बेतिया : सबको रोजगार मिले, ऐसा करें प्रयास : जिलाधिकारी - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 8 मई 2021

बेतिया : सबको रोजगार मिले, ऐसा करें प्रयास : जिलाधिकारी

  • * 500 से अधिक श्रमिकों को चनपटिया स्टार्टअप जोन में उपलब्ध कराया गया है रोजगार
  • * श्रमिकों की समस्याओं का समाधान करने हेतु काॅल सेन्टर-सह-परामर्श केन्द्र हुआ फंक्शनल
  • * परेशानियों के मद्देनजर काॅल सेन्टर-सह-परामर्श केन्द के हेल्पलाइन नंबर-7542081193 पर संपर्क कर सकते हैं श्रमिक

work-for-all-betiya-dm
बेतिया। बिहार में कोविड-19 संक्रमण में अप्रत्याशित बढ़ोतरी जारी है। बिहार के अलावे अन्य राज्यों में लाॅकडाउन किये जाने की संभावना है। इसके कारण विभिन्न राज्यों में पश्चिम चम्पारण जिले के श्रमिक वापस आ रहे है। ऐसे श्रमिकों तथा इस जिले के श्रमिकों के समक्ष जीविकोपार्जन की समस्या खड़ी हो गयी है। सरकार एवं जिला प्रशासन द्वारा ऐसे श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराने के उदे्श्य से कार्य किया जा रहा है। इसी परिप्रेक्ष्य में जिलाधिकारी, श्री कुंदन कुमार की अध्यक्षता में महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना के साथ-साथ ग्रामीण एवं शहरी क्षेत्रों में रोजगार  सृजन से संबंधित किये जा रहे कार्यों की विस्तृत समीक्षा की गयी। जिलाधिकारी ने कहा कि सभी अधिकारियों को समन्वित प्रयास करना है ताकि कोई भी श्रमिक काम से वंचित नहीं रहे। सबको रोजगार उपलब्ध कराने की दिशा में तत्परतापूर्वक कार्य करना होगा। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरी क्षेत्रों में गरीब लोगों को काम मिले, ताकि उन्हें किसी प्रकार की असुविधा न हो। साथ ही कार्य करने वाले श्रमिकों का पारिश्रमिक ससमय दिलाना सुनिश्चित किया जाय। जिलाधिकारी ने कहा कि जिले में विभिन्न विकासात्मक एवं कल्याणकारी योजनाओं का क्रियान्वयन किया जा रहा है। इन योजनाओं के क्रियान्वयन में अधिक से अधिक श्रमिकों को रोजगार उपलब्ध कराया जाय। सभी कार्यालय प्रधान अद्यतन प्रतिवेदन समर्पित करें जिसमें यह प्रतिवेदित हो कि उनके माध्यम से क्रियान्वित योजनाओं में कितने श्रमिकों की आवश्यकता पड़ती है।  उन्होंने कहा कि श्रमिकों को कोरोना संक्रमण के प्रति सजग और सतर्क करना है ताकि कोरोना संक्रमण फैले नहीं। सभी कार्यस्थलों पर कोविड सुरक्षा प्रोटोकाॅल का अच्छे तरीके से पालन करना अनिवार्य है। कार्यस्थल पर मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, हैण्डवाश, पेयजल आदि की समुचित व्यवस्था सुनिश्चित की जाय। उन्होंने निर्देश दिया कि माईकिंग के माध्यम से गांव-गांव, शहर-शहर तक रोजगार की उपलब्धता को लेकर आमजन को जानकारी मुहैया करायी जाय। साथ ही कोरोना संक्रमण के प्रति लोगों को सतर्क और सजग करने के लिए निरंतर माईकिंग के माध्यम से जागरूकता अभियान चलायी जाय। समीक्षा के क्रम में बताया गया कि वर्तमान लाॅकडाउन के दौरान जिले में वापस लौटे 500 से अधिक श्रमिकों को चनपटिया स्टार्टअप जोन में रोजगार उपलब्ध कराया गया है। सभी श्रमिक द्वारा प्रसन्नता जाहिर की गयी है तथा सरकार एवं जिला प्रशासन के इस कदम का स्वागत किया गया है।  श्रमिकों की समस्याओं के निराकरण हेतु जिलास्तर पर सहायक श्रमायुक्त कार्यालय, बेतिया में काॅल सेन्टर-सह-परामर्श केन्द्र की स्थापना की गयी है, जिसका हेल्प लाइन नंबर-7542081193 है। काॅल सेन्टर-सर्ह-परामर्श केन्द्र के सफल संचालन हेतु रोस्टर वाइज अधिकारियों एवं कर्मियों की प्रतिनियुक्ति की गयी है। साथ ही काॅल सेन्टर-सह-परामर्श केन्द्र के नोडल पदाधिकारी, श्री शशि कुमार सक्सेना, श्रम अधीक्षक, बेतिया, पश्चिम चम्पारण तथा वरीय प्रभारी पदाधिकारी, श्री नन्द किशोर साह, अपर समाहर्ता, पश्चिम चम्पारण को बनाया गया है। जिलाधिकारी ने निर्देश दिया है कि प्रतिनियुक्त सभी अधिकारी एवं कर्मी प्रतिदिन निर्धारित अवधि में काॅल सेन्टर-सह-परामर्श केन्द्र के हेल्पलाइन नंबर या अपने मोबाईल नम्बरों पर प्राप्त होने वाले सभी काॅल से संबंधित विस्तृत विवरणी का संधारण पंजी में करेंगे। साथ ही बिहार राज्य से बाहर फंसे पश्चिम चम्पारण जिले के श्रमिकों की सूचना प्राप्त होने पर उन्हें तत्काल सहायता उपलब्ध कराने के लिए श्रम संसाधन विभाग (मुख्यालय) पटना के कंट्रोल रूम नंबर-18003456138 तथा बिहार भवन, नई दिल्ली के हेल्पलाइन नंबर पर सूचित करेंगे तथा प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं का निराकरण करने के लिए सभी आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित करेंगे।

कोई टिप्पणी नहीं: