विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 05 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 5 मई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 05 मई

विधायक भार्गव के प्रयासो से अडानी ग्रुप देगा म.प्र. को 4 कंटेनर आक्सीजन


विदिशाः- विदिशा विधायक शशांक भार्गव ने विदिशा मे स्थित अडानी विल्मर लिमिटेड के प्रबंधक योगेन्द्र चैहान के माध्यम से अडानी ग्रुप के शीर्ष अधिकारियो से बातचीत कर मध्यप्रदेश के लिए आक्सीजन आपूर्ति कर मदद करने की अपील की थी। जिसे मानते हुए अडानी ग्रुप द्वारा म.प्र. सरकार को 4 कंटेनर आक्सीजन सप्लाई की जाएगी। विधायक भार्गव ने बताया कि उन्हे अडानी ग्रुप के अधिकारियो द्वारा सूचना प्राप्त हुई हे कि 4 आक्सीजन कंटेनर पोर्ट से म.प्र. के लिए रवाना हो चुके है।  इस संबंध में विधायक भार्गव ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर मांग की है कि अडानी ग्रुप द्वारा प्राप्त 4 कंटेनर मे से 1 कंटेनर विदिशा जिले के लिए आवंटित करने की मांग की है जिससे विदिशा मेडीकल काॅलेज सहित जिल ेके अन्य अस्पतालो मे भी आक्सीजन बेड की सुविधा प्राप्त हो सकेगी। इस मदद के लिए विधायक भार्गव ने अडानी विल्मर लिमिटेड के प्रबंधन का आभार व्यक्त किया है।


स्वास्थ्य मंत्री द्वारा जायजा 


vidisha news
प्रदेश के लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने आज विदिशा नगर के कोविड केयर सेन्टरों का तथा 18 से 44 आयु वर्ग के लिए किए जा रहे टीकाकरण स्थल पर पहुंचकर जायजा लिया है। सिटी हास्पिटल में शुभांरभ कार्यक्रम के इस अवसर पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने वैक्सीनेशन कार्य करने वालो का हौसला अफजाई करते हुए टीकाकरण कराने आए हितग्राहियों से संवाद किया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज परिसर में निर्माणाधीन आक्सीजन प्लांट के निर्माण कार्य का भी जायजा लिया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने कोविड केयर सेन्टर तथा वैक्सीनेशन केन्द्रों का जायजा लिया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने 45 आयु से अधिक वालो के लिए टीकाकरण वैक्सीनेशन केन्द्र शेरपुरा में संचालित शासकीय कन्या उच्चतर माध्यमिक विद्यालय तथा टीलाखेडी में सरस्वती स्कूल परिसर में बनाए गए आइसोलेशन केन्द्रो का भी निरीक्षण किया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने अटल बिहारी वाजपेई शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय परिसर में संचालित कोविड केयर सेन्टर में 60 आक्सीजन बेड बढाए जाने के निर्देश कलेक्टर को दिए है। उन्होंने स्वास्थ्य सुविधाओं के संबंध में जो भी निर्णय ले जाने है इस हेतु कलेक्टर को अधिकृत किया है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने जिले में क्रियान्वित कील कोरोना अभियान के तहत संपादित होने वाले कार्यो की भी जानकारी प्राप्त की है। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी के भ्रमण के दौरान विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन, विदिशा व्यापार महासंघ के पूर्व अध्यक्ष श्री राजेश जैन के अलावा कलेक्टर डॉ पंकज जैन, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, सीएमएचओ डॉ केएस अहिरवार, मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, एमडी डॉ डीडी परमहंस, चिकित्सकगण एवं अधिकारी, कर्मचारी साथ मौजूद रहें।


आबकारी ठेकेदारो ने पांच आक्सीजन कंसट्रेटर भेंट किए 


vidisha news
स्वास्थ्य मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी की उपस्थिति में आज आबकारी विभाग के द्वारा पांच आक्सीजन कंसट्रेटर अटल बिहारी वाजपेयी मेडिकल कॉलेज को प्रदाय किए। स्वास्थ्य मंत्री डॉ चौधरी ने आबकारी ठेकेदार द्वारा आक्सीजन आपूर्ति के क्षेत्र में किए गए सहयोग के प्रति साधुवाद व्यक्त किया है।  इस अवसर पर विदिशा नगरपालिका के पूर्व अध्यक्ष श्री मुकेश टण्डन, भाजपा जिलाध्यक्ष डॉ राकेश जादौन, व्यापार महासंघ के पूर्व अध्यक्ष श्री राजेश जैन के अलावा कलेक्टर डॉ पंकज जैन, पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा, सीएमएचओ डॉ केएस अहिरवार, मेडीकल कॉलेज के डीन डॉ सुनील नंदेश्वर, डॉ डीडी परमहंस के अलावा चिकित्सक तथा आबकारी विभाग के जिलाधिकारी डॉ शैलेश जैन, सहायक आबकारी अधिकारी श्री राहुल ढोंके, आबकारी ठेकेदारो की ओर से श्री विवेक पटेल मौजूद रहें।


’अब 10 जुलाई को आयोजित होगी नेशनल लोक अदालत’


मप्र राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला एवं तहसील न्यायालयों में 08 मई को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत स्थगित कर दी गई है। जिला विधिक सहायता अधिकारी ने जानकारी दी कि 08 मई को आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालत अब 10 जुलाई 2021 को आयोजित की जाएगी। 


’नरवाई न जलायें, यह जैविक खाद बनाने में उपयोगी’


कृषि विभाग द्वारा जिले के किसानों को गेंहू की फसल काटने के बाद बचे हुए अवशेष (नरवाई) नहीं जलाने की सलाह दी गई है। नरवाई जलाने से एक ओर जहां खेतों में अग्नि दुर्घटना की संभावना रहती है वहीं मिट्टी की उर्वरकता पर भी विपरीत असर पाता है। इसके साथ ही धुएँ से कार्बन-डाय-र्आक्साइड से तापमान बढ़ता है और वायु प्रदूषण भी होता है। मिट्टी की उर्वरा लगभग 6 इंच की ऊपरी सतह पर ही होती है। इसमें खेती के लिए लाभदायक मित्र जीवाणु उपस्थित रहते हैं। नरवाई जलाने से यह नष्ट हो जाते हैं, जिससे भूमि की उर्वरा शक्ति को नुकसान होता है। नरवाई जलाने के बजाए यदि फसल अवशेषों को एकत्रित करके जैविक खाद बनाने में उपयोग किये जाय तो यह बहुत लाभदायक होगा। नाडेप तथा वर्मी विधि से नरवाई से जैविक खाद आसानी से बनाई जा सकती है। इस खाद में फसलों के लिए पर्याप्त पोषक तत्व रहते हैं। इसके आलावा खेत में रोटावेटर अथवा डिस्क हैरो चलाकर भी फसल के बचे हुए भाग को मिट्टी में मिला देने से मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार होता है। किसान हलधर योजना के तहत फसल कटने के बाद अपने खेतों की गर्मी में गहरी जुताई करा सकते हैं। किसान सामान्य हार्वेस्टर से गेंहू कटवाने के स्थान पर स्ट्रारीपर से गेंहू कटवायें। इससे पशुओं के लिए भूसा प्राप्त होगा, साथ ही खेतों में नरवाई की समस्या नहीं रहेगी।


’माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा हेल्पलाइन नम्बर जारी’ 


माध्यमिक शिक्षा मंडल द्वारा आयोजित की जाने वाली परीक्षाओं के दृष्टिगत मंडल हेल्पलाइन सेवा एक अप्रैल से संचालित की गई है। विद्यार्थियों, पालकों एवं शिक्षकों को टोल फ्री दूरभाष क्रमांक 18002330175पर परीक्षाओं एवं मंडल से संबंधित अन्य जानकारियां प्रदान की जाएंगी। हेल्पलाइन सेवा के माध्यम से प्रदेश के हाईस्कूल एवं हायर सेकंडरी परीक्षाओं के संबंध में जानकारी प्राप्त की जा सकेगी।


’उच्च माध्यमिक, माध्यमिक शिक्षक भर्ती के दस्तावेज के सत्यापन का कार्य , 25 मई तक के लिए स्थगित’


लोक शिक्षण आयुक्त श्री जयश्री कियावत ने प्रदेश के शिक्षा विभाग के समस्त संयुक्त संचालक तथा जिला शिक्षा अधिकारियों को उच्च माध्यमिक, माध्यमिक शिक्षक भर्ती के दस्तावेज के सत्यापन का कार्य स्थगित करने के संबंध में निर्देश जारी किए है। जारी आदेशानुसार उच्च माध्यमिक, माध्यमिक शिक्षक भर्ती के दस्तावेज के सत्यापन का कार्य प्रचलन में था किन्तु कोरोना महामारी के संक्रमण में अत्यधिक वृद्धि होने के कारण सत्यापन अधिकारियों एवं कर्मचारियों के संक्रमित होने तथा प्रदेष के अधिकांश जिलों में कोरोना कर्फ्यू लगाये जाने से सत्यापन कार्य किया जाना संभव नहीं हो पा रहा है। दस्तावेज के सत्यापन के कार्य को 5 मई तक स्थगित किया गया था। अतः उक्त दस्तावेज के सत्यापन के कार्य को 25 मई तक के लिए स्थगित किया गया है।   

कोई टिप्पणी नहीं: