सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 मई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 11 मई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 11 मई

कोविड मरीजों के लिए गौरव सन्नी महाजन मित्र मंडली के द्वारा जिला अस्पताल को प्रदान किए गए आधुनिक 15 बेड और गददे


sehore news
सीहोर। कोविड केयर सेंटरों और जिला अस्पताल में पंलगों की कर्मी सहित सामान्य मरीजों के साथ कोरोना संक्रमित मरीजों की परेशानियों को ध्यान में रखते हुए गौरव सन्नी महाजन मित्र मंडली के द्वारा जिला अस्पताल को आधुनिक चिकित्सा कार्य उपयोगी बहुराष्टीय कंपनी के 15 बेड और मरीजों की सुविधा के लिए 15 गददे उपलब्ध कराए गए है। सोमवार की रात जिला अस्पताल के पीछे स्थित स्टोर रूप के बाहर ट्रक लेकर पहंचे गोरव सन्नी महाजन मित्र मंंडली के सदस्यों के द्वारा मरीजों के उपयोग के लिए प्रभारी डॉ नवीन मेहर को पंलग और गददे प्रदान किए गए। जिला अस्पताल के प्रभारी सिविल सर्जन और सभी डॉक्टर नर्स स्वास्थ्य कर्मियों के द्वारा जिला अस्पताला के लिए पलंगों गददों का इंतजाम कराने पर युवा नेता समाजसेवी गोरव सन्नी महाजन का आभार व्यक्त किया गया है। युवा नेता समाजसेवी गोरव सन्नी महाजन ने कहा की कोरोना महामारी प्राकृतिक आपदा है विश्वभर की सरकारे और वैज्ञानिक इस को खत्म करने के लिए प्रयासरत है कोरोना से बचाव का एक हीं तरीका है शासन प्रशासन की गाइडलाइन का पालन कीजीए मास्क लगाए सोशल डिस्सेंसिंग का पालन करें और सेनीटाईजर का उपयोग करें। महाजन ने कहा की संकट के समय समर्थ लोग जरूरतमंदों को मदद जरूर करें।

कोरोना कर्फ्यू के दौरान अनावश्यक घूम रहे लोगों और दुकानदारों के काटे चालान,  आष्टा में भी दुकानों पर की गई कार्यवाही


sehore news
कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए जिले में कोरोना कर्फ्यू लागू है। जिसके तहत कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों के विरुद्ध निरंतर कार्यवाही की जा रही है। मंगलवार को सीहोर एवं आष्टा में अवैध रूप से दुकानें खोलकर चोरी से सामान देने वाले दुकानदारों के विरुद्ध कार्यवाही कर दुकानों को सील किया गया। सीहोर एसडीएम श्री रवि वर्मा ने अमले के साथ बाजार में घूम कर अनावश्यक रूप से घर से निकले दोपहिया और चार पहिया वाहन चालकों और दुकान खोल कर सामान बेच रहे दुकानदारों के चालान काटे। इनमें दो पहिया वाहन चालकों से 250 रुपये एवं चार पहिया वाहन चालकों से 500 रुपये और दुकानदारों से 1000 रुपये जुर्माने की राशि वसूल की गई। एसडीएम और तहसीलदार ने ध्वनि विस्तारक यंत्र द्वारा समस्त नगरवासियों को सख्त चेतावनी देते हुए अपील की है के, कोई भी अनावश्यक रूप से घरों से बाहर ना निकले अन्यथा सजा और जुर्माने की करवाई की जाएगी। चालानी कार्यवाही में एसडीएम के साथ तहसीलदार नरेंद्र सिंह, नायब तहसीलदार डॉ अमित सिंह, शैफाली जैन सहित राजस्व, नगरपालिका और पुलिस विभाग के अधिकारी कर्मचारी शामिल थे। इसी प्रकार आष्टा में किराना एवं कपड़ा व्यापारी चोरी से दुकानें खोलकर लोगों को सामान दे रहे थे। जिस पर राजस्व एवं नगर पालिका अमले द्वारा कार्यवाही करते हुए दुकानें सील कर दी गई।

निजी अस्पताल में अनियमित्ताएं पाई जाने पर की गई कार्यवाही


sehore news
जिले के ग्राम बरखेड़ी में स्थित रूद्र हॉस्पिटल मेटरनिटी एंड ट्रामा सेंटर पर अनियमित्तओं को लेकर एसडीएम श्री रवि वर्मा ने अमले के साथ अचानक पहुंचकर कार्यवाही की। सोमवार को रात्रि 10 बजे के लगभग एसडीएम श्री वर्मा डॉक्टर्स की टीम और प्रशासनिक अमले को साथ लेकर नजदीकी ग्राम बरखेड़ी स्थित रूद्र हॉस्पिटल मेटरनिटी एंड ट्रामा सेंटर पर पहुंचे। वहां चल रही अनेक अनियमित्‍ताओं को लेकर कार्रवाई की। अस्पताल में कोरोना सहित अन्य बीमारियों से पीड़ित मरीजों को भर्ती कर रखा था, और डॉक्टर द्वारा अवैध तरीके से उनका इलाज किया जा रहा था। कार्रवाई के दौरान अधिकारियों द्वारा यह निर्णय लिया गया कि अस्पताल में अन्य मरीजों को भर्ती नहीं किया जाएगा। साथ ही जब तक यह मरीज अस्पताल से ठीक हो कर नहीं जाते हैं, तब तक वहीं पर इलाज किया जाएगा। इसके बाद अस्पताल को नियमानुसार सील किया जाएगा। कार्यवाही में स्वास्थ्य विभाग से डॉक्टर कोरी और डॉक्टर उइके सहित राजस्व और पुलिस विभाग की टीम शामिल थी।

मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना के क्रियान्वयन हेतु नोडल अधिकारी बनाए गए


कोविड-19 से संक्रमित समस्त आर्थिक रूप से कमजोर परिवारों के लिए नि:शुल्क कोविड उपचार के लिए मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना लागू हैं। इस योजना के क्रियान्वयन के लिए जिले में समुचित कार्यवाही हेतु अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर द्वारा डिप्टी कलेक्टर को नोडल अधिकारी बनाते हुए अलग-अलग कार्य सौंपे गए है। अपर कलेक्टर द्वारा डिप्टी कलेक्टर श्रीमती प्रगति वर्मा को मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना का क्रियान्वयन, नवीन आयुषमान कार्ड बनाने संबंधी समस्त कार्य, सभी आयुष्मान योजना से सुचीबद्ध अस्पतालों में आयुष्मान सहायता केन्द्र को बनाना एवं उसका सुचारु क्रियान्वयन सुनिश्चित करना तथा नवीन अस्पताल को आयुष्मान योजना के तहत सुचीबद्ध करने का कार्य सौंपा गया है। इसी प्रकार डिप्टी कलेक्टर श्री ब्रजेश सक्सेना को अस्पतालों में पदस्थ नोडल अधिकारियों की सतत मानीटरिंग करना, इस योजना से संबंधित प्राप्त होने वाली शिकायतों को निराकृत करना, नवीन आयुष्मान कार्ड पोर्टल पर सतत मॉनीटरिंग करना, कॉल सेंटर (1075) का सुचारु रूप से संचालन एवं आयुष्मान कार्ड से संबंधित प्राप्त शिकायतों का रिकार्ड रखने का दायित्व सौंपा गया है। नोडल अधिकारी सौंपे गए कर्तव्यों का निर्वहन करते हुए दैनिक प्रगति से अपर कलेक्टर को अवगत कराएंगे। 


विषम परिस्थितियों में बच्चों की देखरेख एवं संरक्षण के लिए हेल्पलाईन नंबर जारी, हेल्पलाइन नंबर-181 एवं व्हाट्सएप नंबर-9407896571 कर सकते हैं संपर्क


जिले में कोविड महामारी के कारण कई बच्चों के माता-पिता की मृत्यु होने की सूचनाएँ प्राप्त हो रहीं है और कई बच्चों की देखरेख करने वाला कोई व्यक्ति नहीं है। कई बच्चों के माता-पिता कोविड से पीड़ित होकर अस्पतालों में भर्ती हैं और बच्चों की देखरेख हेतु अस्थाई आश्रय की तत्काल आवश्यकता है। ऐसी ही अन्य विषम परिस्थितियों में बच्चे महामारी के दौरान आ सकते हैं। इन समस्त परिस्थितियों को दृष्टिगत रखते हुए मध्यप्रदेश में बच्चों की सहायता हेतु राज्य स्तर से हेल्पलाइन सुविधा प्रारंभ की गई है। साथ ही ऐसे बच्चों की सहायता के लिए व्हाट्सएप् नंबर व ई-मेल आईडी भी जारी किये गए हैं। कोविड के दौरान प्रतिकूल रूप से प्रभावित बच्चों की सहायता के लिए हेल्पलाइन नंबर-181, व्हाट्सएप नंबर-9407896571 तथा ई. मेल आईडी- scpshelpline@gmail.com  पर संपर्क किया जा सकता है। ताकि विपरीत परिस्थितियों में रह रहे देखरेख एवं संरक्षण की आवश्यकता वाले बच्चे सहायता से वंचित न हो।


अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने हेतु जिला एवं विकासखण्ड स्तर, पर टीम का गठन, सख्ती के साथ रोकेंगे बाल विवाह


संचालनालय महिला एवं बाल विकास से प्राप्त दिशा निर्देशानुसार आगामी 14 मई 2021 अक्षय तृतीया पर बाल विवाह रोकने हेतु जिला स्तर एवं विकासखण्ड स्तर पर टीमों का गठन किया गया है। बाल विवाह को रोकने व बाल विवाह की सूचना के लिए जिला मुख्यालय पर कन्ट्रोल रूम बनाया गया। जिसके अधिकारी/कर्मचारीयों की ड्यूटी इस प्रकार लगाई गई है। श्रीमती गोतमी गोलाईत (सहायक संचालक) 7389830976, सुरेश पांचाल (परामर्शदाता) 9993183931, राजेन्द्र सिंह (जिला समन्वयक चाईल्ड लाईन)9009428181, शीतल शर्मा 9340305340 के साथ ही स्थानीय पुलीस थाना, परियोजना कार्यालय, आंगनवाडी कार्यकर्ता एवं अन्य किसी भी शासकीय कर्मचारी को सूचना दी जा सकती है। पूरे प्रदेश में बाल विवाह शून्य हो एवं कोई भी बाल विवाह का प्रकरण सामने न आए इसके लिए प्रदेश में लाडो अभियान 2013 से लागू किया गया। जिसके अंतर्गत बाल विवाह रोकने एवं जागरुकता बढ़ाने का कार्य किया जा रहा है। साथ ही अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के तहत 18 वर्ष से कम उम्र की लडकी एवं 21 वर्ष से कम उम्र के लडके का विवाह बाल विवाह की श्रेणी मे आता है। भारतीय संविधान मे बाल विवाह को दण्डनीय अपराध माना गया है। बाल विवाह निषेध अधिनियम के तहत बाल विवाह कराने वाले माता-पिता, भाई बहन एवं परिवारजन, सम्मिलित बाराती, सेवा देने वाले जैसे टेंट, हाउस, प्रिन्टर्स, ब्यूटी पार्लर, हलवाई, मेरिज गार्डन, घोड़ी वाले, बैंड बाजे वाले, कैटर्स, धर्मगुरू, पण्डित, समाज के मुखिया आदि के विरूद्ध कानूनी कार्यवाही की जाने के साथ उन्हें जेल भेजने का प्रावधान भी किया गया है।     बाल विवाह प्रतिषेध अधिनियम 2006 अंतर्गत 18 साल से कम उम्र की लडकी और 21 साल से कम उम्र का लडका बच्चा होता है। बच्चे का विवाह कराना अपराध है। बाल विवाह कराने पर व्यक्ति को जमानत नहीं मिलेगी। बाल विवाह में दो वर्ष की सजा एवं एक लाख का जुर्माना है। बाल विवाह होने पर कोई भी व्यक्ति इसकी रिपोर्ट पुलिस, बाल विवाह निषेध अधिकारी, प्रथम श्रेणी न्यायिक मजिस्ट्रेट और जिला मजिस्ट्रेट को दे सकता है।


दुष्परिणाम- जब बच्चों का विवाह होता है तो उनके शरीर और दिमाग दोनों बहुत कमजोर होते है। लड़किया कम उम्र में गर्भवती हो जाती है। समय से पूर्व बच्चे पैदा होते है जिससे प्रसव के समय शिशु मृत्यु दर अधिक होती है। कम उम्र में विवाह से ‍िशक्षा के अधिकारों का हनन होता है। बाल विवाह के कारण बच्चे अनपढ और अकुशल रह जाते है। जिससे उन्हें रोजगार नहीं मिलता।


जिले में कराया जा रहा है कोरोना कर्फ्यू का पालन


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर कोरोना कर्फ्यू का पालन कराने के लिए जिले में राजस्व एवं पुलिस अमले द्वारा कोरोना कर्फ्यू का पालन कराया जा रहा है। कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों को चालानी कार्यवाही की जा रही है। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा लोगों से निरंतर अपील की जा रही है कि वे घर पर ही रहें। अति आवश्यक कार्य होने पर ही घर से बाहर निकलें। साथ ही मास्क लगाएं एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।


गोपालपुर में किल कोरोना अभियान को लेकर एसडीएम ने ली बैठक


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम को लेकर चलाए जा रहे किल कोरोना अभियान के संबंध में नसरुल्लागंज एसडीएम श्री डीएस तोमर ने गोपालपुर में सर्वे टीम के साथ समीक्षा बैठक ली। बैठक में उन्होंने ग्रामीण क्षेत्रों में चलाए जा रहे किल कोरोना अभियान की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि अभियान के तहत प्रत्येक घर-घर जाकर सर्वे किया जाए। जो भी सर्दी, जुखाम, बुखार के मरीज हों उन्हें तत्काल पास के अस्पताल में उपचार के लिए भेंजे एवं प्राथमिक उपचार करवाएं। एसडीएम श्री तोमर ने कहा कि कोरोना संक्रमण को रोकने के लिए ग्रामीण क्षेत्रों के लोगों को कोरोना संक्रमण बचाव के लिए जागरुक किया जाए। उन्हें मास्क लगाने, सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए प्रेरित करें। ताकि कोरोना की चैक को तोड़ा जा सके। बैठक में भाजपा जिला अध्यक्ष श्री रवि मालवीय, सीईओ जनपद पंचायत, तहसीलदार आदि उपस्थित थे। 

निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारियों की सुविधा के लिए बनाए प्रभारी अधिकारी

जिले में आयुष्मान संबंद्ध निजी अस्पतालों में आयुष्मान कार्डधारियों का सुगमता से इलाज के लिए अपर कलेक्टर श्रीमती गुंचा सनोबर ने नोडल अधिकारी बनाये है। उन्होंने प्रत्येक निजी अस्पताल के लिए अलग-अलग प्रभारी अधिकारी बनाया  हैं। अपर कलेक्टर द्वारा जारी आदेश के अनुसार सुमन राजेन्द्र मोदी अस्पताल सीहोर के लिए जिला शिक्षा अधिकारी श्री एचपी बिसेन-9425305694, स्कूल ऑफ मेडिकल साईंस एसएसएस, यूटीएमएस पचामा के लिए सहायक परियोजना अधिकारी श्री कमलेश शर्मा-9981175910, सानिया अस्पताल आष्टा के लिए सीडीपीओ (शहरी) डॉ संदीप रुहाल-8989092997, मधुबन अस्पताल बुधनी के लिए लोक स्वास्थ्य यांत्रिकीय विभाग बुधनी अनुविभागीय अधिकारी सुश्री सोनाली-7503463126 एवं मां नर्मदा अस्पताल सीहोर के लिए सहायक संचालक उद्यानिकी श्री राजकुमार सगर-9425129407 को प्रभारी अधिकारी बनाया गया है।     

कोविड केयर सेंटर से पांच व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर लौटे

sehore news
सीहोर कोविड केयर सेंटर से आज 05 संक्रमित मरीज ठीक होकर सकुशल घर लौटे। जिस समय वह कोविड केयर सेंटर से डिस्चार्ज हुए तो उनकी खुशी का अंदाजा लगाना मुश्किल था। अब कोरोना वायरस से मुक्ति पाने के लिए सभी प्रकार की सुविधाएं सेंटर में उपलब्ध हैं। जिसके परिणाम स्वरूप कोविड सेंटर से अधिक से अधिक मरीज ठीक होकर घर लौटने लगे हैं। जिले के मरीजों को अब किसी प्रकार से घबराने की आवश्यकता नहीं है। यहां तक कि उन्हें अब जिला अस्पताल में भी आने की बिल्कुल आवश्यकता नहीं है। सभी को कोविड केयर सेंटर से अच्छी व्यवस्था मिलने लगी है। सीहोर कोविड केयर सेंटर से संक्रमण से स्वस्थ हुए लोगो ने कहां की हम सभी कुछ दिन से कोविड केयर सेंटर पर भर्ती थे। इस सेंटर पर हमें सभी व्यवस्थाएं अच्छी देखने को मिली। कोविड केयर सेंटर की व्यवस्थाओं के संबंध में अब घबराने की आवश्यकता नहीं है, कोविड केयर सेंटर में हर प्रकार की सुविधाएं प्राप्त हो रहीं हैं। डिस्चार्ज हुए घीसीलाल, बादल, गौरव, विष्णु, मुकेश और कैलाश कहते हैं कि कोविड केयर सेंटर में जिला प्रशासन ने बहुत बेहतर व्यवस्थाएं की हैं। इलाज से लेकर भोजन और मरीजों के देखभाल के सारे इंतजाम बहुत बढ़िया हैं। स्वास्थ्य विभाग का पर्याप्त स्टॉफ है जो नियमित समय पर परीक्षण एवं दवाएं देने के साथ ही मरीजों का हौसला भी बढ़ाते हैं। स्वस्थ होकर घर जाते समय उन्होंने चिकित्सकों, चिकित्सा स्टॉफ और जिला प्रशासन को धन्यवाद दिया।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने आयुष विभाग द्वारा आयुर्वेद औषधि का वितरण

कोरोना संक्रमण से बचाव तथा प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने के लिए आयुष विभाग द्वारा जिले में आयुष संस्थाओं द्वारा त्रिकटु चूर्ण, संशमनी वटी, होम्योपैथी एवं यूनानी औषधियों का वितरण किया जा रहा है। आयुष विभाग द्वारा जिले भर में कुल 1752 लोगों को त्रिकटु चूर्ण 727, होम्योपैथी के 931 एवं यूनानी औषधि के 94 पैकेट वितरित किए गए। आयुष विभाग द्वारा सीहोर विकासखंड अन्तर्गत 911 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 577,  होम्योपैथी औषधि के 314 पैकेट एवं यूनानी औषधि के 20 पैकेट वितरित किए गए। इसी प्रकार आष्टा अन्तर्गत 132 व्यक्तियों को होम्योपैथी औषधि के 108 एवं यूनानी औषधि के 24 पैकेट वितरित किए गए। बुधनी अन्तर्गत 235 व्यक्तियों को होम्योपैथी औषधि  के 235 पैकेट वितरित किए गए। इछावर अन्तर्गत 226 व्यक्तियों को होम्योपैथी औषधि के 226 पैकेट वितरित किए गए। नसरुल्लागंज अन्तर्गत 248 व्यक्तियों को त्रिकटु चूर्ण के 150, होम्योपैथी के 48 एवं यूनानी औषधि के 50  पैकेट वितरित किए गए।   जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोधी ने जानकारी दी कि आयुष विभाग मध्यप्रदेश के आदेशानुसार विगत वर्ष विभाग द्वारा औषधियों का वितरण घर-घर जाकर किया गया था। वर्तमान में भी इन औषधियों का वितरण संस्था स्तर से कोविड-19 के प्रोटोकॉल का पालन करते हुए किया जा रहा है।

महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा बाल प्रायोजन स्पॉन्सरशिप, योजना अंतर्गत आवेदन आमंत्रित

संचालनालय महिला एवं बाल विकास विभाग, भोपाल से प्राप्त निर्देशों के पालन में जिले में कलेक्टर श्री अजय गुप्ता के मार्गदर्शन में 18 वर्ष से कम उम्र के जरूरतमंद बालक/बालिकाओं को बाल प्रायोजन स्पॉन्सरशिप योजना के अंतर्गत सहायता प्रदान कि जानी है। ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता असहाय या किसी गंभीर, असाध्य बीमारी से पीडित है एवं जो गरीबी रेखा के नीचे निवासरत हैं। जिला कार्यक्रम अधिकारी श्री प्रफुल्ल खत्री द्वारा बताया गया कि ऐसे बच्चे जिनके माता-पिता की मृत्यु हो चुकी है अथवा रिश्तेदार की देखरेख में रह रहे है, ऐसा बच्चा जो सम्पूर्ण परिवार की देखरेख कर रहा है, ऐसे परित्यक्त बच्चे जो दादा.दादी या रिश्तेदार की देखरेख में रह रहे है। जिनके एकल अभिभावक एवं उन्हें अभिभावक को कारागृह का दण्ड प्राप्त होने पर संरक्षक परिवार को पात्रता होगी। ऐसे बच्चे जिनका गैर कानूनी उद्देश्य के लिए उपयोग किया गया है या किए जा रहे हैं एवं जिनका परिवार गरीबी रेखा के नीचे निवासरत हैं। ऐसे बच्चे जो कोविड-19 अथवा किसी अन्य महामारी के कारण अपने माता.पिता के साथ पलायन करने बेरोजगार होने अथवा अन्य कारणों से विपरीत आर्थिक एवं मनोसामाजिक परिस्थितियों में रह रहे हैं। इन श्रेणी के जरूरतमंद बच्चों को निजी स्पॉन्सरसिप अर्तगत सहायता करने हेतु इच्छुक व्यक्ति संगठन महिला एवं  बाल विकास विभाग के जिला कार्यालय एवं परियोजना कार्यालय वा बाल कल्याण समिति में 9907380133 संपर्क कर सकते हैंए आमजन से भी अपील है कि अपने आसपास उक्त श्रेणी के बच्चे हो तो ऐसे बच्चों की सूचना आंगनबाडी कार्यकर्ताए सुपरवाईजर या परियोजना कार्यालय में दे सकते हैं। या चाइल्ड हेल्प लाईन नंबर 1098 पर संपर्क किया जा सकता है।   

किल कोरोना अभियान के तृतीय चरण में अब तक, एक लाख 79 हजार 87 व्यक्तियों का किया गया सर्वे
  • जिले में  1439 दलों द्वारा किया जा रहा सर्दी, खांसी, बुखार का तृतीय चरण में घर-घर सर्वे
sehore news
किल कोरोना अभियान के तृतीच चरण ( 07 मई से 25 मई 2021 तक ) के अंतर्गत दिनांक 07 से 10 मई 2021 तक एक लाख 79 हजार 87 व्यक्तियों से रूबरू होकर स्वास्थ्य की जानकारी प्राप्त की गई तथा  सर्दी, खांसी, बुखार, सिरदर्द इत्यादि के बारे में जानकारी प्राप्त कर कोरोना के संदिग्ध लक्षण वाले व्यक्तियों को कोरोना की जांच कराने के लिए प्रेरित एवं संबंधित स्वास्थ्य संस्थाओं के लिए भेजा गया। अभियान की सफलता के 1154 प्राथमिक दल तथा 285 सुपरवाईजरी दल बनाए गए है।  प्राथमिक दल में आशा कार्यकर्ता, आंगनबाडी कार्यकर्ता, सहायिका,  सहायक सचिव, तथा सुपरवाईजरी दल में ए.एन.एम., एम.पी.डब्ल्यू, आषा सहयोगी, सामुदायिक स्वास्थ्य अधिकारी, एलएचव्ही, बीईई, पुरूष सुपरवाईजर, मलेरिया सुपरवाईजर, कुष्ठ, सुपरवाईजर, एसटीएलएस, पंचायतय सचिव तथा आंगनबाडी सुपरवाईजर को शामिल किया गया है।  मुख्य चिकित्सा एव स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि किल कोरोना अभियान के तृतीच चरण के अंतर्गत अब तक 2436 कोरोना संदिग्ध  व्यक्तियों को चिन्हित किया गया हैं वहीं सुपरवाजईजरी दल द्वारा 2324 संदिग्ध व्यक्तियों का पुनःजाकर सर्वेक्षण किया प्राथमिक दल के कार्य का सत्यापन किया। सैम्पल लिए गए। पर्यवेक्षक दल द्वारा कोविड केयर सेंटर में 02 मरीजों को रेफर किया गया तथा 2663 कोविड उपचार किट का वितरण किया गया। अभियान के अंतर्गत फीवर क्लीनिक में 258 संदिग्ध कोरोना व्यक्तियों के सैम्पल लिए गए जिसमें 40 व्यक्तियों की जांच रिपोर्ट पॉजिटिव पाए गए।

आयुष्मान निरामयम् योजना के अंतर्गत कार्डधारकों का निःशुल्क होगा कोविड उपचार
  • जिले के लिए 10 प्रायवेट अस्पताल किए गए चिन्हित
आयुष्मान निरामयम् योजना के अंतर्गत आयुष्मान कार्डधारक हितग्राहियों का निःशुल्क उपचार चिन्हित अस्पताल में होगा। राज्य शासन से इस संबंध में जारी नवीन दिशा निर्देशों के अनुसार आयुष्मान कार्डधारक परिवार का कोई भी सदस्य, जिसका आयुष्मान कार्ड नहीं बना है वह कोविड पॉजिटिव होने के उपरांत मान्यता प्राप्त अस्पतालों में पहुंचता है तो वह उक्त दस्तावेजों के आधार अस्पताल में एडमिट हो सकता है। नोडल अधिकारी आयुष्मान भारत योजना श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि परिवार के किसी सदस्य का आयुष्मान कार्ड एवं खाद्यान्न की पर्ची जिसके माध्यम से यह पता चलता है कि वह आयुष्मान कार्डधारक के परिवार का सदस्य है, अथवा आयुष्मान कार्डधारी परिवार के एक सदस्य का आयुष्मान कार्ड एवं उसके साथ समग्रआईडी का प्रस्तुतीकरण जिसके माध्यम से यह पता चलता हो कि आयुष्मान कार्डधारक परिवार का सदस्य है या परिवार के एक सदस्य का आयुष्मान कार्ड एवं साथ में किसी भी ष्षासकीय विभाग के राजपत्रित अधिकारी का इस बाबत प्रमाणीकरण कि वह आयुष्मान कार्डधारक के परिवार का सदस्य है। उक्त प्रकारों से कोविड उपचार के लिए भर्ती होने के पश्चात तीन दिवस के भीतर मरीज के परिजन का मरीज का आयुष्मान कार्ड बनवाकर अस्पताल में प्रस्तुत करना होगा।

जिले के लिए 10 प्रायवेट अस्पताल किए गए चिन्हित
आयुष्मान कार्डधारक हितग्राहियों हेतु सीहोर जिले के लिए 10 प्रायवेट अस्पताल कोविड-19 के संबंध में चिन्हित एवं अनुबंधित किए गए है। राणा उदय हास्पिटल न्यू बस स्टेण्ड सीहोर, सुमन राजेन्द्र मोदी मल्टी स्पेषलिटी हास्पिटल गंगा आश्रम सीहोर, मां नर्मदा हास्पिटल न्यू बस स्टेण्ड सीहोर, न्यू सूर्या हास्पिटल गंगा आश्रम सीहोर, दीर्घायु हास्पिटल गंगा आश्रम सीहोर, षिवालय हास्पिटल आष्टा, साॅनिया हास्पिटल आष्टा, सत्य सांई स्कूल ऑफ मेडिकल साइंसेस पचामा सीहोर, मधुबन हास्पिटल बुदनी तथा विजयासन हास्पिटल रेहटी में कोविड-19 का निःशल्क उपचार होगा।  

जिले के दोराहा एवं अहमदुपर में रोको-टोको अभियान के तहत की गई कार्यवाही, बेवजह घर से निकलने वालों पर लगाया जुर्माना

कोरोना संक्रमण की रोकथाम एवं बचाव के लिए जिला मुख्यालय सहित संपूर्ण जिले में रोको-टोको अभियान चलाया जा रहा है। अभियान के अन्तर्गत प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वालों पर चालानी कार्यवाही की जा रही है। साथ ही बिना किसी अतिआवश्यक कार्य के घर से बाहर नहीं निकलने की सलाह दी जा रही है। श्यामपुर अन्तर्गत दोराहा एवं अहमदपुर में रोको टोको अभियान के तहत कोरोना कर्फ्यू का उल्लंघन करने वाले लोगों पर 5 हजार 800 रुपये का अर्थदण्ड वसूला गया। अभियान के तहत सड़क पर बेवजह घूमने वाले लोगों से जब अधिकारियों द्वारा कारण पूछा गया तो जबाव संतोषजनक नहीं पाए जाने पर यह कार्यवाही की गई है। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा निरंतर लोगों से कोरोना कर्फ्यू का पालन करने की अपील की जा रही है।

जिले में 135 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजीटिव की संख्या 1259
  • एक कोरोना संक्रमित मरीज की उपचार के दौरान मृत्यु, कुल मृत्यु संख्या 107
पिछले 24 घंटे के दौरान 135 व्यक्ति कोरोना पॉजीटिव मिले। सीहोर शहरी क्षेत्र से 35 व्यक्ति पॉजीटिव मिले हैं। जो गुलजारी का बगीचा, डीडी स्टेट, सुदामा नगर, गंज, रेलवे गेट मार्ग, पुलिस लाईन, शिवराध्या कॉलोनी, बड़ियाखेड़ी, गल्ला मंडी, हाउसिंग बोर्ड कॉलोनी, राठौर मोहल्ला, चाण्क्युपरी, पटेल कॉलोनी, सब्जी मंडी, गंगा आश्रम, पटवारी कॉलोनी, लुनिया चौराहा, सुभाष नगर, पुराना कलेक्ट्रेट मार्ग, स्वदेश नगर, कस्बा, बग्गीखाना, लेबर कॉलोनी के निवासी हैं। नसरुल्लागंज क्षेत्र से 23 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो ससली, सुकरवास, खानपुरा, पीपलिया, निपानिया, जेपी मार्केट, खानुगांव, भादाकुई, लाड़कुई, अमीरगंज, इटारसी, महागांव, नीमखेड़ी, चकल्दी, पीपलकोटा, कलवाना के निवासी हैं। इछावर क्षेत्र अंतर्गत 04 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति वीरपुर डेम, डेंडी, सुखालिया के निवासी हैं।  श्यामपुर क्षेत्र से 18 व्यक्ति पॉजिटिव मिले हैं संक्रमित व्यक्ति बिजोरी, डाबरी, कदमपुर, महोड़िया, दोराहा, रायपुरा, मुंगावली, पीलूखेड़ी, लीलाखेड़ा, पाचौर, झरखेड़ा, नापलाखेड़ी  के निवासी है। बुधनी क्षेत्र से 32 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो सेमलीकला, जोनतला, रेहटी मार्केट रोड़, दीपाखेड़ा, नयागांव, बकतरा, सगोनिया, तालपुरा, बुधनी के वार्ड नंबर 10, 15, 04, 02, 12, 09, पीली करार, खवादा, नयापुरा, जमोनिया, रेहटी, मथनी, पटेवा कॉलोनी, शाहगंज, मछवाई, नीमटोन, गोडी गुराड़िया के निवासी हैं। आष्टा क्षेत्र से 23 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है जो भंवरा, लंगापुरा, दुपाड़िया, अंजलीनगर, बोरखेड़ा, पीरानाखेड़ी, परोलिया, जावर, खड़ीहाट, सेमनरी रोड़, गोलूखेड़ी, शास्त्री नगर, रुपेटा, मूंदीखेड़ी, ताजपुरा, रसूलपुरा, आष्टा वायपास, बमूलिया भाटी, नीलखेड़ा, बिजलोन, डोडी, मुगली, बड़ा बाजार मार्ग, जावर, पार्वती थाना रोड़, चनोटा, कोट रोड़, इंदिरा कॉलोनी, समरदा, बुधवारा के निवासी हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में कुल कोरोना पॉजीटिव व्यक्तियों की संख्या 8474 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 1259 हैं। आज 198 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 7108 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 107 है । पिछले 24 घंटों के दौरान एक कोरोना संक्रमित व्यक्ति की उपचार के दौरान मृत्यु हो गई है। जिला चिकित्सालय के डेडीकेटेड कोविड केयर में एक व्यक्ति की उपचार के दौराना मृत्यु हुई है। आज 464 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 73, श्यामपुर से 87, विकासखंड नसरुल्लागंज से 148, आष्टा से 70 एवं बुदनी विकासखंड से 50 तथा इछावर से 36 सेंपल लिये गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 111140 हैं जिनमें से 101962 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 277 सेंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 633 सेंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथालॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले मे जो व्यक्ति होम क्वारन्टाईन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमाण्ड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबंर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारन्टाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाईन नंबंर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारन्टाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकॉलाजीकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।

कोई टिप्पणी नहीं: