बिहार : नीतीश को जनता की जान का नहीं परवाह : तेजस्वी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 24 अप्रैल 2021

बिहार : नीतीश को जनता की जान का नहीं परवाह : तेजस्वी

tejaswi-attack-nitish-on-covid-failure
पटना : बिहार में बढ़ते कोरोना संक्रमण के बीच लोगों के बीच डर का माहौल है। वहीं बिहार सरकार के तरफ से अभी भी इसके इलाज को लेकर मुकम्मल व्यवस्था नहीं की गई है। बिहार के अधिकतर अस्पतालों में बेड नहीं है, और जहां बेड है वहां ऑक्सीजन नहीं और यदि अगर आपको बेड और ऑक्सीजन मिल गया तो दवाईयां नहीं मिल पाएगी। वहीं इस बीच नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने इसको लेकर बड़ा हमला बोला है। नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव ने ट्वीट के एक अखबार की कटिंग ट्वीट करते हुए कहा कि यह खबर नहीं है बल्कि बिहार NDA के 48 सांसदों, BJP-JDU की केंद्र और राज्य सरकार के निकम्मेपन,नकारेपन,मसखरेपन व नाकामियों का दस्तावेज है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि उनके द्वारा पिछले कितने दिनों से हाथ जोड़ प्रार्थना कर रहा हूँ कि 500 बेड से सुसज्जित ESIC के इस हॉस्पिटल को शुरू कर दिजीए लेकिन अधर्मी सरकार ऐसा नहीं करेगी चाहे लोग मरे तो मरे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि क्या बिहार के मुख्यमंत्री, दो-दो उपमुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्रियों और किसी भी सांसद की हैसियत नहीं कि इस अस्पताल को यथाशीघ्र शुरू करवा सके? क्या बिहार और केंद्र सरकार मिल कर कुछ डॉक्टर और स्वास्थ्यकर्मियों की यहाँ नियुक्ति नहीं कर सकती ताकि मरीज़ों को वापस लौटना और मरना ना पड़े। मालूम हो कि तेजस्वी यादव इससे पहले बिहार की जनता के नाम एक खुला पत्र भी लिखा था। जिसमें बिहार की स्वास्थ्य व्यवस्था का जिक्र करते हुए उन्होंने अपील की थी कि लोग कोरोना से बचाव के लिए खुद से गाइडलाइन का पालन करें।

कोई टिप्पणी नहीं: