मधुबनी : MLA और MLC अपने कोष का इस्तेमाल राहत में करें : शीतलाम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

गुरुवार, 6 मई 2021

मधुबनी : MLA और MLC अपने कोष का इस्तेमाल राहत में करें : शीतलाम्बर

shitlambar-demand-to-cm
मधुबनी (आर्यावर्त संवाददाता) प्रो शीतलाम्बर झा अध्यक्ष, जिला कांग्रेस कमिटी मधुबनी ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा है कि आज कोरोना महामारी के चपेट में सम्पूर्ण देश के साथ साथ बिहार को भी बड़ी तेजी से अपने आगोश में ले लिया है और इससे अछूता मधुबनी जिला भी नही रह गया है।जहां लोगों को समुचित इलाज की भी व्यवस्था नही है और लोग मर रहें है,सरकारी बदइंतजामी का आलम यह है कि निजी अस्पतालों को भी समय पर आक्सीजन की उपलब्धता नही हो पा रही जहां पीड़ित रोगी अपना खर्च से ही इलाज कराते, सरकारी अस्पतालों का  हालात से सभी परिचित है ही जहाँ किसी प्रकार की सुविधा उपलब्ध नहीं है। जिलाध्यक्ष प्रो झा ने कहा है कि पिछले शाल कोरोनाकाल में राज्य के सभी जिला स्तरीय अस्पतालों को जीवनरक्षक उपकरणों से सुसच्चित करने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री जी ने राज्य के सभी विधायकों एवम विधान पार्षदों के सरकारी कोष से पचास पचास लाख रुपये जो लगभग 150 करोड़ रुपये होते है लिए गए थे ,लेकिन मधुबनी जिला में इन पैसों  में से एक रुपया भी खर्च नही हुआ और न कोई व्यवस्था की गई यह तो सीधा सीधा मधुबनी जिला के साथ नाइंसाफी की गई। प्रो झा ने कहा आज फिर मुख्यमंत्री जी राज्य के सभी विधायकों एवम विधान पार्षदों के कोटे से दो दो करोड़ रुपये कोरोना से लड़ने के नाम से लेने का फैसला किया है जो लगभग 600 करोड़ रुपये होते है मुझे अंदेशा है कि कहीं फिर से इन पैसों का इस्तेमाल कहीं दूसरे मद न कर दें और मधुबनी के लोगों के साथ नाइंसाफी हो । प्रो झा ने मुख्यमंत्री जी से आग्रह क्या है कि सभी विधायकों एवम विधान पार्षदों को अपने अपने जिला के अंतर्गत सभी प्रखण्ड स्तरीय अस्पताल, अनुमंडलीय स्तरीय अस्पतालों एवम जिला अस्पतालों में ऑक्सीजन प्लांट,आईसीयू वेड, वेंटिलेटर, एम्बुलेंस सहित अन्य जीवनरक्षक उपकरणों में ही अनुसंशित करने का फैसला ले और सभी माननीय को निर्देशित करें । अभी राज्य में लॉकडाउन है युध्द स्तर पे इन उपकरणों की व्यवस्था सरकार अविलम्भ करें जिससे कि कोरोना से सही ढंग लड़ा जा सके।

कोई टिप्पणी नहीं: