झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 मई 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 मई

कलेक्टर केयर-एक पहल


jhabua news
झाबुआ,। जिला अस्पताल झाबुआ में कोविड-19 महामारी से जूझ रहे मरीजों की समुचित देखभाल हो, इसके लिये कलेक्टर द्वारा एक संवेदनशील पहल का आह्वान किया गया है। इसके अंतर्गत कलेक्टर द्वारा रात्रि 10 से 11 बजे के बीच एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत श्री सिद्धार्थ जैन द्वारा प्रातः काल मरीजों से मोबाईल द्वारा वीडियो काॅल के माध्यम से वार्तालाप की जाती है। वार्तालाप में अधिकारी मरीज की स्थिति दवाओं तथा अन्य सुविधाएं प्राप्त होने एवं डाॅक्टर द्वारा लगातार निरीक्षण किये जाने की पुष्टि करते है। इस पहल से मरीजों की जरूरत आवश्यकताओं की पूर्ति करने में एवं स्वास्थ्य विभाग को संवेदनशील बनाए रखने में सहायता मिलती है। इससे मूलभूत सेवाएं जैसे पेयजल व्यवस्था, भोजन आदि मरीजों को सुनिश्चित करना हो जाता है। विगत दिवस में कलेक्टर द्वारा इसी पहल के अंतर्गत रात्रि 11 बजे जिला अस्पताल में भर्ती बाबूलाल भूरिया, उम्र 55 वर्ष से बात कर उन्हें रेमडेसिविर इंजेक्शन प्राप्त होने उपरांत हालत में सुधार होना ज्ञात हुआ। इसी प्रकार सुशीला चैहान, उम्र 34 वर्ष की  हालत भर्ती के दिन आॅक्सीजन लेवल 70 प्रतिशत से सुधरकर 86 प्रतिशत होना ज्ञात हुआ। कई अन्य पहल के साथ कलेक्टर केयर के द्वारा लोगों की जान की सुरक्षा कर प्रशासन एक मानवीय कदम उठाने का प्रयास कर रहा है।


माननीय प्रभारी मंत्री श्री हरदीप सिंह जी डंग की अध्यक्षता में जिला आपदा प्रबंधन की बैठक


झाबुआ, । माननीय श्री हरदीप सिंह डंग, मंत्री, नवीन एवं नवकरणीय उर्जा, पर्यावरण म.प्र.शासन भोपाल एवं प्रभारी मंत्री जिला झाबुआ की अध्यक्षता में जिले मंे कोविड-19 (कोरोना वायरस) संक्रमण की तीव्रता को देखते हुए मैदानी स्तर पर महामारी की रोकथाम हेतु जिले में भारत सरकार एवं राज्य शासन के दिशा-निर्देशों के अनुक्रम में दिनांक 5.5.2021 को सांय 5 बजे स्थान कलेक्टोरेट सभाकक्ष में जिला आपदा प्रबंधन की बैठक आहुत की गई है। बैठक में समिति के सदस्य एवं जिला अधिकारी उपस्थित रहेंगे।


जिला प्रशासन द्वारा पत्रकारों को आयुष विभाग द्वारा निर्मित इम्युनिटी कीट का वितरण


jhabua news
झाबुआ। जिला प्रशासन द्वारा पत्रकारों को आयुष विभाग द्वारा निर्मित इम्युनिटी कीट का वितरण किया गया। कलेक्टर सभा कक्ष में यह आयोजन किया गया था। जिसमे  बडी संख्या में  पत्रकारों द्वारा इसका लाभ उठाया गया। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा एवं डिप्टी कलेक्टर श्रीमती अंकिता प्रजापति इस आयोजन में उपस्थित थे। जिनके मार्गदर्शन में यह आयोजन सफल रहा।  श्री मिश्रा ने अपने उद्बोधन में कहा कि पत्रकार लोकतंत्र का चैथा स्थम्भ है एवं फ्र्रन्टलाईन कोरोना यौद्धा के रूप में कार्य कर रहे है एवं  वर्तमान में चल रहे कोरोना संक्रमण के समय अपनी सेवाएं निरंतर दे रहे है। इसी को मददे नजर रखते हुए आयुष विभाग द्वारा निर्मित इम्युनिटी कीट से कोरोना संक्रमण से बचाव सम्भव हो सकेगा। इस इम्युनिटी कीट में रखी दवाईयों के बारे में आयुष विभाग से उपस्थित डाॅक्टर द्वारा इन दवाईयों के बारे में विस्तृत रूप से जानकारी उपलब्ध करवाई गई। कलेक्टर श्री मिश्रा द्वारा पत्रकारों द्वारा पुछे गये प्रश्नों का समाधान किया गया। अन्त में आभार प्रभारी जिला जनसंपर्क अधिकारी श्री सुधीर कुशवाह द्वारा माना गया।


कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम 5 मई 2021 से समस्त 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग हेतु प्रारम्भ


झाबुआ,। मध्य प्रदेश शासन के द्वारा दिनांक 5 मई 2021 से समस्त 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग हेतु कोविड-19 टीकाकरण कार्यक्रम प्रारंभ किया जा रहा है इसके अनुपालन में झाबुआ जिले में भी 5 मई 2021 से जिला मुख्यालय झाबुआ के शासकीय बुनियादी स्कुल पर 18 वर्ष से अधिक आयु वर्ग का कोविड-19 टीकाकरण सत्र प्रारंभ किया जायेगा । ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन प्रक्रिया  से पंजीयन कर शेड्युल प्राप्त करने उपरॉत ही टीकाकरण किया जाएगा ।अतः दिनॉक 5/5/21 को टीकाकरण उनका पहले होगा जिन्होने अपना पंजीयन भारत शासन द्वारा प्रदत्त लिंक ेमसतिमहपेजतंजपवदण्बवूपदण्हवअण्पद और ंतवहलेमजन ंचच से अपना पंजीयन कराया होगा।जिन हितग्राहीयो ने पूर्व से पंजीयन कर लिया है वे पुनः आनलाईन जाकर  रिशेड्युल कर टीकाकरण सुविधा का लाभ लेवें। 5 व 6 मई  को 100-100 हितग्राही प्रतिदिन  8 व 10 मई को 200-200 हितग्राही प्रतिदिन व 12/13/15 मई को 300 -300 हितग्राही प्रतिदिन कोवीड 19 के टीके शासन के दिशा निर्देशानुसार लगाये जायेंगे।


पश्चिम बंगाल हिंसा के विरोध में भाजपा का धरना प्रदर्शन 5 मई को


झाबुआ । पश्चिम बंगाल में भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्ताओं को निशाना बनाने को लेकर जिला भाजपा का धरना प्रदर्शन कल दिनांक 05 ध्05ध्2021 को जिला भारतीय जनता पार्टी के मीडिया प्रभारी योगेन्द्र नाहर ने बताया कि पश्चिम बंगाल में हो रही हिंसा एवं अराजकता को लेकर भारतीय जनता पार्टी द्वारा प्रदेश व्यापी सांकेतिक धरना प्रदर्शन का आयोजन किया जा रहा है।उसी कड़ी में जिला भारतीय जनता पार्टी द्वारा पश्चिम बंगाल हिंसा के विरोध में कोविड नियमो को ध्यान में रखते हुए सांकेतिक धरना प्रदर्शन का आयोजन किया गया है इस हेतु जिला भारतीय जनता पार्टी द्वारा 19 मंडलो के प्रभारियों की घोषणा की गई ।झाबुआ मंडल माननीय सांसद श्री गुमान सिंह जी डामोर ,देवझिरी मंडल शान्तिलाल जी बिलवाल ,पिटोल मंडल भानु भूरिया ,कल्याणपुरा मंडल सत्येंद्र यादव ,बोरी मंडल राधाकिशन राठौर ,राणापुर मंडल सोमसिंह सोलंकी ,बन मंडल राजेन्द्र उपाध्याय, कुंदनपुर मंडल सुनीता अजनार ,रामा मंडल अजय पोरवाल ,पारा मंडल धनसिंह बारिया ,रायपुरिया मंडल सुश्री निर्मला भूरिया, पेटलावद मंड़ल संगीता जी सोनी ,सारंगी मंडल कृष्णपाल जी ,खवासा मंडल श्यामा जी ताहेड ,काकनवानी मंडल अशोक जी अरोड़ा ,थांदला मंडल लक्ष्मण सिंह जी नायक ,नोगावा मंडल राजमल जी पडियार ,मेघनगर मंडल दौलत जी भावसार  ,मदरानी मंडल मुकेश जी मेहता सभी भाजपा के वरिष्ठ नेता 19 मंडलो में जा कर सांकेतिक धरना प्रदर्शन ,शांतिपूर्ण तरीके से 19 मंडलो में आयोजित करवाएंगे


झाबुआ -अलीराजपुर जिलों के ग्रामीण क्षेत्र में तेजी से फैल रहा है कोरोना

  • आरटीपीसीआर जांच ग्रामीण क्षेत्रों में अधिक से अधिक की जावे तथा जिला मुख्यालय पर करने की व्यवस्था करें शासन - कांतिलाल भूरिया

झाबुआ । झाबुआ -अलीराजपुर जिले में वर्तमान में अन्य स्थानों के भांति कोरोना  बिमारी का भयानक एवं तेजी से प्रभाव बढ रहा है, झाबुआ -अलीराजपुर जिले अजजा बहुल क्षेत्र है तथा यहां पर ग्रामीण जन गांवों में निवास करते है । वर्तमान में ग्रामीण क्षेत्रों में भी कोराना बिमारी का प्रभाव बढी तेजी से बढ रहा है। झाबुआ अलीराजपुर जिले में ग्रामीणों एवं आम जनता से सम्पर्क करने एवं दूरभाष से सम्पर्क करने पर यह बात संज्ञान में आई है कि ग्रामीण क्षेत्रों में बुखार एवं अन्य बिमारी तो फैल रही है साथ ही कोरोना से ग्रामीण क्षेत्रों में मोत का आकडा भी तेजी से बढ रहा है जिसकी पुष्टी ग्राम पंचायतों के मृत्यु प्रमाण पत्रों से भी की जा सकती है। शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों पर भी ध्यान दिया जाना आवश्यक है । उक्त जानकारी देते हुए जिला कांग्रेस अध्यक्ष निर्मल मेहता एवं प्रदेश युवक कांग्रेस अध्यक्ष डाॅ विक्रान्त भूरिया ने बताया कि पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं झाबुआ विधायक कांतिलाल भूरिया ने मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को पत्र लिख कर अवगत कराया है। साथ ही भूरिया ने मुख्यमंत्री से मांग की है कि वर्तमान में शासन निर्देशानुसार आरटीपीसीआर की जांच कम की जा रही है तथा रैपिड एंजीन की जांच अधिक की जा रही है इस सबंध में आरटीपीसीआर जांच से ही संक्रमण पकड में आता है। अतः आरटीपीसीआर जांच तत्काल गांव गांव में कराई जावे तथा मरीजो को आवश्यक दवाई आदि निशुल्क प्रदान की जावे साथ ही झाबुआ अलीराजपुर जिले में आरटीपीसीआर ओर जांच हेतु इन्दौर अथवा अहमदाबाद भेजी जाती है जहां से रिपोर्ट आने में समय लगता है एवं संक्रमित मरीज इस बीच अनेक लोगों से मिलने से भी संक्रमण बढ रहा है अतः आरटीपीसीआर जांच जिला मुख्यालय पर की जावे जिससे रिपोर्ट शीघ्र प्राप्त हो सकें। झाबुआ अलीराजपुर जिले सहित अजजा बहुल जिलों में चिकित्सा व्यवस्था को तत्काल बढाना आवश्यक है साथ ही वहां पर पेरामेडिकल स्टाफ की नियुक्ति भी तत्काल की जाने हेतु अनुरोध है। जिला चिकित्सालय झाबुआ एवं अलीराजपुर  में सिटीस्क्रिन की व्यवस्था नही होने से गरीब एवं अजजा वर्ग के लोगों को नीजि सेन्टरों पर सिटीस्क्रिन करवाने में आर्थिक भार उठाना पड रहा है। तत्काल सिटीस्क्रिन मशीन की व्यवस्था जिला मुख्यालयों पर की जावे।ग्रामीण क्षेत्रों में कोराना बिमारी भयावक रूप से बढ रही है जिले के पूर्व विधायक जेवीयर मेडा, कार्यवाहक कांगे्रस अध्यक्ष हेमचन्द्र डामोर, रूपसिंह डामोर , युवक कांग्रेस के आशिष भूरिया संभागीय प्रवक्ता साबिर फिटवेल,शंकर भूरिया जनपद अध्यक्ष, शहर अध्यक्ष गौरव सक्सेना, ग्रामीण अध्यक्ष बन्टू अग्निहोत्री,राजेश भटट,मानसिंह मेडा, आदी ने भी शासन से मांग की है पेरामेडिकल स्टाफ एवं स्वास्थ्य कर्मचारीयों की अधिक से अधिक भत्र्ती की जावे तथा शहरी क्षेत्र के साथ साथ ग्रामीण क्षेत्रों में इस बिमारी पर ध्यान दिया जावे तथा प्रत्येक ग्राम में स्वास्थ्य विभाग की टीम  भेजी जावे तथा वे घर घर जांच करें तथा ग्रामीणों को ईलाज करे एवं उन्हे घर में रहने की समझाईस देवे जिससे इस गंभीर बिमारी पर रोक अथवा कमी की जा सकें।

कोई टिप्पणी नहीं: