विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 10 जुलाई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 10 जुलाई

मानोरा मेला इस वर्ष आयोजित नही होगा , श्रद्धालुगणों को शामिल नही होने की अपील 


vidisha news
कोरोना महामारी को देखते हुए इस वर्ष मानोरा मेला का आयोजन नही किया जाएगा। कोविड 19 के तहत जारी गाइड लाइन के परिपेक्ष्य में आज कलेक्टर डॉ पंकज जैन और पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने संयुक्त रूप से बैठक आहूत कर कोरोना मेला के दौरान संपादित होने वाली गतिविधियों तथा आयोजन किस स्तर पर संपादित होगा के संबंध में आवश्यक मार्गदर्शन शासन के द्वारा जारी दिशा निर्देशो के परिपेक्ष्य में दिया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने बताया कि मानोरा में रथ परम्परा का निर्वहन मेला समिति के पदाधिकारियों और पुजारियों द्वारा संपादित किया जाएगा। उपरोक्त कार्यो में कोई भी गणमान्य नागरिक अथवा आमजन शामिल नही होंगे। उन्होंने बताया कि कोविड 19 के संबंध में जारी गाइड लाइन के अनुपालन तहत सभी श्रद्वालु और दर्शनार्थियों से आग्रह किया गया है कि वे स्वंय और अन्य लोगो को मानोरा मेला में दर्शन करने हेतु नही आने देने में सहयोगप्रद करें। ततसंबंध में जिला प्रशासन द्वारा पृथक से अपील भी जारी की गई है। मानोरा मेला को ध्यानगत रखते हुए सागर, भोपाल, विदिशा एवं रायसेन के मार्गो से आने वालो के लिए मार्ग डायवर्ट किया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन ने एसडीएम श्री बृजेन्द्र रावत को निर्देश दिए है कि मानोरा मेला में विद्युत आपूर्ति, पेयजल आपूर्ति तथा स्वास्थ्य सुविधाएं सतत मुहैया कराए के प्रबंध सुनिश्चित किए जाएं। उन्होंने बताया कि रथ तथा पूजा अर्चना का दायित्व मेला समिति के सदस्यों तथा पुजारियों को सौंपा गया हैं उपरोक्त कार्या में किसी भी प्रकार से बाह्य व्यक्ति शामिल नहीं होंगे। पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा ने बताया की मानोरा मेला को ध्यानगत रखते हुए यातायात सुगमता से संचालित हो इसके लिए मार्गो का डायवर्टे किया गया है। श्रद्धालुगण कोरोना कोविड 19 की जारी गाइड लाइन का पालन सुनिश्चित करें इसके लिए हर स्तर पर प्रबंध सुनिश्चित किए गए है। विभिन्न स्थलों पर बेरिकेट लगाकर श्रद्वालुगणों को अनावश्यक रूप से प्रवेश ना करने हेतु प्रेरित किया जाएगा। मेला समिति के अध्यक्ष श्री भगवान सिंह ने श्री जगदीश स्वामी ट्रस्ट मेला समिति के द्वारा प्रेस विज्ञप्ति का उल्लेख करते हुए बताया कि 12 जुलाई को आयोजित होने वाली रथ यात्रा को कोविड गाइड का पालन करते हुए स्थगित की गई है रथ यात्रा नही निकाली जाएगी और ना ही मेला आयोजित किया जाएगा। प्रतीक स्वरूप रथ यात्रा का आयोजन समिति के पदाधिकारियों को पुजारियों के द्वारा संपादित किया जाएगा। उपरोक्त यात्रा में आमजनों से आग्रह किया गया है वे स्वंय शामिल ना हो और अन्य किसी को शामिल होने हेतु अभिप्रेरित करें। स्वास्थ्य सुविधाओं को ध्यानगत रखते हुए कोरोना से बचाव अतिमहत्वपूर्ण है अतः परेशानियों से बचने के लिए श्रद्धालुगण रथ यात्रा में शामिल ना हो का आग्रह किया गया है। कलेक्टर डॉ पंकज जैन एवं पुलिस अधीक्षक श्री विनायक वर्मा के द्वारा आयोजित बैठक में संयुक्त रूप से कोविड 19 के परिपालन में जारी गाइड लाइन का अक्षरशः पालन सुनिश्चित कराने का आग्रह संबंधितों से किया गया है। पुलिस अधीक्षक श्री वर्मा ने बताया कि मानोरा मेला को ध्यानगत रखते हुए यातायात का डायवर्ट किया गया है जिसमें मुख्य रूप से विदिशा से मानोरा की ओर अथवा नेशनल हाइवे मार्गार् से संवंद्ध उक्त मार्ग को पृथक किया गया है। ताकि आमजनों का यातायात किसी भी प्रकार से प्रभावित ना हो। मेला अवधि के दौरान डायवर्ट यातायात के संबंध में निर्धारित मार्गो की जानकारियां इस दौरान यातायात प्रभारी के द्वारा दी गई। मानोरा की पंचायत भवन में सम्पन्न हुई बैठक में ग्यारसपुर एसडीएम श्री बृजेन्द्र रावत के अलावा विभिन्न विभागो के अधिकारी मौजूद रहें।  


सडक निर्माण मार्ग की बाधाएं दूर हुई 


vidisha news
कलेक्टर डॉ पंकज जैन के द्वारा की गई विशेष पहल के परिणामस्वरूप हैदरगढ से मृगेन्द्रनाथ मंदिर तक पहुंच मार्ग के निर्माण कार्य का त्वरित निराकरण हुआ है उक्त मार्ग का निर्माण कार्य प्रारंभ हो गया है। कलेक्टर के द्वारा विवादो का निराकरण किया गया है और निर्माण ऐजेन्सी को निर्देश दिए गए है कि अविलम्ब पहुंच मार्ग के कार्यो को पूर्ण करें। 

नेशनल लोक अदालत में 2451 प्रकरणों का आपसी सुलह से हुआ निराकरण 


vidisha news
आज सम्पन्न हुई नेशनल लोक अदालत में 2451 प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह से हुआ है विदिशा जिला मुख्यालय  के साथ-साथ तहसील न्यायालयों पर एक साथ आयोजित नेशनल लोक अदालत में प्रकरणों के निराकरण हेतु 30 खण्ड पीठो का गठन किया गया था इन न्यायालयों के समक्ष प्रस्तुत किए गए आवेदनो में से प्रीलिटिगेशन के 9872 तथा न्यायालयों के लंबित 4478 प्रकरण निराकरण हेतु प्रस्तुत किए गए थे। नेशनल लोक अदालत की समाप्ति के उपरांत जिला न्यायाधीश एवं जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव श्री उपेन्द्र प्रताप सिंह के द्वारा उपलब्ध कराई गई जानकारी के अनुसार कुल 2451 प्रकरणों का निराकरण आपसी सुलह से हुआ है जिसमें विभिन्न न्यायालयो के लंबित 896 प्रकरण व प्रीलिटिगेशन के 1555 प्रकरण शामिल है। गौरतलब हो कि जिला मुख्यालय पर आयोजित नेशनल लोक अदालत का विधिवत् शुभांरभ प्रधान जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अचल कुमार पालीवाल जी के द्वारा राष्ट्रपिता महात्मा गांधी के चित्र पर माल्यार्पण व दीप प्रज्जलित किया गया है इसी प्रकार की प्रक्रिया तहसील न्यायालयों स्तरो पर सम्पन्न हुई है। कोविड 19 के संबंध में जारी गाइड लाइन का पालन सुनिश्चित करते हुए जिला न्यायालय परिसर सहित तहसील स्तरीय न्यायालय परिसरों में नेशनल लोक अदालत का आयोजन किया गया था।


मानव जीवन को बचाने के लिए अदम्य साहसिक व्यक्तियों से प्रविष्टियाँ आमंत्रित’


मानव जीवन रक्षा के लिए किए गए अदम्य साहस करने वाले से जीवन रक्षा पुरस्कार हेतु भारत सरकार द्वारा वर्ष-2021 के लिए प्रविष्टियां आमंत्रित की गई है। सभी कार्यालयों के अधिकारियों एवं अनुविभागीय अधिकारियों से 30 जुलाई 2021 तक तीन प्रतियों में अभिमत सहित प्रविष्टियां गृह मंत्रालय द्वारा मांगी गई हैं। यह पुरस्कार डूबने, दुर्घटना के मामले, आग लगने की घटनाएं, बिजली करंट लगने, भू-स्खलन होने, पशुओं के हमले और खदानों में बचाव कार्य आदि घटनाओं में किसी व्यक्ति की जान बचाने के लिए किए मानवीय प्रकृति के सराहनीय कार्यों के लिए दिया जाता है। पुरस्कार तीन श्रेणियों में सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक, उत्तम जीवन रक्षा पदक तथा जीवन रक्षा पदक दिया जाता है। जीवन रक्षा पदक श्रृंखला पुरस्कार किसी व्यक्ति का जीवन बचाने के लिए मानव स्वाभाव के सराहनीय कार्य हेतु दिया जाता है। यह पुरस्कार तीन श्रेणियों में दिए जाते हैं, जिनके नाम सर्वोत्तम जीवन रक्षा पदक, उत्तम जीवन रक्षा पदक और जीवन रक्षा पदक हैं। जीवन के सभी क्षेत्रों के व्यक्ति इन पुरस्कारों के लिए पात्र हैं। यह पुरस्कार मरणोपरांत भी दिया जा सकता है। 


’स्प्रिंकलर सेट के लिए आवेदन 18 तक आमंत्रित’ 


संयुक्त संचालक कृषि विभाग ने बताया कि किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा संचालित प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजनांतर्गत सिंचाई यंत्र स्प्रिंकलर सेट हेतु इच्छुक किसान 18 जुलाई 2021 तक ई-कृषि यंत्र पोर्टल की वेबसाईट dbt.mpdage.org पर ऑनलाईन आवेदन कर सकते हैं।  उन्होंने बताया कि प्राप्त आवेदनों में से लक्ष्यों के विरूद्ध लॉटरी 19 जुलाई 2021 को संपादित की जाएगी। पोर्टल पर किसानों की सूची और प्रतीक्षा सूची प्रदर्षित की जाएगी। किसानों को पासपोर्ट साईज फोटो, पहचान पत्र (आधार कार्ड, वोटर आईडी कार्ड) खसरा-किश्तबंदी, बैंक पासबुक, जाति प्रमाण पत्र, सिंचाई स्त्रोत प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा।


’छात्रवृत्ति के लिए आवेदन 15 तक’ 


राष्ट्रीय मीन्स - कम मेरिट छात्रवृत्ति के लिए कक्षा नवमीं में प्रवेश ले चुके विद्यार्थी 15 जुलाई तक अपने आवेदन ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति परीक्षा सत्र-2020-21 का आयोजन कोविड-19 महामारी के कारण निर्धारित समय पर नहीं हो सका। राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति  परीक्षा के आवेदन पत्र ऑनलाईन भरने की अंतिम तिथि 15 जुलाई निर्धारित है। सत्र 2020-21 में कक्षा 8वी में अध्यनरत छात्र जो वर्तमान में कक्षा 9वी में प्रवेश ले चुके हैं, वे ही आवेदन के पात्र होंगे। 

कोई टिप्पणी नहीं: