बिहार : आखिर भाजपा तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से क्यों डरते हैं नीतीश : राठौड़ - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 15 मई 2021

बिहार : आखिर भाजपा तथा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से क्यों डरते हैं नीतीश : राठौड़

  • * कुर्सी बचाने के लिए बिहार की अस्मिता से ना खेलें नीतीश कुमार 

nitish-fear-with-bjp-cm-leader-rathaur
पटना,15 मई। उत्तर प्रदेश सरकार द्वारा छाड़न नदी में पायलट चैनल के निर्माण के खिलाफ जहां एक तरफ भाजपा विधायक विनय बिहारी इस्तीफा तक देने के लिए तैयार हैं।वहीं बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ के डर से अभी तक खामोश है। बिहार प्रदेश कांग्रेस के मीडिया कमेटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की खामोशी पर प्रश्न उठाया है।उन्होंने मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से सवाल किया है कि आखिर उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से इतना क्यों डरते हैं?उन्होंने कहा बेहद प्राचीन परंपरा रही है बिहार के लोगों के पार्थिव शरीर का बनारस में अंतिम संस्कार किए जाने का। जिसे यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के आदेश पर फिलहाल रोक दिया गया है।इतना ही नहीं उत्तर प्रदेश के जिलों से गंगा में बहते हुए बिहार में लाशें भी आ रही है। इस पर भी बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार खामोश है। बिहार प्रदेश कांग्रेस मीडिया कमेटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने कहा कि हद तो यह हो गया है कि बिहार के भले ही लाखों लोग बाढ़ में डूब जाए,मगर बिहार के सीएम नीतीश कुमार यूपी सरकार के छाड़न नदी में पायलट चैनल के निर्माण पर रोक लगाने के लिए जुबान खोलने की हिम्मत नहीं जुटा पा रहे हैं।उन्होंने कहा कि सारण में भी भाजपा सांसद के आवास से एंबुलेंस बरामद होने के मामले में भी सीएम ने एफआईआर कराने की हिम्मत नहीं जुटाई।उन्होंने कहा कि सीएम नीतीश कुमार को बताना चाहिए कि वे यूपी के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से इस हद तक क्यों डर रहे हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा के रहमों करम पर मिली मुख्यमंत्री की कुर्सी के एवज में क्या नीतीश कुमार अब आम बिहारियों को बाढ़ के पानी में डुबो का कीमत चुकाना चाहते हैं।अगर ऐसा है तो बिहार की जनता उन्हें कभी माफ नहीं करेगी। मीडिया कमेटी के चेयरमैन राजेश राठौड़ ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार के पायलट चैनल के निर्माण को बिहार सरकार ने मजबूरी किस दबाव में दी है। इसकी भी जांच होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एक तरफ तो भाजपा विधायक विनय बिहारी पत्र लिखकर खिलाफ कर रहे हैं। वहीं दूसरी ओर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में पूरी सरकार यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ के डर से सरेंडर की मुद्रा में है। उन्होंने कहा कि राज्य हित में सीएम नीतीश कुमार को हिम्मत जुटानी चाहिए तथा उत्तर प्रदेश सरकार के छाड़न नदी में पायलट चैनल निर्माण पर रोक लगाना चाहिए। उन्होंने कहा कि बिहार के विकास के मुद्दे पर प्रदेश के सभी राजनीतिक दल सीएम नीतीश कुमार के साथ खड़े रहेंगे। इसलिए उन्हें डरना नहीं चाहिए ।

कोई टिप्पणी नहीं: