बेतिया टाउन थाना में झूठा केस दर्ज करने का मामला - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

रविवार, 4 जुलाई 2021

बेतिया टाउन थाना में झूठा केस दर्ज करने का मामला

fake-case-in-betiya-thana
बेतिया. सरार्फ एवं बर्तन व्यापारी मुकेश कुमार ने पुलिस से मिलकर अल्पसंख्यक ईसाई समुदाय के क्रिश्चियन कॉलोनी के रहवासी आलोक लाल और आनंद लाल नामक सहोदर भाई पर झूठा केस बेतिया टाउन थाना में दर्ज करने का मामला सामने आया है.      राशि की लेनदेन वाला कागज लेने का विवाद दस लाख रूपये ठगी करने का तब्दील हो गया.इस आरोप का डीएसपी सुपरविजन कर दूध का दूध और पानी का पानी करे.क्रिश्चियन कॉलोनी में रहते हैं मुकेश कुमार. मुकेश कुमार सर्राफ एक बर्तन व्यापारी हैं.इसके अलावे अनैतिक व अनाधिकृत ब्याज पर रुपया चलाता हैं.गलत ढंग से लेनदेन करने से दर्जनों लोग परेशान हैं. क्रिश्चियन कॉलोनी के रहवासी आलोक लाल और आनंद लाल नामक सहोदर भाई पर मुकेश कुमार ने 10 लाख रूपये की धोखाघड़ी करने का मनगढ़ंत आरोप लगाकर पुलिस से मिलकर दोनों सहोदर भाइयों पर झूठा केस दर्ज करा दिया है. दोनों भाइयों के विरूद्ध 10 लाख रूपये की धोखाघड़ी करने पर एफआईआर दर्ज कर ली गयी है.थानाध्यक्ष राकेश कुमार ने बताया कि मुकेश कुमार की शिकायत पर क्रिश्चियन कॉलोनी निवासी सहोदर भाई आलोक लाल और आनंद लाल एफआईआर दर्ज की गयी है. छानबीन कर दोषियों के विरूद्ध कार्रवाई की जाएगी.एफआईआर में मुकेश कुमार ने बताया कि सहोदर भाई आलोक लाल और आनंद लाल ने अपनी एक कट्टा जमीन 10 लाख में बेचने की बात  उनसे की. आरोपित आनंद लाल का कहना है कि मुकेश कुमार के साथ 2 लाख रूपये का लेनदेन हुई है.पर मुकेश ने 2 लाख रुपए का देने वाला कागज नहीं दिया.जब  मुकेश से लिखित वाला रिसीविंग मांगने गए तो वह विवाद उत्पन्न कर दिया.इसके बाद सबक सिखाने को ठान लिया. पुलिस के शह पर अवैध ढंग से ब्याज पर रूपया चलाने वाले सरार्फ एवं बर्तन व्यापारी मुकेश कुमार ने बेतिया टाउन थाना में झूठा मुकदमा ठोक दिया है.वरीय पुलिस अधिकारी जांच कर अल्पसंख्यक को न्याय दिलवाए.

कोई टिप्पणी नहीं: