दरभंगा : लचर स्वास्थ्य व्यवस्था का गवाह रसियारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र : प्रो० विनोद - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 22 मई 2021

दरभंगा : लचर स्वास्थ्य व्यवस्था का गवाह रसियारी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र : प्रो० विनोद

darbhanga-phc-with-no-facility
दरभंगा 22 मई,  बिहार की लचर स्वास्थ्य व्यवस्था की चर्चा पूरे देश में होती रहती है। स्वास्थ्य व्यवस्था में आवश्यक सुधार लाने के बदले हम एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप में ही लगे रहते हैं। दरभंगा के दूरदराज क्षेत्र में स्थित रसियारी गांव का प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र सरकारी एवं प्रशासनिक लापरवाही, उदासीनता का एक प्रमाण है। लाखों रुपया से बने इसके भवन की कुछ तस्वीरें ही इसकी स्थिति  बयां करने के लिए काफी है। यह स्वास्थ्य उप केंद्र आज पूरी तरह से बंद है तथा इसके भवन भी खंडहर में तब्दील हो रहे हैं मगर इसकी स्थिति में सुधार करने में प्रशासन की कोई दिलचस्पी नहीं है। गांव के एक शिक्षित युवक रोहित झा ने आज इस संबंध में मुझसे चर्चा की और सरकार का ध्यान इस और दिलाने का निवेदन किया है। प्रशासनिक लापरवाही, उदासीनता का एक प्रमाण है। लाखों रुपया से बने इसके भवन की कुछ तस्वीरें ही इसकी स्थिति  बयां करने के लिए काफी है। यह स्वास्थ्य उप केंद्र आज पूरी तरह से बंद है तथा इसके भवन भी खंडहर में तब्दील हो रहे हैं मगर इसकी स्थिति में सुधार करने में प्रशासन की कोई दिलचस्पी नहीं है। कोरोना संकट का यह दौर कब तक चलेगा इसका अंदाजा किसी को नहीं है। प्रशासन को तुरत रसियारी प्राथमिक स्वास्थ्य उपकेंद्र की जर्जर स्थिति में सुधार लाकर एवं चिकित्सक तथा चिकित्सा कर्मियों की यहां व्यवस्था करनी चाहिए ताकि इस क्षेत्र के लोगों को समय पर स्वास्थ्य लाभ पहुंचाया जा सके।। अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य उप केंद्र रसियारी जहां भूसा का भंडारण होता है।

कोई टिप्पणी नहीं: