झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 सितम्बर - Live Aaryaavart

Breaking

प्रबिसि नगर कीजै सब काजा I ह्रदय राखि कौसलपुर राजा II, हरिजन जानि प्रीति अति गाढ़ी। सजल नयन पुलकावलि बाढ़ी॥, मंगल भवन अमंगल हारी I द्रवहु सुदसरथ अजिर बिहारी II, हरि अनंत हरि कथा अनंता I कहहि सुनहि बहुबिधि सब संता II, दीन दयाल बिरिदु संभारी । हरहु नाथ मम संकट भारी।I, माता पिता की सेवा करें....बुजुर्गों का ख्याल रखें...अपनी प्रतिभा और आचरण से देश का नाम रौशन करें...

शनिवार, 4 सितंबर 2021

झाबुआ (मध्यप्रदेश) की खबर 04 सितम्बर

शिक्षक दिवस पर शिक्षकांे के सम्मान में टीकाकरण, शिक्षक वर्ग समाज को दिशा देने वाला होता है-कलेक्टर


jhabua news
झाबुआ। शहीद चन्द्रशेखर आजाद शासकीय स्नात्कोत्तर महाविद्यालय झाबुआ में युवा शक्ति कोरोना मुक्ति अभियान में विद्यार्थियों हेतु उन्मुखीकरण कार्यक्रम के अंतर्गत शिक्षकों का टीकाकरण सम्मान समारोह में कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। श्री मिश्रा ने कहा कि शिक्षक वर्ग समाज को नई दिशा देने वाला होता है। श्री मिश्रा ने कहा कि टीकाकरण मंे महाविद्यालय के प्रोफेसर एवं छात्र, छात्राओं ने लगभग शतप्रतिशत टीकाकरण करवाकर जिले में एक मिशाल प्रस्तुत की है। मैं सभी को बधाई देता हूॅ। जिले में कोई भी कोविड पेंशेट नहीं होने से झाबुआ कोरोना मुक्त है। किन्तु कोरोना की तीसरी लहर संभावित है। जिसके लिये सभी को सजग एवं जागरूक होना अत्यंत  आवश्यक है। जनसहयोग एवं प्रशासकीय टीम के प्रयासों से जिला कोरोना मुक्त हुआ है। जिले में ऑक्सीजन प्लांट लगाने एवं स्वास्थ्य के लिये बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने हेतु जिले मेें बेहतर काम हुए है। इसके लिये मैं आप सबको बधाई देता हूॅ। कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिये मैं यहां के विद्यार्थियों से आव्हान करना हूॅ कि वे जब गांव जाए कोरोना वैक्सीनेशन के लिये अपने परिवार को जागरूक करें एवं अपने आस-पास के लोगों को जागरूक करें। किसी भी प्रकार की अफवाह पर ग्रामीण ध्यान नहीं दें। यह टीका आपकी सुरक्षा एवं आपके परिवार की सुरक्षा के लिये संजीवनी के रूप में है। जिनके द्वारा पहला डोज नहीं लगवाया है उन्हे तत्काल लगवाएं एवं जिनका सेकण्ड डोज शेष है उन्हें भी समय पर टीकाकरण करवाए। कार्यक्रम का स्वागत भाषण प्राचार्य श्री डॉ. जे.सी. सिन्हा द्वारा वाचन किया गया। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ.जे.पी.एस.ठाकुर, जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राहुल गणावा ने अपना उद्बोधन दिया एवं शिक्षकों का सम्मान करते हुए टीकाकरण के लिये आव्हान किया। इस अवसर पर पूर्व प्राचार्य डॉ.एच.एल.अनिजवाल, पूर्व प्रभारी प्राचार्य एवं सेवानिवृत्त डॉ. गीता दूबे की गरिमामय उपस्थिति मंच पर थी। कार्यक्रम का संचालन श्रीमती डॉ. अंजना मुवेल सोलंकी के द्वारा किया गया। इस दौरान महाविद्यालय के समस्त प्रोफेसर, लेक्चरर, स्टाफ एवं बडी संख्या में छात्र, छात्राएं उपस्थित थे।


शिक्षक दिवस में टीकाकरण केन्द्र पर शिक्षको को अभिनंदन किया गया


jhabua news
झाबुआ। टीकाकरण केन्द्र बुनियादी स्कूल झाबुआ में आज टीकाकरण सत्र आयोजित था। इस दौरान मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. जे.पी.एस.ठाकुर एवं जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. राहुल गणावा ने सेंटर पर उपस्थित होकर यहां पर आज शिक्षक  दिवस के उपलक्ष्य में शिक्षकों का पुष्पहार से सम्मानित किया एवं उनके साथ सेल्फी लेकर उनका उत्साहवर्धन किया। यहां के शिक्षको द्वारा टीकाकरण के लिये निरंतर सहयोग एवं उनकी मेहनत के लिये डॉ. ठाकुर ने उनकी सराहना की एवं उनका सम्मान किया। इस अवसर पर बीईओ एवं यहां के प्राचार्य श्रीमती वर्षा चौरे एवं बडी संख्या में शिक्षकवर्ग उपस्थित था। डॉ. राहुल गणावा ने कहा की आज इस गौरवशाली क्षण में शिक्षको का अभिनंदन करते हुए हम अभिभूत है और हम गर्व महसुस कर रहे हैं। हम शिक्षको से आशा करते है कि जिले में आपका सहयोग जिले को कोरोना मुक्त करने एवं शतप्रतिशत टीकाकरण करने में इसी तरह प्राप्त होता रहे। इस अवसर पर कर्मचारी संघ के अध्यक्ष श्री अशोक चौहान, शिक्षक श्रीमती संगीता गुप्ता, श्री व्यास भी उपस्थित थे।


महिलाओं को हल्के वाहन चलाने का निःशुल्क प्रशिक्षण


झाबुआ,। मध्यप्रदेश शासन परिवहन विभाग द्वारा महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने हेतु शासकीय औद्योगिक प्रशिक्षण संस्था(आईटीआई) झाबुआ परिसर में हल्के वाहन चलाने हेतु निःशुल्क प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। जिसमें अजा, अजजा, अन्य पिछडा वर्ग तथा आर्थिक दृष्टि से कमजोर महिलाओं को उक्त योजना में चयन हेतु प्राथमिकता प्रदान की जावेगी। प्रशिक्षण कार्यक्रम 30 दिवस का होगा। जिसमें 155 घंटों का व्यवहारिक (सैद्वांतिक एवं प्रयोगिक ) प्रशिक्षण सम्मिलित होगा। इस योजना में पात्र आवेदिका को एक हजार रूपए अवधान राशि (कासन मनी) जमा कराना होगी। प्रशिक्षण सफलता पूर्वक पूर्ण करने पर यह राशि आवेदिका को वापस कर दी जाएगी। योजना में प्रशिक्षित महिलाओं को औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान आईटीआई द्वारा प्रमाण पत्र के साथ ही परिवहन विभाग द्वारा नियमानुसार ड्रायविंग लायसेस प्रदान किया जाएगा। बाहर से आने वाली महिलाओं को छात्रावास तथा भोजन की निःशुल्क सुविधा औद्योगिक प्रशिक्षण संस्थान (आईटीआई) झाबुआ में होगी। जो महिलाएं आवेदन पत्र मध्यप्रदेश शासन परिवहन विभाग की वेबसाइड ूूूण्उचजतंउेचवतजण्वतह में डाउनलोड कर प्रिन्ट अथवा जिला परिवहन कार्यालय झाबुआ से प्राप्त कर सकती है। इसके लिये निम्न दस्तावेज की प्रतिलिपि लगाई जाए।1. आधार कार्ड की स्व प्रमाणित छायाप्रति, 2 गरीबी रेखा के राशन कार्ड की स्व प्रमाणित छायाप्रति (यदि हो तो) 3 जाति प्रमाण पत्र की स्व प्रमाणित छायाप्रति 4 जन्म तिथि प्रमाण की स्व प्रमाणित छायाप्रति 5 पासपोर्ट साइज फोटो 6 अन्य कोई दस्तावेज जो आवेदिका प्रस्तुत करना चाहती हो। आवेदिका आवेदन पत्र के साथ उपरोक्त दस्तावेज संलग्न कर बन्द लिफाफे में दिनांक 7 नवम्बर 2021 को सायं 5 बजे तक लिफाफे के उपर ‘‘ विषय - महिला चालक प्रशिक्षण सत्र‘‘ लिखकर कार्यालय जिला परिवहन अधिकारी झाबुआ को सम्बोधित पता ग्राम डुगरा धन्ना, इंदौर अहमदाबाद नेशनल हायवे झाबुआ मध्य प्रदेश के पते पर प्रेषित अथवा कार्यालय के ई-मेल के पते ेउंतजऋरीइं/लंीववण्बवउ पर मेल कर सकती है। अपूर्ण एवं निर्धारित समयावधि के पश्चात प्राप्त आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किए जाएगें। अधिक संख्या में आवेदन पत्र प्राप्त होने की स्थिति में साक्षात्कार के माध्यम से 90 प्रशिक्षणार्थीयों का चयन किया जाएगा। जिन्हे आगामी 3 माह में प्रथक-प्रथक 30 प्रशिक्षणार्थी प्रति सत्र अनुसार हल्के वाहन चालक चालन का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा। चयन प्रक्रिया में अंतिम निर्णय परिवहन विभाग का होगा। उल्लेखनीय है कि उक्त प्रशिक्षण में केवल 18 वर्ष से अधिक आयु की महिलाओं के लिये है, पुरूष आवेदन नहीं करें।


निःषुल्क सर्व रोग निदान षिविर के प्रथम दिन शहर सहित आसपास के क्षेत्रांे के 250 रोगियों ने करवाया उपचार, वायरल फिवर, शुगर और चर्म रोग के पेंषट आए अधिक, 5 सितंबर को सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक चलेगा षिविर, अधिकाधिक लाभ लेने की अपील


jhabua news
झाबुआ। शहर के लक्ष्मीनगर स्थित अंबा पैलेस पर सामाजिक महासंघ जिला झाबुआ के बेनर तले शहर की सामाजिक संस्थाओं द्वारा मिलकर दो दिवसीय निःषुल्क सर्व रोग निदान षिविर का आयोजन 4 एवं 5 सितंबर को किया जा रहा है। प्रथम दिन शुभारंभ मुख्य अतिथि में भारतीय स्त्री संगठन की मप्र अध्यक्ष श्रीमती किरण शर्मा तथा षिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के प्रांत सह-संयोजक ओमप्रकाष शर्मा ने मां सरस्वतीजी की तस्वीर पर माल्यार्पण एवं दीप प्रज्जवलन कर किया। बाद इस षिविर को शहरहित में एक सार्थक पहल बताते हुए सभी से षिविर का अधिकाधिक संख्या मंे लाभ लेने का आव्हान किया। इस अवसर पर सिद्धी हॉस्पिटल बड़ौदा के प्रबंधक डॉ. तेजस गांधी ने हॉस्पिटल की विषेषताओं के बारे में उपस्थित सभजनों को जानकारी दी। प्रारंभ में स्वागत उद्बोधन सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर ने दिया और सिद्धी हॉस्पिटल बड़ौदा से पधारी टीम का आत्मीय अभिनंदन किया। वहीं सामाजिक महासंघ के जिला महासचिव उमंग सक्सेना ने षिविर की व्यवस्थाओं पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए इसे शहरवासियों के हित में काफी लाभदायक एवं वर्तमान मौसम के अनुरूप फैल रहीं बिमारियों के चलते काफी उपयुक्त भी बताया। इस दौरान पिछले वर्ष 2020 एवं इस वर्ष 2021 में कोरोनाकाल में मरीजों को रोटरी क्लब ‘मेन’ की एंबुलंेस के माध्यम से कोरोना पेंषेंटांे को इंदौर एवं गुजरात के शहरांे मंे ले जाने एवं पुनः लाने में निःस्वार्थ सेवाएं प्रदान करने वाले ईषाक शेख का सामाजिक महासंघ की ओर से पुष्पमाला एवं पुष्प गुच्छ से अभिंनदन किया गया। शुभारंभ कार्यक्रम का संचालन शरतचन्द्र शास्त्री ने किया।


अलग-अलग स्टालों पर चिकित्सकांे ने दी सेवाएं

षिविर में रोगियों के पंजीयन के लिए अलग से काउंटर बनाया गया। जहां पंजीयन कार्य का कार्य पीडी रायपुरिया, भेरूसिंह चौहान ‘तरंग’ एवं शैलेष शाह ने किया। पंजीयन केंद्र के स्मीपही हॉल में रोगियों और उनके परिजनांे की कुर्सियांे पर बैठने के लिए व्यवस्था की गई। चिकित्सकांे की जांच एवं उपचार हेतु अलग हॉल में अलग-अलग स्टॉल लगाकर व्यवस्थाएं की गई। साथ ही दवाई वितरण के लिए भी अलग से काउंटर बनाया गया।


सभी सुविधाएं रहीं निःषुल्क

षिविर में शगुर, बीपी, ईसीजी जांच आदि की भी निःषुल्क सुविधा रहंी। षिविर में वायरल फीवर, सर्दी‘-जुखाम के साथ चर्म रोग के मरीजांे की संख्या अधिक रहंी। गंभीर मरीजों को चिकित्सकों द्वारा प्राथमिक उपचार के बाद संपूर्ण ईलाज के लिए सिद्धी हॉस्पिटल बड़ौदा आने हेतु परामर्ष दिया गया। जिसके लिए वाहन की सुविधा भी चिकित्सालय प्रबंधन की ओर से करने की सुविधा प्रदान की जाएगी।


इन चिकित्सकों ने दी सेवाएं

शुभारंभ कार्यक्रम सुबह 10 बजे बाद 11 बजे से षिविर आरंभ हुआ, जो शाम 5 बजे तक चला। इस दौरान सिद्धी हॉस्पिटल बड़ौदा के चिकित्सकों में डॉ. जयेष राजपुरा, डॉ. मुद्रिक चरक मेडीसिन एवं शुगर, डॉ. मौसम शाह शल्य चिकित्सा, डॉ. संदीप शर्मा प्लास्टिक सर्जन, योगेष गोहिल हड्डी रोग विषेषज्ञ, डॉ. निषांत गुप्ता नाक, कान एवं गला के साथ डॉ. सुमित एवं डॉ. मितुल ने सेवाएं प्रदान की। इनके साथ हॉस्पिटल का स्टॉफ भी उपस्थित रहा।


इनका रहा सराहनीय सहयोग

वहीं षिविर को सफल बनाने मंे विषेष सहयोग शहर की विभिन्न सामाजिक संस्थाओं से जुड़े पदाधिकारी-सदस्यों में वरिष्ठ पं. गणेषप्रसाद उपाध्याय, जयेन्द्र बैरागी, संजय कांठी, अजय रामावत, डॉ. संतोष प्रधान, देवेन्द्र पटेल, रविन्द्रसिंह सिसौदिया, प्रवीण सोनी, मीडिया प्रभारी दौलत गोलानी, रविराजसिंह राठौर, रोटरी क्लब ‘मेन’ झाबुआ से अध्यक्ष मनोज अरोरा एवं सचिव कार्तिक नीमा, सकल व्यापारी संघ से पंकज जैन मोगरा, कमलेष पटेल, हरिष शाह लालाभाई, अमित जैन, युवा बहादुर भाटी, अजयसिंह पंवार, अब्दुल रहीम अब्बु दादा, पं. विष्णु व्यास, अफजल मंसूरी आदि ने प्रदान किया।


5 सितंबर को रहेगा यह समय

सामाजिक महासंघ के जिलाध्यक्ष नीरजसिंह राठौर एवं जिला महासचिव उमंग सक्सेना ने बताया कि 5 सितंबर, रविवार को षिविर सुबह 10 से दोपहर 2 बजे तक चलेगा। प्रथम दिन करीब 250 रोगियों, जिसमें शहर सहित आसपास के क्षेत्रों के लोग भी सम्मिलित थे, ने अपने परिवारजनों के साथ पहुंचकर उपचार करवाया एवं चिकित्सकों से आवष्यक परामर्ष भी प्राप्त किया। दूसरे दिन भी सभी लोगों से षिविर का निर्धारित समय पर पहुंचकर अधिकाधिक लाभ लेने की अपील की गई है।


झाबुआ का राजा ग्रुप द्वारा गणेषोत्सप पर्व पर इस बार गणेषजी की बड़ी प्रतिमा की जगह 3 फिट की प्रतिमा की जाएगी स्थापित, कोरोनाकाल के चलते भव्य एवं सामूहिक स्तर पर नहीं किए जाएंगे कोई कार्यक्रम, विभिन्न धार्मिक अनुष्ठान होंगे संपन्न


jhabua news
झाबुआ। स्थानीय कस्तूरबा मार्ग में प्रतिवर्ष झाबुआ का राजा ग्रुप द्वारा 10 दिनों तक गणेषोत्सव पर्व भव्य रूप से मनाया जाता है। 10 दिनी उत्सव के दौरान मार्ग में झाबुआ के राजा की (शहर की सबसे बड़ी गणेष प्रतिमा) विराजमान कर प्रतिदिन सुबह एवं रात्रि में महाआरती एवं महाप्रसादी का भव्य आयोजन कर अंतिम दिन भव्य चल समारोह के रूप मंे प्रतिमा का विसर्जन रंगपुरा स्थित अनास नदी पर किया जाता है, लेकिन पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी कोरानाकाल के चलते शासन-प्रषासन के नियमांे का पालन करते हुए जेकेआर ग्रुप द्वारा सामूहिक रूप से एवं भव्य स्तर पर किए जाने वाले सभी कार्यक्रम निरस्त किए गए। इसकी जगह धार्मिक कार्यक्रम अधिक करने पर जोर दिया जाएगा। इस वर्ष गणेषोत्सव आयोजन को लेकर 2 सितंबर, गुरूवार रात्रि 8.30 बजे से झाबुआ का राजा ग्रपु की महत्वपूर्ण बैठक स्थानीय कस्तूरबा मार्ग में गणेष अरोड़ा के प्रतिष्ठान पर संपन्न हुई। जिसमें इस बार 10 दिवसीय महोत्सव को आनंद उत्सव में मनाने का निर्णय लिया गया एवं कई महत्वपूर्ण निर्णय लिए गए। जिसमें विषेष रूप से पिछले वर्ष की तरह ही इस बार भी कोविड-19 गाईडलाइन के अनुसार ही कार्यक्रम करने का निर्णय लिया गया। जेकेआर ग्रुप के सदस्यों ने निर्णय लिया कि प्रतिमा की ऊंचाई इस बार भव्य नहीं रखते हुए करीब 3 फीट की प्रतिमा स्थापित की जाएगी, जो कि हर वर्ष की तरह बड़ौदा (गुजरात) से ही लाई जाएगी। चांदी की चरण पादुका, जिस भक्त के यहां हर वर्ष विराजमान रहती है, वहां से 10 सितंबर को प्रथम दिन मुर्हुत में पांडाल में लाकर जहां भगवान श्री गणेश की स्थापना होगी, वहीं चरणों मंे विराजित की जाएगी।


धार्मिक अनुष्ठान किए जाएंगे

जेकेआर ग्रुप ने कई धार्मिक अनुष्ठान करने का भी निर्णय लिया। जिसमें 10 दिवसीय पर्व के दौरान श्री सत्नारायण भगवान की कथा, सुंदरकांड, 10 दिवस में केवल बुधवार के दिन प्रातःकाल 5.30 काकड आरती का एवं प्रतिदिन सुबह एवं रात्रि में साधारण रूप से आरती-प्रसादी का आयोजन रखने पर सभी ने सहमति व्यक्त की। सभी भव्य एवं सामूहिक स्तर पर किए जाने वाले कार्यक्रम निरस्त किए गए।


यह रहे उपस्थित

बैठक मंे मुख्य रूप से अभय दख, जितेंद्र पांचाल, आयुष जैन, कपिल पांचाल, हरिश वतनानी, निमेष जैन, अष्विन दख, जिनेश जैन, अमित चौहान, भूपेश डाबी, अजय अरोरा, सुजल डाबी, राहुल सिंह,संभव जैन कान्हा अरोरा आदि उपस्थित थे। संचालन जितेंद्र पांचाल ने किया एवं आभार अजय अरोरा ने माना।


कराते एसोसिएषन ऑफ झाबुआ के तत्वावधान में 15 खिलाड़ी जयपुर के लिए रवाना, जयपुर में 4 एवं 5 सितंबर को होगी कराते चैंपियनषीप स्पर्धा, खिलाड़ियों मंे जर्बदस्त उत्साह


jhabua news
झाबुआ। कराते एसोसिएशन ऑफ झाबुआ के कराते खिलाड़ियों का दल 3 सितंबर, शुक्रवार रात को चौंपियनशीप ऑफ चैंपियंस कराते स्पर्धा में भाग लेने के लिए रवाना हएा, जो 4 एवं 5 सिंतबर को आयोजित होगी। झाबुआ के खिलाड़ियों का नेतृत्व जिला कराते कोच सूर्य प्रतापसिंह करेंगे। इस स्पर्धा में झाबुआ जिले के 15 खिलाड़ी भाग लंेगे। कराते एसोसिएषन ऑफ झाबुआ के जिला सचिव श्री सिंह ने बताया कि यह र्स्प्धा राजस्थान की राजधानी जयपुर में आयोजित होना है। इसके लिए जिले से सभी खिलाड़ियांे ने बस एवं अन्य निजी वाहनों से मेघनगर रेल्वे स्टेषन पहुंचकर बाद यहां से ट्रेन से जयपुर के लिए प्रस्थान किया। खिलाड़ियांे मंे स्पर्धा में जीत हासिल करने हेतु जर्बदस्त उत्साह और उमंग है। प्रतियोगिता में भाग लेने वाले खिलाड़ियों में निधि त्रिपाठी, लाउमी देवड़ा, षिवा त्रिवेदी, वर्णिका सोलंकी, करिष्मा शर्मा, कुनाल ताहेड़, गौरव शर्मा, दिव्यांषु बैरागी, क्रिष रूनवाल, हितांषी गुप्ता, अंषिका डामोर, सर्वज्ञ अग्रवाल, मुस्कान डामारे, प्रवीर सोलंकी एवं डिंपल राठौर सम्मिलित है।


सभी पर्वो में श्रेष्ठ है पर्यूषण महापर्व, महापर्व में लीन होकर करे आत्मा का कल्याण -ः मालव रत्न मुनिराज श्री रजतचन्द्र विजयजी, पर्यूषण पर्व के प्रथम श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में हुए विभिन्न धार्मिक कार्यक्रम


jhabua news
झाबुआ। स्थानीय श्री ऋषभदेव बावन जिनालय में 3 सितंबर, शुक्रवार से गच्छाधिपति आचार्य श्री ऋषभचन्द्र सूरीष्वरजी के शिष्य पूज्य मुनिराज श्री रजतचन्द्र विजयजी और श्री जीतचन्द्र विजयजी की पावन निश्रा मे पयूर्षषण पर्व प्रारंभ हुआ। श्वेतांबर जैन श्री संघ और चातुर्मास समिति के अनुसार प्रथम दिन शुक्रवार को पर्युषण पर्व पर बावन जिनालय में सुबह आदिनाथ भगवान एवं दादा गुरूदेव श्रीमद् विजय राजेन्द्र सूरीष्वरजी मसा की प्रतिमा का अभिषेक  भक्तामर स्त्रोत पाठ, प्रभु पूजन बाद व्याख्यान हुए। जिसमें मुनिराज श्री रजतचन्द्र विजयजी मसा ने पर्वाधिराज पर्यूषण महापर्व के महत्व के बारे में जानकारी दी। संध्या मे प्रतिक्रमण तथा प्रभुजी की सुंदर अंगरचना की गई। प्रथम दिवस अष्टान्हिका प्रवचन हेतु अष्टान्हिका ग्रंथ पूज्य मुनि श्री रजत विजयजी को, लाभार्थी उमेश मेहता परिवार ने वोहराया। ग्रंथ की वासक्षेप पूजन 5 लाभार्थियों में यशवंत भंडारी, धर्मचन्द्र मेहता, दीपक बाबूलाल मूथा, मनोज जैन के परिवार के सदस्यों ने की।


सभी पर्वों में महान पर्व है पर्यूषण

बाद मुनिराज श्री रजतचंद्र विजयजी मसा ने विशाल धर्मसभा को संबोधित करते हुए कहा कि हम भाग्यशाली हे कि हमे भगवान महावीर स्वामी का शासन मिला, यू समझो कि अमृत मिल गया है। जैसे मंत्रो मे नवकार महामंत्र, ग्रंथों में कल्पसूत्र ग्रंथ, तीर्थों मे शत्रुंजय तीर्थ, वैसे ही पर्वों मे पर्यूषण पर्व महान है। यह पर्व हमे बहुत कुछ देता हे। आत्म शुद्धि व आत्म सिद्धि का यह पर्व होता हे। यह पर्व विशिष्ट धर्म आराधना करने का पर्व है।


परमात्मा के दर्षन मात्र से सारे पाप होते है नष्ट

पूज्य मुनिराज श्री रजतचन्द्र विजयजी ने आगे कहा की मानव जीवन एक वृक्ष है, जिसके 6 फल हे। आज दो फल की चर्चा करते हुए मुनिश्री ने कहा कि प्रथम फल मे प्रत्येक श्रावकों-श्राविकाओ को जिनेन्द्र पूजन याने परमात्मा की पूजन अष्ट द्रव्य से उच्च भाव के साथ करना चाहिए। परमात्मा के मात्र दर्शन से हमारे सारे पाप नष्ट होते हे। संसार के तत्वों का दर्शन भव भटकाता हे, जबकि परमात्मा दर्शन से वितराग के भाव आते हे। पहले परमात्मा की आज्ञा फ़िर राजा की आज्ञा यह भाव आना चाहिए।


परमात्मा के दर्षन मात्र से सारे पाप होते है नष्ट

पूज्य मुनिराज ने कहा कि आत्मा की कमाई हेतु पयूुर्षण पर्व मनाना चाहिए। कुमारपाल और श्रीपाल जैसा वैभव मिल सकता हे, यदि हम आंतरिक धन की प्रप्ति से धर्म कार्य करे। मानव पूरा जीवन बाहरी धन की प्राप्ति में समय व्यतीत कर देता है। आज हम राग द्वेष मे फ़से हुए हे। पर्यूषन पर्व आने पर नंदीष्वर दिप मे भी 8 दिन तक देवता भक्ति करते हे।  भगवान की पूजन से आनंद, खुशी एवं प्रसन्नता मिलती है। देव गति या मनुष्य गति का बंध होता है। द्यपरमात्मा पूजन से दुख दुर होते है। आरोग्यता आती हे। परमात्मा की पूजन विनय और समाधि पूर्वक संतोष के साथ करना चाहिए।


निमंत्रण पत्रिकाओं का किया गया विमोचन

मुनिराज ने बताया कि परमात्मा पूजन से यश रूपी लक्ष्मी और धन रूपी लक्ष्मी प्राप्त होती हे । दूसरा फल गुरु सेवा हे। जिसमें आहार, उपकरण, सुपात्र दान के साथ सुरक्षा भी गुरु को प्रदान करना चाहिए।महापर्व के 5 कर्तव्य में हिंसा नही करना, स्वधर्मी वात्सल्य का आयोजन करना, अट्ठम तप. चौत्य परिपाटी और क्षमापना पर्व पर विस्तृत चर्चा की। प्रवचन बाद धर्मसभा में कु. श्रुति महेश शाह की मासक्षमण तप के निमंत्रण कार्ड का शुभारंभ मुनिश्री की शुभ निश्रा में वाक्षेप पूजा के साथ गुरु समर्पण चातुर्मास समिति एवं श्री संघ तथा शाह परिवार के सदस्यों ने किया। दोपहर मे श्रीमती शंकुतनला रूनवाल परिवार की ओर से सामूहिक सामायिक का आयोजन प्रवचन हाल मे रखा गया। वहीं प्रश्नोत्तर प्रतियोगिता भी हुई। जिसका संचालन संचालन सुश्रावक संजय मेहता एवं संजय कांठी ने किया।


बैंकों के कियास्कों सेंटर पर रखी जाए निगरानी, ग्रामीणों को हो रहीं असुविधा, हिन्दू युवा जनजाति संगठन ने जताया विरोध, दी उग्र आंदोलन चेतावनी


झाबुआ। हिन्दू युवा जनजाति संगठन के पदाधिकारी अकलेष रावत ने बताया कि सभी शासकीय या अर्ध शासकीय बैंके जिसमें प्रमुख रूप से स्टेट बैंक ऑफ इंडिया, बैंक ऑफ बड़ौदा, मप्र ग्रामीण बैंक सहित अन्य जितनी भी बैंकों द्वारा कियोस्क सेंटर दे रखे है। उनके प्रबंधक एवं स्टॉफ उन सेंटर को देखे कि वास्तविक जहां की लोकेशन है, वहां पर वहां सेंटर स्थापित है या नहीं। उनकी जांच करके जहां का लोकेशन है, वहां पर स्थापित करवाएं। संगठन के पदाधिकारी श्री रावत ने आगे बताया कि आज बहुत सारे कियोस्क सेंटर संपूर्ण जिले सहित विषेषकर थांदला में है, वहां जिस किसी बैंक के कियोस्क सेंटर है, जिस गांव का लोकेशन दे रखा है, उस लोकेशन पर संचालित नहीं हो रहे है। जिसके कारण ग्रामीणजनों को बैंकों मंे पैसे जमा करवाने एवं निकलवाने में काफी दिक्कते आ रहंी है। जिसे देखते हुए उक्त सभी बैंकों के प्रंबधक कियोस्क सेंटरों की समय-समय पर जांच कर मानिटरिंग करते रहे, ताकि ग्रामीणांे को किसी भी प्रकार की असुविधाआंे का सामना ना करना पड़े। अगर ऐसा नहीं होता है तो हिंदू युवा जनजाति संगठन इसकी पूरी जांच करवा कर उग्र आंदोलन करने को भी बाध्य होगा। जिसकी जिम्मेदारी बैंक प्रबंधकों की रहेगी।


कोरोना काल मे शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका विषय पर संगोष्ठी का हुआ आयोजन, चयनित 22 संस्थाओं को अतिथियों ने प्रदान किए प्रषस्ति-पत्र, सभी ने कोरोनाकाल के प्रथम एवं द्वितीयकाल पर रखे अपने-अपने विचार


jhabua news
झाबुआ। शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास एवं मप्र शिक्षक संघ के संयक्त तत्वावधान में कोरोना काल में शैक्षणिक संस्थाओं की भूमिका विषय पर संगोष्ठी का आयोजन शारदा विद्या मंदिर झाबुआ के बिलिडोज स्थित परिसर में किया गया। विष्व मे दूसरी सबसे बड़ी आबादी होने के बावजूद कोरोना के कारण भारत मे होने वाली जनहानि कई विकसित देशों की तुलना में अत्यंत कम हुई है। यह शासन, प्रशासन, चिकित्सा कर्मियों के साथ हम सबके सामूहिक प्रयास का परिणाम है। कोरोना काल में शैक्षणिक संस्थाओं ने शैक्षणिक दायित्वों के निर्वहन के साथ साथ अपने सामाजिक दायित्वों का भी सफलतापूर्वक निर्वहन किया। इन संस्थाओं द्वारा इस काल में स्थानीय आवश्यकताओं के अनुरूप टीकाकरण जागरुकता, कोविड अनुरूप व्यवहार के प्रति जागरूकता, मास्क वितरण आदि अनेक कार्य किये गए। शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास एवं मप्र शिक्षक संघ ने जिले के प्रत्येक ब्लॉक से शिक्षण संस्थाओं से जानकारी मांगी। तत्पश्चात् उच्च स्तरीय चयन समिति ने प्रत्येक ब्लॉक् से 3-3 संस्थाओं का चयन किया। न्यास के मध्य क्षेत्र सह संयोजक एवं चयन समिति के प्रमुख श्री ओम शर्मा ने बताया कि सभी संस्थाओं द्वारा किए गए कार्य इतने गुणवत्तापूर्ण थे कि उनमें से तीन संस्थाओं का चयन करना अत्यंत ही दूभर कार्य था।


चयनित 22 संस्थाओं को प्रदान किए गए प्रषस्ति-पत्र

उन्होंने समस्त चयनित संस्थाओं के साथ सभी संस्थाओं का इस पुनित कार्य हेतु साधुवाद प्रेषित किया। इस कार्यक्रम में सहायक आयुक्त प्रशांत आर्य मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित थे। कार्यक्रम की अध्यक्षता सुभाष दुबे ने की गई। सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्य ने चयनित 22 संस्थाओं को प्रशस्ति पत्र भी भेंट किए। इस अवसर पर सभी संस्थाओं ने उनके द्वारा किए गए कार्यों का पीपीटी के माध्यम से प्रदर्शन किया।


न्यास के कार्यों की दी जानकारी

कार्यक्रम के विशेष अतिथि के रूप में जिला शिक्षा अधिकारी ज्ञानेंद्र प्रकाश ओझा उपस्थित थे। केशव इंटरनॅशनल स्कूल की प्राचार्या श्रीमती अंबिका टवली ने शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास द्वारा किए जा रहे विभिन्न कार्यों के बारे में संक्षिप्त जानकारी दी। कार्यक्रम का सफल संचालन मप्र शिक्षक संघ के अनिल कोठारी ने किया। सभी के प्रति आभार सुशीमकुमार जायसवाल ने माना।


श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति हाऊसिंग बोर्ड का किया गया गठन, श्रीमती अनिता जाखड़ा को बनाया गया अध्यक्ष, नवदुर्गा धाम पर श्री नारद पुराण की कथा आयोजन हेतु चल रहीं जोर-षोर से तैयारियां


jhabua news
झाबुआ। शहर के हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी स्थित मां जगदम्बे माता मंदिर ( श्री नवदुर्गा धाम) पर 2 सितंबर, गुरूवार रात 9 बजे से मंदिर से जुड़ी महिलाओं की बैठक आयोजित हुई। जिसमें श्री नवदुर्गा महिला मंडल समिति हाऊसिंग बोर्ड का गठन करते हुए सर्व-सम्मति से अध्यक्ष श्रीमती अनिता जाखड़ को बनाया गया। बैठक मंदिर के सेवक पं. प्रदीप भट्ट के मार्गदर्षन में संपन्न हुई। जिसमें मुख्य रूप से अनिता जाखड़ा, हरिप्रिया निगम, इंदुबाला अरोरा, शांताबेन जायसवाल, प्रभावती आसदेवा, विनीता शर्मा, चंद्रकला हाड़ा, विनीत नायक, सीमा गेहलोत आदि उपस्थित थी। बैठक में तय किया गया कि नवदुर्गा धाम पर समय-समय पर भजनांे एवं विभिन्न पर्वों पर किए जाने वाले आयोजन हेतु एक महिला मंडल समिति का गठन किया जाए। जिस पर सभी ने सहमति व्यक्त करते हुए अध्यक्ष अनिता जाखड़ा को चुना।


आगामी बैठक रखकर किया जाएगा कार्यकारिणी का विस्तार

बाद श्रीमती जाखड़ ने बताया कि महिला मंडल की आगामी बैठक 5 सितंबर, रविवार रात्रि में रखकर हाऊसिंग बोर्ड कॉलोनी की समस्त महिलाआंे के उपस्थित रहने पर महिला मंडल समिति की पूरी कार्यकारिणी का विस्तार किया जाएगा। इसके साथ ही मंदिर में आगामी समय मंे की जाने श्री नारद पुराण कथा हेतु भी तैयारियां जोर-षोर से की जा रहीं है। जिसको लेकर सभी की वृहद बैठक का भी आयोजन किया जाना है। उक्त बैठक में मंदिर समिति से जुड़े दौलत गोलानी, हार्दिक निगम आदि भी उपस्थित थे।


दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अंतर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी


झाबुआ,। कार्यालय कलेक्टर एवं जिला दण्डाधिकारी जिला झाबुआ के पत्र क्रमांक/5589/जे.सी./2021 झाबुआ दिनंाक 02 सितम्बर 2021 आदेश दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा 144 के अन्तर्गत मध्यप्रदेश गृह (सी) विभाग भोपाल के पत्र क्रमांक 35-9/2020-दो-सी-2 भोपाल दिनांक 14 जुलाई 2021 के परिपालन कार्यालय आदेश क्रमांक 4246/4247/जे.सी./2021 दिनांक 15 जुलाई 2021 एवं मध्य प्रदेश शासन(सी) विभाग भोपाल के पत्र क्रमांक एफ-35-09/2020/दो-सी-2 दिनंाक 19 जुलाई 2021 के पालन में कार्यालयीन आदेश क्रमांक 4370-4371/जे.सी./2021 दिनांक 20 जुलाई 2021 के द्वारा जिले में दण्ड प्रक्रिया संहिता 1973 की धारा-144 के अन्तर्गत प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किया गया है। मध्यप्रदेश शासन गृह (सी) विभाग भोपाल के पत्र क्रमांक एफ 35-09/2020/सी-2 भोपाल दिनांक 1 सितम्बर 2021 के अनुक्रम में कार्यालयीन आदेश दिनांक  15 जुलाई 2021 एवं आदेश दिनांक  20 जुलाई 2021 को यथावत लागू रखते हुए धार्मिक कार्यक्रम एवं त्यौहारो के दृष्टिगत निम्न नवीन अतिरिक्त दिशा निर्देश जारी किये जाते हैं।1. प्रतिमा/ताजिये (चेहल्लुम) के लिये पण्डाल का आकार अधिकतम 30×50 फीट नियत किया जाता है। झांकी निर्माता ऐसी झांकियों की स्थापना एवं प्रदर्शन नहीं करेंगे, जिनमें संकुचित जगह के कारण श्रद्धालुओ/दर्शकों की भीड की स्थिति बने तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन न हो सके। झांकी स्थल पर श्रद्धालुओ/दर्शकों की भीड एकत्र नहीं हो तथा सोशल डिस्टेंसिंग का पालन हो, इसकी व्यवस्था आयोजकों को सुनिश्चित करना होगी। 2 मुर्ति/ताजिये (चेहल्लुम) का विसर्जन संबंधित आयोजन समिति द्वारा किया जाएगा। विसर्जन स्थल पर ले जाने के लिये अधिकतम 10 व्यक्तियों के समूह की अनुमति होगी। इसके लिये आयोजकांे को अपने-अपने क्षेत्र के अनुविभागीय दण्डाधिकारियों से लिखित अनुमति प्राप्त किया जाना आवश्यक होगा। 3 संबंधित अनुविभागीय दण्डाधिकारी विसर्जन के लिये अधिक से अधिक उपयुक्त स्थानों का चयन करेंगे ताकि विसर्जन स्थल पर कम भीड हो। विसर्जन की विकेन्द्रीयकृत व्यवस्था पर भी जिला शंाति समिति तथा जिला क्रायसेस मेनेजमेंट समिति में निर्णय लिया जावे। 4 कोविड संक्रमण को दृष्टिगत रखते हुए धार्मिक/सामाजिक आयोजन के लिये चल समारोह निकालने की अनुमति नहीं होगी। विसर्जन के लिये सामूहिक चल समारोह भी अनुमत्य नहीं होगा। लाउड स्पीकर्स बजाने के संबंध में माननीय सर्वोच्चय न्यायालय द्वारा जारी की गई गाईड लाईन का पालन किया जाना अनिवार्य होगा। 5 सार्वजनिक स्थानों पर कोविड संक्रमण से बचाव के तारतम्य में झांकियों/पण्डालों/विसर्जन के आयोजन में श्रद्धालु/ दर्शक फेशकवर, सोशल डिस्टेंसिंग एवं सेनेटाईजर का प्रयोग के साथ ही राज्य शासन द्वारा समय-समय पर जारी किये गए निर्देशों को कड़ाई से पालन सुनिश्चित अनिवार्य होगा। यह आदेश तत्काल प्रभाव से लागू होकर आगामी आदेश तक प्रभावशील होगा।


शत प्रतिशत वैक्शीनेशन करवाने वाली नौगांवा  ग्राम पंचायत को पुरस्कृत किया जाएगा -- कलेक्टर


jhabua news
झाबुआ। कलेक्टर श्री सोमेश मिश्रा के द्वारा खाटला बैठक एवं जिला स्तरीय बैठक में निर्देश दिये गये थे की जो ग्राम पंचायत सर्व प्रथम शत प्रतिशत वैक्सीनेशन करवाएगा उसे पुरस्कृत किया जाएगा एवं इसके अतिरिक्त श्री मिश्रा द्वारा व्यक्तिगत तौर पर भी उस ग्राम पंचायत को पुरस्कृत कर सम्मानित करेंगे। जिले में शत प्रतिशत वैक्सीनेशन करवाने वाली ग्राम पंचायत झकनावदा को कलेक्टर महोदय द्वारा 15 अगस्त स्वतंत्रता दिवस समारोह में माननीय प्रभारी मंत्री जी के द्वारा पुरस्कृत कर सम्मानित किया गया था।  जनपद पंचायत पेटलावद की ग्राम पंचायत गंगाखेडी द्वारा शतप्रतिशत वैक्सीनेशन कर यह पुरस्कार अर्जित किया है। इसके पश्चात आज ग्राम पंचायत नौगांवा द्वारा शत-प्रतिशत टीकाकरण करवा कर यह गौरव हासिल किया है । यहां पर 4647 लोगों को टीकाकरण करवाया जाना था।  शत-प्रतिशत वैक्सीनेशन कारवां कर जिले को गौरवान्वित किया है ।वहीं यहां पर ग्रामीण सुरक्षित हुए हैं। इनके परिवार सुरक्षित हुए हैं।  कोरोना की तीसरी लहर से ग्राम पंचायत नौगांव सुरक्षित होगी। कलेक्टर महोदय द्वारा  यहां के जनप्रतिनिधि को एवं प्रशासनिक अधिकारियों को  पुरस्कृत कर सम्मानित किया जाएगा।  मुख्य चिकित्सा स्वास्थ्य अधिकारी डॉ श्री जेपीएस ठाकुर एवं जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ श्री राहुल गणावा एवं जनजाति कार्य विभाग के सहायक आयुक्त श्री प्रशांत आर्य द्वारा  इस ग्राम पंचायत को बधाई दी है और शुभकामना प्रेषित की है ।

कोई टिप्पणी नहीं: