बिहार : सोमवार को कोवैक्‍सीन उपलब्‍ध होने की संभावना - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 10 जुलाई 2021

बिहार : सोमवार को कोवैक्‍सीन उपलब्‍ध होने की संभावना

covaccine-availeble-from-monday
पटना. बिहार में कोवैक्सीन की किल्लत बरकरार है.संभावना है कि सोमवार को कोवैक्सीन उपलब्ध हो जाए.द्वितीय डोज लेने वाले हलकान हो रहे हैं. केंद्र सरकार ने सिर्फ कोविशील्‍ड उपलब्ध करा दी है.कोविशील्‍ड ही लेने को बाध्य हो रहे हैं. कोविड वैक्सीन की 9.59 लाख डोज प्राप्त होते ही बिहार में टीकाकरण में तेजी आ गई है.हालांकि राज्‍य को मिली वैक्‍सीन में केवल कोविशील्‍ड की ही आपूर्ति हुई है.कोवैक्‍सीन की आपूर्ति नहीं होने से लोगों के लिए टीका लगवाने का एकमात्र विकल्‍प कोविशील्‍ड ही है. वैसे लोग जो कोवैक्‍सीन लेना चाहते हैं, उन्‍हें मायूस होकर टीकाकरण केंद्रों से लौटना पड़ रहा है. पटना के किसी भी टीकाकरण केंद्र पर गुरुवार को कोवैक्‍सीन उपलब्‍ध नहीं थी.यही हालत शुक्रवार को भी है.इसके चलते सबसे अधिक परेशानी उन्‍हें हो रही है, जिन्‍हें इस वैक्‍सीन की दूसरी डोज लेने का समय आ चुका है.यह वैक्‍सीन राज्‍य में कब तक उपलब्‍ध होगी, यह भी नहीं बताया जा रहा है. हालांकि पटना के ही एक निजी अस्‍पताल में यह वैक्‍सीन उपलब्‍ध है, जहां 1420 रुपए देकर टीका लगवाया जा सकता है. पटना जिले में गुरुवार को सभी शहरी और ग्रामीण केंद्राें पर टीकाकरण होगा. बिहार राज्य स्वास्थ्य समिति ने 80 हजार डाेज टीका उपलब्ध कराया है. सभी टीका कोविशील्ड है. जिले को कोवैक्सीन नहीं मिलने के कारण दूसरी डोज लेने वाले की परेशानी बढ़ गई है. जिला प्रशासन के मुताबिक कोवैक्सीन मिलने के बाद दूसरी डोज वालाें को प्राथमिकता के आधार पर दी जाएगी.डीआईओ डॉ. एसपी विनायक ने बताया कि अभी कोविशिल्ड ही उपलब्ध है.इसलिए जो लोग कोवैक्सीन की पहली डोज ले चुके हैं वाे दूसरी डोज लेने के लिए फिलहाल नहीं जाएं. दो-तीन दिन के बाद कोवैक्सीन भी उपलब्ध हो जाएगी. उन्होंने बताया कि गर्भवती महिलाओं का भी टीकाकरण शुरू हो गया है. इस बीच, बुधवार को जिले के 21 केंद्रों पर 9816 लोगों को टीका लगाया गया.इनमें 5268 लोगों ने पहली और 4548 ने दूसरी डोज ली.जिले में अबतक 19,53,865 लोगों का टीकाकरण हाे चुका है. इनमें 15,25,970 लोगों ने पहली और 4,27,895 ने दाेनाें डोज लगवाई है. पटना एम्स में 2 से 6 साल के बच्चों पर कौवैक्सीन का ट्रायल चल रहा है.करीब 15 बच्चों ने ट्रायल कराया है.अभी 25-30 बच्चों की जरूरत है.इच्छुक परिजन ट्रायल के लिए अपने बच्चों का रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं.यह जानकारी एम्स के अधीक्षक डॉ. सीएम सिंह ने दी.कहा कि जितना जल्द ट्रायल पूरा होगा, उतनी ही जल्दी बच्चों के लिए कोवैक्सीन का टीका उपलब्ध होगा. गर्भवती महिलाओं को टीका देने का काम बुधवार से शुरू कर दिया गया है.गर्भवती महिलाएं स्वेच्छा से टीका लगवा सकती हैं. उन्हें बाध्य नहीं किया जा सकता. वैसे हर इलाके में गर्भवती महिलाओं को चिह्नित करने का जिम्मा आशा कार्यकर्ता को सौंपा गया है. आशा कार्यकर्ता घर-घर जाकर गर्भवती महिलाओं को चिह्नित करेंगी और उसकी रिपोर्ट स्थानीय प्रभारी काे सौंपेंगी. सभी को कोरोना से बचाव के लिए टीका लेने के लिए सलाह दी जाएगी.सिविल सर्जन डॉ. विभा कुमारी सिंह ने कहा कि गर्भवती महिलाएं टीका लगवाने से पहले अपने चिकित्सक से सलाह ले लें. चिकित्सकों को भी कहा गया है कि गर्भवती महिलाओं को टीका संबंधी जानकारी दें.

कोई टिप्पणी नहीं: