सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 जुलाई - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

मंगलवार, 20 जुलाई 2021

सीहोर (मध्यप्रदेश) की खबर 20 जुलाई

विभिन्न विभागों में किया जा रहा हैे भारी भ्रष्टाचार लोकायुक्त एसपी को सेवादल कांग्रेस ने की शिकायत  

  • लोकायुक्त एसपी मनुव्यास ने तत्काल विभाग के भ्रष्टाचारी अधिकारियों को बुलाकर की पूछताछ  

sehore news
सीहेार। विभिन्न विभागों में आए दिन हो रहे भारी भ्रष्टाचार को लेकर सेवादल कांग्रेस के जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के नेतृत्व में सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ  पीडि़त व्यक्तियों ने सीहोर पहुंचे लोकायुक्त एसपी मनु व्यास को की। खंगराले ने दोषी भ्रष्टाचारी अधिकारियों के खिलाफ तत्काल कार्रवाहीं करते हुए अधिकारियों के द्वारा पीडि़तों से लिए गए पैसे वापस दिलाए जाने की मांग की। शिकायत के दौरान पुूलिस अधीक्षक शाशिंद्र सिंह चौहान अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक समीर यादव, डीएसपी मनोज मिश्रा नगर निरीक्षक सिटी कोतवाली नलिन बधोलिया भी मौजूद रहे। सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष ने बताया की लोकायुक्त एसपी ने शिकायत को संज्ञान में लेते हुए विभिन्न विभागोंं के कर्मचारियों के मुखिया को बुलाकर संबंधित रिकार्ड को जब्त किया है उक्त शिकायत जिला कांग्रेस अध्यक्ष बलबीर तोमर सेवादल कांग्रेस प्रदेश सचिव तथा नगर पालिका के पूर्व अध्यक्ष राकेश राय के निर्देश पर सेवादल कांग्रेस जिलाध्यक्ष नरेंद्र खंगराले के द्वारा की गई। इस मौके पर मध्य प्रदेश कांग्रेस पिछडा वर्ग के प्रदेश महामंत्री प्रीतम दयाल चौरसिया, दर्शन सिंह वर्मा,सीताराम भारती, ब्लाक सेवादल सीहेार अध्यक्ष मांगीलाल टिमरई, डॉ अनीस खान अनिल गबाटिया, मोहन खेलवाल, धनश्याम जाटव, कुवंर वर्मा, जगदीश वर्मा, कमल सिंह सूर्यवंशी, मून्नालाल मालवीय, मदनलाल मालवीय, बाबूलाल भील, खेम सिंह भील, राम सिंह तमोलिया, धमेंद्र तमोलिया आदि सेवादल कांग्रेस कार्यकर्ता उपस्थित रहे।


डॉक्टर बनने के इच्छुक पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों के साथ धोखाघड़ी कर रहीं है सरकार

  • पिछड़ा वर्ग के लोगों को हेल्थ सिस्टम में आने से रोकने के लिए तमाम तरह के षडय़ंत्र है जारी
  • ओबीसी महासभा ने तहसीलदार को सौपा राज्यपाल के नाम का ज्ञापन

sehore news
सीहोर। पिछड़ा वर्ग के लोगों को हेल्थ सिस्टम में आने से रोकने के लिए तमाम तरह के षडय़ंत्र किए जा रहे है। केंद्र सरकार के द्वारा डॉक्टर बनने के इच्छुक पिछड़ा वर्ग के विद्यार्थियों के साथ धोखाघड़ी किए जाने का आरोप ओबीसी महासभा के द्वारा लगाया गया है। देश व्यापी अभियान के तहत ओबीसी महासभा कार्यकर्ताओं ने जिलाध्यक्ष चांदसिंह मेवाड़ा के नेतृत्व में मंगलवार को राज्यपाल के नाम का ज्ञापन तहसीलदार को दिया है। जिलाध्यक्ष मेवाड़ा ने कहा की लगातार ओबीसी के साथ धोखाधड़ी की जा रही है। भारत की सम्पूर्ण आबादी के 70 करोड़ ओबीसी लोगों को हेल्थ सिस्टम में आने से रोकने के लिए तमाम तरह के षडय़ंत्र लगातार शासकों द्वारा किये जा रहे हैं।  सितम्बर 2021 को मेडिकल प्रवेश के लिए होने वाली नीट परीक्षा में ओबीसी को सेन्ट्रल कोटे की 15 प्रतिशत आरक्षण था जिसे अब खत्म कर दिया गया है। राज्य मेडिकल की सीटों में आरक्षण को जीरो कर दिया गया हैं। श्री मेवाड़ा ने कहा की सन् 1931 की जनगणना के अनुसार ओबीसी 52प्रतिशत हैं जिन्हें कीमीलेयर लगाकर 27 प्रतिशत प्रतिनिधित्व के लिए आरक्षण के रूप में सेफगार्ड दिया गया जबकि पूरा 52 प्रतिशत दिया जाना चाहिये था लेकिन केवल 27 प्रतिशत दिया गया और उसमें भी कीमीलेयर लगाया गया जो कि संविधान के अनुच्छेद 340 की मूलभावना के विरोध में हैं। ज्ञापन सौपने वालों में जनम सिंह परमार, बीएस भदोरिया, अजब सिंह परमार, सुनील लोधी, सतीष सिसेादिया, प्रदीप मेवाड़ा, रूप सिंह, मोहन सिंह, संदीप विश्वकर्मा,धमेंद्र सिंह, मेवाड़ा, ओमप्रकाश मेवाड़ा आदि शामिल रहे।  


शिवना प्रकाशन के कार्यालय में किया किताब अनामिका का विमोचन, किताब जैसा वफादार कोई दोस्त नहीं-एसपी एसएस चौहान


sehore news
सीहोर। किताबें वास्तव में हर किसी की सबसे अच्छी दोस्त होती हैं बशर्ते हम उन्हें अपने सर्वश्रेष्ठ साथी माने और उनके साथ एक मजबूत संबंध बनाने के लिए पर्याप्त उन्हें समय दें। पुलिस विभाग में तनाव का स्तर बढ़ता जा रहा है। ऐसे में किताब के लिए समय देना ओर भी बड़ी बात है। पुलिस विभाग में लेखक हमारी शान होते है, इनकी प्रतिभाओं के लिए प्लेटफार्म जरूरी है। उक्त विचार बस स्टैंड स्थित सम्राट कांप्लेक्स स्थित शिवना प्रकाशन के कार्यालय में लेकर और हरदा के एएसपी गजेन्द्र वर्धमान की किताब के विमोचन के दौरान मुख्य अतिथि पुलिस अधीक्षक एसएस चौहान ने कही। मंगलवार को उनकी किताब का विमोचन किया गया। कार्यक्रम के दौरान विशेष अतिथि एएसपी समीर यादव ने समारोह का संचालन करने वाले प्रसिद्ध लेखक पंकज पुरोहित सुबीर के साहित्य की तारीफ करते हुए कहा कि किताब लिखने की प्रक्रिया तो अपनी जगह है लेकिन पुस्तक को छपवाने की इस क्रिया को महत्वपूर्ण बताया। बातों-बातों में उन्होंने स्वयं की कुछ पुस्तकों का उल्लेख भी कर लिया। वहीं लेखक और एएसपी श्री वर्धमान ने कहा कि मुझे बचपन से ही लिखने का शौक था, पुलिस विभाग में तो कहानियों का भंडार है। मंगलवार को आज मेरी दूसरी किताब का अनामिका शानदार तरीके से विमोचन हुआ है। इस मौके पर प्रसिद्ध लेखक श्री पुरोहित ने बताया कि एएसपी श्री वर्धमान की यह दूसरी किताब है। जिसका प्रकाशन शिवना प्रकाशन ने किया है। इससे पहले उनकी किताब कहिये मंजिल से अभी इंतजार करें का प्रकाशन भी शिवना प्रकाशन ने ही किया था। उन्होंने दोनों किताबें लॉकडाउन के दौरान लिखी। अनामिका उपन्यास पति-पत्नी के जीवन और प्रेम के द्वंद को लेकर लिखा गया उपन्यास है। यह उपन्यास ऑन लाइन बिक्री में तीन बार टॉप 100 में जगह बना चुका है। समारोह में लोकायुक्त एसपी मनु व्यास, अजाकस एसपी ज्योति ठाकुर, सीएमओ नगर पालिका संदीप श्रीवास्तव, भाजपा नगर मंडल अध्यक्ष प्रिंस राठौर, समाजसेवी अनिल पालीवाल, अशोक राय, कैलाश अग्रवाल, उमेश शर्मा, सुनील भालेराव, हितेन्द्र गोस्वामी, शंकर प्रजापति आदि शामिल थे।


एजेंटों ने कलेक्टर और एसपी से लगाई गुहार, निवेशक कर रहे परेशान


sehore news
सीहोर। देशभर में फैली विभिन्न चिटफंड कंपनियों द्वारा एजेंटों के माध्यम से हजारों निवेशकों से राशि जमा कराई गई थी। उक्त कंपनियां नोटबंदी के कारण बंद हो गई और जिन निवेशकों का पैसा कंपनी में जमा किया गया था। उनमें से कुछ निवेशकों का पैसा कंपनी द्वारा वापस कर दिया गया है, परंतु कुछ निवेशकों का पैसा कंपनी द्वारा वापस नहीं किया गया है। जिसके कारण जिन निवेशकों का पैसा वापस नहीं किया गया है। अब निवेशक एजेंटों को परेशान कर रहे है। इस संबंध में मंगलवार को निर्मल इंफ्राहोम कारपोरेशन लिमिटेड में पूर्व में एजेंट के रूप में कार्यरत श्यामपुर क्षेत्र में आने वाले ग्राम पाडलिया निवासी जीवन सिंह पुत्र नारायण सिंह और सुरेश मीना पुत्र प्रभुलाल ने कलेक्टर और पुलिस अधीक्षक को एक ज्ञापन सौंपकर सुरक्षा की मांग की है। एजेंटों ने बताया कि निवेशकों के दबाव के कारण वे और उनके परिवार दहशत में हैं। इसी वजह से कई एजेंट परेशान हैं, उनके परिजन भी बेहद परेशान हैं। कंपनियों के बंद होने की सजा अब उनके एजेंटों को मिल रही है। उन्होंने जिला व पुलिस-प्रशासन से उनके जानमाल की सुरक्षा करने की गुहार लगाई है। इस संबंध में एजेंटो का कहना है कि सन् 2001 से हम दोनों निर्मल इंफ्राहोम कारपोरेशन लिमिटेड नामक कंपनी में एजेंट के पद पर कार्यरत थे, लेकिन नोटबंदी के उपरांत कंपनी द्वारा सरकार को टैक्स जमा नहीं किया गया। जिसके कारण सरकार द्वारा कंपनी को बंद कर दिया गया है। जिन निवेशकों का पैसा कंपनी में जमा किया गया था, उसमें से अनेक निवेशकों का पैसा कंपनी द्वारा वापस किया गया है, वहीं कुछ निवेशकों के जमा राशि की वापसी की प्रक्रिया जारी है, हम लोगों का कोई गुनाह नहीं है और हम निवेशकों का पैसा वापसी प्रक्रिया में लगे हुए, निवेशकों ने भी पूर्व में ज्ञापन दिया था, जिसके बाद सरकार द्वारा आश्वासन दिया गया है। इसके बाद भी हम एजेंटों को निरंतर निवेशकों द्वारा परेशान किया जा रहा है, हमें जान से मारने की धमकी दी जा रही है। जो भी पैसा निवेशकों द्वारा दिया गया था, उन्होंने कंपनी में जमा कर दिया था, जिसकी पालिसी रसीद भी दी थी, लेकिन इसके बाद भी एजेंटों को परेशान किया जा रहा है,  उक्त दोनों एजेंटो ने जिला प्रशासन और पुलिस प्रशासन से गुहार लगाई है कि निवेशकों द्वारा यदि कोई शिकायत दर्ज करवाई जाती है तो इसके संबंध में आवेदक तथा उनके साथी पर किसी भी तरह की कार्रवाई न की जाए।


कोरोना गाइड लाइन का पालन करते हुए मिलेगा स्वस्थ्य मनोरंजन, लीसा टाकिज में ईद के एक दिन पहले ही राधे फिल्म का प्रदर्शन


sehore news
सीहोर। प्राइड ऑफ़ सीहोर लिसा टॉकीज मंगलवार से पुन: दर्शकों के लिए खुल गया है। टॉकीज प्रबंधन ने इसके लिए सभी आवश्यक तैयारी पूरी की है। कोरोना काल में शासकीय नियमो के परिपालन में सिनेमाघरों को बंद किया गया था, लेकिन अनलॉक के बाद सिने प्रेमियों के इंतजार की घड़ी मंगलवार को समाप्त हो गई। पहले ही दिन कोविड गाडइ लाइन का पालन करते हुए सुपर स्टार की हिट फिल्म राधे को देखने के लिए सिने प्रेमी मौजूद थे। ईद के एक दिन पहले ही दर्शकों के लिए खुशखबरी दी गई है। लिसा टॉकीज की ओर से मिली जानकारी में बताया कि लिसा टॉकिज में पहले की तरह निर्धारित समय में फिल्मों का प्रदर्शन शुरु हो गया है। दर्शको के बीच 6 फुट की दूरी रखी जाएगी। हर पाली के बाद सिनेमाघर सैनिटाइज किया जाएगा। टॉकीज में सैनेटाइजर, हैण्डवाश, थर्मल स्कैनिंग की व्यवस्था होगी। यदि किसी को खांसी, जुखाम या बुखार के लक्षण होंगे तो उन्हें प्राथमिक उपचार की सलाह देते हुए घर वापस भेज दिया जाएगा।


हर दर्शक को कोविड नियमो का पालन करना होगा

प्रवेश व छुट्टी के समय गेट पर सोशल डिसटेंसिंग का पालन करवाया जाएगा। एक साथ सभी दर्शको की छुट्टी नहीं की जाएगी। टॉकीज में प्रवेश द्वार का उपयोग सुनिश्चित किया जाएगा। हर सीट को भी रोज सैनिटाइज करवाया जाएगा। टॉकीज प्रबन्धन द्वारा अतिरिक्त मात्रा में मास्क उपलब्ध रखे जाएंगे।  यहाँ यह उल्लेखनीय हैं कि लिसा टॉकीज में मंगलवार को राधे फिल्म का प्रदर्शन किया गया। हर दर्शक को कोविड नियमो का पालन करना होगा जिसके तहत फेस मास्क अनिवार्य होगा।


मंगलवार से सुपर हिट फिल्म से चालू किया गया

गौरतलब है कि सिने प्रेमियों की पहली पसंद लिसा टॉकीज है और सभी को इसके पुन: आरम्भ होने का बड़ी बेसब्री से इंतजार था, तभी टॉकीज प्रबंधन की और से यह सुखद जानकारी सामने आई और मंगलवार से सुपर हिट फिल्म से चालू किया गया। जिसके बाद निश्चित तौर पर सिने प्रेमियों में खुशियां छा गई है।

 

देवशयनी एकादशी के व्रत से व्यक्ति की समस्त मनोकामनाएं पूर्ण होती है

  • शिव आराध्य पीताम्बर देवी माता मंदिर में विश्व कल्याण के लिए सवा लाख आहुतियां

sehore news
सीहोर। मंगलवार को शहर के बढिय़ाखेडी जोड सीवन नदी के तट पर स्थित प्रसिद्ध शिव आराध्य पीताम्बर देवी माता मंदिर में दस दिवसीय गुप्त नवरात्रि पर शिव-शक्ति यज्ञ के समापन अवसर पर यहां पर मौजूद श्रद्धालुओं ने देवशयनी एकादशी के अवसर पर यज्ञ में आहुतियां दी। इस संबंध में आचार्य संतोष भारद्वाज ने बताया कि हर साल की तरह इस साल भी गुप्त नवरात्रि पर दस महाविद्या की पूजा अर्चना का आयोजन किया गया था, इस मौके पर श्रद्धालुओं ने सवा लाख से अधिक मंत्रों के द्वारा आहुतियां दी थी और समापन के अंतिम दिन यहां पर विष्णु यज्ञ का आयोजन किया गया। इस मौके पर उन्होंने एकादशी का महत्व बताते हुए कहा कि देवशयनी एकादशी को हरिशयनी एकादशी भी कहा जाता है। भगवान विष्णु के योगनिद्रा में जाने के बाद चार महीनों तक मांगलिक कार्य नहीं होते हैं। प्रकृति में इन चार महीनों में सूर्य, चंद्रमा और प्रकृति का तेज कम रहता है। शुभ शक्तियों के कमजोर होने पर किए गए कार्यों के परिणाम भी शुभ प्राप्त नहीं होते हैं। इसलिए संत-महात्मा इन चार महीनों यानी चातुर्मास में एक स्थान पर निवास कर जप, तप और आराधना करते हैं। मान्यता है कि चातुर्मास में सभी धाम ब्रज में आ जाते हैं इसलिए इस दौरान ब्रज यात्रा बहुत शुभकारी होती है। देवशयनी एकादशी को दिन भगवान श्रीहरि की आराधना करने से समस्त पापों का नाश हो जाता है, कष्टों से छुटकारा मिलता है और मनोकामनाएं पूर्ण होती है। उन्होंने कहा कि सभी देवों के देव महादेव है। शिव पुराण के अनुसार शिव-शक्ति का संयोग ही परमात्मा है। शिव की जो पराशक्ति है उससे चित शक्ति प्रकट होती है। चित शक्ति से आनंद शक्ति का प्रादुर्भाव होता है, आनंद शक्ति से इच्छाशक्ति का उद्भव हुआ है, इच्छाशक्ति से ज्ञानशक्ति और ज्ञानशक्ति से पांचवीं क्रियाशक्ति प्रकट हुई है।


गुरु पूर्णिमा पर किया जाएगा आयोजन

जानकारी के अनुसार शहर के बढिय़ाखेडी जोड सीवन नदी के तट पर स्थित प्रसिद्ध शिव आराध्य पीताम्बर देवी माता मंदिर में आगामी शनिवार को गुरु पूर्णिमा के अवसर पर गुरु दीक्षा के साथ प्रसादी वितरण समारोह का आयोजन किया जाएगा। इस मौके पर यहां पर श्रद्धालुओं द्वारा देवी मां की पूजन के साथ ही अन्य कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा। शनिवार की सुबह नौ बजे से शाम को छह बजे तक दीक्षा समारोह का आयोजन किया जाएगा। 


जिले में अब तक 314.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज, बीते 24 घंटे में जिले में 6.0 औसत वर्षा दर्ज


जिले में 01 जून से 20 जुलाई, 2021 तक 314.4 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। जो कि गत वर्ष इसी अवधि में औसत वर्षा से 376.9 मिलीमीटर कम है। जिले की वर्षा ऋतु में सामान्य औसत वर्षा 1148.4 मिलीमीटर है। अधीक्षक भू-अभिलेख द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार 01 जून से 20 जुलाई, 2021 तक जिले के वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 291.6, मिलीमीटर, श्यामपुर में 312.0, आष्टा में 341.0 जावर में 336.0, इछावर में 261.0, नसरूल्लागंज में 348.0, बुधनी में 395.0, रेहटी में 230.4 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


बीते 24 घंटे में जिले में 6.0 औसत वर्षा दर्ज

जिले में बीते 24 घंटे में प्रात: 08 बजे तक 6.0 मिलीमीटर औसत वर्षा दर्ज की गई। वर्षामापी केन्द्र सीहोर में 0.0, श्यामपुर में 26.0, आष्टा में 5.0, जावर में 2.0, इछावर में 0.0, नसरूल्लागंज में 6.0, बुधनी में 7.0 एवं रेहटी में 2.2 मिलीमीटर वर्षा दर्ज की गई है।


दस्तक अभियान आज से -18 अगस्त तक चलेगा अभियान


बच्चों में होने वाली विभिन्न बीमारियों का पता लगाकर उनके समुचित उपचार के उद्देश्य से दस्तक अभियान सोमवार 19 जुलाई से 18 अगस्त 2021 तक आयोजित किया जाएगा। अभियान के तहत स्वास्थ्य विभाग तथा महिला एवं बाल विकास विभाग के संयुक्त दल ए.एन.एम., आशा, एवं आंगनवाडी कार्यकर्ता द्वारा 5 वर्ष तक की उम्र के बच्चों वाले परिवारों के घर-घर जाकर बच्चों में प्राय: पाई जाने वाली बीमारियों की सक्रिय पहचान एवं उचित प्रबंधन सुनिश्चित किया जायेगा। दस्तक अभियान का उद्देश्य 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में प्रमुख बाल्यकालीन बीमारियों की सामुदायिक स्तर पर सक्रिय पहचान एवं त्वरित प्रबंधन करना है, जिससे बाल मृत्यु दर में वांछित कमी लाई जा सके। उल्लेखनीय है कि माह जून-जुलाई में सघन दस्त रोग नियंत्रण पखवाड़ा आई.डी.सी.एफ. गतिविधियां भी आयोजित की जाना है, जिन्हें दस्तक अभियान की गतिविधियों के साथ 19 जुलाई से 18 अगस्त 2021 तक आयोजित किया जायेगा।  9 माह से 5 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों का विटामिन ’ए’ अनुपूरण पृथक से न कर दस्तक अभियान अंतर्गत दिनांक 19 जुलाई से 18 अगस्त 2021 तक घर-घर जाकर किया जायेगा तथा रिपोर्टिंग भी दस्तक अभियान अंतर्गत दस्तक मॉनिटरिंग टूल में की जायेगी।  समुदाय में बीमार नवजातों और बच्चों की पहचान प्रबंधन एवं रेफरल। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में शैशव एवं बाल्यकालीन निमोनिया की त्वरित पहचान, प्रबंधन एवं रेफरल। 5 वर्ष से कम उम्र के गंभीर कुपोषित बच्चों की सक्रिय पहचान, रेफरल एवं प्रबंधन। 6 माह से 5 वर्ष तक के बच्चों में गंभीर एनीमिया की सक्रिय स्क्रीनिंग एवं प्रबंधन। 5 वर्ष से कम उम्र के बच्चों में बाल्यकालीन दस्त रोग की पहचान एवं नियंत्रण हेतु ओ.आर.एस. एवं जिंक के उपयोग संबंधी सामुदायिक जागरूकता में बढ़ावा एवं प्रत्येक घर में गृहमेंट के दौरान ओ.आर.एस. पहुँचाना। सधन दस्त रोग पखवाड़ा-ई.डी.सी.एफ. गतिविधि आयोजन 9 माह से 5 वर्ष तक के समस्त बच्चों को विटामिन ए अनुपूरण। बच्चों में दिखाई देने वाली जन्मजात विकृतियों एवं वृद्धि विलंब की पहचान। समुचित शिशु एवं बाल आहारपूर्ति संबंधी समझाइश समुदाय को देना। एस.एन.सी.यू एवं एन.आर.सी से छुट्टी प्राप्त बच्चों में बीमारी की स्क्रीनिंग तथा फॉलोअप को प्रोत्साहन। गृह भेंट के दौरान आंशिक रूप से टीकाकृत एवं छूटे हुये बच्चों की टीकाकरण स्थिति की जानकारी लेना। दस्तक अभियान के दौरान यदि किसी बच्चे में कोविड-19 के लक्षण यथा पिछले 3 दिन से बुखार, सांस लेने में कठिनाई, कोविड-10 संक्रमित व्यक्ति के संपर्क की हिस्ट्री हो, आदि मिलने पर बच्चे को कोविड-19 की जांच हेतु रेफर किया जायेगा। अभियान की पूर्व तैयारियों हेतु मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी द्वारा निर्देशित किया गया है कि सर्वे अद्यतन एवं ड्यू लिस्ट अभियान के पूर्व आशाओं द्वारा 0 से 5 वर्ष तक के समस्त बच्चों की नामजद सूची अद्यतन की जावे तथा ए.एन.एम. के माध्यम से विकास खण्ड स्तर पर जमा की जाये। विकासखंड स्तर पर दस्तक मॉनिटरिंग टूल में 0 से 5 वर्ष तक के बच्चों की नामजद जानकारी इन्द्राज की जाये, जिससे दस्तक अभियान हेतु अपडेटेड इयू लिस्ट उपलब्ध हो।


खादी ग्रामोद्योग में युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा


प्रबंधक खादी ग्रामोद्योग, ने बताया कि मध्य प्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड द्वारा संचालित कौशल विकास कार्यक्रम अन्तर्गत जिले के बेरोजगार युवक, युवतियों को आवासीय, गैर आवासीय निःशुल्क प्रशिक्षण प्रदान किया जायेगा। बोर्ड द्वारा विभिन्न रोजगारन्मुखी व्यवसायों जैसे फैशन डिजाईनिंग, सिलाई, रेडीमेड गारमेंट, लेदर गुड्स, बेकरी, फूड प्रोसेसिंग, कम्प्यूटर हार्डवेयर रिपेयरिंग, कम्प्यूटर एकाउण्ट विथ टेली, घरेलू उपकरण मरम्मत,  इलेक्ट्रीशियन, प्लम्बर, दोना पत्तल, टू - व्हीलर, थ्री - व्हीलर मरम्मत, ट्रेक्टर रिपेयरिंग, कम आपरेटर कारपेंटर , मोबाईल रिपेयरिंग आदि में प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु आवेदन ऑनलाईन  30 जुलाई 2021 तक आमंत्रित किये जायेंगे।  कौशल विकास प्रशिक्षण प्राप्त करने हेतु ऑनलाईन आवेदन बोर्ड की विभागीय पर आवेदन किया जा सकता है।


अगस्त माह के पहले सप्ताह से थैलों में मिलेगा उचित मूल्य राशन: मुख्यमंत्री श्री चौहान  

  • प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में नवम्बर माह तक नि:शुल्क राशन
  • 7 अगस्त को समारोहपूर्वक होगा राशन का वितरण प्रारंभ मुख्यमंत्री श्री चौहान ने खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के कार्य की समीक्षा की

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि अगस्त माह के पहले सप्ताह से पात्र हितग्राहियों को 10-10 किलो राशन थैलों में प्रदाय किया जाएगा। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना में पात्र परिवारों को प्रति व्यक्ति 5-5 किलो नि:शुल्क राशन तथा मुख्यमंत्री अन्नपूर्णा योजना में 5-5 किलो राशन (1 रूपए किलो की दर पर) प्रदाय किया जाएगा। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि प्रदेश में आगामी 7 अगस्त को प्रत्येक उचित मूल्य दुकान पर समारोहपूर्वक राशन का वितरण प्रारंभ किया जाएगा। इस दिन उचित मूल्य दुकानों पर मंत्री, सांसद, विधायक तथा अन्य जन-प्रतिनिधि उपस्थित रहकर कार्य सम्पन्न कराएंगे। मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में खाद्य एवं नागरिक आपूर्ति विभाग के राशन वितरण संबंधी कार्य की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री बिसाहू लाल सिंह, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव खाद्य श्री फैज अहमद किदवई आदि उपस्थित थे।                                                                                                 


गड़बड़ी करने वालों के विरूद्ध होगी कड़ी कार्रवाई                                      

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि यह गरीबों का राशन है। इसमें जो भी व्यक्ति गड़बड़ी करेगा उसके विरूद्ध कठोर कार्रवाई की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि यह सुनिश्चित किया जाएगा कि हर पात्र व्यक्ति को निर्धारित मात्रा में नि:शुल्क एवं उचित मूल्य राशन थैले में प्राप्त हो। कार्य में पूरी पारदर्शिता रखी जाए।                                                                                 

उचित मूल्य दुकानों पर हों सभी व्यवस्थाएँ                                          

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि उचित मूल्य दुकानों पर सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जाए। सभी दुकानों की रंगाई-पुताई एवं सफाई हो। निर्धारित प्रारूप में आवश्यक सभी सूचनाओं का प्रदर्शन किया जाए। प्रधानमंत्री गरीब कल्याण अन्न योजना का बैनर लगाया जाए। माप एवं तौल काटों का प्रमाणीकरण किया जाए।                                                                          

लगभग 5 करोड़ हितग्राहियों को मिलेगा लाभ                                         

राशन वितरण में प्रदेश के 1 करोड़ 15 लाख 46 हजार 59 परिवारों के 4 करोड़ 89 लाख 89 हजार 855 हितग्राहियों को लाभ मिलेगा। इन्हें प्रदेश की 25 हजार 423 उचित मूल्य दुकानों से राशन का प्रदाय किया जाएगा।


26 जुलाई से 11वीं एवं 12वीं कक्षाएँ तथा 5 अगस्त से 9वीं एवं 10 वीं की कक्षाएँ आरंभ होंगी , 50 प्रतिशत क्षमता के साथ लगेंगे स्कूल

  • जुलाई में सप्ताह में 2 दिन व अगस्त में सप्ताह में 4 दिन कक्षा लगेंगी, मुख्यमंत्री श्री चौहान ने स्कूल शिक्षा व उच्च शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा की

मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि कोविड अनुकूल व्यवहार का सख्ती से पालन सुनिश्चित करते हुए आगामी 26 जुलाई से स्कूलों में 11वीं एवं 12वीं की कक्षाएँ एवं छात्रावास आरंभ किये जायेंगे। कक्षा 9वीं एवं 10वीं की कक्षाएँ 5 अगस्त से प्रारंभ की जाएंगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि सभी स्कूल 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ प्रारंभ होंगे। जुलाई महीने में सप्ताह में 2 दिन तथा अगस्त माह में विद्यार्थी सप्ताह में 4 दिन विद्यालय आ सकेंगे। कक्षाएँ खोली जाने के संबंध में क्राइसिस मैनेजमेंट समूह स्थानीय परिस्थितियों के अनुसार निर्णय ले सकेंगे। स्कूलों और छात्रावास में कोविड-19 अनुकूल व्यवहार अपनाने के लिये पृथक से एसओपी जारी की जा रही है।  मुख्यमंत्री श्री चौहान आज मंत्रालय में स्कूल शिक्षा एवं उच्च शिक्षा विभाग के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में स्कूल शिक्षा राज्य मंत्री श्री इंदर सिंह परमार, मुख्य सचिव श्री इकबाल सिंह बैंस, प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री अनुपम राजन, आयुक्त लोक शिक्षण श्रीमती जयश्री कियावत आदि उपस्थित थे।                                                                   

कक्षा 12वीं के लिये कोचिंग सेन्टर 5 अगस्त से खुलेंगे                          

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कक्षा 12वीं के लिये कोचिंग सेन्टर 5 अगस्त से 50 प्रतिशत क्षमता के साथ खुल सकेंगे। क्राइसिस मैनेजमेंट समूहऔर स्थानीय प्रशासन द्वारासतत् मॉनिटरिंग की जायेगी।सभी कोचिंग सेन्टर को कोविड-19 गाइड लाइन का पालन करना आवश्यक होगा।


महाविद्यालयों में 1 सितम्बर से नवीन शिक्षा सत्र                                  

प्रदेश के महाविद्यालयों में 1 सितम्बर से नवीन शिक्षा सत्र आरंभ होगा। वर्तमान में ओपन बुक पद्धति से परीक्षाओं का संचालन किया जा रहा है। स्थानीय परिस्थितियों के अनुरूप महाविद्यालयों में 50 प्रतिशत क्षमता के साथ ऑफलाइन कक्षाओं का संचालन किया जाएगा।                                                                                             


सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों का टीकाकरण कराये                                       

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि स्कूलों एवं महाविद्यालयों के सभी शिक्षकों एवं कर्मचारियों का अभियान चलाकर शत-प्रतिशत टीकाकरण कराया जाए। इसी के साथ अधिक से अधिक विद्यार्थियों का टीकाकरण कराया जाये।पालकों की सहमति आवश्यक  मुख्यमंत्री श्री चौहान ने निर्देश दिए कि स्कूलों एवं महाविद्यालयों में कक्षाओं में विद्यार्थियों को भिजवाने के लिए उनके पालकों की सहमति आवश्यक होगी।

                                                                          मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 328 बाल हितग्राहियों के खाते में 16.40 लाख रूपये अंतरित किये जीवित समाज के रहते कोई कैसे अनाथ हो सकता है : मुख्यमंत्री

  • प्रत्येक जिले में पालक अधिकारी नियुक्त करने के दिये निर्देश  

मुख्यमंत्री श्री शिवराज चौहान ने आज कोविड-19 बाल सेवा योजना के अंतर्गत सिंगल क्लिक से 16 लाख 40 हजार रुपये की राशि 328 बाल हितग्राहियों के खाते में अंतरित की। उन्होंने कहा कि एक जीवित और जागरूक समाज के रहते हुए कोई कैसे अनाथ रह सकता है। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि योजना के हितग्राहियों को 5 हजार रूपये प्रतिमाह, भोजन के लिए राशन की व्यवस्था, शिक्षा के लिए भारत में कहीं भी शिक्षा का वहन राज्य सरकार करेगी।                                                                                                                                 


चिन्ता न करें आपका मामा आपके साथ है

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बाल सेवा योजना, स्पॉन्सरशिप और फोस्टर केयर के अंतर्गत इंदौर, राजगढ़, सिवनी, बैतूल, मंदसौर, सतना एवं ग्वालियर के 13 बच्चों और अभिभावकों से वर्चुअली चर्चा की। उन्होंने बताया कि बाल सेवा योजना में माता-पिता अथवा घर में कमाने वाले सदस्य की कोरोना से मृत्यु हो जाने से उनके आश्रित बच्चों को प्रति सदस्य 5 हजार रुपये प्रति माह, राशन एवं उनकी शिक्षा संबंधी सभी जिम्मेदारियाँ राज्य सरकार द्वारा वहन की जायेगी। बच्चों से चर्चा करते हुए उन्होंने कहा कि इसके अलावा भी यदि अन्य कोई आवश्यकता होगी, तो कलेक्टर्स उनकी देखभाल करेंगे। उन्होंने कहा कि बच्चों की देखभाल के लिए हर जिले में एक पालक अधिकारी नियुक्त किया जाए। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि जीवित समाज के रहते कोई कैसे अनाथ हो सकता है, उन्होंने कहा कि मैं ऐसे ही नहीं कह रहा दुनिया में अनेक उदाहरण हमारे सामने हैं, जिन्होंने अपने माता-पिता को बचपन में ही खो दिया था परंतु उन्होंने कभी हार नहीं मानी, वे आगे बढ़े और इतने आगे बढ़े कि समाज के पथ प्रदर्शक बनें। गोस्वामी तुलसीदास, विवेकानंद, अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति जार्ज वाशिंगटन आदि गुरू शंकराचार्य, मिल्खा सिंह, नेल्सन मंडेला, स्टीव जाव्स सहित अनेक उदाहरण हमारे सामने हैं, जिन्होंने अपने-अपने क्षेत्रों में दुनिया को दिशा दिखाई                                                                 


स्पॉन्सरशिप योजना                                                  

मुख्यमंत्री श्री चौहान ने बताया कि स्पॉन्सरशिप योजना के अंतर्गत 223 हितग्राहियों को दो हजार रुपये प्रतिमाह प्रति हितग्राही के रूप में 4 लाख 46 हजार रुपये की राशि अंतरित की गई। हितग्राही जिनके माता या पिता में से एक की मृत्यु एक मार्च 2021 से पहले हुई हो, उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं हो, उन्हें इस योजना का लाभ दिलाने के लिए भारत सरकार की स्पॉन्सरशिप योजना का सरलीकरण किया गया।                                               


फोस्टर पेरेन्ट्स योजना के तहत किया मोटिवेट

मुख्यमंत्री श्री चौहान द्वारा ग्वालियर की श्रीमती विभा अनेजा एवं सुश्री ज्योति भावना से चर्चा की गई। श्रीमती विभा द्वारा, स्वयं के बच्चे होते हुए भी 2 बालिकाओं को फोस्टर केयर पर लिया गया। इसके बाद एक बालिका, जो पोक्सो पीड़ित थी, को फोस्टर केयर पर लिया गया था। बालिकाओं को शिक्षा के साथ पढ़ाई और व्यवसायिक प्रशिक्षण कराया जा रहा है। इसके अलावा ज्योति भावना की अशासकीय संस्था द्वारा 8 बालिकाओं को फोस्टर केयर में लिया गया है, जिन्हें दो हजार रूपये प्रतिमाह की सहायता उपलब्ध कराई जा रही है।


विधानसभा सत्र के प्रश्नों के उत्तर समय सीमा में भेजने के कलेक्टर ने दिए निर्देश


मध्यप्रदेश विधानसभा आगामी सत्र 09 अगस्त से 12 अगस्त तक चलेगा। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने निर्देश दिए है कि विधानसभा पश्नों के उत्तर समय सीमा भेजने के सभी अधिकारियों को  निर्देंश दिए है। श्री ठाकुर ने सभी अधिकारियों-कर्मचारियों को निर्देश दिए हैं कि विधानसभा सत्र के दौरान कोई भी अधिकारी कलेक्टर या नोडल अधिकारी के बिना अनुमति के अवकाश पर नहीं जाएं। साथ ही बिना अनुमति के मुख्यालय से अनुपस्थित रहने पर संबंधितों के खिलाफ कार्यवाही के निर्देश दिए हैं। श्री ठाकुर ने जिला कार्यालय सहित अन्य कार्यालयों में कंट्रोल रूम तथा नोडल अधिकारी नियुक्त करने के निर्देश दिए हैं।


विधानसभा प्रश्नों के उत्तर परीक्षण के लिए नोडल और विधानसभा प्रभारी किए नियुक्त


मध्यप्रदेश विधानसभा आगामी सत्र 09 अगस्त से 12 अगस्त तक चलेगा। कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर ने जिला कार्यालय के राजस्व विभाग से संबंधित विधानसभा प्रश्नों का परीक्षण कर समयावधि में भेजने के लिए अपर कलेक्टर श्रीमती गुन्चा सनोबर को नोडल अधिकारी तथा डिप्टी कलेक्टर श्रीमती प्रगति वर्मा को विधानसभा प्रभारी नियुक्त किया है।


सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रेहटी में ऑक्सीजन प्लांट शुरू


sehore news
सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र रेहटी में स्थापित ऑक्सीजन प्लांट से ऑक्सीजन का उत्पादन प्रारंभ हो गया है। इस ऑक्सीजन प्लांट की क्षमता 200 एलएमपी है। संयंत्र से ऑक्सीजन उत्पादन शुरू हो जाने से सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र की ऑक्सीजन के लिए अन्य स्त्रोंतो से निर्भरता समाप्त हो गयी। इस क्षेत्र के नागरिकों को इलाज के लिए इस सुविधा का लाभ मिलेगा।


ऑक्सीजन की जरूरत वाले मरीजों को अब अन्य चिकित्सालयों में रेफर नहीं करना पड़ेगा।

वर्तमान में रेहटी सामुदायिक केन्द्र 20 बिस्तरों का है, जिसमें 15 बिस्तर ऑक्सीजन युक्त हो गये हैं। इसके साथ ही नवीन वार्ड में भी ऑक्सीजन की लाइन डाली जा रही है। कोविड की तीसरी लहर की संभावना को दृष्टिगत रखते हुए रेहटी के सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र में ऑक्सीजन की उपलब्धता सुनिश्चित हो गयी है। जिले में अन्य स्थानों पर ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का कार्य तेजी चल रहा है।


जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला, वर्तमान में कोरोना एक्टिव पॉजिटिव की संख्या 02


पिछले 24 घंटे के दौरान प्राप्त रिपोर्ट में जिले में आज कोई भी व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव नहीं मिला है। सीएमएचओ कार्यालय से प्राप्त जानकारी के अनुसार जिले में अब तक कुल कोरोना पॉजिटिव व्यक्तियों की संख्या 10135 है। वर्तमान में एक्टिव पॉजिटिव 02 हैं। कुल रिकवर व्यक्तियों की संख्या 10018 हैं। कुल कोविड संक्रमित मृत व्यक्तियों की संख्या 115 है। आज 1154 सैम्पल लिए गए है। जांच के लिए सीहोर शहरी क्षेत्र से 259, श्यामपुर से 210, विकासखंड नसरुल्लागंज से 161, आष्टा से 241,  बुधनी से 163 तथा इछावर से 120 सेंपल लिए गए हैं। अभी तक कुल जांच के लिए भेजे गए सेंपल 195987 हैं जिनमें से 184208 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। आज 907 सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। कुल 1573 सैंपलों की रिपोर्ट आना शेष है। पैथोलॉजी द्वारा कोरोना वायरस सेंपल की रिजेक्ट संख्या कुल 71 है। जिले में जो व्यक्ति होम क्वारंटाइन में हैं उनके निवास स्थान से सीधे संवाद हेतु जिला स्तरीय कोविड-19 कॉल सेंटर स्थापित किया गया है। जिसका संपर्क नंबर- 07562-1075 है। जिला स्तर पर जिला कोविड कमांड कंट्रोल सेंटर का मोबाइल नंबर 9425400273, 7987652577, 9425400453 पर कॉल सेंटर पर संपर्क किया जा सकता है। राज्य स्तर पर 104/181 नंबर पर कॉल करके भी टेलीमेडिसिन सेवा का लाभ लिया जा सकता है। 104 नंबर पर ई परामर्श सेवा का भी लाभ लिया जा सकता है। होम क्वारंटाईन व्यक्तियों तथा उनके परिजनों के लिए हेल्पलाइन नंबर 18002330175 जारी किया गया है। होम क्वारंटाईन व्यक्ति अथवा उनके परिजन इमोशनल वेलनेस अथवा साइकोलॉजिकल सपोर्ट एवं अन्य जरूरी परामर्श मानसिक सेवा प्रदाताओं से नि:शुल्क प्राप्त कर सकते हैं। मोबाइल मेडिकल यूनिट द्वारा होम आईसोलेट व्यक्तियों की सतत निगरानी की जा रही है।


शांति,  सदभाव और सौहार्द के साथ मनाए जाएंगे त्यौहार. कोविड-19 गाइडलाइन का पालन कर त्यौहार मनाए - कलेक्टर श्री ठाकुर

  • ईदगाह पर केवल 6 व्यक्ति ही उपस्थित रह सकेंगे

ईदगाह को छोड़कर सभी उपासना स्थलों पर 50 से अधिक लोग एकत्र नहीं हो सकेंगे।, जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक


sehore news
आगामी त्यौहारों को दृष्टिगत रखते हुए जिला स्तरीय शांति समिति की बैठक कलेक्टर श्री चन्द्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में पुलिस अधीक्षक कार्यालय के सभाकक्ष में आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर श्री ठाकुर ने कोविड गाइड लाइन का पालन करते हुए शांति, सदभाव और सौहार्द के साथ त्यौहार मनाने की अपील की है। श्री ठाकुर ने बताया कि गृह विभाग द्वारा जारी दिशा-निर्देशों के अनुसार ईदगाह को छोड़कर सभी धार्मिक/पूजा स्थानों में स्थान की उपलब्धता को दृष्टिगत रखते हुए एक समय में 50 से अधिक व्यक्ति एकत्रित नहीं हो सकेंगे। ईदगाह पर रूल ऑफ सिक्स लागू रहेगा। जिसके अनुसार ईदगाह पर 6 से अधिक लोग एकत्रित नहीं हो सकेंगे। कलेक्टर श्री ठाकुर ने कहा कि कोविड का खतरा अभी पूरी तरह से टला नहीं है। कोविड की संभावित तीसरी लहर को ध्यान में रखते हुए त्योहारों के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने, मास्क लगाने और हाथों को बार-बार सेनेटाइज करने की अपील भी की है। उन्होंने शांति समिति के सदस्यों से कहा कि वे लोगों को भी मास्क लगाने के लिए प्रेरित करें। कलेक्टर श्री ठाकुर ने सदस्यों के सुझाव पर त्यौहार के दौरान पेयजल, सफाई, विद्युत आपूर्ति संबंधी आवश्यक निर्देश संबंधित अधिकारियों को दिए। एसपी श्री एसएस चौहान ने कहा कि शहर में सभी पर्व आपसी सौहार्द और भाईचारे के साथ मनाने की परंपरा है। जिले में शांति एवं कानून व्यवस्था बनाये रखने में नागरिकों का सक्रिय सहयोग मिलता रहा है। बैठक में शहर काजी मोहम्मद यूसुफ अंसारी ने कहा कि 21 जुलाई को ईदुज्जुहा का त्यौहार मुस्लिम समाज द्वारा शासन की कोविड-19 गाइड लाइन का पालन करते हुए मनाया जायेगा। समिति के अनेक सदस्यों ने कई बहुमूल्य सुझाव दिए। बैठक में एडीएम श्रीमती गुन्चा सनोबर, एडिशनल एसपी श्री समीर यादव, डिप्टी कलेक्टर श्री बृजेश सक्सेना, श्री जसपाल अरोरा, श्री सीताराम यादव, श्री राजकुमार गुप्ता, श्री राजेश राठौर सहित शांति समिति के अनेक सदस्य उपस्थित थे।


कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र स्थापित करने  के लिए आवेदनों की सूचना


कृषि फसलों के प्राथमिक प्रसंस्करण के लिए कृषि अभियांत्रिकी किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग द्वारा कृषकों को किराये पर मशीनें उपलब्ध कराई जाना है। बैंक ऋण आधार पर कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र स्थापित करने के इच्छुक आवेदकों से ऑनलाइन आवेदन पत्र संचालनालय कृषि अभियांत्रिकी के पोर्टल www.chc.mpdage.org के माध्यम से मंगाए गए है। आवेदन करने के लिए व्यक्ति, पंजीकृत कृषक समूह तथा फार्मर प्रोड्यूसर आर्गेनाईजेशन पात्र रहेंगे। ये कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र प्रदेश के सभी जिलों में खोले जाना हैं। प्रत्येक कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र के लिए आवश्यक प्रोसेसिंग मशीनों को खरीदने की लागत पर आवेदकों सामान्य, अजा तथा अजजा को 40 प्रतिशत 10 लाख रूपयें तक का "क्रेडिट लिंक्ड बैक एन्डेड" अनुदान दिया जाएगा। अनुदान की गणना सब मिशन ऑन एग्रीकल्चर मेकेनाइजेशन योजना में प्रत्येंक मशीनों के लिए दिये गये प्रावधानुसार अधिकतम सीमा तक की जाएगी। जिले में 5 कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र स्थापित करने का लक्ष्य हैं। योजनांतर्गत प्राप्त आवेदन इसी वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए ही वैध रहेंगे। योजना के अंतर्गत एक ग्राम तथा एक परिवार में केवल एक ही कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र दिये जाने का प्रावधान हैं आवेदकों की उम्र दिनांक 01 अप्रैल 2021 को 18 वर्ष से कम तथा 40 वर्ष से अधिक नही होनी चाहिए। आवेदक को 12 उत्तीर्ण होना आवश्यक हैं। कस्टम प्रोसेसिंग केन्द्र न्यूनतम 10 लाख रूपयें तथा अधिकतम राशि 25 लाख की राशि का स्थापित किया जावेगा।


योजनांतर्गत प्रोसेसिंग मशीनों की सूची

योजना में आवेदन दिनांक 22 जुलाई 2021 से 4 अगस्त 2021 तक किए जा सकते है। योजनांतर्गत मिनी राईस मिल, मिनी दाल मिल, आईल एक्सट्रेक्टर, मिलेट प्रसंस्करण प्लांट, मल्टी कमोडिटी फ्लोर मिल दलिया मिल, सीड प्रोसेंसिंग प्लांट, सहायक मशीनरी जैसे पेकिंग और सीलिंग यूनिट बीआईएस मार्क के लिए आवेदन लिए जाएंगे।


उचित मूल्यों की दुकानों के लिए ऑनलाइन आवेदन आंमत्रित


खाद्य, नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग ने 20 अगस्त 2021 तक उचित मूल्य दुकान आवंटन के लिए मध्यप्रदेश सहकारी सोसायटी अधिनियम 1960 के अन्तर्गत उपभोक्ता सोसायटी, विपणन सोसायटी, उत्पादक सोसायटी, संसाधन सोसायटी, बहुप्रयोजन सोसायटी, महिला स्व सहायता समूह, संयुक्त वन प्रबंधन समिति संस्थाओं से अनुविभाग इछावर में हालियाखेडी, गउखेडी, दुदलई, लालियाखेडी, बावडिया गौसाई, सिराडी, पालखेडी, बावडिया नौआबाद, फांगिया, मुवाडा, सोहनखेडा, बलोडिया के लिए पात्र संस्थाए www.food.gov.in  पर ऑनलाइन आवेदन कर सकती है। 


कलेक्टर ने जिले मे बेहतर स्वास्थ्य सेवाएं उपलब्ध कराने के दिये निर्देश

  • कलेक्टर ने दिए स्वास्थ्य सूचकांक पर खरा उतरने के निर्देश, कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक संपन्न

sehore news
जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर की अध्यक्षता में जिला पंचायत सभाकक्ष में आयोजित की  गयी।  बैठक में कलेक्टर श्री ठाकुर ने सभी स्वास्थ्य अधिकारियों को निर्देश दिए कि स्वास्थ्य सूचकांक पर खरा उतरने के लिए सभी को मिलकर और समन्वय बनाकर कार्य करें। उन्होंने कहा सभी हितग्राहियों को गुणवत्ता पूर्वक सेवाएं मिले इस पर काम करना होगा। उप स्वास्थ्य केन्द्रों को प्रसव केन्द्रों में क्रियाशील करें तथा सभी प्रसव केन्द्रों पर लक्ष्यनुसार शत प्रतिशत जीवित जन्म एवं संस्थागत प्रसव हो इसके लिए मैदानी कार्यकर्ता, आशा तथा एएनएम को निर्देश दिए।  बैठक में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. सुधीर कुमार डेहरिया ने सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों के लक्ष्य एवं उपलब्धि की जानकारी रखी। कलेक्टर श्री ठाकुर ने निर्देश दिए कि एएनसी जांच समयबद्ध हो। पूरी कोशिश हो कि हाईरिस्क प्रसव ना हो इसके लिए एएनएम, आशा कार्यकर्ता सहित चिकित्सक भी लीड लेकर कार्य करे। उन्होंने कहा प्रसव केन्द्रों पर उपकरणों तथा मानव संसाधन की कमी को पूरा करने का प्रयास किया जाएगा। कलेक्टर ने एनसीडी रोग कार्यक्रम तथा टेलीमेडिसिन की विस्तार से समीक्षा की। सभी बीएमओ, चिकित्सा अधिकारियों को निर्देशित किया कि जो लक्ष्य तय किया गया उसके अनुरूप उपलब्धि प्राप्त करें। सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों में लक्ष्य से कम उपलब्धि वाले विकासखण्डों को समय सीमा में निर्धारित लक्ष्य गुणवत्तापूर्वक कार्य करते हुए पूरा करने के निर्देश दिए। उन्होंने सभी जिला एवं विकासखण्ड स्तरीय अधिकारियों, सेक्टर एमओ, सेक्टर सुपरवाईजर्स तथा प्रोग्राम ऑफिसर्स को सतत मॉनीटरिंग एवं सूक्ष्य पर्यवेक्षण के निर्देंश दिए। सप्ताह के प्रत्येक शनिवार को सभी राष्ट्रीय कार्यक्रमों की सेक्टर स्तरीय बैठक में सूक्ष्म समीक्षा किए जाने तथा कमियों को दूर करने के निर्देश दिए गए। बैठक में कायाकल्प अभियान तथा अन्य कार्यक्रमों में उत्कृष्ट कार्य करने वाले चिकित्सा अधिकारियों एवं कर्मचारियों को राज्य स्तर से प्राप्त स्मृति चिन्ह तथा प्रमाण पत्र प्रदान कर सम्मानित किया। बैठक में राष्ट्रीय कार्यक्रमों के सभी नोडल अधिकारी, सिविल सर्जन, जिला महिला एंव बाल विकास अधिकारी, जिला आयुष अधिकारी, समस्त बीएमओ, समस्त सेक्टर मेडिकल ऑफिसर, महिला चिकित्सा अधिकारी, जिला कार्यक्रम प्रबधक तथा अन्य विभागीय अधिकारी, डेवलपमेंट पार्टनर्स के जिला समन्वयक उपस्थित थे।


सिविल सर्जन ने कलेक्टर से प्राप्त किया कायाकल्प अवार्ड


जिला चिकित्सालय को कायाकल्प कार्यक्रम के राज्य स्तर से प्राप्त सांत्वना अवार्ड तथा मातृ एवं शिशु स्वास्थ्य के लिये राष्ट्रीय स्तर पर प्राप्त लक्ष्य के लिए प्रमाण पत्र जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक में कलेक्टर श्री चंद्र मोहन ठाकुर ने सिविल सर्जन डॉक्टर अशोक कुमार मांझी को दिया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉक्टर सुधीर कुमार डेहरिया सहित अन्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित थे। जिला चिकित्सालय को यह अवार्ड 2020-21 में उत्कृष्ट स्वास्थ्य सेवाओं के लिये प्रदान किया गया है।


शहर काजी ने कोविड-19 गाइडलाइन का पालन करने की अपील


शहर काजी मोहम्मद युसुफ अंसारी ने मुस्लिम समुदाय के सभी लोगों से कोविड-19 की गाइडलाइन का पालन करते हुए ईदुज्जुहा का त्यौहार मनाने की अपील की। उन्होंने सभी से अपील करते हुए कहा कि नमाज अदा करने ईदगाह पर न आए। अपने आस-पास की मस्जिदों में ही नमाज अदा कर लें। कोरोना संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए ईदगाह पर 6 लोगों को ही नमाज अदा करने की गाइड लाइन है। उन्होंने सभी धर्म स्वालम्भियों से कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए नमाज अदा करने की अपील भी की है।


जीका वायरस को लेकर अलर्ट जारी, बुखार आने पर तुरंत लें चिकित्सकों से परामर्श


वर्तमान में भारत के कुछ राज्यों में जीका बीमारी के प्रकरण सामने आए है। इसे ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग द्वारा पर्याप्त सावधानी एवं सतर्कता बरतने के लिए एडवायजरी जारी की है। जिला मलेरिया अधिकारी श्रीमती क्षमा बर्वे ने जानकारी दी कि यह बीमारी जीका नामक वायरस के कारण होती है जो एडीज मच्छर के द्वारा फैलाई जाती है। जीका के वायरस अधिकांश वर्षा ऋतु से सक्रिय होकर शरद ऋतु तक एडीज मच्छर की सहायता से फैलते है। जीका का बुखार 2 से 7 दिनों तक रहता है। इसके लक्षणों में आंखे लाल होना, सिरदर्द, मांसपेशियों में दर्द, जोडों में दर्द, खसरा के जैसे चकत्ते दाने छाती और दोनों हाथों में हो सकते है। बुखार आने पर इन लक्षणों के पहले ही दिन शासकीय चिकित्सालयों में चिकित्सक की सलाह लेकर उपचार प्रारंभ कर देना चाहिए। जूस, चावल का पानी, शिकंजी, फलों का रस, पानी, ओआरएस का घोल लेना चाहिए तथा मरीज को मच्छरदानी के अंदर सोना चाहिए। जीका वायरस फैलाने वाले एडीज मच्छर साफ पानी में पनपता है। पानी से भरे कंटेनर, घर की छतों पर अनुपयोगी सामान, टूटे फूटे बर्तन, कप, मग में भरे पानी में पैदा होता है।

कोई टिप्पणी नहीं: