रकार के प्राकृतिक प्रकोप या आग लगने के कारण या वन्य प्राणियों द्वारा मकान पूर्ण रूप से नष्ट किया गया हो अथवा आंशिक रूप से क्षतिग्रस्त हुआ हो तो उसे भी आर्थिक अनुदान सहायता दी जा सकेगी।  इसके साथ ही प्राकृतिक प्रकोप या अग्नि दुघर्टना के साथ वन्य प्राणियों द्वारा पीड़ित परिवार के कपड़े, खाद्यान्एवं बर्तनों की हानि के लिए प्रति परिवार 5 हजार रूपये आर्थिक अनुदान के रूप में तथा 50 कि.ग्रा. खाद्यान्न (गेंहूँ, चावल) एवं पांच लीटर केरोसीन तात्कालिक सहायता के रूप में दिये जायेंगे। इसके साथ अप्रत्याशित प्राकृतिक आपदाओं के मामलों में एसडीआरएफ (स्टेट डिजास्टर रिस्पोंस फंड) से राहत राशि व्यय में ऐसे मद भी शामिल किए गए हैं, जिनके विषय में कोई स्पष्ट प्रावधान नहीं था।


’क्षतिग्रस्त फसल के लिए न्यूनतम मुआवजा 5 हजार’

प्राकृतिक आपदा से क्षतिग्रस्त फसल के मामलों में अब देय अनुदान सहायता से कम मूल्य की फसल क्षति हुई हो तो भी अनुदान सहायता नष्ट हुई फसल के मूल्य के बराबर देय होगी तथा प्रत्येक खाते हेतु सभी फसलों के मामले में देय राशि 5 हजार से कम नहीं होगी। 


आयुष्मान भारत ‘’निरामयम’’ योजना अंतर्गत जिले में पात्र नागरिक  अधिक से अधिक आयुष्मान कार्ड बनवाये


जिले में आपके द्वार आयुष्मान अभियान के तहत 31 मार्च तक निःशुल्क आयुष्मान कार्ड बनाये जायेंगे। जिले में आयुष्मान कार्ड बनाने का अभियान चलाया जा रहा है। जिले के सभी पात्र नागरिक आयुष्मान कार्ड बनवाए और योजना का लाभ उठाए। आयुष्मान भारत योजना के अंतर्गत प्रति वर्ष पात्र परिवार को 5 लाख रूपये तक का इलाज मुफ्त मिलेगा। आयुष्मान भारत ‘’निरामयम’’ योजना का उद्देश्य गरीब एवं असहाय परिवारों को गुणवत्तापूर्ण इलाज समय पर उपलब्ध कराना है। सभी संबल कार्ड धारी, खाद्यान पर्ची धारी एवं ऐसे सभी लोग जिनका नाम एस.ई.सी. सूची में हैं। वे सभी आयुष्मान कार्ड के लिए पात्र है। कार्ड बनवाने के लिए अपनी परिवार समग्र आई.डी., आधार कार्ड, मतदाता पहचान पत्र, राशन कार्ड इनमे से कोई भी दस्तावेज लेकर पहुचना है। ऐसे परिवार जिनमें मुखिया का आयुष्मान कार्ड बना है। वे अपने परिवार के अन्य सभी सदस्यों का कार्ड बनवाएं। यदि लाभार्थी कार्ड बनवाने में कोई समस्या आती है तो लोक सेवा केन्द्र के हेल्पडेस्क कर्मचारी से सहायता लें सकते है। आयुष्मान कार्ड संबंधि अधिक जानकारी के लिए नागरिक टोल फ्री नम्बर 1800111565/14555 पर कॉल कर सकते हैं या वेबसाइट https://pmjay.gov.in   पर लॉग इन करने के अलावा लोक सेवा केन्द्र या जन सेवा केन्द्र (सीएससी) संपर्क कर सकते हैं।


’बायोगैस संयंत्र पोर्टल पर दर्ज होंगे आवेदन’


उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास ने बताया कि नवीन और नवीकरणीय ऊर्जा मंत्रालय ने लघु बायो-गैस संयंत्र (उत्पादन क्षमता 1 से 25 घन मीटर बायो गैस प्रति दिन) के लिये निःशुल्क ऑनलाईन (कम्प्यूटरीकृत) बायो गैस वेब पोर्टल की शुरुआत की है। सभी बायो-गैस इच्छुक उपयोगकर्ता, किसान, व्यक्ति बायो गैस संयंत्र के लिए अपना आवेदन पोर्टल पर दर्ज कर सकते हैं। बायो गैस वेब पोर्टल पर लाभार्थी के आधार कार्ड नंबर,  मोबाइल नंबर व अन्य जानकारियां ध्यान से भरने को कहा गया है। वेब पोर्टल के लिंक https://biogas.mnre.gov.in के माध्यम से इच्छुक उपयोगकर्ता, किसान, व्यक्ति अपना आवेदन दर्ज कर सकते हैं। 


आवास योजना का पोर्टल पुनः किया गया है ओपन, विद्यार्थी करे अपना आवेदन


जनजातीय कार्य विभाग ने वर्ष 2018 -19 एवं 2019-20 के लिये आवास सहायता योजना का पोर्टल MPTAAS को पुनः ओपन किया है। अतः महाविद्यालय के ऐसे विद्यार्थी जो अभी तक किसी कारणवश अपने आवास सहायता योजना का आवेदन नहीं कर पाये थे, वे तत्काल अपना आवेदन पोर्टल पर दर्ज कराये । जिससे उन्हें योजनानुसार लाभ प्राप्त हो सके ।


एकीकृत बागवानी विकास मिशन (MIDH) योजना के अतिरिक्त लक्ष्य तय


उद्यानिकी विभाग द्वारा वर्ष 2020-21 के लिए विभिन्न घटकों में संकर सब्जी क्षेत्र विस्तार, जैविक खेती वर्मी बेड,बागवानी यंत्रिकरण नेपसैक स्प्रेससर/विद्युत चलित स्प्रेयर, एवं पोर्टेबल स्प्रिंकलर के अतिरिक्त वर्गवार लक्ष्य प्राप्त हुए हैं। एकीकृत बागवानी विकास मिशन योजना के तहत वर्ष 2020-21 के अतिरिक्त प्राप्त भौतिक वर्गवार लक्ष्यों की पूर्ति मॉलल विकास खण्ड में प्राथमिकता के साथ लाभ देने के निर्देश प्राप्त हुए है।   उद्यानिकी विभाग के सहायक संचालक श्री केएल व्यास ने किसानों से अनुरोध किया है कि वर्ष 2020-21 के अतिरिक्त प्राप्त भौतिक लक्ष्यों का अधिक से अधिक लाभ प्राप्त किया जा सकता है, योजनाओं में लाभ प्राप्त करने के लिए एम.पी.एफ.एस.टी.एस. पोर्टल पर पंजीयन कराकर लाभ प्राप्त किया जा सकता है। पंजीयन व आवेदन करने के लिए खाता खसरा नकल, बैंक पास बुक, पासपोर्ट साईज का फोटो, आधार कार्ड एवं मोबाईल नंबर अनिवार्य है। 


शिक्षक पद के अभ्यर्थियों के दस्तावेजों का सत्यापन अप्रैल में होगा


उच्च माध्यमिक शिक्षक और माध्यमिक शिक्षक पद के अभ्यर्थियों के दस्तावेजों के सत्यापन की प्रक्रिया शुरू की जा रही है। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा उच्च माध्यमिक शिक्षक के पद के लिए 1,3,5,8, 9 व 10 अप्रैल तथा माध्यमिक शिक्षक पद के लिए 15, 16, 17, 22, 23 एवं 24 अप्रैल को दस्तावेज सत्यापन की कार्यवाही संपन्न की जाएगी। लोक शिक्षण संचनालय द्वारा इस संबंध में निर्देश जारी कर दिए गए हैं। उल्लेखनीय है कि उच्च माध्यमिक शिक्षक एवं माध्यमिक शिक्षक पद पर भर्ती के लिए प्रावधिक चयन सूची जारी की गई थी। शिक्षकों के इन पदों के अभ्यर्थियों के दस्तावेज सत्यापन की कार्यवाही कोरोना महामारी के कारण गत 4 जुलाई 2020 को स्थगित की गई थी, जिसे अब पुनः शुरू किया जा रहा है।


जिले को मिली अत्याधुनिक ‘‘ ब्लड डोनेशन केम्प ऑन व्हील ‘‘ वाहन


अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस पर जिले को अत्याधुनिक ‘‘ ब्लड डोनेशन केम्प ऑन व्हील ‘‘ वाहन भोपाल से प्रदान किया गया है। सिविल सर्जन सह अधीक्षक डॉ संजय खरे ने खुशी व्यक्त करते हुये बताया कि जिले को यह वाहन मिल जाने से अब ऐसे क्षेत्र में भी पहुंचकर रक्तदान शिविर आयोजित किये जा सकते है। जहॉ पर कोई भवन या बिजली की सुविधा नही है। उन्होने बताया कि इस वाहन के माध्यम से अब रक्तदान, महादान का संदेश भी जन-जन तक पहुंचाने में सहुलियत होगी । अत्याधुनिक वाहन में इन्वर्टर के साथ-साथ तीन बैटरी, एक जनरेटर, दो ब्लड डोनेशन कोच, ढेड टन का एसी, दो रक्त चेयर के साथ - साथ एक फ्रिज एवं दो ब्लड रखने का फ्रिज संलग्न है। जिसके माध्यम से अब दूर - दूर क्षेत्रों से रक्त सग्रहित सुरक्षित तरीके से लाया जा सकता है। 


‘‘मिशन नगरोदय’’ कार्यक्रम का आयोजन 12 मार्च को


मध्यप्रदेश शासन नगरीय विकास एवं आवास विभाग के निर्देशानुसार समस्त नगरीय क्षेत्रों में अधोसंरचना विकास को गति देने तथा हितग्राहीमूलक योजनाओं का लाभ नागरिकों को पहुंचाने के उद्देश्य से प्रदेश में ‘‘मिशन नगरोदय’’ कार्यक्रम का आयोजन 12 मार्च को समस्त नगरीय निकायों में किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में हितग्राहीमूलक योजनाओं के लाभ का वितरण तथा नगरीय अधोसंरचना के भूमिपूजन एवं लोकार्पण की कार्यवाही भी की जावेगी। समस्त नगरपालिका, नगर परिषद के मुख्य नगरपालिका अधिकारियों को निर्देश दिए है कि वे शासन द्वारा दिए गए निर्देशानुसार उक्त कार्यक्रम का आयोजन किए जाने के लिए समस्त आवश्यक तैयारियां एवं व्यवस्थाएं सुनिश्चित करें। इस कार्यक्रम में समस्त नगरीय जनप्रतिनिधियों, प्रबृद्ध नागरिकों एवं मीडिया को भी आमंत्रित किया जावे तथा प्रदेश के मुख्यमंत्री के कार्यक्रम का प्रत्येक निकाय में लाइव प्रसारण किए जाने हेतु सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जावे। कार्यक्रम का व्यापक प्रचार-प्रसार, फेसबुक, ट्विटर व अन्य सोशल मीडिया के माध्यम से कार्यक्रम की व्यवस्था भी करने के निर्देश दिए। साथ ही पर्याप्त प्रचार-प्रसार करने के निर्देश दिए। कार्यक्रम उपरांत विभिन्न हितग्राहीमूलक योजनान्तर्गत लाभान्वित हितग्राहियों की मदवार संख्या एवं उनकी नामजद जानकारी तथा अधोसंरचना अन्तर्गत भूमिपूजन एवं लोकार्पण किए गए कार्यो की जानकारी तत्काल उपलब्ध कराने के निर्देश भी दिए।


नवीन मतदाताओं के ई-ईपिक डाउनलोड करने के लिए 13 मार्च को मतदान केंद्रों पर विशेष कैंप का आयोजन


मतदाता सूची के संक्षिप्त पुनरीक्षण-2021 में शामिल नवीन मतदाताओं के ई-ईपिक डाउनलोड करने के लिए 13 मार्च को संबंधित मतदान केंद्रों पर विशेष कैंप का आयोजन किया जावेंगा। उप जिला निर्वाचन अधिकारी श्री कुमार शानू देवड़िया ने बताया कि  जिले की पांचो विधानसभा क्षेत्रों के समस्त मतदान केन्द्रों पर 13 मार्च को विशेष कैंप लगाने तथा केम्प आयोजन की स्वीप गतिविधियां भी किए जाने के निर्देश दिए है।  पूर्व शेष रहे मतदाताओं के ई-ईपिक डाउनलोड कराने के लिए बीएलओ को मतदाता के घर-घर जाकर नए मतदाताओं को उनके ई-ईपिक डाउनलोड कराए जाने के निर्देश दिए है। ई-ईपिक डाउनलोड कराकर 15 मार्च तक जिला निर्वाचन कार्यालय को प्रतिवेदन प्रस्तुत करने के लिए भी निर्देशित किया।


नलो में टोंटी लगाने का कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित करें


vidisha news
नटेरन एसडीएम श्री प्रवीण प्रजापति ने आज अनुविभाग क्षेत्र के पंचायत सचिव एवं जीएआरएस की बैठक आयोजित कर उन्हें नलो में टोंटी लगाने का कार्य अभियान के रूप में क्रियान्वित करने के निर्देश दिए है।  एसडीएम श्री प्रजापति ने बताया कि नटेरन विकासखण्ड में 57 नलजल योजना संचालित की जा रही है। सभी नलजल योजना से ग्रामीणजनों को पेयजल की आपूर्ति सुनिश्चित हो खासकर ऐसे नल कनेक्शन जिनमें टोंटी नही लगी है अविलम्ब टोंटी लगाने का कार्य प्रत्येक पंचायत स्तर पर समयावधि में पूरा किया जाए।  जल संरचनाओं के निर्माण व जल संवर्धन के कार्यो के संबंध में भी उनके द्वारा आवश्यक मार्गदर्शन दिया गया है। इसी प्रकार ऐसे हेण्डपंप जिनमें पाइप बढाने की आवश्यकता परलिक्षित होती है तो अविलम्ब लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के माध्यम से उपरोक्त कार्य समय सीमा में पूरा किया जाए।  एसडीएम श्री प्रजापति ने ग्रामीण क्षेत्रों में पेयजल आपूर्ति के संबंध में किसी भी प्रकार की दिक्कतो का सामना ना करना पडे इसके लिए उन्होंने ग्राम स्तरीय अमले को कार्य क्षेत्रों में सतत भ्रमण कर अविलम्ब हर रोज जानकारी संकलित करें कि उनके कार्य सीमा क्षेत्र में कितने हेण्डपंप, नलजल योजना है और वे सब क्रियाशील है कि नहीं। जहां कही ऐसी जानकारी प्राप्त होती है कि हेण्ड पंप, नलजल योजना बंद हो गई है उन कारणो का अविलम्ब पता लगाते हुए तत्काल कंट्रोल रूम को सूचित करें ताकि सुधार कार्य शीघ्र सम्पादित हो सकें। नटेरन जनपद पंचायत के सभागार कक्ष में सम्पन्न हुई उक्त बैठक में तहसीलदार, नायब तहसीलदार, जनपद सीईओ, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारी भी मौजूद रहें। क्रमांक 105/अहरवाल

कोई टिप्पणी नहीं: