विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

बुधवार, 14 जुलाई 2021

विदिशा (मध्यप्रदेश) की खबर 14 जुलाई

सफलता की कहानी  : कोविड टीकाकरण के महत्व से दिव्यांग भी अनभिज्ञ नही 


vidisha news
कोविड संक्रमण से बचाव और सुरक्षा के लिए टीकाकरण अतिमहत्वपूर्ण है यह संदेश जिले के हर क्षेत्र में हर स्तर पर प्रसारित किया जा रहा है। जनजागरूकता के कार्यक्रमों की महत्वता इस बात से प्रदर्शित हो रही है कि टीकाकरण सत्र स्थलों पर वैक्सीनेशन (डोज) समाप्त हो जा रहे है पर पंक्तिबद्ध में टीकाकरण कराने के लिए आने वालो की संख्या कम नही हो रही है।  हर वर्ग का व्यक्ति टीकाकरण की महत्वता से भलीभांति परिचित हो रहा है इस कडी में दिव्यांग भी पीछे नही है। विदिशा जिला मुख्यालय पर स्थित मानव सेवा न्यास में रह कर अपना जीवन यापन करने वाले दिव्यांग श्री रमेश यादव भी आज कोविड टीकाकरण कराने हेतु सुबह-सुबह सिटी हास्पिटल पहुंचे। दोनो पैरो से दिव्यांग श्री रमेश यादव अपने हाथो के बल पर जैसे ही टीकाकरण क्षेत्र मेंं पहुचे लोगो ने उन्हें सबसे आगे आने के लिए जगह दे दी और कहा कि पहले आप टीका लगवा लें। लोगो के स्नेह व सहयोगी भावना को देखते हुए दिव्यांग श्री रमेश यादव अपने आप को अश्रुपूर्ण होने से नही रोक पाया। जैसे ही दिव्यांग श्री रमेश ने टीकाकरण कक्ष के दरवाजे पर पहुंचने पर उन्हें वही रोका गया और सीनियर एएनएम श्रीमती लक्ष्मी बंसल ने अपनी सीट छोड़कर सीरिंज में वैक्सीन होकर सीधे दिव्यांग श्री रमेश यादव के पास पहुंची और उन्होनें देखा की हितग्राही मास्क नही लगाए है सबसे पहले उन्होंने मास्क लगाने के लिए अभिप्रेरित किया और मौके पर सर्जिकल मास्क हितग्राही श्री यादव को अपना सामने पहनवाया उसके पश्चात् कोविड वैक्सीन का प्रथम डोज का टीका लगाया है और उन्हें टीकाकरण होने की जानकारी युक्त स्लिप भी प्रदाय की गई है। दिव्यांग हितग्राही श्री यादव ने बताया कि टीकाकरण की महत्वता की बाते अब तक सुनी थी खुद को कोविड से सुरक्षित रखना है तो टीकाकरण अतिआवश्यक है इस संदेश को मैं अपने स्तर पर भी पहुंचाऊंगा। 


’छात्रवृत्ति के लिए आवेदन की अंतिम तिथि आज


राष्ट्रीय मीन्स - कम मेरिट छात्रवृत्ति के लिए कक्षा नवमीं में प्रवेश ले चुके विद्यार्थी 15 जुलाई तक अपने आवेदन ऑनलाइन जमा कर सकते हैं। उल्लेखनीय है कि राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति परीक्षा सत्र-2020-21 का आयोजन कोविड-19 महामारी के कारण निर्धारित समय पर नहीं हो सका । राष्ट्रीय मीन्स-कम-मेरिट छात्रवृत्ति  परीक्षा के आवेदन पत्र ऑनलाईन भरने की अंतिम तिथि 15 जुलाई निर्धारित है । सत्र 2020-21 में कक्षा 8वी में अध्यनरत छात्र जो वर्तमान में कक्षा नौंवी में प्रवेश ले चुके हैं, वे ही आवेदन के पात्र होंगे।


एडवांस सर्टिफिकेट इन प्रिसिजन इंजीनियरिंग में प्रवेश प्रारंभ


गोविन्दपुरा स्थित ग्लोबल स्किल पार्क कैम्पस में एडवांस सर्टिफिकेट इन प्रिसिजन इंजीनियरिंग में प्रवेश प्रारंभ है। आवेदन की अंतिम तिथि 30 जुलाई निर्धारित की गई है। इच्छुक आवेदक www.globalskillspark.mp.gov.in पर निःशुल्क रजिस्ट्रेशन करा सकते है। इस संबंध में अधिक जानकारी के लिए श्रीमती वर्षा मिश्रा से 8269433474 अथवा 9893346258 पर संपर्क किया जा सकता है।


कंरट से होने वाली दुर्घटनाएं - सावधानी बरतने की सलाह


मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने जनता को आगाह किया है कि जरा सी असावधानी दुर्घटना का कारण बन सकती है। आमजन करंट से होने वाली दुघटनाओं की रोकथाम में सहयोग करें एवं बिजली लाइनों तथा ट्रांसफार्मर से उचित दूरी बना कर रखें। कंपनी ने उपभोक्ताएओं से अपील में कहा है कि विद्युत लाइनोंध्ट्रांसफार्मरों एवं उपकरणों के साथ छेड़छाड़ नकरें तथा सुरक्षित दूरी बनायें रखें। यदि आँधी तूफान में खंबेध्तार टूटे हों तो इसकी सूचना तत्काल शिकायत कॉल सेंटर केटोल फ्री नं. 1912 परध् उपाय एप एवं समीप के वितरण केन्द्र कार्यालय में दें। जमीन पर पड़े तारों को छूने या स्पर्श करने की गलती न करें साथ ही पार करने का प्रयास न करें। पान टपरों तथा ऐसी दुकानों जिनमें लोहे की चादर का इस्तेमाल होता है,  में वायरिंग को सुरक्षित ढंग से पी.वी.सी. पाईप के द्वारा ही कराई जाए। किसी प्रकार की कटी-फटी लूज वायरिंग से जान-माल का खतरा हो सकता है। बारिश के दौरान विद्युत खम्बे ध् स्टे के पास पानी भराव वाले स्थान से निकलने की जल्दी न करें। सावधानी बरतें क्योंकि बारिश के दौरान करंट लीकेज की संभावनाएं बढ़ जाती हैं। मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि बच्चों और मवेशियों का विशेष ध्यान रखें।अपने मवेशी कोबिजली के खम्बे, स्टे वायर इत्यादि से न बांधें। कपड़े सुखाने के लिये जी. आई.तार अथवा रस्सी, सर्विस लाईन के पाईप या बिजली के खम्बों से कभी न बांधें। इसमें करंट आने की संभावना बनी रहती है। घर की दीवार, उपकरण, नल आदि में लीकेज करंट आने पर प्रशिक्षित इलेक्ट्रीशियन से तत्काल ठीक कराऐं। खेतों में लोहे के कटीले तारों की फेंसिंग को आपस में शार्ट कर कई स्थानों पर अर्थिंग कराऐं। इन तारों में असावधानीवश करंट आने की संभावना बनी रहती है। इससे जान-माल के नुकसान खतरा रहता है।मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि घरेलू विद्युत उपकरणों, वायरिंग, स्विच इत्यादि को स्वयं सुधारने के बजाय किसी प्रशिक्षित एवं अनुभवी इलेक्ट्रीशियन की सेवाएं लें। मानवजीवन अमूल्य है। बिजली के स्विच ध् सॉकिट ध् बिजली उपकरण बच्चों की पहुंच से दूर रखें। विद्युत पोल से ही कनेक्शन लें, बीच तारों में कटिया डालकर विद्युत उपयोग न करें, यह दण्डनीय अपराध है।शादी, धार्मिक, सामाजिक कार्यक्रमों में अतिरिक्त भार हेतु अस्थायी कनेक्शन लें तथा उचित क्षमता की उच्च गुणवत्ता की केबिल का ही उपयोग करें। कटेफटे तारों का उपयोग कतई ना करें। स्वीकृत भार से अधिक लोड का उपयोग न करें। उचित क्षमता के एम.सी.सी.बीध्कट-आउट लगाने के साथ ही अच्छी गुणवत्ता की वायरिंग का ही उपयोग करें। वर्ष में 1 बार अपने परिसर की वायरिंग, फिटिंग, अर्थिंग अनुभवी एवं दक्ष इलेक्ट्रीशियन से अवश्य चौक कराएं।विद्युत लाईन के नीचे एवं ट्रांसफार्मरों के नजदीक भवन निर्माणध् दुकानध्बैनरध्ईट भट्टा न लगाएँ। विद्युतलाईन के नीचे कोई स्थाई-अस्थाई निर्माण न करें। फसल इत्यादि का संग्रहण न करें। विद्युत लाइनों से सुरक्षित दूरी पर ही निर्माण करें। किसान भाई खेतों में कटाई एवं गहाई की जा रही फसलों को बिजली के तारों के नीचे, बिजली के खम्बों एवं स्थापित ट्रांसफार्मरोंध् स्टे तारों के पास एकत्रित न करें। खेतों में विद्युत उपयोग हेतु कटी-फटी डोरी का उपयोग न करें। डोरी का उचित ऊँचाई की लकड़ी या बांस बल्ली से ही उपयोग करें। 

कोई टिप्पणी नहीं: