बिहार : पारस मनाएंगे पासवान जयंती - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 29 जून 2021

बिहार : पारस मनाएंगे पासवान जयंती

paras-celebrate-paswan-aniversiry
पटना : 5 जुलाई को दिवंगत नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री रामविलास पासवान की जयंती मनाई जाएगी। इसको लेकर लोजपा द्वारा बड़े पैमाने पर तैयारी की जा रही है। पासवान जयंती को लेकर जहां रामविलास पासवान के बेटे चिराग पासवान द्वारा उनके संसदीय क्षेत्र हाजीपुर से आशीर्वाद यात्रा किया जाएगा। वहीं दूसरी तरफ पशुपति पारस गुट द्वारा बिहार की राजधानी पटना स्थित पार्टी कार्यालय में 20 हजार लोगों को जुटाने का दावा किया जा रहा है। यह कोरोना काल में नीतीश सरकार के लिए खुली चुनौती है। पशुपति पारस द्वारा दावा किया जा रहा है कि इस कार्यकर्म में लोजपा के सभी बागी और पुराने सांसद और पूर्व विधायक मौजूद रहेंगे। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा चुनावों में प्रत्याशी रहे नेता सहित दलित सेना के नेता और कार्यकर्ता भी शामिल होंगे। इसको लेकर पारस ने कहा कि बिहार के हर जिले से कार्यकर्ताओं को बुलाने की प्लानिंग की जा रही है। मालूम हो कि बिहार में कोरोना को लेकर भी अनलॉक-3 चल रहा है। इसमें शादी और श्राद्ध कार्यक्रम में 25 से अधिक लोगों के जुटने की परमिशन नहीं है। ऐसे में सरकार इतनी बड़ी संख्या में लोगों के जुटने की कैसे अनुमित देगी, यह देखने वाली बात है। वहीं पारस गुट का कहना है कि हम कोई जुलूस या जलसा नहीं कर रहे हैं। जयंती समारोह पूरी तरह से कोरोना प्रोटोकॉल के तहत आयोजित होगा। उनलोगों ने बताया कि कार्यक्रम की शुरुआत सुबह 8 बजे से ही होगी। सबसे पहले श्रद्धांजलि सभा होगी। इसके बाद बाकी के प्रोग्राम होंगे। इसके लिए पार्टी कार्यालय में पंडाल बनाया जा रहा है। बैरिकेडिंग की जा रही है। मास्क और सैनेटाइजर का इस्तेमाल होगा। एक साथ सभी लोगों को जुटने नहीं दिया जाएगा। बैठकर खाने की की व्यवस्था नहीं की गई है। आने वाले लोगों को फूड पैकेट दिया जाएगा। दिन भर लोगों के आने-जाने का सिलसिला चलता रहेगा। वहीं इस कार्यक्रम के जुटने वाले भीड़ को लेकर पारस गुट द्वारा कहा गया कि हमलोग nda के साथ है। भले विधायक नहीं हैं, पर नीतीश सरकार के समर्थन में हैं। इस कारण किसी भी हाल में जयंती समारोह के दरम्यान कोरोना प्रोटोकॉल का उल्लंघन नहीं होगा। इस कार्यक्रम में बिहार ही नहीं देश भर से लोग आएंगे। उन्हें आने से रोका नहीं जा सकता है।

कोई टिप्पणी नहीं: