सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 16 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 16 मई

कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ाई गई, अब 31 मई की सुबह 6 बजे तक लागू रहेगा कोरोना कर्फ्यू


कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए जिला दंडाधिकारी एवं कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने समस्त सीहोर जिले में कोरोना कर्फ्यू की अवधि बढ़ा दी है। अब  जिले में 31 मई 2021 को सुबह 6  बजे तक कोरोना कर्फ्यू लागू रहेगा।  पूर्व में यह 17 मई 2021 तक के लिए लगाया गया था। कोरोना कर्फ्यू के दौरान अत्यावश्यक सेवाओं में छूट एवं प्रतिबंध पूर्व में जारी आदेश के अनुसार ही प्रभावशील रहेंगे। कलेक्टर श्री गुप्ता द्वारा जारी आदेश के तहत 19 मई एवं 26 मई 2021 को प्रात:9 बजे से प्रात: 11 बजे तक आटा चक्की की दुकानों को कोविड-19 गाईड लाइन की शर्त का पालन करते हुए खोला जा सकता है।


अगले कुछ दिन अभियान के रूप में लेकर कोरोना को  हराना है- संभागायुक्त श्री कियावत  


भोपाल संभागायुक्त श्री कविंद्र कियावत बीती रात बुधनी पहुंचे। जहां उन्होंने किल कोरोना-3 अभियान के नोडल अधिकारियों एवं पर्यवेक्षकों की बैठक ली। साथ ही कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे कार्यक्रमों पर विस्तार से जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अगले दस दिन एक अभियान के रूप में चलाकर कोरोना को हराना है। उन्होंन ने कहा कि लोगों को योग एवं प्राणायाम के लिए भी प्रेरित करें जिससे शरीक की रोग प्रतिरोधक क्षमता में कमी न आए। साथ ही लोगों को भाप लेने के लिए भी जागरुक करें कि समय-समय पर भाप लेते रहें। बैठक में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक भोपाल जोन श्री सांई मनोहर, एसपी श्री एसएस चौहान, सीईओ जिला पंचायत श्री हर्ष सिंह सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।      


आष्टा एवं इछावर में चोरी-छिपे सामान बेचने वाले दुकानदारों पर लगाया जुर्माना, दुकान की सील


sehore news
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिले में कोरोना कर्फ्यू लागू है। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध निरंतर कार्यवाही की जा रही है। राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा आष्टा एवं इछावर में अवैध रूप से दुकानें खोलकर चोरी छिपे से सामान बेचने वाले दुकानदारों के विरुद्ध कार्यवाही कर दुकानों को सील किया गया। प्रशासनिक अमले द्वारा ध्वनि विस्तारक यंत्र द्वारा समस्त नगरवासियों को सख्त चेतावनी देते हुए अपील की है कि कोई भी अनावश्यक रूप से घरों से बाहर न निकले अन्यथा सजा और जुर्माने की करवाई की जाएगी। इछावर क्षेत्र के ब्रिजिशनगर, बोरदी कला, दिवडि़या, चैनपुरा, मूडला सहित अनेक गांव में भी प्रशासनिक अमले द्वारा कार्यवाही की गई।


उपभोक्ता अपनी खाद्यान्न पात्रता पर्ची की जानकारी खुद जाँच कर सकेंगे


खाद्य सुरक्षा योजना से लाभान्वित परिवारों का सत्यापन कार्य तथा तैनात कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर एम-राशन मित्र एप के माध्यम से सत्यापन किया जा रहा है। प्रत्येक उपभोक्ता गुगल प्ले स्टोर से इस एप को स्टाल कर सकते हैं। इसके माध्यम से उपभोक्ता अपनी पात्रता की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। एप में परिवार की समग्र आईडी से लागिन करने पर खाद्यान्न की पात्रता, पात्रता पर्ची के अनुसार परिवार के सदस्यों की जानकारी तथा परिवार प्रोफाइल की जानकारी प्राप्त की जा सकती है। जिला आपूर्ति अधिकारी एसके तिवारी ने जानकारी दी कि इसके माध्यम से आसपास की उचित मूल्य दुकान पीओएस मशीन की स्थिति, दुकान को खाद्यान्न आवंटन एवं वितरण की भी जानकारी प्राप्त की जा सकती है। शासन द्वारा खाद्यान्न वितरण के संबंध में दी जाने वाली सूचनाओं और सुविधाओं के लिए भी एम-राशन मित्र एप बहुत उपयोगी है।


जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में "तीसरा किल कोरोना अभियान" 25 मई तक चलेगा, कलेक्टर ने पूरी गंभीरता से सर्वे करने के दिए निर्देश


जिले के ग्रामीण क्षेत्रों में बढ़ते कोविड संक्रमण के दृष्टिगत अधिकाधिक जनसंख्या तक स्वास्थ्य सेवाओं के विस्तार के लिये ‘किल कोरोना-3’ अभियान का संचालन शुरू कर दिया गया है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि सर्वे कार्य तेजी से किया जाए और पूरी गंभीरता के साथ किया जाए। सर्वे के दौरान यह सुनिश्चित किया जाए कि सर्वे से कोई भी व्यक्ति छूटे नहीं। उन्होंने सभी संबंधित अधिकारियों को इस अभियान की सतत मॉनिटरिंग करने के भी निर्देश दिए हैं। संभागायुक्त श्री कविंद्र कियावत निरंतर भ्रमण कर इस अभियान को गति दे रहे हैं। इस अभियान के तहत सर्दी, खाँसी, बुखार के लक्षणयुक्त रोगियों के प्राथमिक उपचार एवं कोविड-19 के सर्वेलेन्स के लिये की गई है। अभियान का संचालन 25 मई 2021 तक किया जाएगा। किल कोरोना अभियान में प्राथमिक दल अपने कर्तव्यों का निर्वहन ठीक से कर सके, इसलिये ग्रामवासियों को जागरूक करने, उनका सहयोग प्राप्त करने तथा दल एवं समुदाय के बीच बेहतर समन्वय एवं संवाद स्थापित करने के लिये ग्राम पंचायतों के पदाधिकारियों, स्व-सहायता समूह के पदाधिकारियों या सदस्य, कोरोना वॉलेंटिंयर्स, सक्रिय सामाजिक कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय स्वैच्छिक संस्थाओं के व्यक्तियों को भी इस दल के साथ जोडा गया है। जनपद एवं जिला पंचायत में पूरा अभियान प्रभावी ढंग से क्रियान्वयन हो सके, इसके लिये मुख्य कार्यपालन अधिकारी जनपद एवं जिला पंचायत दिन-प्रतिदिन में परिवीक्षण समन्वय एवं मॉनीटरिंग सुनिश्चित कर रहे है। ग्राम पंचायतों को प्रेरित किया जा रहा है कि वे जानबूझकर कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध एवं होम आइसोलेशन में रहने वाले व्यक्तियों द्वारा कोरोना गाइडलाइन का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध जुर्माने की राशि के रूप में समुचित दण्ड लगाने का संकल्प लें। उल्लंघनकर्ता से राशि की वसूली करें। इस प्रकार वसूल की गई राशि का उपयोग कोरोना प्रबंधन यथा फेस मास्क,सेनेटाइजर, क्वारेंटाइन सेंटर की व्यवस्था आदि में किया जायेगा। मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जनपद पंचायत अपने क्षेत्रांतर्गत सभी व्यवस्थाओं का नियमित पर्यवेक्षण, समीक्षा एवं अनुश्रवण (मॉनीटरिंग) कर रहे है। वे ‘किल कोरोना-3’ अभियान में समस्त आवश्यक व्यवस्थाओं के सुचारु संचालन के लिये जिम्मेदार होंगे। श्री कियावत ने कहा है कि ‘किल कोरोना-3’ अभियान का उद्देश्य प्रत्येक ग्राम तथा समस्त जनपद एवं जिलों को कोरोना मुक्त कराना है। इस संबंध में संचालनालय स्वास्थ्य सेवाएँ द्वारा जारी निर्देशों का सम्भाग के सभी जिलों में पूर्णतः पालन सुनिश्चित करवाया जा रहा है।


हल्के एवं बिना लक्षण वाले मरीजों के लिए होम आइसोलेशन सम्बन्धी एडवाइजरी


कोविड-19 के बहुत हल्के एवं बिना लक्षण वाले मामलों के मरीजों के लिये होम आइसोलेशन हेतु नवीन दिशा-निर्देश जारी किये हैं। नवीन निर्देशानुसार अनुसार मास्क के उपयोग के 8 घंटे या उससे पहले यदि मास्क गीला या गंदा हो जाए तो इसे फेंक दें। मरीज एक निर्धारित कमरे में रहें और घर में अन्य लोगों, विशेषकर बुजुर्ग और उच्च रक्तचाप, गुर्दे की बीमारी आदि जैसी सह-रुग्ण स्थितियों वाले लोगों, से दूर रहें। मरीज को अच्छे हवादार क्रॉस वेंटिलेशन वाले कमरे में रहना चाहिए और कमरे की खिड़कियों को हमेशा खुला रखना चाहिए ताकि कमरे में स्वच्छ हवा आ सके।  मरीज को हमेशा ट्रिपल-लेयर मास्क पहने रहना चाहिए। मास्क को फेंकने से पहले 1 प्रतिशत सोडियम हाइपो-क्लोराइट से कीटाणुमुक्त किया जाना चाहिए। बीमार व्यक्ति के कमरे में जाने पर देखभाल करने वाले व मरीज दोनों को एन-95 मास्क पहनना चाहिए। शरीर में पानी की पर्याप्त मात्रा बनाए रखने के लिए मरीज को आराम करना चाहिए और तरल पदार्थों का अधिक मात्रा में सेवन करना चाहिए। हमेशा श्वसन संबंधी शिष्टाचार का पालन करें। साबुन और पानी से कम से कम 40 सेकेंड तक थोड़ी-थोड़ी देर बाद हाथ धोएं अथवा हाथों को एल्कोहल युक्त सैनिटाइजर से साफ करें घर के किसी भी सदस्य के साथ अपने वैयक्तिक सामानों को साझा न करें। कमरे में अक्सर छुई जाने वाली सतहों को 1 प्रतिशत हाइपोक्लोराइट सॉल्यूशन से साफ करें। पल्स ऑक्सीमीटर की मदद से ब्लड ऑक्सीजन के स्तर की नियमित तौर पर स्वयं निगरानी अवश्य करें। मरीज दैनिक स्तर पर शरीर के तापमान की जांच के साथ अपने स्वास्थ्य की स्वयं-निगरानी करेगा और तबीयत ज्यादा खराब होने पर तुरंत नजदीकी अस्पताल को रिपोर्ट करेंगे


कक्षा 10 वीं की परीक्षा नहीं होगी आयोजित


कोरोना संक्रमण की गंभीरता के दृष्टिगत रखते हुये माध्यमिक शिक्षा मण्डल द्वारा आयोजित 10वीं की परीक्षा का आयोजन नहीं किया जाएगा। स्कूल शिक्षा विभाग ने संक्रमण के संभावित खतरे की रोकथाम करने के उद्देश्य से और छात्रहित में वर्तमान परिस्थिति  के दृष्टिगत यह निर्णय लिया है। कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति के मद्देनजर 12 वीं, 12 वीं (व्यावसायिक), डिप्लोमा इन प्री-स्कूल एजूकेशन, शारीरिक प्रशिक्षण पत्रोपाधि परीक्षाओं की सैद्धांतिक एवं प्रायोगिक परीक्षायें आगामी आदेश तक स्थगित की गई है। कोरोना संक्रमण सामान्य होने की स्थिति में परीक्षा आयोजन की सूचना 20 दिन पहले दी जाएगी। कक्षा 10 वीं के नियमित छात्रों के परीक्षा परिणाम की गणना अर्धवार्षिकी परीक्षा या प्री-बोर्ड परीक्षा, यूनिट टेस्ट और आंतरिक मूल्यांकन के अंको का अधिभार नियत कर की जाएगी। स्वाध्यायी छात्रों के लिए आंतरिक मूल्यांकन का प्रावधान नहीं होने से, समस्त छात्रों को न्यूनतम अंक (33) अंकित करते हुए अंकसूचियाँ जारी की जाएगी।


ग्रीष्म कालीन फसलों हेतु सलाह


ग्रीष्मकालीन अवस्था में तापमान के अनुसार फसल को आवश्यकता होने पर सिंचाई करें। गन्ने की फसल में निंदाई-गुडाई करें। जिससे खरपतवार नियंत्रण एवं नमी संरक्षण हो सके। ग्रीष्मकालीन मूंग व उडद फसल में उचित समय पर सिंचाई करें। जिससे नमी बनी रहे तथा बढते तापक्रम का फसल पर कम से कम प्रभाव पडे। कृषि विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी गई है कि फसल पर रसचूसक कीट का प्रकोप दिखाई देने पर डायमिथोएट 30 ई.सी. 2 मि.ली./ली. या इमिडाक्लोप्रिड 17.8 एस.एल. 0.2 मि.ली./ली. पानी में घोल बनाकर छिडकाव करें। फसल गहाई के उपरांत उत्पाद को उचित नमी तक धूप में सुखायें। तत्पश्चात भण्डार गृह को साफ करके उसमें भण्डारित करें। फसल कटाई उपरांत खेत में उचित नमी हो तो जुताई करें। गेहू की कटाई के उपरांत नरवाई न जलाये। पूर्व में बोयी गयी फसलों के अवशेषों को खेत से बाहर करें जिससे कि बीमारी एवं रोगों की रोकथाम हो सके। खरीफ में जिन फसलों को बुवाई करनी हो उनकी उन्नतशील किस्मों के प्रमाणित बीज की व्यवस्था जरूर कर लें।


कोविड केयर सेंटर में भर्ती दीपक ने दूसरे मरीजों का बढ़ाया हौसला


sehore news
कोरोना संक्रमण की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव आते ही मरीज नर्वस हो जाते हैं और परिजन तनाव में आ जाते हैं। ऐसे में कोविड केयर सेंटर में भर्ती कोई मरीज दूसरे मरीजों का उत्साहवर्धन करे। उन्हें योग और प्राणायाम कराए तो निश्चित ही मरीजों के स्वास्थ्य में तेजी से सुधार आएगा। साथ ही अन्य कोविड के मरीजों के लिए अनुकरणीय और प्रेरक भी होगा। सीहोर जिले के लाड़कुई निवासी श्री दीपक मालवीय ऐसे ही कोरोना योद्धा हैं जिन्होंने नसरुल्लागंज कोविड सेंटर में भर्ती होने के बाद वहां के सभी मरीजों का निरंतर उत्साहवर्धन करते रहे। प्रशिक्षकों के साथ ही वे भी प्रतिदिन उन्हें योग और प्राणायाम कराते रहे। वार्ड में जब कोई बुजुर्ग मरीज मदद के लिए बुलाता तो वे तुरन्त उनके पास पहुंच जाते। नर्वस होने पर उत्साह बढ़ाते और परिवारजनों से मोबाइल पर बात भी करा देते ताकि उनकी हिम्मत बनी रहे। दीपक मालवीय ने बताया कि 29 अप्रैल को सर्दी, जुकाम, बुखार आने पर तुरन्त कोविड टेस्ट करवाया जिसमें उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आयी। बिना घबराए वे नसरुल्लागंज स्थित कोविड केयर सेंटर में भर्ती हो गए। उन्होंने बताया कि कोविड सेंटर के स्टाफ का सहयोगात्मक व्यवहार सराहनीय है। यहां भर्ती रहते हुए कभी किसी चीज की कमी महसूस नहीं हुई। समय पर स्वास्थ्य परीक्षण, समय पर दवाएं, समय-समय पर नाश्ता और भोजन, ड्यूटी स्टाफ पूरे समय यहां मौजूद रहता। उन्होंने बताया कि इस कोविड केन्द्र के प्रभारी एसडीएम श्री डीएस तोमर भी समय-समय पर कोविड केयर सेंटर आकर स्टाफ और मरीजों का हालचाल जानते।  उनसे इलाज और सुविधाओं के संबंध में जानकारी लेते थे। उन्होंने बताया कि विगत दिनों मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान नसरुल्लागंज कोविड सेंटर का निरीक्षण करने आए थे, तब अन्य मरीजों के साथ ही उनसे भी स्वास्थ्य और इलाज की जानकारी ली थी। कोविड सेंटर से डिस्चार्ज होने पर श्री मालवीय ने पूरे स्टाफ को धन्यवाद दिया। उन्होंन कहा कि कोरोना गाइड लाइन का पालन ही कोरोना से  बचाव का सबसे अच्छा उपाय है। इसलिए मास्क अनिवार्य रूप से लगाएं, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और अनावश्यक घर से बाहर नहीं निकलें।


गेंहू का शीघ्र परिवहन एवं भण्डारण के कलेक्टर ने दिए निर्देश   


वर्तमान में रबी उपार्जन का कार्य पूर्ण होने वाला है। अभी 34816 मेट्रिक टन गेंहू का परिवहन किया जाना बाकी है। मौसम वैज्ञानिकों द्वारा आगामी दिनों में भारी वर्षा की चेतावनी दी को ध्यान में रखते हुए कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने गेहूं के शीघ्र परिवहन और भंडारण के निर्देश दिए हैं। श्री गुप्ता ने जिले के सभी सेक्टर परिवहनकर्ताओं को निर्देश दिए हैं कि तुरंत गाड़ियों की संख्या बढ़ाकर जिले में ऐसे उपार्जन केन्द्र जहां खुले में खरीदी की जा रही है, वहां गेंहू परिवहन कर सुरक्षित गोदामों में पहुंचाने के निर्देश दिए है। कलेक्टर श्री गुप्ता ने निर्देश दिए कि यदि बारदानें उपलब्ध नहीं हो तो उपार्जन नहीं करें। खुले में उपार्जित उपज न रखी जाए। इस अवधि में उपार्जन के लिए नए सिरे से एसएमएस न भेजे जाएं जिससे किसान अधिक संख्या में उपार्जन के लिए ना आए। उपार्जित उपज का यथासंभव शीघ्र परिवहन कराने के उपार्जन एजेंसियों को निर्देश दिए है। यदि कहीं कोई ऐसी समस्या हो जिसका निराकरण मुख्यालय स्तर से होना हो तो उसकी सूचना अभी तत्काल देने के लिए कहा है ताकि मुख्यालय स्तर से उसका निराकरण कराया जा सके। जो भी उपज उपार्जित करने के उपरांत बिना स्टैकिंग के रखा गया है यदि उसका परिवहन तत्काल होने  की संभावना न हो तो उसकी तत्काल स्टैकिंग करा दी जाए और उसे अच्छे से तिरपाल आदि से ढंक कर सुरक्षित रखा जाए। यदि कोई उपज निचले स्थानों पर भंडारित करके रखा गया है, तो ऐसे स्थानों पर पानी भर सकता है, उस उपज को ऊंचे स्थानों पर रखा जाए और पानी के बहने की समुचित व्यवस्था कर ली जाए। उन्होंने कहा कि यह ध्यान रखें कि यदि उपार्जन केंद्रों पर कोई भी उपज पानी से खराब होता है तो उसकी जिम्मेदारी अंततः उपार्जन केंद्र प्रभारियों तथा विभाग एवं बैंक के अधिकारियों की होगी और सोसायटियों को हानि का सामना करना पड़ेगा। जिला आर्पूति अधिकारी श्री एसके तिवारी ने जानकारी दी कि अभी तक जिले में कुल 75469 किसानों से 627310.44 मेट्रिक टन गेंहू खरीदा गया है। जिसमें से 599074.71 मेट्रिक टन गेंहू का परिवहन किया जा चुका है। साथ ही किसानों को 933.65 करोड़ रुपए का भुगतान किया जा चुका है।


एसडीएम की उपस्थिति में सर्वे टीम ने लिए कोरोना सेंपल


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव को द्ष्टिगत रखते हुए जिले में स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा घर-घर जाकर लोगों का परीक्षण किया जा रहा है। जिला मुख्यालय पर आफिसर्स कॉलोनी में एसडीएम श्री रवि वर्मा की उपस्थिति में संदिग्ध मरीजों के कोरोना सेंपल लिए गए। सर्वे टीम द्वारा लोगों से अपील की जा रही है कि सर्दी, जुखाम, खांसी सहित अन्य छोटे-मोटे लक्षण होने पर लापरवाही न बरतें तुरंत जांच कराएं एवं उपचार लें। क्योंकि सावधानी ही कोरोना संक्रमण से बचाव का महत्वपूर्ण उपाय है।   


आज 157 व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर की संख्या 7994, जिले में 119 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 951


पिछले 24 घंटे के दौरान 119 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 33 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं। जो इंग्लिशपुरा, श्रीराम कॉलोनी, भोपाल नाका, मंडी, इंदौर नाका, सैकड़ाखेड़ी रोड़, ब्रहमपुरी, नेहरु कॉलोनी, थूना, पचामा, शीतल विहार, राजोरिया मोहल्ला, हाउसिंग बोर्ड, पुलिस लाईन, चाण्क्यपरी, शुगर फैक्ट्री, मुरली रोड़ के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 32 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो बोरखेड़ा, बालागांव, नसरुल्लागंज, खरसानिया, सीलकंठ, निमोटा, चकल्दी, झिरनिया, राला, कुमनताल, नसरुल्लागंज के वार्ड नंबर 10, 14, 04, वापचा के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अन्तर्गत 08 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति आमला, नवाबाद, पांगराखाती, अमलाहा, अंबाकदीम, जोगड़ाखेड़ी, झालकी, धामंदा, भाउखेड़ी के निवासी हैं।  श्यामपुर क्षेत्र से 10 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति रफीकगंज, लसुड़िया परिहार, रोला, डेंडी, मुहाली, संग्रामपुर, मगरदी के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से 12 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो तालपुरा, पीलीकरार, सिलेगना, अमोनिया, बुधनी वार्ड नंबर 13, 04, पवन कॉलोनी, शाहगंज, रेहटी के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 24 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो मैना, सेमनरी रोड़, हर्राजखेड़ी, राजूखेड़ी, अलीपुर, पखनी, सेवदा, रॉयल कॉलोनी, सेंधूखेड़ी, बजरंग कॉलोनी, किलेरामा, ताजपुरा, शास्त्री कॉलोनी, शांति नगर, गंज, बमूलिया भाटी, नयापुरा, शगुन गार्डन, खामखेड़ा जत्रा के निवासी हैं। जिला चिकित्सालय स्थित कोविड-19 डीसीएचसी में उपचार हेतु भर्ती एक संक्रमित व्यक्ति की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई। मृत्कों की कुल संख्या 113 हो गई है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 9058 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 951 हैं। आज 157 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 7994 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 113 है । आज 840 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 121, श्यामपुर से 178, विकासखंड नसरुल्लागंज से 143, आष्टा से 136 एवं बुदनी विकासखंड से 162 तथा इछावर से 100 सेंपल लिये गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 114868 हैं जिनमें से 104899 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 451 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 840 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


जिले में किल कोरोना अभियान के उपलब्ध कराई जा रही मेडिकल किट


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए संचालित किल कोरोना अभियान के तहत संपूर्ण जिले में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। जिले के अनेक ग्रामों में सर्वे टीम द्वारा घर-घर पहुंचकर सर्दी, जुखाम, बुखार के मरीजों को दवाईयां प्रदान की। साथ ही उन्हें मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। साथ ही मेडिकल किट भी उपलब्ध कराई जा रही है।


गांव में पेयजल समस्या को देखते हुए निजी बोर अधिग्रहण किया गया


इछावर तहसील अंतर्गत ग्राम ब्रिजिशनगर में पेयजल समस्या को दृष्टिगत रखते हुए निजी बोर अधिग्रहण करने की कार्यवाही एसडीएम द्वारा की गई। एसडीएम श्री विष्णु यादव ने ग्राम पंचायत ब्रिजिशनगर का निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने गांव में पेयजल समस्या को देखते हुए शेरसिंह मालवीय के बोर को अधिग्रहित किया। उल्लेखनीय है कि पूर्व में भी शेरसिंह मालवीय को निर्देशित किया गया था कि गांव में पेयजल समस्या में मदद कर लोगों को बोर से पानी दिया जाए। लेकिन शेरसिंह द्वारा बोर ग्राम पंचायत को हस्तांतरित नहीं किया गया था। रविवार को एसडीएम श्री यादव की उपस्थिति में बोर अधिग्रहण कर पेयजल की समस्या का निराकरण किया गया। अधिग्रहण की कार्यवाही में तहसीलदार जिया फातिमा तथा नायब तहसीलदार डॉली राय भी उपस्थित रही।      

कोई टिप्पणी नहीं: