सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 जून - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 20 जून 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 19 जून

जांगड़ा समाज हनुमान मंदिर परिसर में लगाया जाएगा हेंडपंप, पीएचई विभाग के अधिकारियों ने किया सर्वे

  • केबिनेट मंत्री बिसाहुलाल सिंह तथा क्षेत्रीय विधायक को  सौपा गया था  ज्ञापन

sehore news
सीहोर। अल्हादाखेड़ृी के पास अजा जांगड़ा समाज हनुमान मंदिर परिसर में हेंडपंप लगाया जाएगा। पीएचई विभाग के अधिकारियों ने जांगड़ा समाज समिति पदाधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचकर सर्वे किया । संत शिरोमणी रविदास सूर्यवंशी समाज समिति जिला सीहेार के जिलाध्यक्ष भंवरलाल सूर्यवंशी सचिव दयाराम गबाठिया, रिटायर डिप्टी रेंजर डीएस शाक्य ने बताया की संत रविदास जयंती पर पधारे मध्य प्रदेशासन के केबिनेट मंत्री बिसाहुलाल सिंह तथा क्षेत्रीय विधायक को ज्ञापन देकर अजा जांगड़ा समाज हनुमान मंदिर परिसर में भीषण जल संकट को देखते हुए हेंडपंप लगाए जाने के लिए ज्ञापन सौपा गया था। डॉ अम्बेडकर समाज कल्याण परिषद के प्रदेशाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा मध्य प्रदेश राज्य अनुसुचित जाति आयोग एवं जिला कलेक्टर तथा लोक स्वास्थ्य यात्रिकी विभाग के जिला कार्यपालन यंत्री एमसी अहिरवार से भी लगातार संपर्क कर हेंडपंप लगाए जाने की मांग की गई थी। सभी जनप्रतिनिधियों के सहयोग से विभाग के द्वारा उक्त स्थल पर हेंडपंप स्वीकृत किया गया। जिला कार्यपालन यंत्री श्री अहिरवार के निर्देश पर मौका स्थान पर विकास कुमार सिंह, कार्यपालन यंत्री मेकेनिकल लोक स्वास्थ्य यंत्री विभाग खंड भोपाल एवं मेकेनिकल सब इंजिनियर आर के कटियार के द्वारा भू संर्वेक्षण किया गया। तथा शीघ्र हीं खनन मशीन लगाकर हेंडपंप लगाए जाने का आश्वास उपस्थित समाजजनों को दिया गया।  इस अवसर पर प्रमुख रूप से क्षेत्रीय पार्षद आरती खंगराले, पूर्व पार्षद विपिन सास्ता,कमल सिंह सूर्यवंशी देवीसिंह दमोलिया, रामसिंह पेरवाल बदरीलाल, दसबंत, माखन सिंह सिलोरिया, बदरीलाल सोलिया, रामचंरण दसलानिया, हेमराज प्रलाथिया, गिरी खंलवाल, चंद्रशेखर सूर्यवंशी, इमृतलाल सूर्यवंशी देवकरण बढेादिया हेमराज सूर्यवंशी हरिचौहान इत्यादी लोग उपस्थित रहे।


अस्पताल पहुंचकर अल्पसंख्यक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने डॉक्टरों को भेंट किया मरीजों के उपयोग के लिए स्ट्रेचर


sehore news
सीहोर। जिला अस्पताल पहुंचकर शनिवार को अल्पसंख्यक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व पार्षद वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशफाक खान के नेतृत्व में डॉक्टरों को मरीजों के उपयोग के लिए बेहतरीन सुविधाजनक स्ट्रेचर भेंट किया। अल्पसंख्यक कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष इमरान प्रतापगढ़ी और भोपाल विधायक आरिफ  मसूद के आह्वान पर अल्पसंख्यक कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने पूर्व पार्षद वरिष्ठ कांग्रेस नेता अशफाक खान के नेतृत्व में अखिल भारतीय कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी का जन्मदिवस मरीजों के लिए उपयोगी सामग्री जिला चिकित्सालय सीहोर में भेंट कर मनाया गया। इस अवसर पर सिविल सर्जन डॉ मांझी,आरएमओ सुधीर श्रीवास्तव,डॉ बीके चतुर्वेदी,डॉक्टर श्रीवास्तव युवक कांग्रेस प्रदेश सचिव राजीव गुजराती प्रदेश सचिव शमीम अहमद पूर्व पार्षद इरफान वेल्डर, युवा नेता राहुल गोस्वामी, औसाफ पठान, राहत अली, नईमुद्दीन, राजा भाई, साजिद पठान सहित अल्संख्यक कांग्रेस के कार्यकर्ताओं सहित जिला चिकित्सालय के अधिकारी कर्मचारी उपस्थित रहे।


जिले में अब तक 131.6 मिमी औसत वर्षा


जिले में आज 19 जून की प्रातः 08 बजे तक पिछले चौबीस घंटों में 5.8 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई है। इसे मिलाकर 1 जून से अभी तक जिले में 131.6 मिमी औसत बारिश रिकॉर्ड की जा चुकी है जबकि गत वर्ष इस अवधि में 205.3 मिमी बारिश रिकॉर्ड की गई थी। अधीक्षक, भू-अभिलेख से मिली जानकारी के अनुसार पिछले चौबीस घंटों में श्यामपुर में 14, आष्टा में 01, इछावर में 20, नसरुल्लागंज में 01, बुधनी में 10 मिलीमीटर बारिश दर्ज की गई है जबकि सीहोर, जावर, रेहटी में वर्षा की स्थिति शून्य रही। आंकड़ों के मुताबिक जिले में अभी तक सीहोर में 154.4, श्यामपुर में 115, आष्टा में 65, जावर में 38, इछावर में 153,  नसरुल्लागंज में 179, बुदनी में 235 एवं रेहटी में 113 मिमी बारिश दर्ज की गई है। गत वर्ष इस अवधि में सीहोर में 212.8, श्यामपुर में 138, आष्टा में 231.6, जावर में 172, इछावर में 176, नसरुल्लागंज में 253, बुधनी में 211, रेहटी में 81.2 मिमी बारिश दर्ज की गई थी।


कोविड-19 की दूसरी लहर पर काबू के बाद अब शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन का लक्ष्य


मध्यप्रदेश में जनभागीदारी के साथ कोरोना संक्रमण के नियंत्रण के लिए अपनाई गई रणनीति के काफी सकारात्मक परिणाम मिले हैं। प्रदेश में आज की स्थिति में कोरोना पूरी तरह से काबू में है। मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के भागीरथी प्रयासों और प्रदेश की जनता द्वारा संक्रमण नियंत्रण में की गई भागीदारी से कोरोना संक्रमण लगभग शून्य पर आ गया है। कोरोना की संभावित तीसरी लहर से प्रदेशवासियों को बचाने के लिये मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी पुख्ता इंतजामों के साथ वैक्सीनेशन के लिये महाभियान चलाने का निर्णय लिया है। प्रदेश में 21 जून से वैक्सीनेशन के लिये जन-जागरण अभियान चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 21 जून से प्रारंभ होने वाले वैक्सीनेशन जन-जागरण अभियान में सभी वर्गों की भागीदारी के लिये अपील की है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि वैक्सीनेशन जन-जागरण अभियान में सभी मंत्री, सांसद, विधायक सहित नगरीय एवं ग्रामीण क्षेत्रों के प्रतिनिधि, जिला, ब्लाक, ग्राम एवं वार्ड स्तर की क्राइसिस मैनेजमेंट कमेटियाँ, म.प्र. जन-अभियान परिषद, कोरोना वॉलंटियर्स सहित विभिन्न सामाजिक संगठन एवं सामाजिक कार्यकर्ता सक्रिय भूमिका निभाएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि हमारा लक्ष्य है कि प्रदेश के लक्षित समूह का शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन करवा कर लोगों को कोरोना से सुरक्षा प्रदान की जाए। प्रदेश में कोरोना संक्रमण की चेन को तोड़ने के लिये जिस प्रकार से जन-भागीदारी का उदाहरण मध्यप्रदेश ने पूरे देश में प्रस्तुत किया है, उसी तर्ज पर अब वैक्सीनेशन के लिये भी जन-भागीदारी जुटाई जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने सभी सदस्यों को वैक्सीनेशन अभियान में सक्रिय भूमिका के लिये प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि जिस तरह से कोरोना संक्रमण को रोकने में क्राइसिस मैनेजमेंट ग्रुप्स ने सहभागिता की, उसके सुखद परिणाम आज पूरा राष्ट्र देख रहा है। अब समय है कि प्रदेशवासियों को भविष्य के लिये सुरक्षा कवच प्रदान करने का। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेशवासियों के हित में शुरू किये जा रहे वैक्सीनेशन अभियान में सभी वर्ग जुड़ कर पुन: उदाहरण प्रस्तुत करें। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में वैक्सीनेशन का कार्य जारी है। कई जिलों में वैक्सीनेशन के लिये नवाचार भी किये गये हैं। भोपाल जिले सहित अनेक जिलों में ड्राइव-इन के माध्यम से भी लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। निशक्त जनों को वैक्सीन लगाने के लिये भी पृथक से व्यवस्था की गई। ग्रामीण क्षेत्रों में कोरोना वॉलेंटियर्स द्वारा ग्रामीणों को न केवल वैक्सीन लगवाई गई बल्कि वैक्सीन के संबंध में फैली अफवाहों को भी दूर कर ग्रामवासियों को वैक्सीन लगवाने के लिए सहमत किया गया। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वैक्सीन की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की जा रही है। केन्द्र सरकार का भी इसमें पूर्ण सहयोग मिल रहा है। सात हजार वैक्सीन केन्द्र- वैक्सीनेशन महा अभियान के लिये प्रदेश में 7 हजार केन्द्र बनाये गये है। केंद्रों का चयन एप्रोचेबल और नागरिकों की सुविधा को ध्यान में रख कर किया गया है। सभी केन्रों क पर समाज के प्रबुद्ध व्यक्तियों द्वारा  किया जाएगा। महा अभियान के प्रारंभ दिवस पर मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान कुछ जिले से अभियान का शुभारंभ करेंगे। इसके साथ ही अन्य जिलों में साहित्यकार, धर्मगुरू, धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के प्रमुख व्यक्ति, शिक्षाविद और मीडिया जगत के प्रबुद्ध जन सहित जिले के प्रबुद्ध नागरिक अपने-अपने क्षेत्र में अभियान की शुरुआत कर लोगों को प्रेरित करेंगे। वैक्सीनेशन सेंटर पर आये लोगों का टीकाकरण के साथ तिलक लगाकर स्वागत और कोविड अनुकूल व्यवहार एवं सावधानियों के प्रति सजग भी किया जाएगा। अभियान में जन-भागीदारी की हो चुकी शुरूआत- कोविड-19 के संक्रमण से सुरक्षा कवच प्रदान करने वाली वैक्सीन के लिये प्रदेश के जिलों में जन-भागीदारी को बढ़ाने का काम शुरू हो चुका है। मुरैना जिले की ग्राम पंचायत धनेला, खड़गपुर, गुलेंद्रा और चुरहेला में जन-जागरूकता शिविर आयोजित किये गये। शिविर में अधिकारियों ने घर-घर जाकर ग्रामीणों को पीले चावल देकर वैक्सीनेशन कराने का आमंत्रण दिया और अपील की कि महा अभियान वाले दिन वैक्सीनेशन सेन्टर पर आकर वैक्सीनेशन जरूर करायें। पीले चावल पाकर ग्रामीण जन  प्रफुल्लित हो उठे, उनका कहना था कि अभी तक शादी-ब्याह में ही पीले चावल देकर आमंत्रण दिया जाता था, जो शुभ संदेश भी माना जाता है। ग्रामीणों ने जिला प्रशासन के इस अनूठे आमंत्रण को सहज स्वीकारते हुए वैक्सीन लगाने की सहमति भी दी। महा अभियान के लिये जन-जागृति - वैक्सीनेशन महा अभियान के लिये आमजन में जागृति लाने विभिन्न प्रचार माध्यमों का उपयोग किया जा रहा है। इन प्रचार माध्यमों में पारम्परिक दीवार लेखन के साथ आधुनिक सोशल एवं डिजिटल मीडिया को भी शामिल किया गया है। साथ ही शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्रों में संवाद के माध्यम से भी वैक्सीन के प्रति लोगों को जागरूक किया जा रहा है। महा अभियान के दिन जिन लोगों का वैक्सीनेशन होगा, प्रेरणा स्वरूप उनके फोटो और वीडियो सोशल मीडिया पर अपलोड भी किये जाएंगे। राज्य सरकार का लक्ष्य है कि वैक्सीनेशन महा अभियान के दिन 10 लाख लोगों को वैक्सीन लगाई जाएगी। वैक्सीनेशन महा अभियान के प्रारंभ दिवस की समस्त गतिविधियों के पर्यवेक्षण के लिये राज्य एवं जिला स्तर पर कन्ट्रोल रूम की स्थापना की जायेगी, जिसमें पर्याप्त संख्या में मानव संसाधन एवं संचार माध्यमों की व्यवस्था होगी। प्रत्येक चार से पाँच वैक्सीनेशन केन्द्रों के ऊपर एक वाहनयुक्त जोनल अधिकारी नियुक्त किया जायेगा जो वैक्सीनेशन महा अभियान की समस्त गतिविधियों का पर्यवेक्षण अपने प्रभार के केन्द्रों पर निरंतर भ्रमण कर करेगा। पर्यवेक्षण के लिये नियुक्त जोनल अधिकारी निरंतर जिला स्तरीय कन्ट्रोल रूम के संपर्क में रहेंगे और प्रत्येक घंटे की रिपोर्ट देंगे।   


31 जुलाई तक राज्य स्तरीय वार्षिक जैव विविधता पुरस्कार-2021 के लिए आवेदन किए जा सकेंगे


मध्यप्रदेश राज्य जैवविविधता बोर्ड द्वारा प्रदेश में जैवविविधता संरक्षण को प्रोत्साहन देने के उद्देश्य से “राज्य स्तरीय वार्षिक जैवविविधता पुरस्कार योजना प्रारंभ की गई है। इस योजना का मुख्य उद्देश्य प्रदेश में जैव विविधता संरक्षण के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य कर रहे लोगों की पहचान करना एवं उन्हें प्रोत्साहित करना है। मध्यप्रदेश राज्य जैवविविधता बोर्ड द्वारा राज्य स्तरीय वार्षिक जैवविविधता पुरस्कार-2021 हेतु 31 अप्रैल 2021 तक प्रविष्टियाँ आमंत्रित की गई थीं। कोविड महामारी के कारण कोरोना कर्फ्यू की स्थिति में राज्य जैवविविधता बोर्ड को प्रविष्टियों प्राप्त नहीं हो पाई हैं। इस स्थिति को ध्यान में रखते हुये राज्य स्तरीय वार्षिक जैवविविधता पुरस्कार-2021 हेतु प्रविष्टियों आमंत्रित करने की अवधि में वृद्धि करते हुए 31 जुलाई 2021 तक निर्धारित की गई है। इस संबंध में विस्तृत जानकारी बोर्ड की वेबसाईट www.mpsbb.nic.in पर प्राप्त की जा सकती है।


निर्माण श्रमिकों के बच्चों के लिए सुपर योजना के आवेदन, 31 जुलाई तक आमंत्रित


निर्माण श्रमिकों के पुत्र-पुत्रियों के लिए संचालित 10 वीं कक्षा एवं 12 वीं कक्षा के लिए सुपर 5000 योजना के तहत आवेदन करने की अंतिम तिथि बढ़ाकर 31 जुलाई 2021 कर दी गई है। मध्यप्रदेश में कोरोना कर्फ्यू लागू होने के कारण पात्र छात्र-छात्राओं द्वारा समय-सीमा में आवेदन प्रस्तुत न कर पाने के कारण यह तिथि बढ़ाई गई है।


बरसात से पूर्व विद्युत लाईनों के संधारण का कार्य अभियान के रूप में सम्पूर्ण प्रदेश में कराया


प्रदेश के ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने कहा है कि आम उपभोक्ता को निर्बाध रूप से विद्युत की आपूर्ति करना हमारी सर्वोच्च प्राथमिकता है। बरसात से पूर्व सभी विद्युत लाईनों के संधारण का कार्य अभियान के रूप में पूरी गंभीरता के साथ विभागीय अधिकारी करें। संधारण के कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जाएगी। ऊर्जा मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने यह भी कहा कि प्रदेश स्तर पर गठित कंट्रोल रूम को और प्रभावी बनाया जाए ताकि विद्युत आपूर्ति के संबंध में अगर कोई आम उपभोक्ता शिकायत करे तो उसका निराकरण तत्परता से किया जा सके। जिला स्तरीय अधिकारियों को भी उन्होंने निर्देशित किया है कि शहरी तथा ग्रामीण क्षेत्र में विद्युत आपूर्ति अनावश्यक रूप से बाधित नहीं होना चाहिए। संधारण के लिये अगर विद्युत आपूर्ति बंद की जा रही है तो उसकी सूचना आम उपभोक्ता को पहले से होना चाहिए। इसके साथ ही अनावश्यक रूप से विद्युत ट्रिपिंग न हो, यह भी सुनिश्चित किया जाए।  


किसान फसलों को बीमारियों से बचाव के लिए बुवाई पूर्व बीजोपचार करें एवं पर्याप्त वर्षा होने पर बुवाई करें


खरीफ वर्ष 2021 में जिले में खरीफ फसलों की बुवाई के लिए कृषि विभाग द्वारा किसानों को सलाह दी गई है कि विगत  2-3 दिन से थोडी-थोडी मात्रा में वर्षा जिले के अलग-अलग क्षैत्र में हो रही है। बुवाई के लिए वर्षा लगभग 3 से 4 इंच होने एवं जमीन में पर्याप्त नमी होने पर ही फसलों की बुवाई कर सकते है। बुवाई पूर्व बीज से उत्पन्न होने वाली बीमारियों एवं मृदा जनित रोगो से बचाव हेतु किसान भाई बीजो को फफूंदनाशक दवा जैसे थायरम $ कार्बेन्डाजिम (2:1) 3 ग्राम प्रति किलो, इसके बाद पीला मोजेक रोग हेतु कीटनाशक थायोमिथाक्सम 30एफ.एस. 10 मिली. प्रति किलोग्राम बीज या एमिडाक्लोरोपिड 48 एफएस 1.2 मिली किलोग्राम बीज तथा अंत में कल्चर जैसे राईजोबियम एवं पीएसबी 5 से 7 ग्राम प्रति किलोग्राम बीज से उपचारित कर बुवाई कर, ताकि भविष्य में फसल पर फफूंद जनित रोग से रोकथाम की जा सकती है। जिले में खरीफ सीजन में सोयाबीन फसल की प्रमुखता से बुवाई होती है तथा इसके बाद अधिकतर क्षैत्र में लहसुन, प्याज, सरसों, एवं अन्य मसाला औषधी वाली फसलों की बुवाई की जाती है। इन फसलों की लगातार दोनों सीजन में बुवाई से मिट्टी में उपलब्ध सल्फर एवं जिंक की मात्रा प्रायः कम देखी गई है। किसान भाईयो से अपील की जाती है कि, सोयाबीन की फसल बुवाई के पूर्व सल्फर युक्त उर्वरक जैसे सिंगल सुपर फास्फेट, जिप्सम, दानेदार सल्फर आदि का उपयोग कर सकते है तथा सोयाबीन की बुवाई हेतु रेजबेड प्लांटर अथवा गराड़ पद्धति से बुवाई करें, इस विधि की वुबाई में मोटी मेड़ एवं नाली का निर्माण होता है जिससे अधिक वर्षा होने की स्थिति में नाली से पानी का निकास हो जाता है एवं कम वर्षा होने की स्थिति में मोटी मेड़ से नमी संरक्षित रहने से फसल पर ताव नहीं लगता है। दोनों स्थिति में फसल पर विपरीत प्रभाव नहीं पडता है एवं सामान्य उत्पादन से 18 से 20 प्रतिशत की वृद्धि होती है तथा कीट एवं रोग का प्रकोप भी कम होता है। किसान भाई आगामी समय में सोयाबीन की बुवाई गराड पद्धति अथवा रेजबेड पद्धति एवं रिजफेरो पद्धति से बुवाई करें।


कोविड टीकाकरण महा-अभियान के लिए व्यापक स्तर पर चल रही है तैयारी, लोगों को जागरूक करने के लिए सभी का लिया जा रहा है सहयोग


जिले में 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस के अवसर पर कोविड टीकाकरण महाअभियान 21 जून से प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान के तहत जिले के एक लाख से अधिक लोगों को टीकाकरण करने का लक्ष्य रखा गया है। कोरोना महामारी से बचाव के लिए कोविड का टीका एक सुरक्षा कवच है। इस सुरक्षा कवच से जिले के सभी नागरिकों को कोविड महामारी से सुरक्षित करने के लिए जिला प्रशासन सभी के सहयोग से व्यापक स्तर पर तैयारी कर रहा है। कलेक्टर श्री चन्द्रमोहन ठाकुर ने बताया कि कोविड टीकाकरण के इस महाअभियान को सफल बनाने के लिए जिले के सभी जनप्रतिनिधियों, धर्म गुरूओं, समाज सेवियों, रचनाकारों, खिलाड़ियों, मीडिया बन्धुओं से अधिक से अधिक टीकाकरण के लिये लोगों को प्रेरित करने की अपील की गई है। विगत दो दिन से जारी अपीलों और जनजागरूकता अभियानों के चलते जिले में कोविड टीकाकरण को लेकर उत्साह का वातातरण बन गया है।  अभी तक बड़ी संख्या में हर आयु वर्ग के लोगों के टीकाकरण होने से टीके को लेकर अब लोगों में किसी प्रकार की भ्रम और भ्रांतियां नहीं है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि हमारी किल कोरोना अभियान की टीम टीकाकरण के लिये लगातार लोगों को घरों में जाकर प्रेरित कर रही है। इसके अलावा क्राइसिस मैनेजमेंट के सदस्य, जन अभियान परिषद का कोरोना वालेंटियर्स, समाज के प्रबुद्ध नागरिक गण इस अभियान को बनाने के लिए सक्रिय रूप से सहयोग दे रहे हैं। जागरूकता रैली एवं अन्य कार्यक्रम किये जा रहे हैं। श्री ठाकुर ने बताया कि कोविड के टीके की पर्याप्त उपलब्धता सुनिश्चित की गई है। जिले में टीकाकरण के लिए 130 से अधिक केंद्र बनाए जाएंगे।


वैक्सीनेशन महा-अभियान को सफल बनाने पूरी निष्ठा, लगन और गंभीरता से काम करें - कलेक्टर श्री ठाकुर

  • कलेक्टर ने वैक्सीनेशन महाअभियान के संबंध में अधिकारियों को दिए दिशा-निर्देश

sehore news
जिले में 21 जून से प्रारंभ किए जा रहे कोविड वैक्सीनेशन महा-अभियान के संबंध में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिला एवं विकासखंड स्तरीय अधिकारियों को दिशा-निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि जिले में महा-अभियान के पहले दिन 21 जून को निर्धारित लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए जरूरी है कि सभी अधिकारी उन्हें सौंपे गए दायित्वों का पूरी निष्ठा, लगन और गंभीरता से निर्वहन करें। कलेक्टर श्री ठाकुर ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि जिले के ग्रामीण और नगरीय क्षेत्रों के लिए सेक्टर अधिकारी नियुक्त किए गए हैं। सभी सेक्टर अधिकारी अपने-अपने क्षेत्र में सतत मॉनिटरिंग करने के साथ ही सभी व्यवथाएं सुनिश्चित करने, लोगों को वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करेंगे। उन्होंने वैक्सीनेशन सेंटर पर सभी जरूरी इंतजामों के साथ-साथ बारिश होने पर लोगों के बैठने की व्यवस्था सुनिश्चित करने के भी निर्देश दिए। कलेक्टर श्री ठाकुर ने अधिकारियों तथा वैक्सीनेशन अमले को 21 जून को निर्धारित समय से पहले अपनी-अपनी जगह पहुंचने के निर्देश दिए जिससे कि वैक्सीनेशन समय पर प्रारंभ हो सके।


कोविड वैक्सीनेशन रैली को हरी झंडी दिखाकर किया रवाना


sehore news
योग दिवस के अवसर पर 21 जून को पूरे प्रदेश में कोविड-19 टीकाकरण का महाअभियान चलाया जाएगा। टीकाकरण के प्रति जन जागरण, प्रचार प्रसार के लिए सीहोर विधायक श्री सुरेश राय एवं कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर द्वारा कोविड-19 वैक्सीनेशन रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना किया गया। इस रैली में मिकी माउस एवं अन्य आकर्षक वेशभूषा धारण किये लोग शहरी क्षेत्रों में कोविड टीकाकरण महाअभियान का प्रचार प्रसार करेगा, जिससे कि टीकाकरण से कोई भी वंचित न रह सके। इस अवसर पर अवसर पर श्री सीताराम यादव, श्री राजकुमार गुप्ता, श्री पृथ्वीवल्लभ दुबे, सीएमओ श्री संदीप श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारी एवं जनप्रतिनिधि उपस्थित थे।


पीले चावल देकर किया लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित


sehore news
कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए टीकाकरण को कारगर हथियार है। जिले में कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने के लिए लोगों को जागरूक किया जा रहा है। समाज के कई वर्गों में टीकाकरण को लेकर भ्रांतियां हैं। इन भ्रांतियों को खत्म कर टीकाकरण के लिए प्रेरित करने के लिए जिले में अनेक क्षेत्रों में कोरोना वालेंटियरों द्वारा पीले चावल के साथ आमंत्रण भी बांटे जा रहे हैं। कोरोना वैक्सीन को लेकर लोगों में उत्साह आए और वे टीकाकरण केंद्रों तक पहुंचे इसके लिए पूरे जिले में तरह-तरह से अभियान चलाए जा रहे हैं। भारतीय परंपराओं के अनुसार शुभ कार्य और खासकर शादी के मौके पर अपने प्रियजनों को आमंत्रण पत्र के साथ पीले चावल दिए जाते है। यह अपनापन जाहिर करने का तरीका है। इसी तरीके के जिले में कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए केंद्रों तक आने का न्यौता दिया जा रहा है। लोगों को बताया जा रहा है कि टीका लगने पर बुखार आना एक सामान्य प्रक्रिया हैं और कोई भी दिक्कत नहीं होती। वही आशा कार्यकर्ता द्वारा ग्रामीण लोगों को टीकाकरण के लिए आमंत्रण पत्र एवं पीले चावल देकर आमंत्रित कर रही हैं। उन्होंने लोगों से अपील की है कि कोरोना को हराना हैं तो वैक्सीन जरूर लगवाना है। 


21 जून को कोविड का टीका लगाने घर-घर जाकर किया जा रहा है आमंत्रित, कहीं अभिवादन कर, तो कहीं पीले चावल, तो कहीं दिए जा रहे आमंत्रण पत्र


sehore news
21 जून से प्रारंभ हो रहे टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने के लिए कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश पर जिले में कई तरह के जागरूकता कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं। इसमें लोगों को कोविड का टीका लगवाने के लिये घर-घर जाकर निमंत्रण दिया जा रहा है। सभी अनुभागों में जागरूकता दल एवं प्रशासनिक अधिकारियों कर्मचारियों द्वारा घर-घर जाकर 21 जून को टीका लगवाने के लिए पीले चावल देकर आमंत्रित किया जा रहा है। कही आमंत्रण दिए जा रहे हैं तो कहीं हाथ जोड़ कर अभिवादन के साथ कोविड का टीका लगवाने के लिये अमंत्रित किया जा रहा है। टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने के लिए एवं लोगों में जागरूकता लाने के उद्देश्य से बस, ऑटो, चौराहों सहित अन्य स्थानों पर बोर्ड, पंपलेट लगाए जा रहे हैं। जिससे कि लोग अधिक से अधिक संख्या में टीकाकरण के लिए जागरूक हो सकें। लोगों को आमंत्रण पत्र प्रदान करते समय बताया जा रहा है कि कोरोना का टीका एकदम सुरक्षित है। इससे किसी भी प्रकार का कोई नुकसान नहीं है और कोरोना संक्रमण से बचने के लिए कारगर उपाय है।


लोगों को टीकाकरण के लिए प्रेरित करने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका- कलेक्टर

  • जिले में 21 जून से शुरू होगा टीकाकरण महा-अभियान, इस पूरे अभियान में जिले के एक लाख से अधिक लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य, जिले  में 200 टीकाकरण केन्द्र बनाए जायेंगे

sehore news
कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए अधिक से अधिक लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने के लिए जिले में 21 जून से वैक्सीनेशन महाअभियान प्रारंभ किया जा रहा है। इस अभियान के तहत अधिक से अधिक लोगों को टीकाकरण के लिए जागरूक करने के संबंध में कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में आयोजित प्रेस वार्ता आयोजित की गई। प्रेस वार्ता के दौरान कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने कहा कि किसी भी अभियान को सफल बनाने के लिए लोगों के बीच अभियान के संबंध में जानकारी और जागरूकता होना आवश्यक है। लोगों को प्रेरित करने और अभियान को सफल बनाने  के लिए समाज में सकारात्मक वातावरण तैयार करने में मीडिया की महत्वपूर्ण भूमिका है। प्रेस वार्ता में कलेक्टर श्री ठाकुर ने बताया कि लोगों के मन में वैक्सीनेशन से जुड़ी जो भ्रांतियां हैं, उन्हें दूर करना जरूरी है। शासन-प्रशासन द्वारा लोगों को कोविड वैक्सीनेशन के लिए जागरूक करने तथा अधिक से अधिक वैक्सीनेशन के लिए हर संभव प्रयास किए जा रहे हैं। गांवों और नगरों में लगातार विभिन्न माध्यमों से लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाव के लिए सावधानी बरतने और वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है। कलेक्टर श्री ठाकुर कहा कि कोविड वैक्सीनेशन महाअभियान के प्रथम दिवस 21 जून को सम्पूर्ण जिले में 30000 लोगों को तथा इस पूरे अभियान मे एक लाख लोगों को कोविड वैक्सीन लगाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। इस लक्ष्य को प्राप्त करने में मीडिया के साथियों का सहयोग जरूरी है। महाअभियान में अधिक से अधिक लोगों का वैक्सीनेशन सुनिश्चित करने के लिए 200 वैक्सीनेशन सेंटर बनाए गए हैं। टीकाकरण की सतत मॉनिटरिंग और व्यवस्था सुनिश्चित करने के लिए 34 सेक्टर ऑफिसर बनाए गए हैं। उन्होंने मीडिया के सभी साथियों से वैक्सीनेशन महाअभियान को सफल बनाने हेतु लोगों को जागरूक करने और वैक्सीनेशन से जुड़ी भ्रांतियों को दूर करने के लिए सहयोग की अपील की। प्रेस वार्ता में मीडिया के अनेक सार्थियों ने वैक्सीनेशन के लिए लोगों को जागरूक किए जाने के संबंध में महत्वपूर्ण सुझाव दिए। 


योग दिवस पर आयुष विभाग द्वारा किया जा रहा है, "बी विथ योगा "बी विथ होम" कार्यक्रम का आयोजन


योग का महत्व कोरोना काल में सभी लोग भली भांति जानते हैं। माइंड और बॉडी का बैलेंस रखने वाली विधा को हम जीवन का अनिवार्य अंग बना लें ताकि हम शरीर के साथ साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ रह सकें। जिला आयुष अधिकारी डॉ नरेन्द्र सिंह लोधी ने जानकारी दी कि आयुष विभाग द्वारा 21 जून को सुबह 7 बजे से 7.45 बजे तक होने वाले योगाभ्यास में सम्मिलित होकर देश को स्वस्थ व समृद्ध बनाने में सहभागी बनें। कार्यक्रम का प्रसारण सोशल प्लेटफार्म यू ट्यूब, फ़ेसबुक, इंस्टाग्राम सहित दूरदर्शन पर होगा। हमारे नवनिर्मित एच. डब्लू. सी. (हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर) खामलिया , ब्रिजिशनगर, कुरावर एवं आयुष विंग सीहोर में योग कार्यक्रम का आयोजन योग प्रशिक्षकों द्वारा कोविड प्रोटोकॉल  का पालन करते हुए किया जाएगा ।


टीकाकरण महाअभियान के लिए स्वास्थ्य विभाग ने बनाए, जोनल अधिकारी, करेंगे सघन मॉनिटरिंग


जिले में टीकाकरण महाअभियान का शुभारंभ 21 जून को प्रातः 7 बजे से किया जाएगा। अभियान की शत प्रतिशत सफलता एवं सघन मॉनिटरिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग द्वारा विकासखण्ड वार जोनल ऑफिसर बनाए गए हैं। विकासखण्ड आष्टा के लिए जिला परिवार कल्याण अधिकारी डॉ प्रदीप कुमार मोजेश, बुधनी में डीपीएम श्री धीरेन्द्र आर्य, इछावर के लिए जिला एपिडेमियोलॉजिस्ट डॉ रुचिरा उईके, नसरूल्लागंज में जिला स्वास्थ्य अधिकारी डॉ टीआर उईके, विकासखण्ड श्यामपुर में जिला क्षय अधिकारी डॉ जेडी कोरी तथा सीहोर शहरी क्षेत्र के लिए शहरी टीकाकरण अधिकारी डॉ नीरा श्रीवास्तव को जोनल अधिकारी बनाया गया है। मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ सुधीर कुमार डेहरिया ने जानकारी दी कि सभी जोनल अधिकारी अपने प्रभार वाले विकासखण्ड क्षेत्र में स्वास्थ्य संस्थाओं में टीकाकरण सत्र के सुचारू रूप से संचालन के लिए जिम्मेदार होंगे। भ्रमण के दौरान पाई गई कमियों से सीएमएचओ को तत्काल अवगत कराएंगे। सत्र स्थल पर सभी जरूरी सामग्री उपलब्ध कराने के लिए जिम्मेदार होंगे। मॉनिटरिंग चेकलिस्ट का निरीक्षण, टीमों का निर्धारित समय पर सत्र स्थल पर पहुंचना, वैक्सीन की उपलब्धता, जिला स्तरीय नियंत्रण कक्ष से समन्वय तथा सतत संपर्क तथा एईएफआई होने पर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने की जिम्मेदारी सभी जोनल ऑफिसर को सौंपी गई है। 


जिले में आज 2 व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव  मिले, दो व्यक्ति रिकवर हुए, कुल रिकवर व्यक्ति की संख्या 9998, वर्तमान में कोरोना एक्टिव-पॉजिटिव की संख्या 11


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में 02 भी व्यक्ति कोविड-19 पॉजिटिव मिले है। जो श्यामपुर अंतर्गत छापरीकला एवं नसरुल्लागंज के  बालागांव के रहने वाले हैं। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10124 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 11 हैं। आज 02 व्यक्ति रिकवर हुए। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 9998 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है । आज 1105 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 228, श्यामपुर से 250, विकासखंड नसरुल्लागंज से 132, आष्टा से 257 एवं बुधनी से 78 तथा इछावर से 160 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 162314 हैं जिनमें से 150114 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। आज 1291 सैंपलों की रिपोर्ट निगेटिव आई है। कुल 2005 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई-परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारंटाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं।


ग्राम पंचायतों में कोरोना वालंटियर्स द्वारा टीकाकारण महाअभियान के लिए घर-घर किया जा रहा है टीका लगवाने के लिए आमंत्रित


म.प्र. जन अभियान परिषद के कोरोना वालंटियर्स द्वारा ग्राम पंचायतों में 21 जून को टीकाकरण महाअभियान के लिए कोरोना वालेंटियर्स द्वारा घर-घर पीले चावल देकर लोगों को वैक्सीनेशन सेंटर पर आने के लिए आमंत्रित किया जा रहा है। अभियान का उद्देश्य शत प्रतिशत वैक्सीनेशन युक्त ग्राम पंचायत बनाना है। अभियान को सफल बनाने में जन अभियान परिषद के कोरोना वालेंटियर्स ग्रामीण क्षेत्रों में अहम भूमिका निभाई जा रही है।


21 जून से प्रारंभ होगा कोविड-19 टीकाकरण महाअभियान, 18 प्लस से उपर आयु वाले सभी का टीकाकरण स्थल पर ही होगा पंजीयन


21 जून से टीकाकरण महाअभियान की शुरुआत की जाएगी। अभियान के अंतर्गत टीकाकरण के निर्धारित लक्ष्य को पूरा करने के लिए व्यापक तैयारियां की गई है। 21 जून को जिले के लक्षित आयु वाले 30 हजार व्यक्तियों  को टीकाकृत किए जाने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है। महाअभियान के अंतर्गत टीकाकरण के लिए सत्र स्थल पर ही पंजीयन किया जाएगा। 18 प्लस वर्ष सहित उपर आयु वर्ग वाले किसी भी व्यक्ति को ऑनलाइन पंजीयन कराने की आवश्यकता नहीं है। स्थानीय सीहोर शहरी क्षेत्र में सभी सत्रों स्थलों पर ही पंजीयन की व्यवस्था की गई है। स्थानीय सीहोर शहरी क्षेत्र में 11 टीकाकरण सत्रों पर टीकाकरण किया जाएगा। महिला पॉलिटेक्नीक कॉलेज भोपाल नाका, अग्रवाल पंचायत भवन बड़ा बाजार, राठौर धर्मषाला गंज, आवासीय स्कूल भोपाल नाका, संजीवनी क्लीनिक मंडी, शास. उत्कृष्ट उच्च.माध्य.विद्यालय क्रमांक-1, आदर्श गगनदीप स्कूल नेहरू कॉलोनी, ब्लूबर्ड स्कूल सिंधी कॉलोनी, पटेल पेट्रोल पंप न्यू बस स्टेण्ड सीहोर में टीकाकरण केन्द्र बनाए गए है।   


टीकाकरण महाअभियान के लिए जिला स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित,  कंट्रोल रूम का दूरभाष नंबर 07562-227022 जारी


21 जून से प्रारंभ हो रहे टीकाकरण महाअभियान के लिए जिला मुख्यालय स्थित मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ अधिकारी कार्यालय में जिला स्तरीय कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है। इस कंट्रोल रूम का दूरभाष नंबर 07562-227022 है। कंट्रोल रूम से समस्त जोनल ऑफिसर,  सेक्टर ऑफिसर सतत् संपर्क में रहेंगे। मैदानी एवं सत्र स्थल पर आ रही किसी भी समस्या से नियंत्रण कक्ष को अवगत कराएंगे।  


ग्राम पंचायतों में बैठक एवं कई तरह के आयोजन कर किया जा रहा लोगों को जागरुक


sehore news
21 जून से प्रारंभ हो रहे टीकाकरण महाअभियान को सफल बनाने के लिए कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर के निर्देश अनुसार इछावर में जागरूकता रैली निकाली गई। रैली के माध्यम से कोरोना का टीका लगाने के लिए ग्रामीणों से अपील की गई। इछावर तहसीलदार श्रीमती जिया फातिमा ने ग्राम गाजीखेड़ी सहित अन्य ग्रामों में घर-घर जाकर पीले चावल देकर वेक्सीन लगवाने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने लोगों को बताया कि कोरोना का टीका भारत सरकार द्वारा प्रमाणित है और टीका लगवाने से किसी की कोई परेशानी नहीं होती है। यह टीका सुरक्षित और नि:शुल्क है। जो सभी टीकाकरण केंद्रों पर लगाया जा रहा है। इसी प्रकार जिले के अनेक ग्रामों में टीकाकरण महाअभियान के लिए लोगों अनेक तरह के आयोजन कर प्रेरित किया जा रहा है।   


युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान के तहत प्रशिक्षण सत्रो का आयोजन


मध्यप्रदेश शासन द्वारा कोरोना महामारी के इस संकटकाल में लोगों को जागरूक करने के लिए तथा इस कार्य में युवाओं का उत्तरदायित्व निर्धारित करने के लिए ‘‘युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान’’ प्रारंभ किया गया है। इस अभियान में महाविद्यालय के युवा विद्यार्थियों को कोविड अनुकूल व्यवहार तथा टीकाकरण के संबंध में प्रशिक्षित किया जा रहा है। विभिन्न प्रशिक्षण सत्रों में 50-50 विद्यार्थियो का समूह बनाकर सामाजिक दूरी का ध्यान रखते हुए प्राचार्य डॉ. आशा गुप्ता ने युवाओं को कोरोना महामारी के प्रति जागरूक किया गया। प्रशिक्षण सत्रों में प्राचार्य डॉ गुप्ता ने विद्यार्थियो को कोविड अनुकूल व्यहार आत्मसात करने तथा टीकाकरण करवाने की अपील की। उन्होंने छात्रों को बताया गया कि मास्क, सामाजिक दूरी व सेनेटाईजर को अपने दैनिक जीवन का अनिवार्य हिस्सा बनाये तथा वैक्सीनेशन के संबंध मे फैली भ्रान्तियों को दूर करते हुए वैक्सीनेशन करवाकर स्वयं व समाज को सुरक्षित करें तथा ग्रामीणों में जागरूकता फैलाये। कार्यक्रम के तहत एप्प पर विद्यार्थियो का पंजीयन किया गया।


वैक्सीन महाअभियान में कोरोना वॉलेंटियर्स की महत्वपूर्ण भूमिका . मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • जन अभियान परिषद के एक लाख वॉलेंटियर्स संभालेंगे दायित्व

sehore news
मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड-19 वैक्सीनेशन के लिए लोगों को प्रेरित करने में कोरोना वॉलेंटियर्स की महत्वपूर्ण भूमिका है। कोरोना वॉलेंटियर 21 जून को होने वाले वैक्सीनेशन महाअभियान में जन-सामान्य की अधिक से अधिक भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए ग्राम और वार्ड स्तर पर सघन प्रयास करें। वैक्सीनेशन के प्रति विद्यमान भ्रांतियों का समाधान करना आवश्यक है। लोगों को वैक्सीनेशन के लिए तार्किक रूप से सहमत और जागरूक करना आवश्यक है। जन.सामान्य को वैक्सीनेशन सेंटरों तक लाने में कोरोना वॉलेंटियर्स का योगदान संक्रमण को रोकने और जीवन बचाने में महत्वपूर्ण होगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान कोविड-19 वैक्सीनेशन महाअभियान में जन अभियान परिषद की भूमिका संबंधी बैठक को निवास से वर्चुअली संबोधित कर रहे थे। परिषद के उपाध्यक्ष श्री विभाष उपाध्याय ने भी बैठक को वर्चुअली संबोधित किया।


वॉलेंटियर वैक्सीनेशन के लिए बुजुर्गों का सहयोग करें

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में वैक्सीनेशन के लिए 7 हजार केन्द्र बनाए जा रहे हैं। प्रत्येक केन्द्र पर दो-दो वॉलेंटियर्स सेवा और सहयोग के लिए उपलब्ध रहें। यह वॉलेंटियर वैक्सीनेशन के लिए बुजुर्गों का सहयोग करें। साथ ही जन-सामान्य को वैक्सीनेशन के लिए प्रेरित करने के लिए ग्राम और वार्ड स्तर पर सम्पर्क, सोशल मीडिया पर वातावरण निर्माण जैसी गतिविधियाँ आवश्यक हैं।


वैक्सीनेशन सेंटर्स पर जन.सामान्य को प्रेरित किया जाए

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि तीसरी लहर से बचाव के लिए कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन करने के लिए भी वैक्सीनेशन सेंटर्स पर जन-सामान्य को प्रेरित किया जाए। जानकारी दी गई कि वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए एक लाख कोरोना वॉलेंटियर्स को विभिन्न दायित्व सौंपे गए हैं।    


कोरोना की तीसरी लहर का सामना करने के लिए तैयारियाँ जारी रू मुख्यमंत्री श्री चौहान

  • प्रदेश को 10 दिन में मिलेंगी 50 लाख वैक्सीन, वैक्सीनेशन और तीसरी लहर की तैयारियों पर हुआ प्रस्तुतिकरण

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर से बचाव के लिए प्रदेश की अधिक से अधिक जनसंख्या को जल्द से जल्द वैक्सीनेशन का सुरक्षा चक्र प्रदान कर दिया जाएगा। तीसरी लहर का सामना करने के लिए अस्पतालों के संसाधनों में लगातार वृद्धि की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री चौहान कोविड-19 वैक्सीनेशन महाअभियान के संबंध में धर्म गुरूओं सहित जिलों के गणमान्य नागरिकों को निवास से वर्चुअली संबोधित कर रहे थे। अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य श्री मोहम्मद सुलेमान ने वैक्सीनेशन तथा प्रदेश में तीसरी लहर का सामना करने के लिए जारी तैयारियों पर प्रस्तुतिकरण दिया।


21 जून को 14 लाख वैक्सीन होंगी उपलब्ध

वर्चुअल बैठक में जानकारी दी गई कि 21 जून को वैक्सीनेशन महाअभियान के लिए प्रदेश में 7 हजार वैक्सीनेशन केन्द्र बनाए जाएँगे। इन केन्द्रों का व्यापक प्रचार-प्रसार सुनिश्चित किया जाएगा ताकि लोग 21 जून को आसानी से वैक्सीनेशन के लिए इन केन्द्रों पर पहुँच सके। प्रदेश के दूरस्थ अंचलों तक वैक्सीन पहुंचाने की प्रक्रिया आरंभ हो गई है। सीधी, सिंगरौली जैसे दूरस्थ जिलों में समय रहते वैक्सीन की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। लक्ष्य यह है कि 21 जून को 14 लाख वैक्सीन प्रदेश के केन्द्रों पर उपलब्ध हो। वैक्सीन महाअभियान में 10 लाख टीकाकरण का लक्ष्य रखा गया है। महाअभियान के लिए वातावरण निर्माण इस प्रकार से हो कि वैक्सीनेशन की संख्या 10 लाख से अधिक हो।


प्रधानमंत्री श्री मोदी से आग्रह के परिणाम स्वरूप मिली अतिरिक्त वैक्सीन

अपर मुख्य सचिव स्वास्थ्य ने बताया कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा आग्रह के परिणाम स्वरूप प्रदेश में वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ी है। आगामी 10 दिन के लिए प्रदेश को 50 लाख वैक्सीन मिल रही हैं। यह प्रदेश के लिए बड़ा अवसर है। हमें सुनिश्चित करना है कि इतनी बड़ी संख्या में प्राप्त हो रही वैक्सीन का समय रहते उपयोग हो। यह सुनिश्चित करना आवश्यक है कि वैक्सीन की वेस्टेज न हो। एक वॉइल में 11 डोज रहती हैंए एक वॉइल से 10 व्यक्तियों के टीकाकरण की व्यवस्था है। हमारा प्रयास हो कि एक वॉइल से 11 लोगों का वैक्सीनेशन किया जाए।


वैक्सीनेशन सेंटरों का व्यापक प्रचार.प्रसार सुनिश्चित किया जाए

प्रस्तुतिकरण में जानकारी दी गई कि वैक्सीनेशन अभियान 21 जून के बाद निरंतर जारी रहेगा। जिन गाँवोंए वार्डों में वैक्सीनेशन पूर्ण होगा वहाँ से वैक्सीनेशन सेंटरों का स्थान परिवर्तन किया जाएगा। यह ध्यान रखना आवश्यक है कि जहाँ अगला वैक्सीनेशन सेंटर स्थापित किया जा रहा हैए उसका प्रचार.प्रसार क्षेत्र में व्यापक रूप से किया जाए। इससे जन.सामान्य को वैक्सीनेशन सेंटर पहुँचने में आसानी होगी और वैक्सीनेशन डोज वेस्ट भी नहीं होंगे।


वैक्सीनेशन के तय प्रोटोकॉल का ध्यान रखा जाए

वैक्सीनेशन के तय प्रोटोकॉल का ध्यान आवश्यक रूप से रखा जाए। वैक्सीनेशन के बाद आधा घंटा आराम कराना आवश्यक है, इस व्यवस्था का पालन किया जाए। सामान्य बुखार आने या अन्य लक्षणों पर भी नजर रखी जाए और आवश्यक सलाह दी जाए। इससे अनावश्यक भ्रम फैलने की स्थिति को रोका जा सकेगा। आवश्यकता होने पर रेफरल स्वास्थ्य संस्थाओं की सहायता ली जाए।


राज्य सरकार वायरस के नए वैरिएंट के संबंध में सतर्क

कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर की संभावनाओं के संबंध में प्रस्तुति बताया गया कि अगले एक माह में हमें तीसरी लहर का सामना करना पड़ सकता है। कोविड अनुकूल व्यवहार यदि नहीं रखा गया तो निश्चित है कि कोरोना के प्रकरण बढ़ेंगे। कोरोना का वायरस अभी गया नहीं है। अब डेल्टा प्लस वेरिएंट की बात हो रही है। वायरस के प्रतिदिन नए वेरिएंट सामने आ रहे हैं। राज्य सरकार वायरस के नए वेरिएशन्स पर लगातार नजर रखे हुए है।


अस्पतालों के लिए 61 करोड़ रूपये की स्वीकृतियाँ जारी

राज्य शासन द्वारा आगामी परिस्थितियों के लिए लगातार तैयारी की जा रही है। जिला स्तर पर आईसीयू, एचडीयू,  पीडियाट्रिक आईसीयू और ओटी बेड बढ़ाने के लिए लगभग 61 करोड़ रूपये की स्वीकृतियाँ जारी की जा चुकी हैं। उपकरणों आदि की आपूर्ति के लिए भी आदेश दिए जा चुके हैं। प्रयास यह है कि प्रदेश में जुलाई अंत तक आवश्यक अधोसंरचना स्थापित हो जाए।


112 ऑक्सीजन प्लांट और 7 हजार ऑक्सीजन कंसंट्रेटर की व्यवस्था

प्रदेश में 112 ऑक्सीजन पीएसए प्लांट स्वीकृत हो गए हैं। आगामी 15 अगस्त तक लगभग सभी प्लांट क्रियाशील हो जाएंगे। बैठक में जिला कलेक्टर्स को निर्देश दिए गए कि वे इन ऑक्सीजन प्लांटस के लिए बिजली कनेक्शन की व्यवस्था पूर्व से ही सुनिश्चित कर लें ताकि प्लांटस के क्रियान्वयन में विलंब न हो। प्रदेश के विभिन्न जिलों को 4500 ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए गए हैं। इसके अतिरिक्त भारत सरकार तथा अन्य स्त्रोतों से लगभग 2500 कंसंट्रेटर और प्राप्त हो रहे हैं। जिलों को उनकी आवश्यकता के अनुसार कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए जाएंगे। अतरू जिला अस्पतालों के साथ-साथ सामुदायिक तथा प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों पर भी ऑक्सीजन कंसंट्रेटर उपलब्ध कराए जायें।


वॉक इन इंटरव्यू से करें रिक्त पदों की पूर्ति

मेडिकल कॉलेजों में रिक्त डॉक्टरों तथा चिकित्सा विशेषज्ञों के पदों की पूर्ति के लिए भी संभागायुक्तों को निर्देश दिए गए। इसके लिए वॉक इन इंटरव्यू की व्यवस्था आरंभ करने का सुझाव दिया गया। मेडिकल कॉलेजों में जुलाई तक नर्सेस की सभी रिक्तियाँ भर ली जाएँगी। इन्हें तत्काल कोविड संबंधी प्रशिक्षण देकर बच्चों के वार्ड तथा अन्य आवश्यक स्थानों पर इनकी सेवाएं ली जाएँ।

कोई टिप्पणी नहीं: