सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 19 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 मई

बैंकों में हो रहीं है ज्यादा भीड़ किसानों पर मंडरा रहा है कोरोना संक्रमण का खतरा

  • किसान स्वराज संगठन ने की बैंकों को पूरे टाइम खुलवाएं जाने की मांग

sehore news
सीहोर। किसान स्वराज संगठन जिला अध्यक्ष विनय सिंह दांगी ने मंगलवार को कलेक्टर को पत्र लिखकर किसानों की समस्याओं का निराकरण कराने की मांग की है। दांगी ने कहा की जिला सहकारी एवं स्टेट बैंक कृषि शाखा बहुत भीड़ हो रही है बैंकों में ज्यादा भीड़ होने के कारण किसानों को संक्रमण का खतरा बना हुआ है बैंक प्रात: 10:30 से 2:00 बजे तक खुली रही है। जिससे किसानों का 2 बजे तक नंबर ही नहीं लग पाता सुबह 6 बजे से भूखे प्यासे किसान बैंक के बाहर बैठे रहते है। भुगतान नहीं होने पर फिर 2 बजे मायूस लौट जाते हैं। बैंकों को पूरे टाइम खुलवाया जाए ताकि किसानों की भीड़ कम हो सके क्योंकि पूरे टाइम बैंक खुली रहेगी तो ज्यादा किसानों को भुगतान बैंक चुकता कर सकेंगा। भीड़ खुद ब खुद कम हो जाएगी। बैंक के कर्मचारी किसानों को दो बार केसीसी पलटी के लिए बुला रहे है। बैंक एक दिन पैसा जमा करवाती है और दूसरे दिन निकालती है। बैंक के द्वारा एक किसान को दो से तीन बार तक बुलाया जा रहा है। जबकी उसी दिन तुरंत केसीसी से पैसा निकालकर किसान को दिया जाना चाहिए। जिला प्रशासन किसानों की इस समस्या का समाधान कराएं।


विश्वहिन्दू परिषद बजरंग दल ने वायरस संक्रमण कर्फयु से परेशान, नागरिकोंं के लिए शुरू किया अनिश्चितकालीन सेवा महा अभियान, अस्पताल चौराहे पर किया निशुल्क जांच परिक्षण केंद्र का शुभारंभ


sehore news
सीहेार। भीषण कोरोना महामारी से त्रस्त जनमानस के लिए विश्वहिन्दू परिषद बजरंग दल ने संपुर्ण जिले में अनिश्चितकालीन सेवा महा अभियान शुरू किया। अभियान अंतर्गत मंगलवार को अस्पताल चौराहे पर निशुल्क जांच परिक्षण केंद्र का शुभारंभ जिला पदाधिकारियों के द्वारा किया गया। विहिप कार्यकर्ताओं के द्वारा केंद्र में पहुंचने वाले नागरिकों की निशुल्क आयूर्वेदक काढ़ा पिलाया गया। जरूरतमंद लोगों को प्राकृतिक भाप का सेवन भी कराया गया। कार्यकर्ताओं के द्वारा नागरिकों की शुगर ऑक्सीजन तापमान ब्लड प्रेशर की जांच भी की गई। विहिप जिलाध्यक्ष सुनील कुमार शर्मा ने कहा की महामारी के दौरान विश्वहिन्दू परिषद बजरंग दल समस्त हिन्दू समाज के साथ खड़ा हुआ है। विहिप कार्यकर्ताओं के द्वारा अस्पताल से लेकर शमशान तक सेवा कार्य किए जा रहे है। सनातन धर्मियों को कोरोना महामारी से बचाने के लिए कार्यकर्ताओं के द्वारा संपूर्ण जिले में जीवन रक्षक दवाईयों की उपलब्धता में मदद की जा रहीं है। सेवा प्रकल्प के अंतर्गत गरीब जरूरतमंद नागरिकों को अनाज भी उपलब्ध कराया जा रहा है। अनेक परिवरों में किराना समान के साथ भोजन के पेकेट भी पहुंचाए जा रहे है। प्राप्तकर्ताओं के मान संम्मान को ध्यान में रखते हुए उक्त सेवा कार्यो का प्रचार प्रसार विहिप के द्वारा अधिक नहीं किया जा रहा है। शमशान में भी निरर्धन परिवारों के लिए परिजनों के अंतिम संस्कार के द्वारा सामग्री प्रदान की जा रहीं है। जिस के लिए हेल्पलाईन नम्बर भी जारी किए गए है। कोरोना महामारी के पूरी तरह समाप्त नहीं होने तक सेवा कार्य निरंतर जारी रहेंगे।


किसानों को गांव में ही ऋणों की पलटी और उपार्जिंत, गेहूं की राशि का किया जा सकता है भुगतान- मेबाड़ा

  • प्राथमिक साख सहकारी समितियों को दी जाए जिम्मेदारी, 14 सोसायटीओं के बीच मात्र एक जिला सहकारी बैंक   , अखिल भारतीय किसाान सभा से की व्यवस्था बदल ने की मांग

sehore news
सीहोर। अखिल भातरीय किसान सभा ने किसानों के हित में कोरोना काल को ध्यान में रखते हुए किसानों के केसीसी ऋणों की पलटी और उपार्जिंत गेहूं की राशि वितरण व्यवस्था परिवर्तित करने की मांग जिला प्रशासन से की गई है। क्योंकि 14 सोसायटीओं के बीच मात्र एक जिला सहकारी बैंक रहती है ऐसे में वहां भयंकर किसानों की भीड़ लग रहीं है। किसानों का लेन देन सहकारी बैंक के खातों के माध्यम से हो रहा है यह कार्य प्राथमिक साख सहकारी समिति के द्वारा भी किया जा सकता है। अखिल भातरीय किसान सभा के जिलाध्यक्ष भानू प्रताप मेवाड़ा ने कहा की प्राथमिक साख सहकारी समिति के माध्यम से गांवों में हीं किसानों को उपार्जिंत गेहूं की राशि का भगतान  किया जा सकता है। इसी प्रकार किसानों के केसीसी ऋणों खातों की भी पलटी प्राथमिक साख सहकारी समिति के माध्यम से की जा सकता है। जिस से सहकारी बैंक के सामने किकसानों की भीड़ नहीं लगेगी और किसान कोरोना से भी बचे रहेंगे। मेवाड़ा ने कहा की अभी कोरोनावायरस संक्रमण भीषण महामारी का रूप ले चुका है ऐसे में किसान भी भींड के कारण वायरस के शिकार हो सकते है। किसानों की सुरक्षा और किसानों की सुविधा के लिए गेहूं उपार्जन का कार्य के भुगतान और केसीसी ऋणों की पलटी का कार्य गांवों में ही संचालित प्राथमिक साख सहकारी समिति को सौपा जा सकता है।


3385 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। जिले के कुल 59 सत्रों में 3385 व्यक्तियों को कोविड प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। जिसमें 41 सत्र में 45 प्लस वाले 515 व्यक्ति तथा 18 सत्र में 18 प्लस वाले 2870 व्यक्ति शामिल हैं।  


18 प्लस वाले व्यक्ति- शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 5 सत्र में कुल 950 व्यक्तियों को, आष्टा के 04 सत्र में कुल 570, बुधनी के 04 सत्र में 520 इछावर के एक सत्र में कुल 190 नसरुल्लागंज के एक सत्र में कुल 190 तथा श्यामपुर के 03 सत्रों में कुल 450 व्यक्तियों कोविड का प्रथम टीका लगाया गया।


45 प्लस वाले व्यक्ति- शहरी सीहोर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र सहित जिला चिकित्सालय क़े 2 सत्र में कुल 93 व्यक्तियों को, आष्टा के 22 सत्र में कुल 283, बुधनी के 09 सत्र में 69, इछावर के एक सत्र में कुल 10 नसरुल्लागंज के 02 सत्र में कुल 13 तथा श्यामपुर के 05 सत्रों में कुल 47 व्यक्तियों कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया।


शासकीय उचित मूल्य की दुकानों पर राशन वितरण के दौरान अनियमित्ताए पाए जाने पर होगी कठोर कार्यवाही


सार्वजनिक वितरण प्रणाली अन्तर्गत उचित मूल्य की दुकानों से राशन सामग्री हितग्राहियों को निर्धारित दर एवं मात्रा में प्रदाय की जाती है। जिला आपूर्ति अधिकारी एसके तिवारी ने अनियमित्ता करने वाले उचित मूल्य की दुकान संचालकों पर कठोर कार्यवाही करने के लिए सभी एसडीएम से अनुभाग स्तर पर निगरानी कर दोषी विक्रेता पर चोर बाजारी निवारण तथा आवश्यक वस्तु अधिनियम के तहत कार्यवाही करने के लिए कहा है।   


जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों के कार्य समय में वृद्धि


किसानों के त्वरित भुगतान तथा शाखाओं में कम वर्किंग हाउस के कारण भीड़ नहीं हो तथा कोविड संक्रमण फैलने की स्थितियां निर्मित नहीं हो। इस संबंध में जिला सहकारी केन्द्रीय बैंकों का समय कोरोना कर्फ्यू की अवधि में प्रात: 9:30 बजे से अपरान्ह 4 बजे तक किया गया है। कोरोना कर्फ्यू समाप्त होने पर इन जिलों की शाखाओं में पूर्ववत सामान्य कार्यालयीन समय की अवधि में बैंक शाखाओं में कार्य किया जा सकेगा।     


हितग्राहियों को निःशुल्क खाद्यान्न वितरण के निर्देश, कलेक्टर ने 30 मई तक राशन वितरण के दिए निर्देश


राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम तथा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना के अन्तर्गत पात्र हितग्राहियों का तीन माह का राशन एक मुश्त प्रदाय किया जाना है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने उचित मूल्य की दुकानों से 30 मई 2021 तक वितरण करने के निर्देश दिए हैं। समय पर राशन वितरण के लिये समय पर खाद्यान्न प्रदाय केन्द्रों से उठाव एवं दुकानों तक परिवहन सुनिश्चित करने के निर्देश दिए है। राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा योजना तथा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के राशन कार्डधारियों को नि:शुल्क खाद्यान्न का वितरण किया जा रहा है। कोरोना संक्रमण के कारण गरीब परिवारों की आजीविका प्रभावित न हो इसके लिये निःशुल्क खाद्यान्न वितरण शुरू किया गया है। इस संबंध में जिला आपूर्ति अधिकारी एसके तिवारी ने बताया कि राज्य शासन द्वारा खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत अप्रैल, मई एवं जून माह का एकमुश्त खाद्यान्न 15 मई तक वितरित किया गया है। इसमें अंत्योदय परिवार को 35 किलोग्राम खाद्यान्न प्रति परिवार के अनुसार तीन माह के लिये 105 किलोग्राम खाद्यान्न दिया गया है। जिसमें 75 किलोग्राम गेंहू तथा 30 किलोग्राम चावल शामिल है। इनके अलावा शेष श्रेणी के प्राथमिकता परिवारों को प्रति सदस्य 5 किलोग्राम के मान से 3 माह के लिये प्रति सदस्य 15 किलो खाद्यान्न दिया जा रहा है। इसमें 12 किलोग्राम गेंहू तथा 3 किलोग्राम चावल का वितरण किया जा रहा है। यह खाद्यान्न पूरी तरह से नि:शुल्क दिया जा रहा है। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अनाज योजना से पात्र हितग्राहियों को मई तथा जून माह तक के खाद्यान्न का एकमुश्त वितरण किया जा रहा है। इस योजना के तहत अन्त्योदय अन्न योजना एवं प्राथमिकता परिवार के प्रत्येक सदस्य को 5 किलोग्राम प्रतिमाह खाद्यान्न दिया जा रहा है। एक मुश्त प्रत्येक सदस्य के लिये 10 किलोग्राम खाद्यान्न दिया जा रहा है। इसका आवंटन जारी कर दिया गया है। इसका वितरण 16 मई से 10 जून तक उचित मूल्य दुकानों से किया जायेगा। कोरोना संक्रमण से बचाव को ध्यान में रखते हुए खाद्यान्न के ऑफलाइन वितरण की अनुमति दी गई है। इसी तरह 24 श्रेणी के ऐसे पात्र परिवार जिन्हें अब तक खाद्यान्न पर्ची जारी नहीं हुई है उन्हें 3 माह के लिये अस्थायी खाद्यान्न पर्ची जारी करके नि:शुल्क खाद्यान्न दिया जायेगा।


आज 182 व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर की संख्या 8505, जिले में 98 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 778


पिछले 24 घंटे के दौरान 98 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 28 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं।  जो गंज बजरिया, फंदा रोड़, शिक्षक कॉलोनी, बड़ियाखेड़ी, अवधपुरी, शीतल विहार, चाण्क्यपुरी, गंगा आश्रम, इंदौर नाका, पुलिस लाईन, दोहर मोहल्ला, शिवाजी कॉलोनी, दशहरा वाला बाग, डीडी स्टेट, जुनियाखेड़ी कस्बा के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 13 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो इटारसी, लाड़कुई, अमलाहा, काकरिया, नसरुल्लागंज, सिगांव, तिगाली, श्रषिनगर, चींच, नारायणपुरा, बाजगांव, कुरी, बड़नगर, बाईबोड़ी के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अन्तर्गत 12 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति वार्ड नंबर 07, रामगढ़, अबिदाबाद, अतरालिया, वीरपुर डेम, धाईखेड़ा, बोरदीकला, बुकली, रेवान कॉलोनी, आर्या के निवासी है। श्यामपुर क्षेत्र से 07 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति तज, मुहाली, जवाहरखेड़ा, रोला, आममपुरा, शाहपुरा, चैनपुरा, श्यामपुर, मोगराराम, पीपलिया मीरा, मुलानी के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से 22 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो शाहगंज, रेहटी, ताजपुरा, देहरी, बकरा, गजीत, खोहा, मुरारी, बायां, मथनी, जोनतला, नानबेट, खाण्डाबड़, ऊंचाखेड़ा, वार्ड नंबर 04, 15 रेहटी, गुराड़िया, खेरीसिलेगना, बकतरा, नांदनेर के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 16 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो खोखरी, खजुरिया, डोडी, जावर, पालड़िया, खाचरोद, साई कॉलोनी, कोठरी मेहतवाड़ा, कुरली, कन्नोद मिर्जी, सिद्धिकगंज, भंवरा, अबदुल्हापुरा, बागेर, लोरासकला, अलीपुर के निवासी हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 9398 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 778 हैं। आज 182 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 8505 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है । आज 1651 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 256, श्यामपुर से 319, विकासखंड नसरुल्लागंज से 271, आष्टा से 261 एवं बुदनी विकासखंड से 329 तथा इछावर से 215 सेंपल लिये गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 119167 हैं जिनमें से 107797 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 1527 सेंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 1901 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


कोरोना गाइड लाइन के पालन के साथ मंडी में लहसुन-प्याज की नीलामी प्रारंभ


कृषि उपज मंडी सीहोर में गत दिवस से लहसुन-प्याज का नीलामी कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। नीलामी कार्य के दौराना कोरोना गाइड लाइन का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। कृषि उपज मंडी समिति सचिव ने सभी किसानों से आग्रह किया है कि मास्क अनिवार्य रूप से लगाकर व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए अपनी लहसुन व प्याज मंडी प्रांगण में लाकर विक्रय करें। लहसुन-प्याज का उचित मूल्य, सही तौल व नगद भुगतान का लाभ उठाएं।   


ब्लैक फंगस के उपचार के लिये टॉस्क फोर्स बनाई जाये

  • रोगी की जल्द पहचान कर हर मरीज का उपचार करें, प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेजों में नि:शुल्क उपचार, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने वी.सी. के माध्यम से दिए निर्देश

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने निर्देश दिये हैं कि ब्लैक फंगस  "म्यूकॉरमाइकोसिस" के उपचार संबंधी व्यवस्थाओं के लिये एक डेडिकेटेड टॉस्क फोर्स बनाई जाये, जिसमें स्वास्थ्य मंत्री, चिकित्सा शिक्षा मंत्री, संबंधित विभागों के ए.सी.एस./पी.एस., ईएनटी विशेषज्ञ डॉ. एस.पी. दुबे, डॉ. लोकेन्द्र दवे तथा अन्य एक्सपर्ट रहेंगे। टास्क फोर्स तुरंत कार्य करना प्रारंभ कर दें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में ब्लैक फंगस  "म्यूकॉरमाइकोसिस की प्राथमिक अवस्था में ही पहचान कर हर मरीज का उपचार करें। इस कार्य को जन-आंदोलन का रूप दिया जाए तथा हर जिले में इसकी जाँच की व्यवस्था हो। इस कार्य में निजी चिकित्सकों का भी पूरा सहयोग लिया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वर्तमान में 5 मेडिकल कॉलेज इंदौर, भोपाल, ग्वालियर, जबलपुर तथा रीवा में इसका नि:शुल्क उपचार किया जा रहा है। उन्होंने निर्देश दिए कि इसके उपचार के लिए निजी अस्पताल भी चिन्हित किए जाएँ, जहाँ व्यवस्थाएँ संभव हों। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज निवास से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से मंत्रियों एवं अधिकारियों के साथ ब्लैक फंगस रोग के संबंध में चर्चा कर रहे थे।


हर मरीज का हो नि:शुल्क इलाज- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ब्लैक फंगस का इलाज अत्यंत महंगा है। अत: प्रदेश में इसके नि:शुल्क इलाज की व्यवस्था सुनिश्चित की जाएगी।


शासकीय के अलावा निजी अस्पतालों को भी दिए जाएंगे इंजेक्शन- मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ब्लैक फंगस के इलाज में लगने वाले एम्फोटेरिसिन-बी इंजेक्शन शासकीय चिकित्सा केन्द्रों के अलावा निजी अस्पतालों को भी उपलबधता अनुसार प्रदान किए जाएंगे। प्रदेश में ढाई हजार एम्फोटेरिसिन इंजेक्शन प्राप्त हो गए हैं तथा 10 हजार इंजेक्शन शीघ्र ही मॉयलान कम्पनी के प्रदेश को प्राप्त हो जायेंगे। स्वास्थ्य आयुक्त श्री आकाश त्रिपाठी ने बताया कि वर्तमान में प्रदेश में ब्लैक फंगस के 573 प्रकरण 5 मेडिकल कॉलेजों में उपचाररत हैं।


नि:शुल्क नेजल एंडोस्कॉपी की व्यवस्था- चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने बताया कि ब्लैक फंगस की जाँच के लिए जिलों में नि:शुल्क नेजल एंडोस्कॉपी की व्यवस्था की जा रही है। इसके अलावा मेडिकल कॉलेज में भी इसकी नि:शुल्क जाँच के लिए डेस्क बनाई जा रही है।


ब्लैक फंगस : महत्वपूर्ण तथ्य-   कम रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले, डायबिटीज के रोगी, श्वसन या गुर्दा रोगी, अंग प्रत्यायोजित करा चुके गंभीर रोग के रोगियों या पूर्व में कोरोना उपचार करा चुके लोगों को यह संक्रमण मुख्य रूप से अपना शिकार बना रहा है। यह संक्रमण रोगी की नाक, मुँह, दाँत, आँख एवं गंभीर स्थिति में मस्तिष्क को संक्रमित करता है। मरीजों में डायबिटीज की मॉनीटरिंग करके, डॉक्टरों की सलाह पर स्टेरॉइड ले रहे मरीजों की निगरानी करके, स्टेरॉइड एवं ब्रॉड स्पेक्ट्रम एंडीबायोटिक के अनुचित और अनावश्यक उपयोग को रोककर हम ब्लैक फंगस संक्रमण को रोक सकते हैं। कोरोना रोगियों में ऑक्सीजन के उपयोग के दौरान ह्यूमिडीफाई बॉटल में स्टेराइल (Sterile) या डिस्ट्रिल वाटर का उपयोग करके तथा नियमित रूप से पानी को बदल कर, हम इस संक्रमण को रोक सकते हैं। रोगी के ऑक्सीजन मास्क, केनुला आदि का नियमित विसंक्रमण एवं यथोचित बदलाव सुनिश्चित किया जाना चाहिए। कोविड वार्ड, एचडीयू, आईसीयू आदि में भर्ती कोरोना मरीजों की आँख, नाक, मुँह की समुचित देखभाल करें, कोविड से ठीक होने के पश्चात 4-6 सप्ताह तक नमक के पानी के गरारे करें तथा नाक साफ करते रहें। ब्लैक फंगस के मुख्य लक्षण नाक, मुख और आँख आदि से काले कण अथवा काला रिसाव, नाक बंद होना, नाक के आसपास गालों की हड्डियों में दर्द, दाँतों और जबड़ों में दर्द, आँख में दर्द के साथ धुंधला दिखना, आँखों और नाक के आसपास दर्द और लालपन, बुखार आना, शरीर में नील पड़ना, सीने में दर्द, सांस लेने में दर्द, फेफड़ों में पानी आना, खून की उल्टी होना, मुँह से बदबू आना, मानसिक भ्रम होना हैं। ब्लैक फंगस संक्रमण नाक के जरिए प्रवेश करता है और धीरे-धीरे आँख और मस्तिष्क को प्रभावित करता है। शुरूआत में इसकी पहचान करके उचित इलाज किया जा सकता है। घबराएँ नहीं, लक्षण आने पर तुरंत इलाज कराएँ। ब्लैक फंगस के नि:शुल्क उपचार के लिए प्रदेश के भोपाल, इंदौर, ग्वालियर, जबलपुर और रीवा चिकित्सा महाविद्यालयों में इकाइयों का गठन किया गया है। इन इलाकों में उपचार शुरू हो गया है।   


जिले की बारह युवतियों को मिला रोजगार, माता-पिता ने कहा परिवार का सहारा बनी बेटियां


sehore news
जिले की औद्योगिक संस्था में बारह युतियों को रोजगार मिल गया है। रोजगार पाकर युवतियाँ के साथ ही उनके माता-पिता भी खुश हैं। युवतियों के माता-पिता का कहना है कि बेटियां परिवार का सहारा बन गयी हैं। इन युवतियों को रोजगार दिलाने में राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन की महत्वूर्ण भूमिका रही। राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के माध्यम से डीडीयूजीकेवाई योजना अन्तर्गत जिले के विभिन्न गांवों की 12 युवतियों को तीन माह का प्रशिक्षण दिलाया। इन सभी युवतियों ने मन लगाकर प्रशिक्षण प्राप्त किया। प्रशिक्षण के उपरान्त इन्हें 18 हजार रुपये के मासिक वेतन पर ट्रांईडेन्ट कंपनी बुदनी में नौकरी ‍िमल गई।   रोजगार पाने वाली युवतियों में नीता, नीतू, कविता, पूजा, बसकन्या, भावना, रिंकू, सीमा, टीना तथा लक्ष्मी शामिल है। इन सभी ने कहा कि वे पूरी लगन और मेहनत से अपना काम करेंगी। उन्होंने जिला प्रशासन का आभार व्यक्त करते हए कहा कि हमें प्रशिक्षण और मार्ग दर्शन नहीं मिलता तो यह नौकरी मिलना मुश्किल था। उल्लेखनीय है कि जिले के अधिक से अधिक युवाओं को रोजगार उलब्ध कराने के लिये कलेटर श्री अजय ने प्रशिक्षण कार्यक्रम और रोजगार मेले आयोजित करने के संबंधित विभागों को निर्देश दिए हैं।


कोरोना कर्फ्यू का पालन और किल करोना अभियान की सतत मानीटरिंग के कलेक्टर ने दिए निर्देश


sehore news
जिले में कोरोना की चेन ब्रेक करने के लिये जिले में कोरोना कर्फ्यू लागू किया गया है और किल कोरोना अभियान सघन रूप से चलाया जा रहा है। कलेक्टर श्री अजय गुप्ता ने सभी संबंधित अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि कोई भी व्यक्ति इस अभियान के तहत चल रहे सर्वे से नहीं छूटे। यह अभियान बहुत महत्वपूर्ण है लिए पूरी गम्भीरता के साथ सर्वे कार्य सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने सभी अधिकारियों को गांवों में जाकर चल रहे सर्वे का निरीक्षण एवं मॉनीटरिंग के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में ही कोरोना के संदिग्ध लक्ष्णों वाले व्यक्तियों को चिहिन्त कर जांच एवं उपचार शुरू किया जाये तो कोरोना संक्रमण के प्रसार को प्रभावी ढंग से रोका जा सकता है।


कोरोना कर्फ्यू का पालन

श्री गुप्ता ने कहा कि कोरोना की चेन ब्रेक करने के लिये नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना कर्फ्यू का पालन सुनिश्चित किया जाये। लोग बिना वजह घर से बाहर नहीं निकले। ग्रामीण क्षेत्रों में पदस्थ अमला अपने संबंधित गांवों में प्रतिदिन यह सुनिश्चित करने के साथ ही लोगों को जागरूक भी करें कि मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग और साबुन से बार बार हाथ धोएं। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर कार्रवाई की जाए।


कोविड केयर सेंटर का निरीक्षण

श्री गुप्ता ने अधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्र के कोविड केयर सेंटर का सतत निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा कि सेंटर में सभी आवश्यक सुविधाओं की उपलब्धता सुनिश्चित करें। कोविड केयर सेंटर में भर्ती मरीजों से भी इलाज एवं अन्य सुविधाओं के बारे जानकारी लें। कोविड केयर सेंटर के चिकित्सा दल से भी उनकी कठिनाइयों के बारे जानकारी लें और उसका निराकरण करें।


योग एवं प्रणायाम के लिये प्रेरित करें

श्री गुप्ता ने कहा कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने में योग एवं प्रणायाम बहुत सहायक है। योग और प्रणायाम से सकारात्मक उर्जा उत्पन्न होती जो बीमारी से लड़ने के लिये मानसिक रूप से  मजबूत बनाती है। योग एवं प्रणायामक के लिये लोगों को प्रेरित किया जाये।


आयुर्वेदिक काढ़ा एवं भांप

कलेक्टर श्री गुप्ता ने आयुष अधिकारियों को निर्देश दिए कि प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले काढे़ के पैकेट वितरण का कार्य तेजी से किया जाये। वितरण के साथ ही लोगों को इसके गुणों के बारे बताएं, ताकि लोग इसके उपयोग के लिये प्रेरित हो सकें। इसके साथ ही सर्दी-जुकाम में लोगों को पंचायतों में संचालित भाप केन्द्र में जाकर भाप लेने के लिऐ प्रेरत किया जाये।


जिले में किल कोरोना अभियान के तहत उपलब्ध कराई जा रही मेडिकल किट


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए संचालित किल कोरोना अभियान के तहत संपूर्ण जिले में लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया जा रहा है। जिले के अनेक ग्रामों में सर्वे टीम द्वारा घर-घर पहुंचकर सर्दी, जुखाम, बुखार के मरीजों को दवाईयां प्रदान की जा रही है। साथ ही उन्हें मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए भी जागरुक किया जा रहा है। साथ ही मेडिकल किट भी उपलब्ध कराई जा रही है। 


अभी तक कुल 2 लाख 307 व्यक्तियों को लगा कोरोना का प्रथम एवं द्वितीय टीका


sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के निर्देश पर प्रदेश के साथ ही सीहोर जिले में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। जिले में 16 जनवरी से 17 मई तक जिले के 2666 सत्रों में कुल 2 लाख 307 व्यक्तियों को कोविड का प्रथम एवं द्वितीय टीका लगाया गया। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि जिले में 164420 व्यक्तियों को प्रथम एवं 35887 व्यक्तियों को द्वितीय टीका लगाया गया। अभी तक कुल 6344 हेल्थ वर्करों को प्रथम एवं 5483 को द्वितीय टीका लगाया गया। फ्रंट लाईन वर्करों में 5576 को प्रथम एवं 4962 को द्वितीय टीका लगाया गया। इसी प्रकार 18 से 44 आयु वर्ग में 3456 व्यक्तियों को कोविड का प्रथम टीका लगा। 45 से 60 वर्ष आयु वर्ग में 71721 व्यक्तियों को प्रथम तथा 9252 को द्वितीय टीका लगा। 60 वर्ष से अधिक आयु वर्ग में 77323 को प्रथम एवं 16190 को द्वितीय टीका लगाया गया।


रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुष विभाग द्वारा आयुर्वेद औषधि का वितरण 


कोरोना संक्रमण से बचाव तथा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष विभाग द्वारा जिले में आयुष संस्थाओं द्वारा त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी, होम्योपैथी एवं यूनानी औषधियों का वितरण किया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा बुधवार को जिले भर में कुल 1630 लोगों को त्रिकटु चूर्ण 587, होम्योपैथी के 790 एवं यूनानी औषधि के 253 पैकेट वितरित किए गए। आयुष विभाग द्वारा सीहोर विकासखंड अन्तर्गत 807 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 478,  होम्योपैथी औषधि के 250 पैकेट एवं यूनानी औषधि के 79 पैकेट वितरित किए गए। इसी प्रकार आष्टा अन्तर्गत 216 व्यक्तियों को होम्योपैथी औषधि के 126 एवं यूनानी औषधि के 90 पैकेट वितरित किए गए। बुधनी अन्तर्गत 155 व्यक्तियों को होम्योपैथी औषधि  के 155 पैकेट वितरित किए गए। इछावर अन्तर्गत 327 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 69, होम्योपैथी औषधि के 208 एवं यूनानी औषधि के 50 पैकेट वितरित किए गए। नसरुल्लागंज अन्तर्गत 125 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 40, होम्योपैथी के 34 एवं यूनानी औषधि के 24  पैकेट वितरित किए गए।  जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोधी ने जानकारी दी कि आयुष विभाग मध्यप्रदेश के आदेशानुसार विगत वर्ष विभाग द्वारा औषधियों का वितरण घर-घर जाकर किया गया था। वर्तमान में भी इन औषधियों का वितरण संस्था स्तर से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया जा रहा है।


योग से होम आइसोलेशन मरीजों को मिलेगा स्वास्थ्य लाभ, जिले में अभी तक 2246 लोगों को होम आईसोलेशन में योगाभ्यास कराया जा चुका है


sehore news
कोविड-19 से संक्रमित ऐसे मरीज जो होम आइसोलेशन में है, उनका मनोबल बढ़ाने तथा स्वास्थ्य लाभ के लिये राज्य शासन द्वारा "योग से निरोग" कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। जिसके तहत कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के निर्देश अनुसार जिले के नगरीय तथा ग्रामीण क्षेत्रों में प्रशिक्षकों द्वारा योग एवं प्रणायाम कराया जा रहा है। आइसोलेशन मरीजों को योग करने के लिए प्रोत्साहित कर उनको योग के फायदे योग प्रशिक्षकों द्वारा बताये जा रहे हैं। योग से निरोग कार्यक्रम अंतर्गत जिले में आज तक 2246 होम आईसोलेशन में संक्रमित मरीजों को ऑनलाईन योगाभ्यास कराया जा चुका है।


वैद्य आपके द्वार योजना अन्तर्गत आमजन घर बैठक ले सकते हैं चिकित्सीय परामर्श 


राज्यमंत्री आयुष (स्वतंत्र प्रभार) एवं जल संसाधन विभाग के द्वारा बेहतर जन स्वास्थ्य के लिये टेलीमेडिसिन टेक्नोलॉजी पर आधारित वैद्य आपके द्वार योजना का शुभारंभ किया गया। इस योजना के द्वारा मरीज घर बैठे वीडियो कॉल पर निःशुल्क परामर्श ले सकते हैं। विशेषज्ञ आयुर्वेद, होम्योपैथी एवं यूनानी चिकित्सक उपलब्ध है। दवा का प्रिस्क्रिप्शन आपके मोबाइल पर, दवा लेने पुनः परामर्श के लिए रिकॉर्ड की सुविधा उपलब्ध कराई जा रही है। जिला आयुष अधिकारी डॉ. नरेन्द्र सिंह लोधी ने सभी आमजनों से अपील की है कि वैद्य आपके द्वार योजना का लाभ लेने हेतु मोबाइल में प्ले स्टोर से AyushQure एप डाउनलोड करे और घर बैठे विशेषज्ञ चिकित्सकों से चिकित्सकीय परामर्श ले सकते हैं।


तेन्दूपत्ता संग्राहक होंगे संबल योजना में शामिल - मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • सीहोर के तेंदूपत्ता संग्राहकों से मुख्यमंत्री ने किया संवाद 

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि सभी तेन्दूपत्ता संग्राहकों को संबल योजना में सम्मिलित किया जाएगा। इससे संबल योजना के सभी लाभ और कठिनाई के समय परिवारों को मिलने वाली सहायता तेन्दूपत्ता संग्राहकों को भी उपलब्ध हो सकेगी। कोरोना के कठिन काल में तेन्दूपत्ता संग्राहकों को जारी लाभांश का वितरण इन परिवारों के लिए राहत भरा होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान तेन्दूपत्ता प्रोत्साहन पारिश्रमिक (बोनस) वितरण कार्यक्रम को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग द्वारा निवास से संबोधित कर रहे थे। प्रदेश के 37 जिलों की 48 जिला यूनियनों को सिंगल क्लिक से 191 करोड़ 45 लाख रूपए की लाभांश राशि तेन्दूपत्ता संग्राहकों के खातों में सीधे जारी की गई। कार्यक्रम में वन मंत्री कुँवर विजय शाह और प्रमुख सचिव वन श्री अशोक वर्णवाल भी शामिल हुए। कार्यक्रम से 48 जिला यूनियन के सदस्य ऑनलाइन जुड़े। ऑक्सीमीटर तथा थर्मामीटर की व्यवस्था के निर्देश - मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना काल में तेंदूपत्ता के संग्रहण और तेंदूपत्ता जमा कराते समय कोरोना से बचाव की सावधानियाँ बरतना आवश्यक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने संक्रमण के प्रति सजगता और बचाव के लिए ऑक्सीमीटर तथा थर्मामीटर की व्यवस्था करने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जिन व्यक्तियों को सर्दी, खाँसी, जुकाम हैं, वे अपनी बीमारी नहीं छुपाएँ। किल कोरोना अभियान के अंतर्गत आने वाले कर्मचारियों को अपनी स्थिति की जानकारी दें। राज्य शासन ने ग्राम स्तर पर आयसोलेशन की व्यवस्था की है। जिन व्यक्तियों को इलाज की आवश्यकता होगी उनका नि:शुल्क इलाज कराया जाएगा। समितियों को जारी हुई राशि- कार्यक्रम में वर्ष 2017, 2018 व 2019 के तेंदूपत्ता संग्रहण के बोनस के रूप में 191 करोड़ 45 लाख रूपए का वितरण किया गया। वर्ष 2017 की 40 करोड़ 56 लाख लाभांश की राशि 26 जिला यूनियनों की 81 समितियों को, वर्ष 2018 की 44 करोड़ 34 लाख लाभांश की राशि 34 जिला यूनियनों की 161 समितियों को और वर्ष 2019 की 106 करोड़ 55 लाख लाभांश की राशि 42 जिला यूनियनों की 593 समितियों को जारी की गई। उच्चतम लाभांश वाले प्रथम तीन जिले उमरिया, सिंगरौली और सतना है। कोरोना काल में सहायक होगी राशि - वन मंत्री श्री शाह वन मंत्री कुँवर विजय शाह ने कहा कि तेन्दूपत्ता संग्राहकों के खातों में 191 करोड़ 45 लाख रूपए बोनस के साथ अगले 15 दिनों में कुल 650 करोड़ रूपए जारी किए जाएंगे। यह कोरोना की कठिन परिस्थितियों में इन परिवारों के लिए बड़ी सहायता होगी। वन मंत्री श्री शाह ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा तेंदूपत्ता संग्राहकों और वनवासियों के कल्याण और सहायता के लिए चलाई जा रही योजनाएँ उनकी संवदेनशीलता का प्रतीक है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बैतूल की सुश्री शांति यादव, छतरपुर के श्री रामकृपाल यादव, सिंगरौली के श्री लोकेश्वर बैगा, अनूपपुर के श्री वीर साय सहित विदिशा और सीहोर के तेंदूपत्ता संग्राहकों से संवाद भी किया।


ब्लैक फंगस के प्रति आमजन को जागरूक किया जाये 

  • इस बीमारी के प्रति जन-आन्दोलन का रूप दिया जाये, कोरोना से अनाथ हुए बच्चों की जानकारी भिजवाई जाये, ताकि उन्हें शीघ्र ही लाभ दिया जा सके - मुख्यमंत्री श्री चौहान

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ब्लैक फंगस बीमारी के लिये आम जनता को जागरूक करने की आवश्यकता बताई और कहा कि ब्लैक फंगस नाम की इस बीमारी से लोगों को जागरूक किया जाये। इस बीमारी के प्रति एक जन-आन्दोलन पूरे प्रदेश में चलाया जाये। टेलीविजन एवं अन्य माध्यम से ब्लैक फंगस रोग के प्रति लोगों को जागरूक किया जाये और कोविड से ठीक हो चुके मरीजों को जागरूक किया जाये। सभी अस्पतालों में एंडोस्कोपी से जांच की जाये। एएनटी के चिकित्सकों को प्रशिक्षण देकर ब्लैक फंगस के उपचार के लिये तैयार किया जाये। मुख्यमंत्री ने कहा कि पीजी के स्टुडेंट को भी प्रशिक्षित किया जाये, ताकि वे ब्लैक फंगस के मरीजों की सेवा कर सकें। प्रायवेट अस्पतालों को भी ब्लैक फंगस के उपचार के लिये जागरूक किया जाये। मुख्यमंत्री ने सभी सरकारी मेडिकल कॉलेज प्रशासक के साथ बैठकर रणनीति तैयार करने के निर्देश दिये और कहा कि ब्लैक फंगस से आम जनता परेशान न हो। प्रायवेट सेक्टर में भी लोगों को जागरूक करने का कार्य किया जाये। उन्होंने कहा कि स्वास्थ्य विभाग आगे की रणनीति बनाये। बताया गया कि उज्जैन के आरडी गार्डी अस्पताल में 18 ब्लैक फंगस के मरीज भर्ती हैं, चार का सफलतापूर्वक ऑपरेशन किया गया है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना एवं ब्लैक फंगस की बीमारी की अद्यतन स्थिति की समीक्षा की। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी जिले के कोविड प्रभारियों को निर्देश दिये कि कोरोना से अनाथ हो चुके बच्चों की जानकारी उन्हें शीघ्र ही भिजवाई जाये, ताकि ऐसे अनाथ बच्चों को शासकीय योजना से लाभान्वित किया जा सके। मुख्यमंत्री ने बारिश को देखते हुए गेहूं को सुरक्षित रखने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने निर्देश दिये कि कोरोना के वे मरीज, जो आयुष्मान भारत योजना के दायरे में आते हैं, ऐसे मरीजों का प्राथमिकता से चिन्हित अस्पताल में उपचार करायें। उन्होंने गत दिवस चिरायु मेडिकल कॉलेज के एक वीडियो के सामने आने पर नाराजगी व्यक्त की और कहा कि भविष्य में मरीजों के साथ कोई दुर्व्यवहार न होने पाये। उन्होंने इसके लिये माइक्रो मॉनीटरिंग करने के भी निर्देश दिये। बताया गया कि प्रदेश के कुछ अस्पताल जो मरीजों से ज्यादा राशि वसूल कर रहे थे, उन अस्पतालों को नोटिस दिया गया है। पांच हितग्राहियों को अस्पतालों द्वारा छह लाख रुपये की राशि वापस भी की गई है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी जिलों के लिये निर्देश जारी किये कि हर जिले में एक पोस्ट कोविड वार्ड अनिवार्य रूप से संचालित किया जाये, जिसमें सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित हों। उन्होंने निर्देश दिये कि किसी भी अस्पताल में बिजली के अभाव में ऑक्सीजन की सप्लाई न रूके। इसके लिये उन्होंने सभी अस्पतालों में जनरेटर एवं इनवर्टर रखवाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने बताया कि हम आगामी दिनों में प्रदेश में 80 ऑक्सीजन प्लांट लगाने की स्थिति में रहेंगे। इसके लिये भारत सरकार से लगातार सम्पर्क में हैं। आगामी दिनों में प्रदेश में एक हजार एमटी के ऑक्सीजन उपलब्धता की रणनीति बनाई जायेगी। मुख्यमंत्री ने बताया कि ग्रामीण एवं आदिवासी क्षेत्रों में वेक्सीनेशन के लिये ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन में दिक्कतें आ रही हैं। इसके लिये यह प्रयास किया जा रहा है कि भारत सरकार से सम्पर्क कर ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की कार्य योजना भी बनाई जा रही है।


कोविड-19 में दिवंगत कर्मचारियों के परिवारों की देखभाल हमारी जिम्मेदारी-मुख्यमंत्री प्रभावित परिवारों को दी जाएगी अनुकम्पा नियुक्ति और आर्थिक सहायता


मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड के संकट काल में हमारे कर्मचारियों ने पूरी निष्ठा और समर्पण के साथ अपने कर्त्तव्यों का निर्वहन किया है। संक्रमण की चेन तोड़ने के लिए जब हम लोगों से घरों में बने रहने की अपील कर रहे हैं, तब ये कर्मचारी भाई-बहन दिन-रात मैदान में अपनी जान हथेली पर रखकर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन कर रहे हैं। इन्हीं के प्रयासों से व्यवस्थाएँ सुचारू रूप से चल रही हैं। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि ऐसे में कई दुर्भाग्यपूर्ण दुर्घटनाएँ भी हुई हैं। काम करते हुए हमारे कई कर्मचारी भाई-बहन कोविड-19 के दौरान हमसे बिछड़ गए, उनकी जीवन लीला समाप्त हो गई। उनके परिवारों की देखभाल और उनकी चिंता करना हमारी जवाबदारी है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य सरकार ने निर्णय लिया है कि कर्मचारियों के कल्याण के लिए दो योजनाएँ बनाई जाएंगी। यह हैं मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकम्पा नियुक्ति योजना तथा मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना।श्‍


मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकम्पा नियुक्ति योजना

मुख्यमंत्री कोविड-19 अनुकम्पा नियुक्ति योजना में समस्त नियमित स्थाईकर्मी, कार्यभारित एवं आकस्मिकता निधि से वेतन पाने वाले, दैनिक वेतन भोगी, तदर्थ, संविदा, कलेक्टर दर, आउटसोर्स के रूप में कार्यरत शासकीय सेवकों के लिए लागू की गई है। योजना के अंतर्गत इन सेवायुक्तों की कोविड संक्रमण से मृत्यु होने पर उनके परिवार के पात्र एक सदस्य को उसी प्रकार के नियोजन में अनुकम्पा नियुक्ति दी जाएगी।


मुख्यमंत्री कोविड-19 विशेष अनुग्रह योजना

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि राज्य शासन ने निर्णय लिया है कि राज्य में कार्यरत समस्त, नियमित, स्थाईकर्मी, दैनिक वेतन भोगी, तदर्थ, संविदा, आउटसोर्स, अन्य शासकीय सेवक/सेवायुक्तों की कोविड-19 के कारण आकस्मिक मृत्यु होने पर उनके परिवार को तात्कालिक आर्थिक सहायता के रूप में 5 लाख रूपए की अनुग्रह राशि प्रदान की जायेगी।   मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि संकट की स्थिति में यह अनुग्रह राशि उनके परिवारों का संबल बनेगी। इस योजना में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, सहायिका, आशा कार्यकर्ता, ग्राम कोटवार इत्यादि कर्मी भी सम्मिलित होंगे। अनुकम्पा नियुक्ति की योजना में आशा कार्यकर्ताओं के लिए भी अलग से योजना बनाई जा रही है ताकि इन परिवारों के जो आश्रित भाई-बहन हैं, उन्हें राहत मिल सके और उनकी आजीविका चलती रहे।


रजिस्ट्री की गाइडलाईन 30 जून तक यथावत रहेगी


प्रदेश में संपत्ति की खरीदी- बिक्री के लिए प्रति वर्ष एक अप्रैल से नई गाइडलाईन जारी की जाती है। परंतु कोरोना संक्रमण को देखते हुए वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए राज्य शासन द्वारा गाइडलाईन में 30 जून तक कोई परिवर्तन न करते हुए इसे पूर्ववत रखा गया है। आम नागरिकों की सुविधा को देखते हुए संपत्ति की पंजीयन दर में कोई वृद्धि नहीं की गई है। गाइडलाईन अनुसार महिलाओं के नाम से पंजीयन शुल्क में 2 प्रतिशत की छूट भी पूर्ववत जारी रहेगी। सामान्य पंजीयन की दर 3 प्रतिशत है जबकि महिला आवेदकों के लिए यह दर 1 प्रतिशत रखी गई है। उप पंजीयक कार्यालय चरणबद्ध तरीके से खोले जायें।


दिव्यांगता प्रमाण-पत्र 01 जून से केवल यूडीआईडी पोर्टल से ही मिलेंगे


प्रदेश में दिव्यांगता प्रमाण-पत्र 01 जून 2021 से यूडीआईडी पोर्टल www.swavlambancard.gov.in पर राज्य शासन द्वारा अधिसूचित सक्षम चिकित्सा प्राधिकारियों द्वारा ही प्रदान किए जाएंगे। सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय दिव्यांगजन सशक्तिकरण, भारत सरकार द्वारा इस संबंध में अधिसूचना जारी कर दी गई है। केन्द्र शासन द्वारा सभी राज्यों और संघ राज्य क्षेत्रों से कहा गया है कि आगामी एक जून 2021 से नवीन एवं नवीनीकरण सहित सभी दिव्यांगता प्रमाण-पत्र केवल यूडीआईडी पोर्टल के माध्यम से नियमानुसार जारी किया जाना सुनिश्चित करें। निर्धारित तिथि के बाद मैन्युअल प्रक्रिया से जारी किया गया दिव्यांगता प्रमाण-पत्र अमान्य होगा।


बगैर बायोमैट्रिक सत्यापन के आधार पर राशन का वितरण कराने के निर्देश


प्रमुख सचिव, खाद्य द्वारा दिये गये निर्देशानुसार पात्र परिवारों को कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुये बगैर बायोमैट्रिक सत्यापन के आधार पर राशन का वितरण कराया जाएगा। पात्र परिवारों को माह अप्रैल, मई एवं जून का राशन एक मुश्त निःशुल्क प्रदाय किया जाएगा। जिन हितग्राहियों ने माह अप्रैल एवं मई का राशन प्राप्त कर लिया गया हैं उन्हें माह जून का राशन निःशुल्क दिया जाये। जिन हितग्राहियों ने माह अप्रैल, मई एवं जून का राशन अभी तक प्राप्त नहीं किया गया है उन्हें 03 माह का राशन निःशुल्क प्रदाय किया जाये। वृद्ध एवं निःशक्त हितग्राहियों को आर्शिवाद योजनांतर्गत उनके घरों तक राशन पहुंचाया जाएगा या नॉमिनी के माध्यम से वितरित किया जाएगा। इस व्यवस्था अंतर्गत पात्र हितग्राहियों को पोर्टेबिलिटी की सुविधा उपलब्ध नहीं रहेगी। यदि किसी हितग्राही को पोर्टेबिलिटी के माध्यम से राशन प्राप्त करना है तो उसको बायोमेट्रिक सत्यापन के आधार पर राशन वितरण किया जा सकता है। 

कोई टिप्पणी नहीं: