इंदौर : अनिश्चितकालीन धरना स्थल पर पहुंचेंगे समर्थक - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 13 जुलाई 2021

इंदौर : अनिश्चितकालीन धरना स्थल पर पहुंचेंगे समर्थक

  • आंदोलनकारी मजदूरों के समर्थन में मेधा पाटकर ने भी शुरू किया उपवास, इंदौर में श्रम आयुक्त को ज्ञापन देकर हस्तक्षेप करने की मांग
  • सेंचुरी के आंदोलनकारियों को मिला अनेक किसान , मज़दूर और जनसंगठनों का समर्थन,मुख्यमंत्री से हस्तक्षेप करने की मांग*

century-mills-labour-protest-indore
इंदौर।  सेंचुरी यार्न/ डेनिम इकाई के श्रमिकों के द्वारा 1366 दिन से मध्यप्रदेश के  खरगोन जिले में एबी रोड पर   सतराटी  में चलाए जा रहे  आंदोलनकारी संगठन, श्रमिक जनता संघ को  पत्र लिख कर 75 से ज्यादा संगठनों और व्यक्तियों ने आंदोलन के  समर्थन का ऐलान किया है। समर्थन देने वाले संगठनों ने मध्य प्रदेश के  मुख्यमंत्री, मुख्य सचिव को पत्र लिखकर श्रमिकों और कर्मचारियों के पक्ष में हस्तक्षेप करने की मांग की है। दूसरी ओर सेंचुरी के श्रमिकों के आंदोलन और मांगों के समर्थन में मेधा पाटकर ने भी आज 24 घंटे का उपवास शुरू कर दिया है। वही इंदौर में  श्रम आयुक्त को एआईटीसीयू के नेता सुनील गोपााल  के नेतृत्व में एक प्रतिनिधिमंडल ने ज्ञापन सौंपा ।प्रतिनिधिमंडल में प्रसिद्ध गांधीवादी लेखक एवं विचारक चिन्मय मिश्र, समाजवादी नेता रामस्वरूप मंत्री एवं एस यू सी आई के प्रदीप भाई ने श्रम आयुक्त से मांग की कि सेंचुरी के मालिकों द्वारा अवैधानिक रूप से वीआरएस देने,तथा मिल बेचने की जबरिया कोशिशों पर रोक लगाएं तथा मििल  को चलाए जाने का प्रबंध करें ।प्रतिनिधिमंडल ने श्रम आयुक्त से तत्काल हस्तक्षेप की मांग करते हुए उन्हें ज्ञापन सौंपा है। विभिन्न संगठनों की ओर से मुख्य मंत्री को लिखे गए पत्र में कहा गया है कि 29 जून 2021 को कारखाना प्रबंधक द्वारा श्रमिक एवं कर्मचारी स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति योजना (वीआरएस) के संबंध में पत्र लिखकर कहा गया कि 13 जुलाई तक सभी श्रमिक एवं कर्मचारी वीआरएस ले लें। सेंचुरी डेनिम का यह निर्णय गैरकानूनी है तथा 90 प्रतिशत श्रमिकों को मंजूर नही है। पत्र में आगे कहा गया है कि आप जानते ही हैं कि  जनता श्रमिक संघ की याचिका के चलते औद्योगिक ट्रिब्यूनल, मध्यप्रदेश हाईकोर्ट और सर्वोच्च न्यायालय के निर्देश पर  मिल बंद होने के बावजूद श्रमिकों को वेतन दिया जा रहा है। यह भी उल्लेख करना जरूरी है कि कुमार मंगलम बिड़ला समूह ने मिल बेचने का फर्जी विक्रय पत्र बनाकर जो धोखा किया था वह ट्रिब्यूनल और हाई कोर्ट द्वारा खारिज कर दिया गया । श्रमिक  'वीआरएस नहीं, रोजगार चाहिए' संघर्ष कर रहे हैं। कंपनी ने यह भी निर्णय किया है कि वह मंजीत सिंह को मिल बेच रही है। जबकि उन्हें मिल चलाने का कोई अनुभव नहीं है। यह जमीन हथियाने का मामला है। इसलिए  श्रमिकों के पक्ष में राज्य सरकार का हस्तक्षेप आवश्यक हो गया है । सेंचुरी टेक्सटाइल इंडस्ट्रीज द्वारा लॉकडाउन के पहले 680 करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया गया, 2019-20 में 360 करोड रुपए मुनाफा कमाया। उसके बावजूद एक हजार श्रमिकों के रोजगार को खत्म करने पर कंपनी आमादा है। पत्र में बताया गया है कि कंपनी के फैसले के खिलाफ 9 जुलाई को सेंचुरी भवन (बिरला भवन ) मुंबई पर कर्मचारियों द्वारा प्रदर्शन किया गया। जहां प्रबंधन के इशारे पर मेधा पाटकर और साथियों को गिरफ्तार किया गया था ।  पत्र में मुख्यमंत्री से श्रमिकों और कर्मचारियों के समर्थन में तत्काल हस्तक्षेप करने की मांग की गई है ताकि 1000 परिवारों के रोजगार को बचाया जा सके।  श्रमिक जनता संघ द्वारा अध्यक्ष मेधा पाटकर के नेतृत्व में  सेंचुरी सत्याग्रह रोजगार आंदोलन के तहत रोजगार के अधिकार के लिए वीआरएस के विरोध में सेंचुरी के  श्रमिकों  प्रतिनिधियो और महिलाओं  द्वारा किये जा रहे *चेतावनी उपवास* का  भी समर्थन   निम्न संगठनों और साथीयों द्वारा किया गया है।

  

1   किसान जागृति संगठन-भोपाल से इरफान जाफरी

2   टोकों, रोकों, ठोको क्रांतिकारी संगठन, सीधी-उमेश तिवारी

3  क्रांतिकारी किसान मजदूर संगठन, भोपाल-बाबूसिंह राजपूत

4   शहीद राघवेंद्र सिंह किसान संघर्ष समिति, रीवा- इंद्रजीतसिंह

5  भारतीय किसान युनियन, नरसिंहपुर - बाबूलाल पटेल

6  भारतीय किसान श्रमिक जनशक्ति युनियन, सागर - संदीप ठाकुर

7  भारतीय किसान एवं मजदूर सेना, इंदौर- बबलू जाधव

8  खुदाई खिदमतगार, अलीराजपुर - कृपाल सिंह मंडलोई

9   आम किसान युनियन हरदा -राम इनानिया 

10.राष्ट्रीय मजदुर किसान मंच-  अधिवक्ता गोविंद बाली

11.टी यू सी सी मध्यप्रदेश इकाई-(संयोजक) सुनील सिंह  

12. बैतूल से किसान संघर्ष समिति,अध्यक्ष- डॉ सुनीलम

13. छिंदवाड़ा से किसान संघर्ष समिति ,उपाध्यक्ष -आराधना भार्गव

14 कटनी से उपाध्यक्ष, किसान संघर्ष समिति उपाध्यक्ष- डॉ.एके खान

15 नीमच से   किसान संघर्ष समिति महामंत्री- राजेन्द्र पुरोहित

16 इंदौर से किसंस संयोजक- रामस्वरूप मंत्री  

17 सिंगरौली से किसंस संयोजक -निसार आलम अंसारी  

18. सिवनी से किसंस संयोजक -राजेश पटेल 

19. ग्वालियर से किसंस प्र. सचिव एड.विश्वजीत रतौनिया 

20  महू से किसंस प्र. सचिव - दिनेश सिंह कुशवाह 

21 टीकमगढ़ से किसंस प्र. सचिव- महेश पटेरिया (प्र. सचिव )

22 झाबुआ से किसंस प्र. सचिव-राजेश बैरागी 

23  देवास से किसंस प्र. सचिव- लीलाधर चौधरी

24  रायसेन से किसंस प्र. सचिवश्रीराम सेन 

25  सिवनी से किसंस प्र. सचिव - डॉ.राजकुमार सनोडिया 

26 ग्वालियर से किसंस प्र. सचिवएड.रायसिंह 

27 बैतूल से किसंस जिलाध्यक्ष- जगदीश दोड़के

28  विदिशा से किसंस जिलाध्यक्ष- राजेश तामेश्वरी 

29 इंदौर से किसंस जिलाध्यक्ष-छेदीलाल यादव

30  मंदसौर से किसंस जिलाध्यक्ष-दिलीपसिंह पाटीदार 

31  झाबुआसे किसंस जिलाध्यक्ष-गोपाल डामोर 

32 ग्वालियर से किसंस जिलाध्यक्ष-रमेश परिहार  

33 बालाघाट से किसंस जिलाध्यक्ष-राजकुमार नागेश्वर 

34 छिंदवाड़ा से किसंस जिलाध्यक्ष-डॉ विजय बिजौलिया 

35 हरदा से किसंस जिलाध्यक्ष-योगेश तिवारी 

36 रीवा से किसंस जिलाध्यक्ष-त्रिनेत्र शुक्ला

37 अशोकनगर से किसंस जिलाध्यक्ष-महेन्द्रसिंह यादव 

38 मंडला से किसंस जिलाध्यक्ष-रामसिंह कुलस्ते 

39 सिवनी से किसंस जिलाध्यक्ष-रामकुमार सनोडिया 

40 धार से किसंस जिलाध्यक्ष-प्रशन्ना मंडोलिया 

42  टीकमगढ़ से किसंस जिलाध्यक्ष-सुधीर शुक्ला

43 अलीराजपुर से किसंस जिलाध्यक्ष-नवनीत कुमार मंडलोई 

44 मुरैना से किसंस जिलाध्यक्ष-महेशदत्त मिश्रा,पूर्व विधायक

45  सागर से किसंस जिलाध्यक्ष-अभिनय श्रीवास 

 46 राजगढ़ से किसंस जिलाध्यक्ष-कमल सिंह उमढ़ 

 47 सिंगरौली से किसंस जिलाध्यक्ष-एड.अशोक सिंह पैगाम 

 48 मुलताई से किसंस  महामंत्री -भागवत परिहार

 49 मंडला से विजय कुमार (अखिल भारतीय क्रांतिकारी किसान सभा, )

50 एम डी चौबे (मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के राष्ट्रीय सलाहकार )

51 इंसोको के अध्यक्ष  कोच्चि ( केरल ) के पूर्व महापौर के जे सोहन और उपाध्यक्ष पी जे जोशी

52 एडवोकेट डॉ. पुष्पराग ,गुना

53 राजकुमार सिन्हा (बर्गी बांध विस्थापित संघ,जबलपुर),

54 मनीष श्रीवास्तव (अखिल भारतीय खेत मजदूर किसान संगठन)

55 वासिद खान, प्रदेश महासचिव, नेशनल कॉन्फ़ेडरेशन ऑफ़ ह्यूमन राइट्स ऑर्गनाइज़ेशन्स, (NCHRO) मध्यप्रदेश आदि शामिल है।

56 पूर्व सांसद शेख अब्दुल रहमान 

57 प्रफुल्ल सामंत्रा, अध्यक्ष ,लोकशक्ति अभियान ,ओडिसा

58 प्रोफेसर आनंद कुमार 

59 वरिष्ठ पत्रकार अरुण त्रिपाठी 

60 डॉ संदीप पांडेय ,राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ,सोशलिस्ट पार्टी ,इंडिया

61 बी आर पाटिल ,पूर्व उपसभापति ,कर्नाटक विधान सभा,बंगलुरू 

62 गुड्डी ,संयोजक , युवा बिरादरी ,मुम्बई 

63 हिम्मत सेठ ,सम्पादक  समता संदेश ,राजस्थान 

64 अविक साहा  संयोजक ,जय किसान आंदोलन

65 टी आर आठ्या  संपादक ,जन योद्धा 

66 जबर सिंह  राष्ट्रीय महामंत्री ,राष्ट्र सेवा दल,उत्तराखंड 

67 अरुण कुमार श्रीवास्तव  राष्ट्रीय अध्यक्ष ,फैक्टर ,दिल्ली

68 शाहिद कमाल  महामन्त्री ,राष्ट्र सेवा दल ,बिहार

69 राम बाबू अग्रवाल राष्ट्रीय संयोजक ,लोहिया विचार मंच 

70 कल्याण जैन ,पूर्व सांसद 

71 अनिल त्रिवेदी ,वरिष्ठ अधिवक्ता

72 चिन्मय मिश्र ,साहित्यकार 

कोई टिप्पणी नहीं: